आयुर्वेदिक सौंदर्य टिप्स – Ayurvedic Beauty Tips In Hindi

आयुर्वेदिक सौंदर्य टिप्स - Ayurvedic Beauty Tips In Hindi
Written by Pratistha

Ayurvedic Beauty Tips In Hindi आयुर्वेदिक सौंदर्य टिप्‍स की लोकप्रियता आज दिनों दिन बढ़ रही है क्‍योंकि ये बहुत ही प्रभावी हैं। यदि आप अपने दैनिक जीवन में कुछ समय निकाल कर आयुर्वेदिक सौंदर्य उपचार करते हैं तो यह आपको सुंदर बना सकता है। क्योंकि आयुर्वेदिक सौंदर्य उपचार आपकी स्किन को गोरा, चमकदार और झुर्रियों रहित बनाते हैं।  घर के काम, ऑफिस और आस पास के वातावरण आदि का प्रभाव आपके जीवन में तनाव ला सकता है। तनाव आपके मानसिक, शारीरिक और सौंदर्य को प्रभावित कर सकता है। लेकिन आयुर्वेदिक टिप्स फॉर स्किन को अजमाकर आप अपनी सुंदरता को बनाए रख सकते हैं। आज इस आर्टिकल में आप आयुर्वेदिक सौंदर्य टिप्‍स के बारे में जानेगें। आइए जानते हैं आप अपने जीवन में प्राकृतिक और आयुर्वेदिक सौंदर्य उपचारों को शामिल कर किस प्रकार से लाभ ले सकते हैं।

  1. आयुर्वेदिक स्किन केयर के लिए पपीता और बेसन – Ayurvedic treatment for papaya and besan in Hindi
  2. आयुर्वेदिक सौंदर्य उपचार है हल्‍दी और शहद – Ayurvedic beauty upchar haldi aur shahad in Hindi
  3. सौंदर्य आयुर्वेदिक उपचार दूध और केसर – beauty Ayurvedic upchar dudh aur kesar in Hindi
  4. एलोवेरा आयुर्वेदिक ब्‍यूटी टिप्‍स फॉर फेयरनेस – Aloe Vera ayurvedic beauty tips for fairness in Hindi
  5. आयुर्वेदिक ग्लोइंग स्किन टिप्स चंदन – Ayurvedic skin care tips Sandalwood face pack in Hindi
  6. आयुर्वेद सौंदर्य उपाय है नीम और तुलसी – Ayurvedic beauty ke upay neem aur tulsi in Hindi
  7. आयुर्वेदिक स्किन केयर प्रोडक्ट्स मुलेठी और नींबू – Ayurvedic skin care products ke liye muleti aur nimbu in Hindi

आयुर्वेदिक स्किन केयर के लिए पपीता और बेसन – Ayurvedic treatment for papaya and besan in Hindi

आयुर्वेदिक स्किन केयर के लिए पपीता और बेसन - Ayurvedic treatment for papaya and besan in Hindi

पपीता सबसे पौष्टिक फलों में से एक है जिसका उपयोग आयुर्वेद में सौंदर्य उपचार के लिए किया जाता है। आयुर्वेदिक स्किन केयर के रूप में नियमित रूप से उपयोग करने पर यह त्‍वचा में मेलेनिन को कम करता है। जिससे त्‍वचा के रंग को साफ करने में मदद मिलती है। आप पपीता को अपने आहार के साथ ही फेस मास्‍क के रूप में भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। चेहरे के लिए आयुर्वेदिक सौंदर्य टिप्‍स के अनुसार आपको पपीता और थोड़े से बेसन की आवश्‍यकता होती है। यह फेस पैक आपके चेहरे की सुंदरता को बढ़ाने का सबसे अच्‍छा आयुर्वेदिक स्किन ट्रीटमेंट है।

आप पके हुए पपीता के एक टुकड़े को लें और इसमें 1 चम्‍मच बेसन मिला कर पेस्‍ट बनाएं। इस पेस्‍ट को अपने चेहरे में लगाएं और इसे सूखने दें। फेस मास्‍क सूखने या लगभग 25 मिनिट के बाद आप अपने चेहरे को ठंडे पानी से धो लें। पपीता का उपयोग आपकी सुंदरता के लिए आयुर्वेदिक है और इससे आपकी स्किन को किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं होता है।

(और पढ़े – घर पर बनायें पपीता का फेस पैक…)

आयुर्वेदिक सौंदर्य उपचार है हल्‍दी और शहद – Ayurvedic beauty upchar haldi aur shahad in Hindi

आयुर्वेदिक सौंदर्य उपचार है हल्‍दी और शहद - Ayurvedic beauty upchar haldi aur shahad in Hindi

बहुत से सौंदर्य उत्‍पादों में हल्‍दी का उपयोग प्रमुख घटक के रूप में किया जाता है। हल्‍दी एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जो स्‍वास्‍थ्‍य के साथ ही आपके सौंदर्य के लिए फायदेमंद होती है। हल्‍दी आपकी त्‍वचा को साफ रखने और संक्रमण से बचाने में सहायक होती है। जिससे आप अपने चेहरे को चमकता और दमकता बना सकते हैं। आप हल्‍दी के औषधीय गुणों को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए शहद और दूध का भी उपयोग कर सकते हैं। आयुर्वेदिक सौंदर्य उत्पाद बनाने के लिए आप हल्‍दी पाउडर और शहद की 1 छोटे चम्‍मच मात्रा लें जबकि 2 चम्‍मच दूध। आप इन सभी सामग्रीयों को आपस में मिलाकर अच्‍छी तरह से पेस्‍ट बनाएं। इस पेस्‍ट को अपने चेहरे पर 20 मिनिट के लिए लगाएं और फिर ठंडे पानी से चेहरे को धो लें। अच्‍छे परिणाम प्राप्‍त करने के लिए आप इसे प्रतिदिन दोहरा सकते हैं।

(और पढ़े – हल्दी फेस पैक चेहरे को गोरा और खूबसूरत बनाने के लिए…)

सौंदर्य आयुर्वेदिक उपचार दूध और केसर – beauty Ayurvedic upchar dudh aur kesar in Hindi

सौंदर्य आयुर्वेदिक उपचार दूध और केसर - beauty Ayurvedic upchar dudh aur kesar in Hindi

आयुर्वेद में सौंदर्य उपचार के लिए दूध का प्राचीन समय से ही इस्‍तेमाल होता आ रहा है। लेकिन यदि आप दूध के साथ केसर का उपयोग करते हैं तो यह और भी अधिक प्रभावी हो सकता है। हालांकि केसर थोड़ा मंहगा जरूर होता है लेकिन यह आपकी सुंदरता के लिए वरदान साबित हो सकता है। केसर का उपयोग विशेष रूप से यौन स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने के लिए किया जाता है। केसर में एंटीहाइपरटेन्सिव (antihypertensive), साइटोटॉक्सिक (cytotoxic), एंटीट्यूसिव (antitussive) और अन्‍य लाभ भी होते हैं। इन्‍हीं औषधीय गुणों के कारण केसर का उपयोग त्‍वचा के आयुर्वेदिक सौंदर्य उपचार के लिए किया जाना चाहिए। इसके लिए आपको 2 या 3 केसर के रेसे और 1 चम्‍मच दूध की आवश्‍यकता होती है।

आप केसर को दूध में लगभग 30 मिनिट तक भिगोंए गुणवत्‍ता के आधार पर दूध का रंग नारंगी या हल्‍का पीला हो जाएगा आप इसे मिलाएं अपने चेहरे पर लगाएं। लगाने के बाद आप अपने चेहरे की हल्‍की मालिश करें। अच्‍छे परिणाम प्राप्‍त करने के लिए आप इसे रात में लगाएं और अगली सुबह सादे पानी से चेहरे को धुल लें।

(और पढ़े – चेहरे की चमक बढ़ाने के लिए दूध की मलाई का इस तरह करें इस्तेमाल…)

एलोवेरा आयुर्वेदिक ब्‍यूटी टिप्‍स फॉर फेयरनेस – Aloe Vera ayurvedic beauty tips for fairness in Hindi

एलोवेरा आयुर्वेदिक ब्‍यूटी टिप्‍स फॉर फेयरनेस - Aloe Vera ayurvedic beauty tips for fairness in Hindi

घृतकुमारी जिसे एलोवेरा के नाम से भी जाना जाता है। त्‍वचा सौंदर्य के लिए एलोवेरा एक आयुर्वेदिक उपचार माना जाता है जिसे सदियों से आयुर्वेद में अजमाया जा रहा है। त्‍वचा की सुंदरता के लिए चिकित्‍सीय उत्‍पादों और आयुर्वेदिक उत्‍पादों आदि में एलोवेरा का व्‍यापक उपयोग किया जाता है। एलोवेरा में शीतलन वाले गुण होते हैं इसके अलावा इसमें विटामिन और खनिज पदार्थों की उच्‍च मात्रा होती है। आप आयुर्वेदिक सौंदर्य उपचार के लिए एलोवेरा और ककड़ी के रस का उपयोग कर सकते हैं। आप ककड़ी और एलोवेरा को मिलाकर एक पेस्‍ट तैयार करें। इस पेस्‍ट को रात में सोने से पहले अपने चेहरे पर लगाएं और हल्‍की मालिश करें और छोड़ दें। अगली सुबह आप इस फेस मास्‍क को सादे पानी से धो लें। यह चेहरे को सुंदर बनाने का सबसे अच्‍छा आयुर्वेदिक ब्‍यूटी टिप्‍स माना जाता है।

(और पढ़े – चेहरे पर एलोवेरा फेस पैक का उपयोग कैसे करें…)

आयुर्वेदिक ग्लोइंग स्किन टिप्स चंदन – Ayurvedic skin care tips Sandalwood face pack in Hindi

आयुर्वेदिक ग्लोइंग स्किन टिप्स चंदन - Ayurvedic skin care tips Sandalwood face pack in Hindi

यदि आप सुंदरता को बढ़ाने के लिए घरेलू उपायों में विश्‍वास करते हैं तो चंदन एक अच्‍छा विकल्‍प है। क्‍योंकि चंदन में औषधीय गुण होते हैं जो आयुर्वेदिक सौंदर्य उपचार में सहायक होते हैं। चंदन शरीर में शीलतलन प्रभाव डालता है जिससे स्किन के मुंहासे, चकत्ते और परतदार त्‍वचा आदि को ठीक किया जा सकता है। यह त्‍वचा में होने वाली सूर्य की क्षति के प्रभाव को भी कम कर सकता है। आप अपने चेहरे को गोरा बनाने, निखार लाने और इसे हाइड्रेट रखने के लिए भी चंदन फेस पैक का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप 1 चम्‍मच चंदन पाउडर लें और इसमें 1 चम्‍मच हल्‍दी पाउडर मिलाएं। इन दोनों को दूध या पानी के साथ मिलाकर एक पेस्‍ट तैयार करें। इस पेस्‍ट को अपने चेहरे में फेसमास्‍क की तरह लगाएं। यह आपको मुंहासों से छुटकारा दिलाने में सहायक होता है।

इस फेस पैक को अधिक प्रभावी बनाने के लिए आप 5 चम्‍मच चंदन पाउडर, 2 चम्‍मच बादाम तेल, 2 चम्‍मच नारियल तेल आदि को मिलाएं। इसे अपने चेहरे पर लगाने से पहले अपने चेहरे को धुलें और फिर इस फेस मास्‍क को लगाएं। सूखने के बाद आप इस फेस पैक को ठंडे पानी से साफ कर लें।

(और पढ़े – चंदन के फायदे जो शायद आपने अभी तक नहीं सुने होंगे…)

आयुर्वेद सौंदर्य उपाय है नीम और तुलसी – Ayurvedic beauty ke upay neem aur tulsi in Hindi

आयुर्वेद सौंदर्य उपाय है नीम और तुलसी - Ayurvedic beauty ke upay neem aur tulsi in Hindi

नीम और तुलसी औषधीय और एंटीसेप्टिक गुणों के लिए जाने जाते हैं। यह आपकी त्‍वचा को सुंदर बनाने के आयुर्वेदिक उपचारों में से एक हैं। नीम की पत्तियां न केवल आपको मुंहासों से छुटकारा दिलाती है बल्कि फुंसियों को भी आने से रोक सकती है। बहुत से आयर्वेदिक उपचारों में तुलसी और नींम के पत्‍तों को कच्‍चे खाने की सलाह दी जाती है। तुलसी भी अपने एंटीवारयल, जीवाणुरोधी और प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले गुणों के कारण आयुर्वेद‍ में उपयोग की जाती है। आप अपने चेहरे की सुंदरता बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक उपचार के रूप में इनका उपयोग कर सकते हैं।

इसके लिए आपको 10 नीम के पत्‍ते, 10 तुलसी के पत्‍ते और 2 चम्‍मच गुलाब जल की आवश्‍यकता होती है। नीम और तुलसी के पत्‍तों में गुलाब जल मिलाकर एक पेस्‍ट तैयार करें। इस पेस्‍ट को समान रूप से अपने चेहरे पर लगाएं और 30 मिनिट के लिए छोड़ दें। आप इस आयुर्वेदिक सौंदर्य उपचार को सप्‍ताह में 3 बार उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – नीम फेस पैक के फायदे, कैसे बनायें और लगाने का तरीका…)

आयुर्वेदिक स्किन केयर प्रोडक्ट्स मुलेठी और नींबू – Ayurvedic skin care products ke liye muleti aur nimbu in Hindi

आयुर्वेदिक स्किन केयर प्रोडक्ट्स मुलेठी और नींबू - Ayurvedic skin care products ke liye muleti aur nimbu in Hindi

मुलेठी की जड़ों में त्‍वचा को सूर्य की क्षति से बचाने की क्षमता होती है। इसके कारण यह आपको गोरा रंग दिलाने में सहायक हो सकती है। नींबू आपकी त्‍वचा की टोन में सुधार करता है और झाइयों को कम करने में सहायक होता है। आयुर्वेद विज्ञान में त्‍वचा के आयुर्वेदिक उपचार के लिए नींबू और मुलेठी का व्‍यापक उपयोग किया जाता है। नियमित रूप से उपयोग करने पर यह आपकी सुंदरता को बढ़ा सकता है। इस आयुर्वेदिक फेस पैक को बनाने के लिए आपको चाहिए 2 चम्‍मच मुलेठी पाउडर और 2 चम्‍मच नींबू का रस।

एक कटोरी में आप इन दोनों को अच्‍छी तरह से मिलाकर पेस्‍ट तैयार करें। इस पेस्‍ट को अपने चहरे में लगाएं और सूखने दें। इसके बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें। यह आयुर्वेदिक तरीके से स्किन केयर करने का सबसे अच्‍छा तरीका है।

(और पढ़े – गोरी त्वचा पाने के लिए चेहरे पर नींबू का इस्तेमाल करने का तरीका…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration