छठ पूजा व्रत के फायदे और नुकसान – Chhath puja vrat benefits and side effects in hindi

छठ पूजा व्रत के फायदे और नुकसान - Chhath puja vrat benefits and side effects in hindi
Written by Anamika

chhath puja vrat in hindi दिवाली (Diwali) के बाद बिहार समेत पूरे देशभर में छठ पूजा (Chhath Puja) का त्यौहार मनाया जाता है छठ पूजा हिंदूओं का एक पवित्र त्योहार है और मुख्य रूप से कार्तिक माह में यह उत्तर भारत के राज्यों में मनाया जाता है। छठ पूजा व्रत नहाय खाय के साथ शुरू होता है और महिलाएं पुत्र प्राप्ति और पुत्र के दीर्घायु के लिए छठ पूजा व्रत रखती हैं। छठ पूजा का व्रत चार दिन का होता है और व्रती महिलाएं कुल 24 घंटे पानी में खड़ी रहती हैं और सूर्य की आराधना करती हैं। महिलाएं पवित्र गंगा नदी में डुबकी लगाकर केवल एक बार खाती हैं। चूंकि छठ पूजा सूर्य की पूजा है इसलिए यह व्रत अन्य व्रतों की अपेक्षा स्वास्थ्य की दृष्टि से काफी बेहतर माना जाता है। इस लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं कि छठ पूजा व्रत के फायदे और नुकसान क्या हैं।

1. छठ पूजा के फायदे इन हिंदी – Benefits of chhath puja vrat in hindi

2. छठ पूजा व्रत के नुकसान – side effects of chhath puja vrat in hindi

छठ पूजा के फायदे इन हिंदी – Benefits of chhath puja vrat in hindi

  1. छठ पूजा व्रत के फायदे इंसुलिन के स्राव के लिए – chhath puja vrat for insulin secretion in hindi
  2. इम्यून सिस्टम बेहतर रखने के लिए छठ पूजा व्रत के फायदे – chhath puja vrat for immune system in hindi
  3. छठ पूजा व्रत के फायदे अच्छे मेटाबोलिज्म के लिए – chhath puja vrat for good Metabolism in hindi
  4. अल्जाइमर दूर करने में छठ पूजा व्रत के फायदे  – chhath puja vrat for Alzheimer in hindi
  5. वजन घटाने के लिए छठ पूजा व्रत के फायदे – chhath puja vrat for Lose weight in hindi
  6. छठ पूजा के लाभ विटामिन डी के अवशोषण के लिए – chhath puja vrat for absorption of Vitamin D in hindi
  7. मेंटल हेल्थ के लिए छठ पूजा व्रत के फायदे – chhath puja vrat for mental health in hindi
  8. छठ पूजा व्रत के फायदे आंखों के लिए – chhath puja vrat for eye sight in hindi
  9. छठ पूजा व्रत के फायदे टॉक्सिन को शरीर से बाहर निकालने में  – chhath puja vrat for toxins in hindi

माना जाता है कि छठ पूजा व्रत रखना सबके बस की बात नहीं होती है। यह व्रत रखने के लिए पूरे समर्पण की जरूरत होती है। यह व्रत जितना कठिन है, स्वास्थ्य के लिए इसके फायदे भी उतने ही अधिक हैं। आइये जानते हैं छठ पूजा व्रत के फायदे क्या हैं।

छठ पूजा व्रत के फायदे इंसुलिन के स्राव के लिए – chhath puja vrat for insulin secretion in hindi

छठ पूजा व्रत के फायदे इंसुलिन के स्राव के लिए - chhath puja vrat for insulin secretion in hindi

छठ पूजा के दौरान व्रत रहने से शरीर में इंसुलिन का स्राव बढ़ जाता है और इससे व्रत रहने वाली महिलाओं को डायबिटीज रोग नहीं होता है। चूंकि छठ पूजा का व्रत लंबा होता है और कई दिनों तक लगातार व्रत रहने पर मस्तिष्क शरीर में इंसुलिन के स्तर को बढ़ाने के लिए सिग्नल भेजता है जिसके परिणामस्वरूप इंसुलिन ब्लड में बहुत प्रभावी तरीके से ग्लूकोज को अवशोषित करने में मदद करता है। यही कारण है कि स्वास्थ्य की दृष्टि से छठ पूजा का व्रत फायदेमंद होता है।

(और पढ़े – मधुमेह को कम करने वाले आहार…)

इम्यून सिस्टम बेहतर रखने के लिए छठ पूजा व्रत के फायदे – chhath puja vrat for immune system in hindi

इम्यून सिस्टम बेहतर रखने के लिए छठ पूजा व्रत के फायदे - chhath puja vrat for immune system in hindi

छठ पूजा का व्रत रहने से पाचन सिस्टम को कुछ दिनों के लिए आराम मिलता है और शरीर में जमा विषाक्त पदार्थ बाहर निकल आता है। विशेषज्ञों का मानना है कि छठ पूजा का व्रत तीन या चार दिनों का होता है और लगातार व्रत रहने के कारण शरीर में पुरानी कोशिकाएं नष्ट हो जाती हैं और उनकी जगह पर नई कोशिकाओं का निर्माण होता है जिसके कारण व्यक्ति का इम्यून सिस्टम रिचार्ज होता है और भविष्य में इससे जुड़ी किसी तरह की बीमारी नहीं होती है।

(और पढ़े – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय…)

छठ पूजा व्रत के फायदे अच्छे मेटाबोलिज्म के लिए – chhath puja vrat for good Metabolism in hindi

छठ पूजा व्रत के फायदे अच्छे मेटाबोलिज्म के लिए - chhath puja vrat for good Metabolism in hindi

माना जाता है कि छठ का व्रत रहने से हमारे शरीर का मेटाबोलिज्म बेहतर होता है और पाचन क्रिया भी सुधर जाती है। जिसके कारण आंत की क्रियाएं नियंत्रित रहती हैं और पेट से संबंधित समस्याएं नहीं होती हैं।

(और पढ़े – चयापचय (मेटाबॉलिज्म) को बढ़ाने के तरीके…)

अल्जाइमर दूर करने में छठ पूजा व्रत के फायदे  – chhath puja vrat for Alzheimer in hindi

अल्जाइमर दूर करने में छठ पूजा व्रत के फायदे  - chhath puja vrat for Alzheimer in hindi

आपको सुनने में थोड़ा अजीब लग सकता है लेकिन वास्तव में यह सच है कि छठ पूजा का व्रत रहने से महिलाओं को अल्जाइमर की समस्या नहीं होती है। उपवास रखने पर मस्तिष्क में प्रोटीन का उत्पादन होता है जिसके कारण अल्जाइमर की समस्या दूर हो जाती है। चूंकि महिलाओं में अल्जाइमर की समस्या ज्यादा पायी जाती है, इसलिए उनके लिए छठ पूजा व्रत अधिक फायदेमंद होती है।

(और पढ़े – अल्जाइमर से बचने के लिए खाएं ये हेल्दी फूड…)

वजन घटाने के लिए छठ पूजा व्रत के फायदे – chhath puja vrat for Lose weight in hindi

वजन घटाने के लिए छठ पूजा व्रत के फायदे - chhath puja vrat for Lose weight in hindi

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि छठ पूजा का व्रत रहने से शरीर में ग्लूकोज का स्तर कम होता है जिसके कारण शरीर पर जमा अतिरिक्त चर्बी घटती है और मोटापा कम होता है। हमारे शरीर में इतनी एनर्जी जमा रहती है कि व्रत रहने के दौरान शरीर इसी जमा एनर्जी को खर्च करता है। अगर आप मोटापे की समस्या से परेशान हैं तो छठ पूजा का व्रत आपके लिए लाभदायक साबित हो सकता है।

(और पढ़े – वजन और मोटापा कम करने के लिए क्या खाएं क्या न खाए…)

छठ पूजा के लाभ विटामिन डी के अवशोषण के लिए – chhath puja vrat for absorption of Vitamin D in hindi

छठ पूजा के लाभ विटामिन डी के अवशोषण के लिए - chhath puja vrat for absorption of Vitamin D in hindi

छठ पूजा का व्रत रखने के बाद महिलाएं सुबह पूजा करके सूर्य को अर्घ्य देती हैं। माना जाता है छठ पूजा का व्रत रखकर कार्तिक माह में सूर्य को जल चढ़ाने पर महिलाओं के शरीर पर सुबह उगते सूर्य की पराबैंगनी किरणें पड़ती हैं जिसके कारण शरीर में विटामिन डी की भरपायी होती है। शरीर में पर्याप्त विटामिन डी होने पर कैल्शियम का अवशोषण भी बेहतर तरीके से होता है जिसके कारण महिलाओं को हड्डियों और जोड़ों से संबंधित समस्याएं नहीं होती हैं।

(और पढ़े – विटामिन D की कमी के कारण लक्षण और उपचार…)

मेंटल हेल्थ के लिए छठ पूजा व्रत के फायदे – chhath puja vrat for mental health in hindi

मेंटल हेल्थ के लिए छठ पूजा व्रत के फायदे - chhath puja vrat for mental health in hindi

छठ पूजा का व्रत रखने वाली महिलाओं के मस्तिष्क में कार्टिसोल का स्तर कम होता है जिसके कारण उनका मन और मस्तिष्क शांत रहता है। शरीर में नई और सकारात्मक ऊर्जा प्रवेश करती है जिसके कारण शरीर अधिक सक्रिय होता है। व्रत रखकर छठ पूजा करने से मन और मस्तिष्क दोनों की शुद्धि होती है। इसलिए महिलाओं के लिए छठ पूजा का व्रत लाभदायक माना जाता है।

(और पढ़े – कोर्टिसोल (तनाव हार्मोन) को कम करने के उपाय…)

छठ पूजा व्रत के फायदे आंखों के लिए – chhath puja vrat for eye sight in hindi

छठ पूजा व्रत के फायदे आंखों के लिए - chhath puja vrat for eye sight in hindi

छठ पूजा का व्रत रखकर जब महिलाएं पानी में खड़ी रहती हैं तब पानी में सूर्य के किरणों का सात रंग फैलता है। इन किरणों से निकली ऊर्जा को शरीर अवशोषित करता है और शरीर में हर तरह के दोष को संतुलित रखता है। माना जाता है कि छठ पूजा के दौरान सूर्य की किरणें वाटर थेरेपी का कार्य करती हैं जिसके कारण आंख की रोशनी बेहतर होती है और दिमाग भी तेज होता है।

(और पढ़े – आँखों को स्वस्थ रखने के लिए 10 सबसे अच्छे खाद्य पदार्थ…

छठ पूजा व्रत के फायदे टॉक्सिन को शरीर से बाहर निकालने में  – chhath puja vrat for toxins in hindi

छठ पूजा व्रत का जड़ विज्ञान से जुड़ा हुआ है। माना जाता है कि छठ पूजा का व्रत रखने से शरीर से हानिकारक टॉक्सिन्स बाहर निकल जाते हैं। व्रत के दौरान पानी में डुबकी लगाने और सूर्य के संपर्क में आने से शरीर में बायो इलेक्ट्रिसिटी का प्रवाह होता है जिसके कारण संपूर्ण शरीर की क्रियाएं बेहतर होती हैं। इसके अलावा यह भी माना जाता है कि छठ पूजा का व्रत रखने से शरीर से हानिकारक बैक्टीरिया और वायरस बाहर निकलते हैं जिसके कारण रोगों से शरीर की रक्षा होती है।

(और पढ़े – बॉडी को डिटॉक्स (विषैले पदार्थ को बाहर) कैसे करें…)

छठ पूजा व्रत के नुकसान – side effects of chhath puja vrat in hindi

छठ पूजा व्रत के नुकसान - side effects of chhath puja vrat in hindi

  • छठ पूजा का व्रत रहने से आपको किडनी की समस्या हो सकती है।
  • यदि आप बच्चे को स्तनपान कराती हैं या प्रेगनेंट हैं तो छठ पूजा का व्रत आपके स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक हो सकता है।
  • छठ पूजा का व्रत रहने से महिलाओं को उच्च रक्तचाप की समस्या हो सकती है।
  • छठ पूजा का व्रत काफी कठिन होता है इसलिए कई दिन व्रत रहने के कारण आपको चक्कर आ सकता है।
  • चूंकि छठ पूजा का व्रत रखकर पानी में घंटों तक खड़ा रहा जाता है जिसके कारण आपको बुखार, संक्रमण, सर्दी खांसी सहित अन्य समस्याएं हो सकती हैं।
  • कुछ महिलाओं को छठ पूजा का व्रत रखने से काफी कमजोरी भी हो जाती है।
  • अगर आपको एनीमिया की समस्या है तो छठ पूजा का व्रत रखने पर आपकी समस्या अधिक गंभीर हो सकती है।
  • चूंकि छठ पूजा कार्तिक माह में पड़ता है और तब तक हल्की ठंड शुरू हो जाती है। व्रत रखकर कई घंटे पानी में खड़े रहने से आपको ठंड लग सकती है।

(और पढ़े – कमजोरी और थकान के कारण, लक्षण और इलाज…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration