नेल फंगस (नाखून की बीमारी) के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज - Nail Fungus Symptoms Causes and Home Remedies in Hindi
बीमारी

नेल फंगस (नाखून की बीमारी) के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज – Nail Fungus Symptoms Causes and Home Remedies in Hindi

नेल फंगस (नाखून की बीमारी) के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज - Nail Fungus Symptoms Causes and Home Remedies in Hindi

Nakhun me infection in Hindi लोगों में नेल फंगस होना आम है। वैसे तो, यह किसी भी उम्र के लोगों में विकसित हो सकता है, लेकिन बड़ी उम्र के लोगों में नाखून संक्रमण की समस्या ज्यादा देखी जाती है। यह समस्या आमतौर पर नाखून या पैर की उंगलियों के नीचे सफेद, काले या पीले रंग के धब्बे के रूप में शुरू होती है। जैसे-जैसे संक्रमण बढ़ता है, नेल फंगस आपके नाखूनों को मोटा, तिरछा करने के साथ इसे किनारे से उखाड़ भी सकता है। इससे आसपास के नाखून भी प्रभावित होते हैं और प्रभावित होने वाले नाखूनों में बहुत दर्द महसूस होता है। यदि इसे अनदेखा किया जाए, तो फंगस धीरे-धीरे नाखूनों को नुकसान पहुंचा सकता है, जिसके लिए बाद में उपचार की आवश्यकता पड़ती है। इस लेख में हमने नेल फंगस के कारण और कुछ उपाय बताए हैं, जो इस स्थिति का इलाज करने में मदद कर सकते हैं।

इसके अलावा आप यहां नेल फंगस के लक्षण, नेल फंगस के कारण और नाखून में संक्रमण का इलाज के बारे में भी जान सकते हैं। लेकिन ये सब जानने से पहले जानिए कि क्या होता है नेल फंगस।

नेल फंगस क्या है – What is Nail Fungus in Hindi

नेल फंगस क्या है - What is Nail Fungus in Hindi

फंगल नेल इंफेक्शन एक फंगस के कारण होता है, जो नाखून के कैराटीन को प्रभावित करता है। यह किसी विशेष भाग में नहीं, बल्कि नेल बेड, नेल प्लेट या फिर नाखून की जड़ को भी प्रभावित कर सकता है। नाखून मोटे, मटमैले दिखने लगते हैं और इनका रंग भी कुछ-कुछ फीका दिखाई देने लगता है। लोगों को फिंगर नेल इंफेक्शन की तुलना में टोनेल्स फंगल इंफेक्शन ज्यादा होता है। आद्र वातावरण, नियमित रूप से नाखून को होने वाले नुकसान, मधुमेह और असुविधाजनक जूते पहनने की वजह से भी फंगल इंफेक्शन की संभावना बढ़ जाती है। यह फंगल उंगलियों के नाखून से ज्यादा अंगूठे के नाखून में देखा जाता है। साइंस की भाषा में इस संक्रमण को ऑनिओमाइकोसिस (Onychomycosis) के नाम से जाना जाता है।

(और पढ़े – फंगल इन्फेक्शन क्या है, कारण, लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार…)

क्यों होता है नाखूनों में फंगल इंफेक्शन – Why there is Fungal Infection in the nails in Hindi

क्यों होता है नाखूनों में फंगल इंफेक्शन - Why there is Fungal Infection in the nails in Hindi

नाखून में फंगस इंफेक्शन का मतलब है, कि आपके नाखून खराब होना शुरू हो गए हैं। हाथ या पैरों के नाखूनों में संक्रमण होना, कहने को तो आम बात है, लेकिन इस पर ध्यान न दिया जाए, तो यह अन्य नाखूनों पर भी फैल सकता है। नेल फंगस की समस्या आमतौर पर गंदगी, सफाई न रखना, प्रदूषण और पैरों में लंबे समय तक पसीना बने रहने से हो जाती है। इसके अलवा जिन लोगों का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है, उन्हें भी अक्सर नाखूनों में संक्रमण की शिकायत होती है।

(और पढ़े – नाखूनों को ऐसे रखें स्वस्थ और बनायें खूबसूरत…)

नाखून में संक्रमण का कारण – What Causes Nail Fungus in Hindi

नाखून में संक्रमण का कारण - What Causes Nail Fungus in Hindi

नाखून संक्रमण अक्सर फंगल ऑर्गेज्म के कारण होता है। सबसे आम एक प्रकार का फंगस है, जिसे डर्माटोफाइट कहा जाता है। यीस्ट और मोल्ड्स भी नाखून संक्रमण का कारण बन सकते हैं। अन्य कारण पैरों में रक्त संचार का कम होना और कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली भी हो सकते हैं। जबकि टोनल फंगल संक्रमण एथलीटों में होता है, जो एक नाखून से दूसरे में फैलता है। दरअसल, फंगस कॉमन स्किन बैक्टीरिया के कारण नाखून के आसपास की त्वचा में प्रवेश करते हैं। यह समस्या अक्सर जरूरत से ज्यादा नाखून काट लेने और नाखून के आसपास की त्वचा में फांस चुब जाने की वजह से होती है।

नेल फंगस के लक्षण – Symptoms of nail infection in Hindi

नेल फंगस के लक्षण - Symptoms of nail infection in Hindi

यदि आपके नाखूनों में संक्रमण शुरू हो रहा है, तो इसके कुछ लक्षण हम आपको बता रहे हैं, ताकि बिना देर किए आप इसका इलाज शुरू कर सकें।

  • नाखून को मोटा होना
  • नाखूनों का सफेद से पीला या ब्राउन हो जाना
  • नाखून टेड़े होना
  • नाखूनों का आकार बदल जाना
  • नाखून के नीचे मलबे (पदार्थ) के कारण रंग गहरा हो जाना
  • नाखूनों में मवाद का एकत्रित होना
  • दर्द और छूने में कोमलता महसूस होना
  • पैरों की उंगलियों के आसपास सूजन आना।

नेल फंगस के जोखिम को बढ़ाने वाले कारक – Factors that increase the risk of Nail Fungus in Hindi

नेल फंगस के जोखिम को बढ़ाने वाले कारक - Factors that increase the risk of Nail Fungus in Hindi

नेल फंगस के बढ़ने के लिए कई कारक जिम्मेदार होते हैं, जिन पर अक्सर लोगों का ध्यान नहीं जाता। अगर ध्यान गया भी, तो कई लोग इसे अनदेखा कर देते हैं। यहां हम आपको संक्रमित नाखून के जोखिम को बढ़ाने वाले कारकों के बारे में बता रहे हैं, ताकि आप इसका उपचार जल्द से जल्द शुरू कर सकें।

  • दिनभर टाइट जूते पहने रहने से नेल फंगस की समस्या हो सकती है। बेहतर है, कि आप सैंडल का उपयोग करें।
  • लंबी दूरी की दौड़ या अन्य कोई खेल आपके पैरों में बहुत पसीना ला सकता है। इस अवस्था में लंबे समय तक बने रहने से जोखिम बढ़ सकता है।
  •  नम वातावरण भी नाखून में संक्रमण का एक मुख्य कारक है।
  • मधुमेह, परिसंचरण समस्याएं या कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली होना।
  • पब्लिक प्लेस में नंगे पैर जाना, जैसे कि स्वीमिंग पूल आदि। ऐसी जगहों पर फ्लिप-फ्लॉप पहनना बेहतर है।
  • नाखूनों की शोभा बढ़ाने के लिए आर्टिफिशियल नेल्स का उपयोग करना भी नाखून के संक्रमण के जोखिम को बढ़ा सकता है।

(और पढ़े – हाई हील्स पहनने से पहले इसके नुकसान के बारे में जान लें…)

नेल फंगस की जटिलताएं – Complications of Fungal Nail Infection in Hindi

नाखून संक्रमण गंभीर होने के साथ काफी दर्दनाक हो सकता है। यह अन्य गंभीर संक्रमणों को भी जन्म दे सकता है, जो पैरों से फैलता है। यदि आपको डायबिटीज है, तो पैरों में रक्त संचरण और तंत्रिका आपूर्ति कम हो सकती है। आपके पैर में किसी भी तरह की मामूली चोट नाखून फंगल संक्रमण पैदा कर सकती है।

नेल फंगस का निदान – How to diagnose Nail Fungus in Hindi

नेल फंगस का निदान - How to diagnose Nail Fungus in Hindi

नेल फंगस के निदान के तौर पर डॉक्टर आपके नाखूनों की जांच करेगा। इस दौरान वह आपके नाखून के नीचे से कुछ नाखून की कतरन या खुरचनी मलबे को भी ले सकता है और संक्रमण के कारण फंगस के प्रकार की पहचान करने के लिए एक लैब में सैंपल भेज सकता है। अन्य स्थिति जैसे सोरायसिस भी फंगल इंफेक्शन पैदा कर सकती है। कई बार यीस्ट और बैक्टीरिया भी नाखूनों को संक्रमित कर सकते हैं। संक्रमण के कारण के उपचार को जानने से उपचार के कोर्स को निर्धारित करने में मदद मिल सकती है।

(और पढ़े – नाखूनों की देखभाल के लिए टिप्स…)

नेल फंगस का उपचार कैसे करें – How to treat a Fungal Nail Infection in Hindi

नेल फंगस का उपचार कैसे करें - How to treat a Fungal Nail Infection in Hindi

नेल फंगस के लिए पारंपरिक उपचार में विभिन्न एंटी फंगल क्रीम, मलहम और कुछ ओरल मेडिसिन शामिल हैं। ओरल एंटी फंगल मेडिसिन के कुछ प्रभाव हो सकते हैं, यदि आप गर्भवती हैं या स्तनपान करा रही हैं, तो। कई बार डॉक्टर इस समस्या से निपटने के लिए लेजर ट्रीटमेंट की सलाह देते हैं। लेकिन, यह थोड़ा महंगा होता है और इसके बाद भी इसके पूरी तरह से सही होने की गारंटी नहीं रहती। आगे आप जान सकते हैं, नेल फंगस के विभिन्न इलाज के बारे में।

ओरल एंटीफंगल ड्रग्स

ये दवाएं अक्सर डॉक्टर प्रायोरिटी के साथ लिखते हैं, क्योंकि ये संक्रमण को तेजी से साफ करती हैं। विकल्पों में टेर्बिनाफिन, इट्राकोनाजोल शामिल हैं। इस तरह की दवा आप छह से 12 हफ्तों तक ले सकते हैं। एक संक्रमण को खत्म करने में चार महीने या उससे ज्यादा का समय भी लग सकता है। इन दवाओं के साथ उपचार की सफलता दर 65 से अधिक उम्र के वयस्कों में कम दिखाई देती है।

नोट – डॉक्टर की सलाह के बिना किसी भी प्रकार की दवा न लें।

मेडिकेटिड नेल पॉलिश

डॉक्टर इसके इलाज के लिए एक मेडिकेटिड नेल पॉलिश लिख सकता है, जिसे साइक्लोपीरॉक्स कहा जाता है। आप इसे अपने संक्रमित नाखूनों और इसके आसपास की त्वचा पर दिन में एक बार लगा सकते हैं। इस तरह की नेल पॉलिश का उपयोग एक साल तक रोजाना करना पड़ सकता है।

मेडिकेटिड नेल क्रीम

इसके अलावा डॉक्टर एक एंटी फंगल क्रीम का सुझाव दे सकता है। इसे भिगोने के बाद आप अपने संक्रमित नाखूनों पर लगा सकते हैं। अगर आप नाखूनों को पहले पतला कर लें, तो क्रीम लगाना काफी आसान हो जाएगा।

सर्जरी

संक्रमण गंभीर और दर्दनाक होने की स्थिति में डॉक्टर नाखून को अस्थायी रूप से हटाने की सलाह दे सकता है, ताकि वह नाखून के नीचे संक्रमण के लिए एंटी फंगल दवा लगा सके। इनमें से किसी भी उपचार का प्रयोग करने से पहले अपने नाखूनों को ट्रिम कर लें, ताकि कोई भी उपचार को ठीक से किया जा सके।

ये तो जानें आपने नेल फंगस के लिए मेडिकल ट्रीटमेंट चलिए, अब नाखून की बीमारी यानी नेल फंगस के लिए घरेलू उपचार के बारे में जान लेतें हैं।

(और पढ़े – खूबसूरत नेल आर्ट्स की मदद से घर पर ही नाखूनों को सजाएं…)

नेल फंगस से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय – Home remedies for Fungal Nail Infection in Hindi

नेल फंगस से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय - Home remedies for Fungal Nail Infection in Hindi

नाखून में संक्रमण की बीमारी यानि नेल फंगस किसी को भी हो सकती है। यह स्थिति सामान्य रूप से टो नेल्स को प्रभावित करती है, लेकिन नाखून भी इससे संक्रमित हो सकते हैं। ऐसे कई घरेलू उपचार हैं, जिनकी मदद से नेल फंगस की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

नेल फंगस का घरेलू उपाय नारियल तेल – Nail fungus ka gharelu ilaj coconut oil in Hindi

नेल फंगस का घरेलू उपाय नारियल तेल - Nail fungus ka gharelu ilaj coconut oil in Hindi

नारियल तेल से नेल फंगस की समस्या को आसानी से खत्म किया जा सकता है। दरअसल, नारियल तेल में एंटी फंगल गुण होते हैं, जो नाखून में फंगस लगने से बचाने में मदद करते हैं। इसका इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले नाखून और इसके आसपास की त्वचा को साफ कर लें। इसके बाद नारियल तेल की कुछ बूंद प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। दिन में तीन बार ऐसा करने से नेल फंगस की समस्या में आराम मिलेगा।

नाखून के संक्रमण से बचने का उपाय टी ट्री ऑयल – Nakhun ke infection ka ilaj tea tree oil in Hindi

नाखून के संक्रमण से बचने का उपाय टी ट्री ऑयल - Nakhun ke infection ka ilaj tea tree oil in Hindi

नाखून का संक्रमण नाखून और इसके आसपास की त्वचा को भी प्रभावित करता है। इसलिए इससे बचने के लिए टी ट्री ऑयल का उपाय बहुत अच्छा है। इस ऑयल में एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं, जिससे यह नाखून के संक्रमण के लिए प्रभावी उपचार बन जाता है। संक्रमित नाखून पर इसका इस्तेमाल करने के लिए दो से तीन बूंद टी ट्री ऑयल लें। कॉटन पैड की मदद से इसे प्रभावित क्षेत्र पर 15 मिनट के लिए लगाए रखें और फिर टिशू पेपर या टॉवेल से साफ कर लें। उपयोग करने से पहले टी ट्री ऑयल को किसी अन्य ऑयल के साथ मिलाकर एक से एक अनुपात में इसे पतला करें। दिन में तीन बार इस उपाय को करने से बहुत लाभ मिलेगा।

संक्रमित नाखूनों का प्राकृतिक उपचार लैवेंडर ऑयल – Nakhun ke fungal infection ka upchar lavender oil in Hindi

संक्रमित नाखूनों का प्राकृतिक उपचार लैवेंडर ऑयल - Nakhun ke fungal infection ka upchar lavender oil in Hindi

सदियों से लोग फंगल नेल इंफेक्शन के लिए लैवेंडर ऑयल का इस्तेमाल करते आ रहे हैं। अपने एंटी फंगल गुणों के कारण जाना जाने वाला लैवेडर ऑयल नाखून संक्रमण से निपटने में बहुत बढ़िया काम करता है। इसका इस्तेमाल करना बेहद आसान है। कॉटन बॉल की मदद से लैवेंडर तेल की कुछ बूंदें प्रभावित हिस्से पर लगाएं और 15 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद पेपर टॉवल से इसे साफ कर लें। संक्रमण को जल्द से जल्द ठीक करने के लिए इस उपाय को दिन में तीन बार अवश्य करना चाहिए। ध्यान रखें, कि शुद्ध लैवेंडर ऑयल ही खरीदें, न कि केवल लैवेंडर की खुशबू वाला कोई भी तेल। अगर आपको लैवेंडर ऑयल को लगाने से खुजली  होती है, तो आप चाहें, तो इसमें थोड़ा सा टी ट्री ऑयल मिलाकर भी लगा सकते हैं।

नेल इन्फेक्शन को दूर करने का आसान घरेलू इलाज़ एप्पल साइडर विनेगर – Apple cider vinegar for Nail infection in Hindi

नेल इन्फेक्शन को दूर करने का आसान घरेलू इलाज़ एप्पल साइडर विनेगर - Apple cider vinegar for Nail infection in Hindi

नाखून में होने वाला फंगल इंफेक्शन बेहद दर्दनाक होता है। इस दर्द से छुटकारा पाने के लिए सदियों से एप्पल साइडर विनेगर का उपयोग किया जाता रहा है। एंटी फंगल गुण होने के कारण ये जल्द से जल्द नेल फंगस की समस्या से निजात  दिलाता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए एक टब में एक भाग एप्पल साइडर विनेगर और दो भाग पानी लें और दोनों को मिला लें। अब कुछ देर तक अपने पैरों को पानी में भिगोएं और फिर पेपर टॉवेल से अच्छे से सुखा लें। इस उपचार को दिन में एक बार एक सप्ताह तक करें। आप चाहें, तो इसकी जगह व्हाइट विनेगर का भी यूज कर सकते हैं, लेकिन इस मामले में एप्पल साइडर विनेगर का इस्तेमाल करना ही बेस्ट तरीका है।

(और पढ़े – सेब के सिरके के फायदे, लाभ, गुण और नुकसान…)

नेल फंगस के लिए घरेलू उपचार विक्स वेपोरब – Nail fungus ka gharelu upay vicks vaporub in Hindi

नेल फंगस के लिए घरेलू उपचार विक्स वेपोरब - Nail fungus ka gharelu upay vicks vaporub in Hindi

विक्स वेपोरब आसानी से नेल फंगल इंफेक्शन से आपका बचाव कर सकती है। इसमें मौजूद मेन्थॉलनेल इंफेक्शन के लक्षणों को कम करने में बहुत मदद करता है। इसे लगाने के लिए सबसे पहले अपने नाखूनों को ट्रिम करें और धोएं। अब प्रभावित क्षेत्र पर विक्स लगाएं। चाहें, तो उंगलियों को किसी स्टरलाइज टेप से कवर करें और इसे रातभर ऐसे ही छोड़ दें। नेल फंगस की समस्या में बहुत फायदा मिलेगा।

नाखून के संक्रमण को ठीक करे बेकिंग सोडा – Baking Soda Home remedy for Nail fungus in Hindi

नाखून के संक्रमण को ठीक करे बेकिंग सोडा - Baking Soda Home remedy for Nail fungus in Hindi

बेकिंग सोडा फंगल संक्रमण के खिलाफ एंटी फंगल एक्टिविटी को दर्शाता है। यह नाखून में संक्रमण के उपचार के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए दो चम्मच बेकिंग सोडा में थोड़ी मात्रा में पानी मिलाएं और इस मिश्रण को प्रभावित क्षेत्र पर लगा लें। 20-30 मिनट बाद इसे धो लें। दिन में एक से दो बार दोहराने पर अच्छे परिणाम मिलेंगे।

नाखून में संक्रमण की बीमारी दूर करने का घरेलू नुस्खा एलोवेरा – Nakhun ke fungus dur karne ka nuskha aloe vera in Hindi

नाखून में संक्रमण की बीमारी दूर करने का घरेलू नुस्खा एलोवेरा - Nakhun ke fungus dur karne ka nuskha aloe vera in Hindi

अगर आप नाखून में संक्रमण के दर्द से राहत पाना चाहते हैं, तो एलोवेरा का उपाय बहुत प्रभावी है। इसमें घाव भरने और एंटी फंगल गुण होते हैं। ये दोनों गुण मिलकर नेल फंगस का कारण बनने वाले डर्मेटोफाइट्स से लड़ने में मदद करते हैं। नाखून पर इसका उपयोग करना काफी सरल है। इसके लिए एक ऐलोवरा की पत्ती से जेल निकालें। प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं और 20 मिनट के लिए छोड़ दें। 20 मिनट बाद इसे साफ पानी से धो लें। दिन में एक से दो बार इस प्रक्रिया को दोहराने से संक्रमण धीरे-धीरे कम हो जाएगा।

(और पढ़े – एलोवेरा है 10 स्वास्थ्य फायदों से भरपूर…)

नाखून की फंगस को दूर करने के लिए लहसुन – Nakhun ki fungus dur kare garlic in Hindi

नाखून की फंगस को दूर करने के लिए लहसुन - Nakhun ki fungus dur kare garlic in Hindi

आप फंगल नाखून संक्रमण से निपटने के लिए लहसुन का उपयोग कर सकते हैं। दरअसल, लहसुन में एलिसिन और एसिन जैसे सक्रिय यौगिक होते हैं, जिनमें एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं। संक्रमित नाखून पर इसका उपयोग करने के लिए सबसे पहले लहसुन की एक कली लें और इसे कुचल लें। अब इसमें एक या दो बूंद विनेगर और ऑलिव ऑयल की मिलाएं। प्रभावित नाखून पर अब इस मिश्रण को लगाएं और इसके ऊपर पट्टी बांध लें। कम से कम 30 मिनट के लिए इसे छोड़ दें और फिर साफ टॉवेल या पेपर टॉवेल से पोंछ लें। ध्यान रखें, कि लहसुन का इस्तेमाल कुछ लोगों की त्वचा पर खुजली पैदा कर सकता है, इसलिए सावधानी से इसका उपयोग करें।

नाखून में संक्रमण (नेल फंगस) से बचने के उपाय – Simple ways to prevent Nail Fungus in Hindi

नाखून में संक्रमण (नेल फंगस) से बचने के उपाय - Simple ways to prevent Nail Fungus in Hindi

नाखून के संक्रमण से बचने के लिए घरेलू उपाय तो हम आपको उऊपर बता चुके हैं, लेकिन यहां आप कुछ ऐसे तरीकों के बारे में भी जान सकते हैं, जिन्हें अपनी दिनचर्या में शामिल कर, नेल फंगस से बचा जा सकता है।

  • अगर आप नाखूनों की सतह पर सफेद निशान देखते हैं, तो इनसे बचने के लिए नाखूनों को पानी में भिगोएं, सुखाएं और फिर औषधीय क्रीम लगाएं।
  • नाखूनों को ट्रिम और पतला करें। यह नाखूनों पर दबाव को कम करने में मदद करता है।
  • नेल फाइल को मोटे नाखूनों पर लगाने से पहले यूरिया युक्त क्रीम से उन्हें नरम कर लें।
  • अपने हाथों और पैरों को नियमित रूप से धोएं। संक्रमित नाखून को छूने के बाद अपने हाथ जरूर धोएं। धोने के बाद नाखूनों को मॉइस्चराइज करें।
  • नाखूनों को सीधे ट्रिम करें। किनारों को एक फाइलर के साथ चिकना करें।
  • पसीना सोंखने वाले मोजे पहनें।
  • पुराने जूते पहनने से बचें।
  • नाखूनों पर नेल पॉलिश और आर्टिफिशियल नेल्स का उपयोग न करें।

(और पढ़े – घर पर मैनीक्योर और पेडीक्योर कैसे करें…)

नाखून के संक्रमण से जुड़े लोगों के सवाल और जवाब – Question and answer related to Nail Fungus in Hindi

क्या नाखून का फंगस अपने आप ठीक हो जाता है?

नेल फंगस अपने आप ठीक नहीं होता। अगर आप इसका जल्द से जल्द उपचार नहीं करते, तो यह अन्य संक्रमण भी पैदा कर सकता है।

क्या नेल फंगस शरीर के अन्य हिस्सों में फैल सकता है?

यदि इसे अनुपचारित छोड़ दिया जाए, तो यह अन्य उंगलियों की त्वचा के आसपास फैल सकता है और बदले में एथलीट फुट नामक स्थिति पैदा कर सकता है।

ऊपर के लेख में आपने जाना नेल फंगस के लक्षण, नेल फंगस के कारण और नाखून में संक्रमण के घरेलू उपाय और इलाज के बारे में।

इस लेख में दिए गए नेल फंगस के लिए घरेलू उपचार और टिप्स आपको इस समस्या से निपटने में मदद कर सकते हैं। नेल फंगस भले ही आम समस्या हो, लेकिन इस संक्रमण को रोकने के लिए नियमित रूप से स्वच्छता का पालन करना चाहिए। दिन में पैंरों को ज्यादातर साफ और सूखा रखें। पैर की उंगलियों की त्वचा सूखी हों और नमी को सोंखने वाले जूते पहनें। अगर समस्या थोड़ी है, तो आप इसे इस लेख में बताए गए घरेलू उपचारों के जरिए दूर कर सकते हैं, लेकिन समस्या दर्दनाक और गंभीर होने पर डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

(और पढ़े – एथलीट फुट के कारण, लक्षण, बचाव और उपचार…)

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

आपको ये भी जानना चाहिये –

References

  1. National Health Service [Internet]. UK; Fungal nail infection.
  2. American Academy of Dermatology. Rosemont (IL), US; Nail fungus.
  3. American Academy of Dermatology. Rosemont (IL), US; Who gets nail fungus?
  4. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Fungal nail infection.
  5. Center for Disease Control and Prevention [Internet], Atlanta (GA): US Department of Health and Human Services; Fungal Nail Infections.
  6. InformedHealth.org [Internet]. Cologne, Germany: Institute for Quality and Efficiency in Health Care (IQWiG); 2006-. Nail fungus: Overview. 2015 Jan 14 [Updated 2018 Jun 14].

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration