हेल्थ टिप्स

गर्म तासीर वाले फल सब्जियां और खाद्य पदार्थ – Fruits, Vegetables and Foods That Produce Heat In The Body in Hindi

गर्म तासीर वाले फल सब्जियां और खाद्य पदार्थ - Fruits, Vegetables and Foods That Produce Heat In The Body in Hindi

सर्दियों में गर्म तासीर वाले खाद्य पदार्थों को खाना फायदेमंद होता है ये सर्दी में खाये जानें वाले ये फल और सब्जियां आपके शरीर को अंदर से गर्म रखते हैं। आमतौर पर दैनिक जीवन में खायी जाने वाली सब्जियां, फल और खाद्य पदार्थों की तासीर या तो गर्म होती है या फिर ठंडी। गर्मी के मौसम में ठंडी तासीर वाले खाद्य पदार्थ खाना तो फायदेमंद होता है लेकिन सर्दी के मौसम में ठंडी तासीर वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने से सेहत खराब हो सकती है। इसलिए सर्दियों में गर्म तासीर वाले खाद्य पदार्थों की मांग बढ़ जाती है। ऐसे बहुत से लोग हैं जो अपनी उम्र और सेहत को ध्यान में रखकर ठंडी या गर्म तासीर वाली खाद्य वस्तुओं को चुनते हैं।

हालांकि ज्यादातर लोगों को इस बारे में पर्याप्त जानकारी नहीं होती है जिसके कारण उन्हें यह सटीक पता नहीं चल पाता है कि किन खाद्य वस्तुओं की तासीर ठंडी होती है और किसकी गर्म। चूंकि सर्दी का मौसम है तो गर्म तासीर वाले खाद्य पदार्थ ही खाया जाना बेहतर होता है। इसलिए इस आर्टिकल में हम आपको गर्म तासीर वाले फल सब्जियां और खाद्य पदार्थ के बारे में बताने जा रहे हैं।

तासीर किसे कहते हैं? Taseer kise kehte hain?

किसी भी खाद्य पदार्थ, फल और सब्जियों को खाने से शरीर के अंदर  उसका जो ठंडा या गर्म प्रभाव महसूस होता है, उसे उस खाद्य पदार्थ की तासीर कहते हैं। जैसे कि खीरा शरीर को ठंडक प्रदार करता है इसलिए खीरे की तासीर ठंडी होती है जबकि अंडा खाने से शरीर में गर्माहट आती है इसलिए अंडे को गर्म तासीर वाला खाद्य पदार्थ कहा जाता है।

जब भोजन आपके शरीर में तापमान बढ़ने का कारण बनता है, तो इसे थर्मोजेनेसिस के रूप में जाना जाता है। थर्मोजेनेसिस तब होता है जब आपका शरीर उन खाद्य पदार्थों को तोड़ता है जो आप वसा का उत्पादन करने के लिए खाते हैं जिसमें एक विशेष प्रोटीन होता है। जब यह प्रोटीन प्रतिक्रिया करता है, तो भोजन के साथ यह गर्मी के उत्पादन का कारण बनता है।

ये हैं गर्म तासीर वाले फल, सब्जियां और खाद्य पदार्थ – Garam taseer wale phal, sabzi aur aahar in Hindi

जो खाद्य पदार्थ हम दैनिक रूप से खाते हैं वे हमारे शरीर की प्रणाली पर किसी न किसी तरह से प्रभाव डालते हैं, खासकर जब शरीर में गर्मी को बनाए रखने की बात आती है। अधिकांश खाद्य पदार्थ जिन्हें हम खाते हैं, शरीर में गर्मी पैदा करने की क्षमता रखते हैं, उन्हें पचाने में समय लगता है, इसलिए शरीर की पाचन प्रणाली की प्रक्रिया को प्रोत्साहित करने के लिए अधिक ऊर्जा की आवश्यकता होती है, जो आगे गर्मी पैदा करती है। जिन खाद्य पदार्थों में आम तौर पर अधिक वसा, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट होते हैं, वे भोजन को पचाने के दौरान अक्सर शरीर को गर्म करते हैं।

ऐसे बहुत से खाद्य पदार्थ हैं जिनकी तासीर गर्म होती है। आप नीचे दिए गए गर्म तासीर वाले फल, सब्जियों और खाद्य पदार्थों का सेवन इस सर्दी के मौसम में कर सकते हैं।

बाजरा (Bajra)

गर्म तासीर होने कारण बाजरे का सेवन आमतौर पर सर्दियों के मौसम में ही किया जाता है। बाजरे में पर्याप्त मात्रा में सेलेनियम, कैल्शियम, कॉपर, पोटैशियम, आयरन, मैग्नीशियम, मैंगनीज और फास्फोरस पाया जाता है जिसका सेवन करने से शरीर में गर्माहट का अनुभव होता है। शरीर को गर्म रखने के लिए गर्म तासीर वाले बाजरे की रोटी और दलिया का सेवन करना लाभदायक होता है।

सरसों (Mustard)

गर्म तासीर वाले गुणों से युक्त सरसों के तेल का इस्तेमाल वैसे तो पूरे साल होता है लेकिन सर्दियों में इसका महत्व बहुत बढ़ जाता है। ठंड के मौसम में सरसों का साग खाने से मेटाबोलिज्म की दर बढ़ती है जिससे रोगों से बचाव होता है। सरसों में एंटी इंफ्लैमेटरी और एंटी सेप्टिक गुण पाये जाते हैं। इसके अलावा इममें सेलेनियम, मैग्नीशियम, जिंक, मैंगनीज, कैल्शियम, ओमेगा 3 जैसे माइक्रोन्यूट्रिएंट पाये जाते हैं जो स्किन और हेयर के लिए फायदेमंद होते हैं। पूरे शरीर पर सरसों के तेल से मालिश करने से शरीर का दर्द दूर हो जाता है। इसके साथ ही नहाने से पहले बॉडी पर सरसों का तेल लगाने से स्किन रुखी नहीं होती है।

अंडा (Egg)

अंडे की गर्म तासीर के कारण सर्दियों में इसकी मांग बढ़ जाती है। वास्तव में अंडे को न सिर्फ एनर्जी का पावरहाउस माना जाता है बल्कि इसे खाने से शरीर में गर्मी का एहसास होता है और स्वास्थ्य के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है। अंडे में उच्च मात्रा में प्रोटीन के साथ ही विटामिन भी पाया जाता है जो सर्दियों में इंफेक्शन से लड़ने में मदद करता है। सर्दी के मौसम में वजन भी बहुत तेजी से बढ़ता है इसलिए अगर आप वजन को लेकर चिंतित हैं तो अंडे के पीले भाग को निकालकर ही अंडे का सेवन करें।

(और पढ़ें – उबले अंडे खाने के फायदे और नुकसान) (और पढ़ें – एक दिन में कितने अंडे खाने चाहिए)

अदरक (Ginger)

गर्म तासीर वाले अदरक में पर्याप्त एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जो प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने में सहायक होता है। कम मात्रा में अदरक का नियमित सेवन करने से ना सिर्फ शरीर गर्म रहता है बल्कि अल्सर, बुखार, एसिडिटी, सर्दी खांसी जैसी समस्याएं भी दूर हो जाती हैं।

(और पढ़े – अदरक की चाय के फायदे)

आंवला (Amla)

आंवला गर्म तासीर वाला है इसलिए सर्दी के मौसम में बड़े पैमाने पर आंवले से बने च्यवनप्राश का इस्तेमाल किया जाता है। आंवला में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है जो लिवर, पाचन, स्किन, हेयर के लिए फायदेमंद होता है। यह ब्लड शुगर, कोलेस्ट्रॉल और एसिडिटी को भी कंट्रोल करता है। सर्दी के मौसम में नियमित आंवले का सेवन करने से शरीर में गर्म रहता है और ठंड कम लगती है।

(और पढ़े – आंवला जूस पीने के फायदे)

शहद (Honey)

शहद भी गर्म तासीर वाली होती है इसलिए सर्दियों के मौसम में चीनी की जगह भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। शहद सर्दी और खांसी के लिए एक बेस्ट आयुर्वेदिक औषधि है। गर्म तासीर जैसे गुणों से युक्त शहद में कम मात्रा में एंटीजन पाया जाता है जो इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करता है। शहद में इनवर्ट शुगर पाया जाता है जो आसानी से डाइजेस्ट हो जाता है और वजन भी नहीं बढ़ता है। नियमित सुबह गुनगुने पानी में शहद मिलाकर पीने से फैट तेजी से बर्न होता है और शरीर को ऊष्मा मिलती है।

गुड़ (Jaggery)

गुड़ की तासीर गर्म होती है और जाड़े के दिनों में बॉडी को गर्म रखने के लिए कई तरीकों से गुड़ का सेवन किया जाता है। गर्म तासीर वाला गुड़ चीनी की अपेक्षा अधिक हेल्दी होता है और इसमें कई तरह के विटामिन और खनिज जैसे फास्फोरस, आयरन, मैग्नीशियम और पोटैशियम पाया जाता है। अपने इन्हीं गुणों और गर्म तासीर का होने के कारण गुड़ सर्दी खांसी, माइग्रेन, अस्थमा, थकान और अपच जैसी समस्याओं को दूर करने में भी इस्तेमाल किया जाता है। सर्दी के मौसम में अगर आफको अधिक ठंड लग रही हो तो ताजे अदरक के साथ गुड़ का सेवन करने से शरीर में बहुत जल्दी हीट जनरेट होती है और ठंड कम लगती है।

(और पढ़े – गुड़ और चना साथ में खाने के बेमिसाल फायदे)

खजूर (Dates)

खजूर की तासीर गर्म होती है इसलिए सर्दी के मौसम में इसकी मांग बढ़ जाती है। खजूर में प्राकृतिक शुगर पाया जाता है जिसका सेवन करने से शरीर में गर्मी पैदा होती है और वजन भी नहीं बढ़ता है। खजूर में पर्याप्त मात्रा में पोटैशियम, विटामिन बी, फाइबर, कॉपर, मैग्नीशियम, मिनरल और फाइबर पाया जाता है। ठंड के मौसम में रोजाना तीन से चार खजूर जरुर खाना चाहिए।

तिल (Sesame)

गर्म तासीर वाले खाद्य पदार्थों में तिल की भी तासीर गर्म होती है। भारत में विभिन्न अवसरों पर एवं  ठंड के मौसम में तिल की चिक्की और गजक खूब खाया जाता है। तिल की बनी वस्तुएं खाने से शरीर में उष्मा उत्पन्न होती है और बॉडी को अंदर से गर्माहट मिलती है। ठंड के मौसम में अस्थमा रोगियों की दिक्कतें बढ़ जाती हैं, ऐसे में गर्म तासीर के कारण तिल का सेवन करना फायदेमंद होता है। इसके अलावा निमोनिया और ब्रोंकाइटिस के लिए भी तिल की गर्म तासीर लाभदायक है। तिल में पर्याप्त मात्रा में आयरन, कैल्शियम और सेलेनियम पाया जाता है। तिल का चूर्ण बनाकर दिन में तीन बार खाने से ठंड कम लगती है। सर्दी के मौसम में बालों में रूसी की समस्या बढ़ जाती है। तिल का पेस्ट बनाकर इसे बालों में लगाने से रूसी समाप्त हो जाती है।

(और पढ़े – तिल के बीज और तिल के तेल के फायदे)

बादाम (Nuts)

बादाम तासीर में गर्म होता है और यह एंटीऑक्सीडेंट का प्राकृतिक स्रोत होता है। गर्म तासीर के साथ ही बादाम में प्रचुर मात्रा में विटामिन और खनिज पाया जाता है। वैसे तो बादाम किसी भी मौसम में खाया जा सकता है लेकिन चूंकि बादाम की तासीर गर्म होती है इसलिए ठंड के मौसम में बादाम का सेवन करने से शरीर में गर्माहट आती है। इस मौसम में सुबह खाली पेट चार से पांच बादाम खाना फायदेमंद होता है। इससे इम्यूनिटी बढ़ती है और बीमारियों से सुरक्षा होती है।

(और पढ़े – बादाम को भिगोकर खाने के फायदे और नुकसान)

केसर (saffron)

केसर की तासीर बहुत गर्म होती है, यही कारण है कि केसर दूध स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। इसके अलावा केसर का उपयोग चेहरे पर निखार लाने के लिए  भी किया जाता है। केसर को जब दूध में मिलाकर पीया जाता है तो यह बॉडी में हीट जनरेट करता है और शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। केसर को क्रीम में मिलाकर लगाने से चेहरा चमकने लगता है।  केसर में क्रोसेटिन पाया जाता है जो मस्तिष्क में ऑक्सीजन को बढ़ाने का काम करता है। गर्म तासीर वाले केसर के इन्हीं गुणों के कारण डॉक्टर रोजाना केसर दूध का सेवन करने की सलाह देते हैं।

हल्दी (Turmeric)

गर्म तासीर वाले खाद्य पदार्थों में हल्दी सबसे अधिक गर्म तासीर वाली मानी जाती है। इसमें एंटी इंफ्लैमेटरी गुण पाया जाता है जो शरीर में गर्मी उत्पन्न करने के साथ ही सूजन को दूर कर संपूर्ण स्वास्थ्य को बेहतर बनाती है। इसलिए हल्दी को सुपरफूड भी कहा जाता है। गर्म तासीर से युक्त हल्दी में प्रोटीन, कैल्शियम, खनिज और विटामिन पाये जाते हैं। नियमित रात को सोते समय एक गिलास दूध में एक चुटकी हल्दी मिलाकर पीने से शरीर गर्म रहता है और अच्छी नींद आती है।

(और पढ़े – हल्दी और दूध के फायदे और नुकसान)

लहसुन (Garlic)

लहसुन की भी तासीर गर्म बहुत गर्म होती है। सर्दी के मौसम में हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में लहसुन का सेवन करना हृदय रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह शरीर में ऊष्मा उत्पन्न कर न सिर्फ ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में सहायक होता है बल्कि रक्त के प्रवाह को भी बेहतर बनाकर शरीर में एनर्जी पैदा करता है।

यहां गर्मी पैदा करने वाले खाद्य पदार्थों की सूची दी गई है, जिनका सेवन आपको खासकर सर्दियों के दौरान करना चाहिए।

केले प्याज पिस्ता मूंगफली
संतरे जैतून अखरोट मक्खन
आड़ू मिर्च काजू खट्टा क्रीम
इमली गाजर वसा बादाम
प्लम पालक (पका हुआ) उड़द और अरहर की दाल चिकन
मकई टमाटर किडनी बीन्स अंडे
बैंगन शलजम ब्राउन राइस मछली
बाजरा दाल कुटू मूली

हालांकि ये खाद्य पदार्थ आपके शरीर में गर्मी पैदा कर सकते हैं, इसका मतलब यह नहीं है कि आप उन्हें अधिक खाना शुरू कर दें, आप इनका अधिक मात्रा में सेवन न करें क्योंकि इससे पेट की समस्या भी हो सकती है। स्वस्थ रहने के लिए खाने पर संयम ही प्रमुख नियम है।

ऊपर लेख में आपने जाना गर्म तासीर वाले फल सब्जियां और खाद्य पदार्थों के बारे में। सुनिश्चित करें कि आप इस सर्दियों के मौसम में स्वस्थ और पौष्टिक खाएं। जिससे आप स्वस्थ और गर्म रहें।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration