चमेली के फूल के फायदे और नुकसान – Chameli Ke Phool Ke Fayde Aur Nuksan in Hindi

चमेली के फूल के फायदे और नुकसान - Chameli Ke Phool Ke Fayde Aur Nuksan in Hindiचमेली के फूल के फायदे और नुकसान - Chameli Ke Phool Ke Fayde Aur Nuksan in Hindi
Written by Jaideep

चमेली के फूल के फायदे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहद खास होते हैं। अक्‍सर लोग चमेली के तेल की बाते करते हैं। चमेली के फूल को फूलों की रानी के नाम से भी जाना जाता है। चमेली का पौधा जैतून के परिवार से संबंधित है। दुनिया भर में चमेली की 150 से अधिक प्रजातियां हैं। चमेली के फूल की खुशबू के कारण ही इसका व्‍यवसायिक उत्‍पादन किया जाता है। चमेली के फूल के फायदे स्‍वास्‍थ्‍य के साथ ही त्‍वचा और बालों के लिए भी होते हैं। चमेली के पौधे का वनस्‍पतिक नाम जैस्मिनम ओफिसिनेल (Jasminum Officinale) है। इस लेख में आप चमेली के फूल के फायदे क्‍या होते हैं इसकी जानकारी प्राप्त करेगें। आइए इन्‍हें विस्‍तार से जानें।

1. चमेली के फूल के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ – Chameli ke phool ke swasth labh in Hindi

2. चमेली के फूल के नुकसान – Chameli ke phool ke Nuksan in hindi

चमेली के फूल के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ – Chameli ke phool ke swasth labh in Hindi

आयुर्वेद में चमेली के फूल को औषधीय जड़ी बूटी के रूप में उपयोग किया जाता है। अपने औषधीय गुणों के कारण चमेली का फूल विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने में सहायक होता है। विशेष रूप से चमेली के फूल के फायदे हमारी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने, तनाव को कम करने, मुंह में होने वाली समस्‍याओं को रोकने और हृदय स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने के लिए जाने जाते हैं। आइए इन्‍हें विस्‍तार से जानें।

चमेली के फूल के फायदे हृदय के लिए – Chameli ke phool ke fayde hriday ke liye in Hindi

चमेली के फूल के फायदे हृदय के लिए – Chameli ke phool ke fayde hriday ke liye in Hindi

चमेली के फूल का उपयोग हृदय को स्‍वस्‍थ रखने के लिए किया जा सकता है। अगर आपको भी हृदय संबंधी समस्‍याएं हैं तो आप भी चमेली के फूल की चाय का सेवन कर सकते हैं। चमेली के फूल में कैटेचिन होता है जो एलडीएल-ऑक्‍सीकरण (LDL-oxidation) को रोकने में मदद करता है। क्‍योंकि खराब कोलेस्‍ट्रॉल धमनियों को ब्‍लाक करने और रक्‍त प्रवाह को वाधित कर सकता है। जिससे धमनियों से सूजन आ जाती है जो आगे चलकर स्‍ट्रोक और दिल के दौरे जैसी समस्‍याओं का कारण बन सकता है। इन सभी समस्‍याओं को दूर करने के लिए आप चमेली के फूल से बनी चाय के फायदे प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – दिल मजबूत करने के उपाय…)

मधुमेह के लिए चमेली फूल के फायदे – Madhumeh ke liye chameli phool ke fayde in Hindi

मधुमेह के लिए चमेली फूल के फायदे – Madhumeh ke liye chameli phool ke fayde in Hindi

जो लोग मधुमेह के लक्षणों से प्रभावित हैं उनके लिए चमेली का पौधा एक औषधी से कम नहीं। ऐसा माना जाता है कि चमेली के पौधे में एंटी-डायबिटिक गुण होते हैं। चमेली के पौधे की जड़ों को पानी में उबालकर पीने से मधुमेह के लक्षणों को कम किया जा सकता है। इसमें मौजूद पोषक तत्‍व रक्‍त में रक्‍त शर्करा के स्‍तर को कम करने में सहायक होते हैं।

(और पढ़े – टाइप 2 मधुमेह क्या है, कारण, लक्षण, उपचार, रोकथाम और आहार…)

चमेली के फूल का उपयोग घाव उपचार में – Chameli ke phool ka upyog ghav upchar me in Hindi

चमेली के फूल का उपयोग घाव उपचार में - Chameli ke phool ka upyog ghav upchar me in Hindi

औषधीय गुणों के कारण चमेली का तेल त्‍वचा में मौजूद घाव और चोट आदि को ठीक करने में सहायक होता है। चमेली के फूल का उपयोग कट और घाव के उपचार में भी किया जाता है। चमेली के फूल का सबसे महत्वपूर्ण उपयोग अरोमाथेरेपी के रूप में होता है। क्‍योंकि इस फूल से आने वाली सुगंध मानव मन में सकारात्‍मकता की भावनाओं को बढ़ाती है। इसके अलावा चमेली के फूल के तेल से मसाज करने पर शारीरिक दर्द को आसानी से दूर करने में मदद मिलती है।

(और पढ़े – मांसपेशियों में खिंचाव (दर्द) के कारण और उपचार…)

चमेली के फूल का इस्‍तेमाल ओरल प्रॉब्लम के लिए – Chameli ke phool ka upyog Oral Problems me in Hindi

चमेली के फूल का इस्‍तेमाल ओरल प्रॉब्लम के लिए - Chameli ke phool ka upyog Oral Problems me in Hindi

मौखिक समस्‍याओं को दूर करने के लिए चमेली के फूल और इसके पत्‍ते लाभकारी होते हैं। चमेली के पौधे की पत्तियों का उपयोग मुंह के रोगों जैसे दांतों के दर्द, मसूड़ों में संक्रमण आदि के उपचार में किया जाता है। इसके अलावा नियमित रूप से चमले के फूल और पत्‍ते सिर दर्द, त्‍वचा में चकत्ते, और अन्‍य त्‍वचा समस्‍याओं को दूर करने में भी सहायक होते हैं।

(और पढ़े – दांत दर्द ठीक करने के 10 घरेलू उपाय…)

कब्‍ज का इलाज करे चमेली का फूल – kabj ka ilaj kare chameli ka phool in Hindi

कब्‍ज का इलाज करे चमेली का फूल - kabj ka ilaj kare chameli ka phool in Hindi

एक अध्‍ययन के अनुसार पाचन संबंधी और विशेष रूप से कब्‍ज का इलाज करने में चमेली के फूल उपयोग किये जा सकते हैं। इसके अलावा आप कब्ज से छुटकारा पाने के लिए चमेली के पौधे की पत्तियों और जड़ों का भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। क्‍योंकि इस औषधीय पौधे में पेट को साफ करने वाले प्राकृतिक गुण होते हैं। जो पेट में मौजूद विषाक्‍त पदार्थों को दूर कर पाचन तंत्र को मजबूत करते हैं। कब्‍ज संबंधी विभिन्‍न हर्बल दवाओं में चमेली के फूलों का उपयोग प्रमुख घटक के रूप में किया जाता है।

(और पढ़े – कब्ज के कारण और इलाज…)

चमेली के फूल के फायदे तनाव के लिए – Tanav ke liye chameli ke phool ke fayde in Hindi

चमेली के फूल के फायदे तनाव के लिए - Tanav ke liye chameli ke phool ke fayde in Hindi

प्राचीन चिकित्‍सा पद्यति के अनुसार चमेली के फूल का उपयोग तनाव और इससे संबंधी समस्‍याओं के लिए किया जा सकता है। इसके लिए चमेली के फूलों को पीस कर इसे चाय के रूप में उपयोग किया जाता है। इस चाय का सेवन करने पर यह चिंता, तनाव, सनस्‍ट्रोक और अन्‍य संक्रमणों के उपचार में उपयोगी माना जाता है। इस तरह से आप तनाव संबंधी समस्‍याओं के उपचार के लिए चमेली के फूल के लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – मानसिक तनाव दूर करने के घरेलू उपाय…)

चमेली के फूल के लाभ प्रतिरक्षा बढ़ाये – Chameli ke phool ke labh immunity Badhaye in Hindi

चमेली के फूल के लाभ प्रतिरक्षा बढ़ाये – Chameli ke phool ke labh immunity Badhaye in Hindi

यदि आप बार बार संक्रमण और सामान्‍य बीमारीयों से परेशान हैं तो चमेली के फूल का उपयोग करें। अध्‍ययनों से पता चलता है कि चमेली के फूल से बनी चाय का सेवन हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक होता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि चमेली के फूलों में सक्रिय घटक के रूप में लिनालूल, बेंजोइक एसीटेट, इंडोल, सैलिसिलिक एसिड और अल्‍कॉइड होते हैं। इन सभी घटकों की अच्‍छी मात्रा हमारे शरीर को हानिकारक प्रभावों से बचाने में सहायक होती है। नियमित रूप से चमेली के फूल की चाय का सेवन आपको सामान्‍य सर्दी और बुखार से राहत दिला सकता है।

(और पढ़े – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय…)

त्‍वचा को स्‍वस्‍थ रखे चमेली के फूल – Twacha ko swasth rakhe chameli ke phool in Hindi

त्‍वचा को स्‍वस्‍थ रखे चमेली के फूल – Twacha ko swasth rakhe chameli ke phool in Hindi

चमेली के फूल औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं। जिसके कारण यह आपकी त्‍वचा को स्‍वस्‍थ्‍य और चुस्‍त रखने में मदद करते हैं। चमेली के फूल की चाय का नियमित सेवन करने पर यह आपकी त्‍वचा को पूरे दिन मॉइस्‍चराइज रखने में मदद करते हैं। आप त्‍वचा के लिए चमेली के तेल का भी उपयोग कर सकते हैं। लेकिन चमेली के फूलों का उपयोग सीधे ही त्‍वचा में नहीं करना चाहिए। इसके अलावा चमेली के तेल को अन्‍य तेलों के साथ मिलाकर ही उपयोग करना चाहिए।

(और पढ़े – गर्मी में त्वचा की देखभाल कैसे करें…)

चमेली के फूल के गुण है एंटी-ट्यूमर – chameli ke phool ke gun hai Anti-tumor in Hindi

चमेली के फूल के गुण है एंटी-ट्यूमर - chameli ke phool ke gun hai Anti-tumor in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि चमेली के फूलों में एंटी-ट्यूमर गुण होते हैं। क्‍योकि चमेली की चाय में एंगुस्टिफोलियम लिनन के एथेनोलिक होता है। जो शरीर में मौजूद ट्यूमर कोशिकाओं के विकास को रोकने और इन्‍हें नष्‍ट करने में सहायक होता है। शोधकर्ताओं के अनुसार ट्यूमर सिंड्रोम को दबाने के लिए चमेली के पौधे का उपयोग बहुत ही फायदेमंद होता है।

(और पढ़े – ब्रेन ट्यूमर के लक्षण, कारण, प्रकार, निदान, उपचार और बचाव…)

चमेली का फूल डिसमेनोरिया का इलाज करे – Chameli ka phool treat for Dysmenorrhoea in Hindi

चमेली का फूल डिसमेनोरिया का इलाज करे – Chameli ka phool treat for Dysmenorrhoea in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि चमेली के फूल का उपयोग डिसमेनोरिया और एमेनोरिया के इलाज के लिए किया जा सकता है। डिसमनोरिया को दर्दनाक मासिक धर्म के रूप में जाना जाता है। जिसमें पेट की ऐंठन आदि शामिल है। जबकि एमेनोरिया एक स्‍वास्‍थ्‍य स्थिति है जिसे मासिक धर्म की असामान्‍य अनुपस्थिति द्वारा समझा जाता है। आप इन सभी प्रकार की समस्‍याओं को दूर करने के लिए चमेली के फूल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़े – डिसमेनोरिया (कष्टयुक्त मासिकस्राव) क्या है, कारण, लक्षण और इलाज…)

चमेली का फूल करे पथरी का इलाज – chameli ka phool kare pathri ka ilaj in Hindi

चमेली का फूल करे पथरी का इलाज - chameli ka phool kare pathri ka ilaj in Hindi

गुर्दे के पत्‍थर होना किसी व्‍यक्ति के लिए गंभीर समस्‍या हो सकती है। लेकिन अध्‍ययन बताते हैं कि पथरी का इलाज करने के लिए चमेली के फूलों का उपयोग किया जा सकता है। क्‍योंकि चमेली के फूल में एंटीलिथिएटिक गुण होते हैं। ये गुण पथरी का गठन होने से रोकते हैं। इसलिए पथरी का इलाज करने के लिए चमेली के फूल फायदेमंद हो सकते हैं।

(और पढ़े – पथरी होना क्या है? (किडनी स्टोन) पथरी के लक्षण, कारण और रोकथाम…)

सिर दर्द के लिए फायदेमंद चमेली के फूल – Chameli ke phool ke fayde sir dard ke liye in Hindi

सिर दर्द के लिए फायदेमंद चमेली के फूल – Chameli ke phool ke fayde sir dard ke liye in Hindi

ऐसा माना जाता है कि चमेली के फूल में एनाल्‍जेसिक गुण होते हैं। जिसके कारण चमेली के फूल की खुशबू लेने पर यह सिर दर्द के लक्षणों से छुटकारा दिला सकता है। इन्‍हीं कारणों से चमेली के फूलों का उपयोग सिरदर्द की हर्बल दवाओं के लिए किया जाता है।

(और पढ़े – सिरदर्द दूर करने के घरेलू उपाय…)

कैंसर का इलाज करें चमेली के फूल – cancer ka ilaj kare chameli phool se in Hindi

कैंसर का इलाज करें चमेली के फूल – cancer ka ilaj kare chameli phool se in Hindi

चमेली के फूल में टैनिन नामक समृद्ध घटक होता है जिसे एंटी-कैंसर गुणों वाला माना जाता है। इस प्रकार के गुण होने के कारण चमेली के फूलों को उपयोग कैंसर के लक्षणों को कम करने और कैंसर के उपचार के लिए किया जाता है। नतीजतन यह कैंसर से जुडी सूजन या अल्‍सर कोशिकाओं के इलाज में सहायक होता है। आप भी कैंसर के लक्षणों और प्रभावों को कम करने के लिए चमेली के फूल के फायदे प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – क्या खाने से कैंसर का खतरा कम किया जा सकता है…)

चमेली का फूल के लाभ आराम दिलाएं – chameli ke phool Help you relax in Hindi

चमेली का फूल के लाभ आराम दिलाएं - chameli ke phool Help you relax in Hindi

चमेली के फूल की खुशबू नसों को शांत करने में अहम भूमिका निभाती हैं। जिससे अपको आराम मिलता है। आपको बस इतना करना है कि चमेली के फूल से प्राप्‍त तेल को नारियल के तेल में मिलाएं और अपने शरीर में इस तेल को लगाएं। इस तेल से शरीर की मालिश करने पर यह दर्द से छुटकारा दिलाने में सहायक होती है। साथ ही इस तेल की खुशबू मन को शांत कर तनाव से भी राहत दिला सकती है।

(और पढ़े – बॉडी मसाज के लिए बेस्ट तेल और इनके फायदे…)

चमेली का फूल शरीर की बदबू दूर करे – chameli ke phool sareer ki badbu dur kare in Hindi

चमेली का फूल शरीर की बदबू दूर करे - chameli ke phool sareer ki badbu dur kare in Hindi

हमारे शरीर की त्‍वचा में मौजूद बैक्‍टीरिया पसीने के साथ क्रिया करते हैं। जिससे शरीर की बदबू जैसी समस्‍या आ सकती है। यदि आप शरीर की बदबू को दूर करने के उपाय ढूंढ रहे हैं तो चमेली के फूल से बेहतर कोई और विकल्‍प नहीं है। आप चमेली के फूलों का उपयोग कर घर पर ही बॉडी स्‍प्रे बना सकते हैं। इसके लिए आप स्‍प्रे बोतल में 1 चम्‍मच चमेली के फूलों का तेल लें और इसमें पानी मिलाएं। स्‍प्रे बोतल को अच्‍छी तरह से हिलाएं आपके लिए चमेली के फूल की खुशबू बाला बॉडी स्‍प्रे तैयार हैं।

(और पढ़े – बगल की बदबू दूर करने के उपाय…)

चमेली फूल के फायदे बालों के लिए – Chameli ke phool ke fayde balo ke liye in Hindi

चमेली फूल के फायदे बालों के लिए - Chameli ke phool ke fayde balo ke liye in Hindi

आप अपने बालों को प्राकृतिक कंडीशन करने के लिए चमेली फूल का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए आप कुछ पानी को गर्म करें और इसमें चमेली के फूलों को डाल दें। कुछ देर के बाद पानी से फूलों को निकाल लें और पानी को ठंडा होने दें। इस ठंडे पानी से आप अपने बालों को धुलें। इस बात का ध्‍यान रखें की इस पानी से बालों को धुलने के बाद सामान्‍य पानी से बालों को न धुलें। आप अपने बालों में चमक लाने के लिए पानी में चमेली के तेल की कुछ बूंदें भी मिला सकते हैं।

(और पढ़े – बालों को सिल्की बनाने के घरेलू उपाय…)

चमेली के फूल के नुकसान – Chameli ke phool ke Nuksan in hindi

चमेली के फूल के नुकसान - Chameli ke phool ke Nuksan in hindi

अन्य जड़ी बूटियों और पौधों की तरह, चमेली के फूल के नुकसान होते है। नीचे बताई गई अवस्था में

चमेली का उपयोग न करें:

  • जब आप गर्भवती हैं या शिशु को स्तनपान करा रही हैं।
  • आप माइग्रेन से पीड़ित हैं। चमेली की मजबूत गंध इसे खराब कर सकती है।
  • चमेली के फूल उल्टी और मतली को प्रेरित कर सकता है।

(और पढ़े – माइग्रेन के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration