इन घरेलू तरीकों को अपनाने से होगी नॉर्मल डिलीवरी – Home Remedies For Normal Delivery In Hindi

इन घरेलू तरीकों को अपनाने से हो सकती है नॉर्मल डिलीवरी - Home Remedies For Normal Delivery In Hindi
Written by Deepti

अक्सर महिलाएं यह जानना चाहती हैं की नॉर्मल डिलीवरी के लिए क्या करें इसलिए आज हम आपको सामान्य प्रसव के तरीके बताने जा रहें है जिन्हें अपनाकर आप  नॉर्मल डिलीवरी से बच्चे को जन्म दे सकतीं हैं। गर्भावस्था एक ऐसी अद्भुत अवस्था है जब महिला को असहयनीय दर्द भी सहना मंजूर होता है। महिला कितनी भी कमजोर क्यों न हो, लेकिन डिलीवरी के दौरान होने वाले लेबर पेन वह खुशी-खुशी सह लेती है। लेकिन ये अहसास होता है सिर्फ नॉर्मल डिलीवरी में। लेकिन आज के समय में बहुत कम महिलाओं की नॉर्मल डिलीवरी होती है। और करीब 65 प्रतिशत महिलाएं सी-सेक्शन डिलीवरी प्रिफर करती है, क्योंकि इसमें लेबर पेन नहीं होता है या अन्य स्वास्थ्य कारण होते है। लेकिन आज भी डॉक्टर्स नॉर्मल डिलीवरी को सुरक्षित मानते हैं। उनके अनुसार इसमें गर्भवती महिला को भले ही कुछ देर के लिए दर्द सहना पड़े, लेकिन डिलीवरी के बाद ज्यादा परेशानी से नहीं गुजरना पड़ता।

हालांकि कई महिलाओं में नॉर्मल डिलीवरी के चांसेस रहते हैं, लेकिन गर्भावस्था में उनकी लाइफस्टाइल और खान-पान की गलत आदतों की वजह से ये मुमकिन नहीं हो पाती और आखिरी में डॉक्टर्स सी-सेक्शन डिलीवरी की सलाह देते हैं। अगर आप भी चाहती हैं कि आपकी नॉर्मल डिलीवरी हो, तो गर्भावस्था के दौरान से ही आपको कुछ घरेलू उपाय अपनाने होंगे, जो आपकी नॉर्मल डिलीवरी होने में मदद करेंगे। तो चलिए इस आर्टिकल में आप जानेंगी कि नॉर्मल डिलीवरी के लिए घरेलू उपाय क्या है और नॉर्मल डिलीवरी के लिए पूरे 9 महीने किन बातों का ध्यान रखा जाना चाहिए।

  1. नॉर्मल डिलीवरी के लिए ध्यान रखने वाली बातें – Things To Keep In Mind For Normal Delivery In Hindi
  2. नॉर्मल डिलीवरी के लिए घरेलू उपाय – Normal Delivery Ke Ghrelu Upay In Hindi
  3. नॉर्मल डिलीवरी के लिए क्या खाना चाहिए – Normal Delivery Ke Liye Kya Khana Chahiye In Hindi
  4. नॉर्मल डिलीवरी के लिए की जाने वाली एक्सरसाइज – Normal Delivery Ke Liye Exercise In Hindi
  5. नॉर्मल डिलीवरी के फायदे – Normal Delivery Ke Fayde In Hindi
  6. इन नेचुरल ऑयल से पक्की होगी नॉर्मल डिलीवरी – Essential Natural Oils For Normal Delivery In Hindi
  7. नॉर्मल डिलीवरी के लिए अपनाएं ये डाइट चार्ट – Diet Plan For Normal Delivery In Hindi

नॉर्मल डिलीवरी के लिए ध्यान रखने वाली बातें – Things To Keep In Mind For Normal Delivery In Hindi

नॉर्मल डिलीवरी के लिए ध्यान रखने वाली बातें - Things To Keep In Mind For Normal Delivery In Hindi

नॉर्मल डिलीवरी के लिए करना चाहिए रोजाना एक्सरसाइज

भले ही आप रूटीन में व्यायाम न करती हों, लेकिन गर्भवती होने के बाद हर महिला को रोजाना एक्सरसाइज करनी चाहिए। इससे न केवल उनका स्टेमिना बढ़ता है, बल्कि पूरे 9 महीने ये आपको एक्टिव बनाए रखती है। एक्सरसाइज करने की खास वजह है कि आपकी जांघों की हड्डियां मजबूत होती हैं, जो डिलीवरी के समय दर्द सहने में बहुत मदद करती हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि इस दौरान ब्रिदिंग एक्सरसाइज करना बहुत जरूरी है, क्योंकि डिलीवरी के दौरान कई बार सांस को कुछ कुछ समय के लिए कंट्रोल करना पड़ता है।

(और पढ़े – प्रेगनेंसी के नौवे महीने में रखें इन बातों का ध्यान…)

स्ट्रेस फ्री रहेंगे तो होगी नॉर्मल डिलीवरी

माना जाता है कि गर्भावस्था में महिला को स्ट्रेसफ्री रहना चाहिए। इस समय आपको अपने मन में अच्छी बातें लानी चाहिए और तनाव से परहेज करना चाहिए। जैसे ही आपको तनाव लगे, अपना ध्यान पैरेंटिंग की किताबों की तरफ लगा लीजिए। ध्यान भी भटक जाएगा और बच्चे की केयर कैसे करनी हैं, इसकी जानकारी भी मिल जाएगी।

(और पढ़े – मानसिक तनाव के कारण, लक्षण एवं बचने के उपाय…)

नॉर्मल डिलीवरी के लिए डरावने बर्थ एक्सपीरियंस सुनने से बचें

गर्भावस्था के दौरान कई लोग आपको अपनी खतरनाक बर्थ स्टोरीज सुनाते होंगे, जिससे आपको नॉर्मल डिलीवरी का नाम सुनकर ही डर लगने लगता है। जिससे आप नॉर्मल डिलीवरी के लिए तैयार नहीं हो पातीं। ऐसे में डरावनी जन्म कहानियों को सुनने से बचें। ये कहानियां आपकी नॉर्मल डिलीवरी पर असर डाल सकती हैं।

(और पढ़े – प्रेगनेंट हैं तो नॉर्मल डिलीवरी के इन लक्षणों को जानें…)

सामान्य प्रसव के तरीके में लें सही डाइट

सामान्य प्रसव के तरीके में लें सही डाइट

गर्भावस्था के दौरान अच्छी डाइट न केवल आपके लिए बल्कि बच्चे के विकास के लिए भी जरूरी है बल्कि अच्छा खाएंगे तो नॉर्मल डिलीवरी में लेबर पेन को झेल सकेंगे। इसलिए पूरे 9 महीने ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं, हरी सब्जियां और फ्रेश फ्रूट्स का सेवन करें। लेकिन अपने वजन का भी ध्यान रखें। वैसे तो प्रेग्नेंसी में वजन बढ़ता है, लेकिन जरूरत से ज्यादा न बढ़ने पाए, इसका ध्यान रखें।

(और पढ़े – संतुलित आहार के लिए जरूरी तत्व , जिसे अपनाकर आप रोंगों से बच पाएंगे…)

नॉर्मल डिलीवरी के लिए प्रीनटल, बच्चे के जन्म से जुड़ी जानकारी लें

बेहतर होगा कि इस दौरान आप डिलीवरी और लेबर पेन के बारे में ज्यादा से ज्यादा नॉलेज कलेक्ट करें। नेचुरल पेन मैनेजमेंट टेकनीक के बारे में जानें। ये सभी जानकारी आपको चाइल्ड बर्थ के डर को खत्म करेगी साथ ही आपकी डिलीवरी नॉर्मल और सेफ हो पाएगी।

(और पढ़े – जानें प्रसव पीड़ा (लेबर पेन) के लक्षण…)

अच्छी नींद नॉर्मल डिलीवरी के लिए है असरदार

माना जाता है कि गर्भवती महिला जितनी अच्छी नींद लेती है, डिलीवरी उतनी ही आसान हो जाती है। टूटी हुई नींद बच्चे ग्रोथ और डवलपमेंट पर असर डालती है। कोशिश करें जहां आप आराम करें वहां शांति का माहौल हो, ताकि नींद डिस्टर्ब न हो।

(और पढ़े – हमें सोना क्यों जरूरी है और आपको कितने घंटों की नींद चाहिए…)

नॉर्मल डिलीवरी के लिए घरेलू उपाय – Normal Delivery Ke Ghrelu Upay In Hindi

नॉर्मल डिलीवरी के लिए घरेलू उपाय - Normal Delivery Ke Ghrelu Upay In Hindi

  • सामान्य प्रसव या नॉर्मल डिलीवरी चाहती हैं तो अपनी डाइट पर ध्यान दें। डाइट में रोजाना फल, सब्जियां और डेयरी प्रोडक्ट का सेवन करें।
  • इस दौरान चीनी का सेवन कम से कम करने की कोशिश करें।
  • गर्भवती महिलाओं को इस दौरान बाहर का खाना अवॉइड करना चाहिए। इनमें बैक्टीरिया होते हैं, जो आपके साथ बच्चे की सेहत को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं।
  • गर्भवती महिलाओं को जितना हो सके स्पाइसी खाना खाने की आदत डालनी चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि स्पाइसी खाना खाने से नॉर्मल डिलीवरी होने में आसानी होती है। लेकिन अगर आपको स्पाइसी खाना खाने से इंफेक्शन या कोई और समस्या होती है तो इसे खाने से बचना चाहिए।

नॉर्मल डिलीवरी में ब्रोमेलिन बड़ा ही फायदेमंद है -दरअसल, यह एक तरह का एंजाइम होता है जो गर्भाशय ग्रीवा को सॉफ्ट बनाता है। बता दें कि आम और अनानास में भरपूर मात्रा में ब्रोमेलिन पाया जाता है। लेकिन ये भी ज्यादा नहीं खाने चाहिए, क्योंकि इससे समय से पहले डिलीवरी होने की संभावना बढ़ जाती है।

सामान्य प्रसव के लिए नहीं होने दें पानी की कमीशरीर में पानी की कमी बिल्कुल न होने दें। इस समय ही बॉडी को सबसे ज्यादा पानी की कमी महसूस होती है। पानी की जरूरत को पूरा करने के लिए आप रोजाना जूस या हेल्दी ड्रिंक भी ले सकती हैं। नॉर्मल डिलीवरी के लिए ये उपाय बेहतर माना जाता है।

(और पढ़े – नॉर्मल डिलीवरी करने के उपाय…)

नॉर्मल डिलीवरी के लिए क्या खाना चाहिए – Normal Delivery Ke Liye Kya Khana Chahiye In Hindi

नॉर्मल डिलीवरी के लिए क्या खाना चाहिए - Normal Delivery Ke Liye Kya Khana Chahiye In Hindi

सामान्य प्रसव के आयुर्वेदिक उपाय रोजाना दूध-लहसुन का पेस्ट का सेवन जरूरी

प्रेग्नेंसी में रोजाना दूध और लहसुन के पेस्ट का सेवन करने से नॉर्मल डिलीवरी की संभावना बढ़ जाती है। विशेषज्ञों के अनुसार सांतवे महीने से महिलाओं को लहसुन के पेस्ट को दूध में गर्म करके पीना चाहिए।

गर्भावस्था के दौरान अनार का जूस पीने से बच्चा होगा गोरा

अगर आप चाहती हैं कि आपका बच्चा गोरा चिट्टा हो, रोजाना अनार का जूस पीएं। इससे इससे बच्चे का रंग साफ होगा।

नॉर्मल डिलीवरी के लेबर पेन को कम करे शहद

माना जाता है कि लेबर पेन के दौरान अगर पेट पर शहद और काले जीरे का पेस्ट बनाकर पेट पर फैला दें, तो इससे लेबर पेन कम हो जाता है और नॉर्मल डिलीवरी हो जाती है।

सामान्य प्रसव के उपाय में पैदल चलने से लेबर पेन होगा कम

आयुर्वेद के अनुसार ड्यू डेट आते-आते अगर आपको पहली बार लेबर पेन का अहसास हो, तो ज्यादा से ज्यादा पैदल चलना शुरू कर दें। इससे नॉर्मल डिलीवरी में आसानी होगी और लेबर पेन भी कम महसूस होगा।

डिलीवरी के बाद अच्छे स्तनपान के लिए एक चौथाई मैथी, आधा कप कच्चा चावल, और पांच लहसुन के टुकड़े लें। अच्छी तरह से इन तीनों चीजों की भांप ले लें। इसे रोजाना पानी के साथ लें। ऐसा आपको प्रेग्नेंसी का सांतवा महीना शुरू होने पर करना है।

(और पढ़े – गर्भावस्था में आहार जो देगा माँ और बच्चे को पूरा पोषण…)

नॉर्मल डिलीवरी के लिए की जाने वाली एक्सरसाइज – Normal Delivery Ke Liye Exercise In Hindi

नॉर्मल डिलीवरी के लिए की जाने वाली एक्सरसाइज - Normal Delivery Ke Liye Exercise In Hindi

बटक्स एक्सरसाइजडिलीवरी के दौरान सबसे ज्यादा समस्या बटक्स को लेकर आती है। इसके लिए आपको स्क्वाट करना होगा। स्क्वाट की पोजीशन में बैठकर लंबी सांस लें और दो-तीन बार स्क्वाट करें। इससे नॉर्मल डिलीवरी के चांसेस बढ़ जाते हैं।

क्लेम शैल एक्सरसाइज इस एक्सरसाइज को करने से एब्स, जांघ और कूल्हे की मांसपेशियां मजबूत होंगी। इसके अलावा पैरों और कूल्हे की मांसपेशियों के बीच अच्छा बैलेंस बना रहता है।

ब्रिज एक्सारसाइज गर्भावस्था में ये एक्सरसाइज आपके बढ़ते हुए पेट को कंट्रोल करने में काफी असरदार है। इससे पेट के लिए आपके पीठ के निचले हिस्से को सहारा मिलता है। इससे कूल्हों को भी बहुत मदद मिलती है, जिससे प्रसव के दौरान बहुत सहारा मिलता है।

डाउनवर्ड डॉग योग इस एक्सरसाइज को करने से आपके हाथ-पैरों में ताकत आएगी। साथ ही कमर और इसके आसपास की मांसपेशियां भी मजबूत बनेंगी। इसे लगातार करने से पिंडलियों की नसें खुलती हैं और रीढ़ की हड्डी को भी मजबूती मिलती है। इनके अलावा नॉर्मल डिलीवरी की संभावनाओं को बढ़ाने के लिए वॉकिंग, स्वीमिंग और साइकिलिंग भी कर सकती हैं। योग भी बेहतर तरीका है। इसके अलावा अगर गर्भावस्था में स्ट्रेचिंग करेंगी तो शरीर में लचीलापन आएगा। जिससे मांसपेशियां ढीली रहेंगी और डिलीवरी के समय लेबर पेन कम होगा।

(और पढ़े – प्रेगनेंसी में करें प्री नेटल योग जो है मां और बच्चों के लिए फ़ायदेमंद…)

नॉर्मल डिलीवरी के फायदे – Normal Delivery Ke Fayde In Hindi

नॉर्मल डिलीवरी के फायदे - Normal Delivery Ke Fayde In Hindi

  • नॉर्मल डिलीवरी बहुत कम समय में हो जाती है। साथ ही एक मां चाइल्ड बर्थ के अनुभव को अच्छे से महसूस कर सकती है।
  • सामान्य प्रसव में मां बच्चे को आसानी से ब्रेस्टफीडिंग करा सकती है। इससे बच्चा हेल्दी रहता है।
  • नॉर्मल डिलीवरी के ज्यादातर मामलों में न केवल मां बल्कि बच्चा भी स्वस्थ रहता है।
  • सामान्य प्रसव में रिकवर होने में कम समय लगता है।

(और पढ़े – बच्चे को स्तनपान कराने से होते हैं ये बड़े फायदे…)

इन नेचुरल ऑयल से पक्की होगी नॉर्मल डिलीवरी – Essential Natural Oils For Normal Delivery In Hindi

इन नेचुरल ऑयल से पक्की होगी नॉर्मल डिलीवरी - Essential Natural Oils For Normal Delivery In Hindi

नॉर्मल डिलीवरी के चांसेस को बढ़ाने के लिए सामान्य प्रसव के आयुर्वेदिक उपाय के साथ नेचुरल ऑयल का इस्तेमाल करना भी अच्छा विकल्प है। डॉक्टर्स भी प्रेगनेंसी के चौथे महीने से एसेंशियल ऑयल लगाने की सलाह देते हैं, जिनके इस्तेमाल से किसी भी तरह का नुकसान नहीं होता। इसमें आप टी ट्री ऑयल, बेसिल, मिंट जैसे प्राकृतिक तेलों का इस्तेमाल करना चाहिए। इनसे अपने शरीर के अच्छे से मसाज करें। ध्यान रखें कि इन तेलों को पेट के निचले हिस्से में ना लगाएं।

(और पढ़े – एसेंशियल ऑयल क्‍या है, नाम, फायदे और उपयोग…)

नॉर्मल डिलीवरी के लिए अपनाएं ये डाइट चार्ट – Diet Plan For Normal Delivery In Hindi

नॉर्मल डिलीवरी के लिए अपनाएं ये डाइट चार्ट - Diet Plan For Normal Delivery In Hindi

  • गर्भावस्था के दौरान आप कुछ भी खा सकते हैं, जो आपकी सेहत को सूट हो। लेकिन अगर आप नॉर्मल डिलीवरी चाहते हैं तो 9वां महीना शुरू होते ही अपनी डाइट में कुछ बदलाव करने होंगे। कुछ ऐसी चीजें खानी होंगी, जिससे आपकी नॉर्मल डिलीवरी आसान हो सके। तो देखिए ये परफेक्ट डाइट चार्ट-
  • 9वां महीना शुरू होते ही आपको फाइबर से भरपूर चीजों का सेवन करना चाहिए। फ्रेश वेजीटेबल्स, फ्रूट्स, ओट्स और अनाज से भरपूर चीजें खानी चाहिए।
  • कैल्शियम रिच फूड का सेवन प्रेगनेंसी की लास्ट स्टेज में करना चाहिए।  इससे बच्चे की हड्डियां मजबूत बनेंगी ।
  • गर्भवती महिलाओं में आयरन की कमी अक्सर देखी जाती है, इसलिए दूसरी तिमाही से आयरन रिच फूड का सेवन शुरू कर देना चाहिए। जो कि आपको मछली, लाल पालक और किशमिश में ज्यादा मिलेगा।
  • दूध के साथ बटर, घी और चीज का सेवन शुरू कर देना चाहिए। इससे नॉर्मल डिलीवरी बहुत आसान हो जाती है।
  • इस दौरान विटामिन सी से भरपूर चीजें भी ज्यादा से ज्यादा खानी चाहिए। विटामिन सी आपको टमाटर, स्ट्रॉबेरी, ब्रोकली, संतरों से मिलता है। नॉर्मल डिलीवरी में तो इनका सेवन फायदेमंद है ही साथ ही ये विटामिन सी सप्लीमेंट्स आपकी स्किन को भी निखारते हैं।

(और पढ़े – गर्भावस्था के दौरान खाये जाने वाले आहार और उनके फायदे…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration