नवरात्रि व्रत में खाएं इस तरह के आहार रहेंगे स्वस्थ्य – Healthy Recipes For Navratri Vrat in Hindi

नवरात्रि व्रत में खाएं इस तरह के आहार रहेंगे स्वस्थ्य - Healthy recipes for Navratri vrat in Hindi
Written by Anamika

Navratri vrat ka khana in Hindi नवरात्रि का पवित्र पर्व हमारे देश में बहुत हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। जाने नवरात्रि व्रत का आहार में कौन सा खाना ज्यादा लाभदायक होता है और उसके क्या कारण होते हैं। नवरात्रि में मां दुर्गा के विभिन्न रूपों और आध्यात्मिक शक्तियों की पूजा होती है। नवरात्रि में व्रत का चलन भी बहुत प्राचीन है। नवरात्रि में व्रत रखने के पीछे वैज्ञानिक रूप से भी कई कारण होते हैं। व्रत रखना मनुष्य की अच्छी सेहत का कारण भी माना जाता है, वहीं व्रत के पीछे यह भी मान्यता होती है कि व्रत रखकर लोग कुछ दिनों तक फलाहार या हल्के भोजन का सेवन करते हैं एवं मन और आत्मा को शुद्ध करते हैं। इसलिए नवरात्रि के व्रत में कौन सी रेसिपी खाना ज्यादा लाभदायक होता है (Navratri vrat recipes in Hindi) और उसके क्या कारण होते हैं, उन्हीं के बारे में आपको बताएंगे।

नवरात्रि उपवास में खाएं ये भोजन – Navratri Vrat Mein Kya Khaye in Hindi

1. नवरात्रि व्रत के लिए साबुदाने की रेसिपी – Sabudana recipes for navratri vrat in Hindi
2. नवरात्रि व्रत में सिंघाड़े के आटे की रेसिपी – Singhare ka atta recipes for navratri vrat in Hindi
3. नवरात्रि व्रत का आहार कुट्टू के आटे की रेसिपी – Navratri fasting Kuttu Atta recipes in Hindi
4. नवरात्रि व्रत का आहार है मखाना – Makhana for 9 days Navratri vrat in Hindi
5. नवरात्रि व्रत में ड्राई फ्रूट्स खाने के फायदे – Navratri vrat falahari food Dry fruits in Hindi
6. फल और सब्जियां नवरात्रि व्रत के फलाहार – Fruits and vegetables navratri upwas falahar in Hindi
7. दूध और दही नवरात्रि व्रत का आहार – Dairy products for navratri vrat in Hindi

नवरात्रि व्रत के लिए साबुदाने की रेसिपी – Sabudana Recipes For Navratri Vrat in Hindi

व्रत के खानों में जो सबसे अधिक लोकप्रिय है और अधिकांशतः घरों में जिस एक चीज का इस्तेमाल ज्यादा होता है वह है साबुदाना। साबुदाना कार्बोहाइड्रेट का एक बढ़िया स्रोत होता है। नवरात्रि के व्रत में साबुदाने की खिचड़ी या उबले आलू और भूनी हुई मूंगफली के साथ साबुदाना को हल्का फ्राई करके स्नैक्स के रूप में खाने से यह शरीर को ठंडा रखता है और आसानी से पच भी जाता है। इसमें वसा कम होती है जिससे वजन बढ़ने की चिंता भी नहीं रहती है और अगर आप नवरात्रि में नौ दिनों का व्रत रहते हैं तो आप इन पूरे दिनों में साबुदाने (Sago) की रेसिपी खा सकते हैं। इसके अलावा साबुदाने में दही मिलाकर भी इसकी रेसिपी बनायी जाती है और दूध के साथ खीर बनाकर भी व्रत में खाया जा सकता है।

(और पढ़े – साबूदाना के फायदे उपयोग और नुकसान)

नवरात्रि व्रत में सिंघाड़े के आटे की रेसिपी – Singhare Ka Atta Recipes For Navratri Vrat in Hindi

ज्यादातर घरों में उपवास के दौरान लोग सिंघाड़े के आटे का उपयोग करते हैं। अमूमन सिंघाड़े के आटे का हलवा शुद्ध घी में बनाकर नवरात्रि के व्रत में खाया जाता है। इसके अलावा सेंधा नमक और पालक मिलाकर सिंघाड़े के आटे की पकौड़ी भी बनाकर नवरात्रि के व्रत में खायी जाती है। यह पेट को पूरी तरह भरने में मदद करता है और अधिक भूख नहीं लगने देता है।

(और पढ़ें – सिंघाड़ा के खाने फायदे और नुकसान )

नवरात्रि व्रत का आहार कुट्टू के आटे की रेसिपी – Navratri Fasting Kuttu Atta Recipes in Hindi

आमतौर पर व्रत में शरीर को ऐसे भोज्य पदार्थों की जरूरत होती है जो हल्का और सुपाच्य हो और उसे खाने से पेट भी पर जाए साथ ही वह स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा हो। कुट्टू का आटा (Kuttu Atta) व्रत में उपयोग किये जाने के लिए बहुत लोकप्रिय है। कुट्टु के आटे में उच्च मात्रा में फाइबर होता है जो भूख को कम करता है और इससे बनी चीजें खाने पर पेट भी भर जाता है। नवरात्रि के व्रत में कुट्टू के आटे का डोसा या पकौड़ा बनाकर खाया जा सकता है। कुट्टू का आटा प्रोटीन और विटामिन बी-कॉम्प्लेक्स और कुछ खनिजों जैसे फॉस्फोरस और मैग्निशियम, आयरन, जिंक, कॉपर से समृद्ध होता है जो व्रत में एनर्जी प्रदान करने का काम करता है।

(और पढ़ें – कूटू के फायदे, उपयोग और नुकसान)

नवरात्रि व्रत का आहार है मखाना – Makhana For 9 Days Navratri Vrat in Hindi

व्रत में अधिक देर तक खाली पेट रहने से कुछ व्यक्तियों को कब्ज की भी समस्या होने लगती है। इससे बचने के लिए नवरात्रि के व्रत में सबसे पहले मखाने का उपयोग करना सबसे सर्वोत्तम उपाय होता है। मखाने में उच्च मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो व्रत के दौरान पेट में कब्ज नहीं बनने देता है और शरीर के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है। मखाने का सेवन नवरात्रि के व्रत में उच्च रक्तचाप से पीड़ित व्यक्ति, डायबिटीज और अनिद्रा की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति भी कर सकते हैं। यह बिल्कुल नुकसान नहीं करता है। मखाने को भूनकर खाएं या इसका चूर्ण बनाकर खायें। दोनों तरह से यह फायदेमंद होता है।

(और पढ़े – मखाने के फायदे, स्वास्थवर्धक औषधीय गुण व नुकसान)

नवरात्रि व्रत में ड्राई फ्रूट्स खाने के फायदे – Navratri Vrat Falahari Food Dry Fruits in Hindi

अगर आप नौ दिनों का नवरात्रि व्रत रहते हैं और अधिक सुस्ती महसूस होने लगे तो इस व्रत में मेवे खाना एनर्जी प्राप्त करने का सबसे बेहतरीन उपाय है। मेवों (dry fruits)में कई तरह के खनिज लवण पाये जाते हैं जो सुस्ती को कम कर ऊर्जा देते हैं। नवरात्रि के व्रत में अखरोट, बादाम, पिस्ता, किसमिस और नारियल जैसे ड्राई फ्रूट्स को खाया जा सकता है। इसके अलावा अगर आप चाहें तो हलवा और लड्डू में भी अधिक से अधिक मेवों का उपयोग करके इससे व्रत में ऊर्जा प्राप्त कर सकते हैं।

(और पढ़ें – ड्राई फ्रूट्स के फायदे और नुकसान)

फल और सब्जियां नवरात्रि व्रत के फलाहार – Fruits And Vegetables Navratri Upwas Falahar in Hindi

एक कप ताजे फल और उबली हुई सब्जियां नवरात्रि के व्रत में फलाहार के रूप में खाना एक सर्वोत्तम भोजन है। उबली लौकी या लौकी का हलवा, उबले स्वीट पोटैटो (शकरकंद), खीरा, उबले आलू, गाजर, पपीते सहित अपनी पसंद के फल व्रत में खाया जा सकता है, इससे पेट भी भर जाता है और शरीर को एनर्जी भी मिलती है।

(और पढ़ें – जल्दी वजन कम करने वाले आहार, फल और सब्जियां)

दूध और दही नवरात्रि व्रत का आहार – Dairy Products For Navratri Vrat in Hindi

दही, दूध, पनीर, मक्खन, घी और खोया (milk khoya) जैसे प्राकृतिक डेयरी उत्पादों को खाने से शरीर को पर्याप्त खनिज लवण मिल जाते हैं और नवरात्रि के व्रत में कमजोरी भी नहीं महसूस होती है। अगर नवरात्रि में आप नौ दिनों का व्रत रहते हैं तब भी डेयरी उत्पादों के रोजाना उपयोग से कोई नुकसान नहीं होता है। दूध में पीसे हुए मेवे मिलाकर व्रत में इसका सेवन किया जा सकता है। दही को उबले हुए आलू और सेंधा नमक (sendha namak) में मिलाकर खाया जा सकता है।

(और पढ़े – सेंधा नमक के फायदे गुण लाभ और नुकसान)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration