बच्चों की उल्टी रोकने के घरेलू उपाय – Home Remedies For Vomiting In Child In Hindi

बच्चों की उल्टी रोकने के घरेलू उपाय - Home Remedies For Vomiting In Child In Hindi
Written by Pratistha

बच्‍चों की उल्‍टी उनके स्‍वास्‍थ्‍य पर भारी पड़ सकती है। इसलिए हर माता पिता को बच्‍चों की उल्‍टी रोकने के घरेलू उपाय पता होने चाहिए। बच्‍चों की उल्‍टी कोई गंभीर बीमारी नहीं है बल्कि यह आपके बच्‍चों के बीमार होने का संकेत हो सकता है। ज्‍यादातर बच्‍चे उल्‍टी की दवाओं का सेवन करने में आना कानी करते हैं। इस स्थिति में बच्‍चों की उल्‍टी रोकने के घरेलू उपाय ही काम में आते हैं। इस आर्टिकल में आप बच्‍चों की उल्‍टी रोकने के उन सरल उपायों को जानेगें। जिनका उपयोग कर आप अपने बच्‍चों की उल्‍टी को रोक सकते हैं। आइए इन्‍हें विस्‍तार से जानें।

  1. बच्चों की उल्टी रोकने का उपाय तरल पदार्थ – Fluid intake for children vomiting remedy in Hindi
  2. बच्‍चों की उल्टी रोकने की दवा पुदीने का रस – Bachon ki ulti rokne ka tarika Mint Juice in Hindi
  3. बच्चों को उल्टी रोकने के उपाय चावल का पानी – Bacho ki ulti rokne ke upay rice water in Hindi
  4. बच्चों की उल्टी का घरेलू इलाज लौंग – Bacho ki ulti rokne ke gharelu upay Cloves in Hindi
  5. बच्चों की उल्टी बंद करने का उपाय सेब का सिरका – Bacho Ki Ulti Ki Dawa Seb Ka Sirka in Hindi
  6. बच्चों की उल्टी का घरेलू इलाज जीरा – Cumin seeds for children’s vomiting in Hindi
  7. बच्चों की उल्टी का इलाज है लैवेंडर तेल – Lavender oil for children’s vomiting treatment in Hindi
  8. उल्टी रोकने के उपाय गहरी सांस लेना – Measures to prevent vomiting deep breathing in Hindi
  9. बच्चों की उल्टी रोकने के उपाय कलाई एक्‍यूप्रेशर – children vomiting prevention for Wrist acupressure in Hindi
  10. बच्चों को उल्टी से बचाए अदरक – Ginger protects children from vomiting in Hindi
  11. बच्चों को उल्टी रोके प्‍याज का रस – onion juice home remedies for vomiting child in Hindi

बच्चों की उल्टी रोकने का उपाय तरल पदार्थ – Fluid intake for children vomiting remedy in Hindi

बच्चों की उल्टी रोकने का उपाय तरल पदार्थ - Fluid intake for children vomiting remedy in Hindi

बच्‍चों में होने वाली उल्‍टी के कारण उनमें ऊर्जा की कमी बहुत तेजी से हो सकती है। क्‍योंकि उल्‍टी के दौरान शरीर में तरल पदार्थों की कमी हो सकती है। इसके अलावा उल्‍टी होने पर शरीर के पोषक तत्‍व भी बाहर निकल जाते हैं। लेकिन बच्‍चों की उल्‍टी रोकने के लिए आप कुछ आसान से घरेलू उपायो का उपयोग कर सकते हैं। उल्‍टी होने पर बच्‍चों को अधिक से अधिक तरल खाद्य और पेय पदार्थों का सेवन कराया जाना चाहिए। साथ ही आपको यह भी ध्‍यान रखना चाहिए कि बच्‍चों को उल्‍टी होने के लगभग 12 घंटो तक किसी भी प्रकार के ठोस खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं कराना चाहिए। इसलिए उल्‍टीयां होने पर बच्‍चों को हल्‍की सब्‍जीयां, सूप, शोरबा और आइसक्रीम जैसे खाद्य पदार्थ खिलाए जा सकते हैं।

(और पढ़े – नवजात शिशु को उल्टी होना, कारण, लक्षण और घरेलू उपाय…)

बच्‍चों की उल्टी रोकने की दवा पुदीने का रस – Bachon ki ulti rokne ka tarika Mint Juice in Hindi

बच्‍चों की उल्टी रोकने की दवा पुदीने का रस - Bachon ki ulti rokne ka tarika Mint Juice in Hindi

अपने औषधीय गुणों के कारण पुदीने को बच्‍चों की उल्‍टी रोकने के घरेलू उपाय के लिए उपयोग किया जाता है। पुदीने में शीतलन गुण होने के साथ ही शामक गुण भी होते हैं जो उल्‍टी और मतली की भावना को कम करने में मदद करते हैं। बच्‍चों की उल्‍टी रोकने के लिए आप पुदीने की कुछ ताजा पत्तियां लें और इनका रस निकाल लें। 1 चम्‍मच पुदीने के रस में 1 चम्‍मच नींबू का रस मिलाएं और बच्‍चे को इसका सेवन कराएं। इस मिश्रण को स्‍वादिष्‍ट बनाने के लिए आप इसमें कुछ शहद भी मिला सकते हैं। विकल्‍प के रूप में आप बच्‍चों को पुदीने की कुछ पत्तियां चबाने के लिए भी दे सकते हैं। पुदीने का रस बच्‍चों की उल्‍टी को रोकने का सबसे प्रभावी घरेलू उपचार माना जाता है।

(और पढ़े – पुदीना के फायदे गुण लाभ और नुकसान…)

बच्चों को उल्टी रोकने के उपाय चावल का पानी – Bacho ki ulti rokne ke upay rice water in Hindi

बच्चों को उल्टी रोकने के उपाय चावल का पानी - Bacho ki ulti rokne ke upay rice water in Hindi

छोटे बच्‍चों में उल्‍टी होने का प्रमुख कारण दूषित भोजन करना या पाचन की समस्‍या हो सकती है। लेकिन आप बच्‍चों की उल्‍टी रोकने के घरेलू उपाय के रूप में चावल के पानी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। चावल के पानी में उल्‍टी की भावना को कम करने की क्षमता होती है। उल्‍टी रोकने के लिए ब्राउन चावल के बजाए सफेद चावल के पानी का उपयोग अधिक फायदेमंद होता है। क्‍योंकि चावल के पानी में फाइबर की अधिक मात्रा होती है जो पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। चावल का पानी बनाने के लिए आप 1 कप चावल लें और इसे 2 कप पानी के साथ उबाल लें। जब चावल पक जाएं तो पके हुए चावल से पानी की अतिरिक्‍त मात्रा को निकाल लें। बच्‍चों को यह चावल का पानी पिलाएं। यह उल्‍टी को रोकने में प्रभावी रूप से मदद कर सकता है।

(और पढ़े – चावल के पानी के फायदे…)

बच्चों की उल्टी का घरेलू इलाज लौंग – Bacho ki ulti rokne ke gharelu upay Cloves in Hindi

बच्चों की उल्टी का घरेलू इलाज लौंग - Bacho ki ulti rokne ke gharelu upay Cloves in Hindi

मन में उल्‍टी की भावना को कम करने के लिए लौंग एक प्रभावी औषधी मानी जाती है। प्राचीन समय से ही लौंग का उपयोग विभिन्‍न प्रकार की स्वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने के लिए उपयोग किया जा रहा है। लौंग पाचन के लिए भी अच्‍छी होती है। उल्‍टी होने के दौरान आप अपने बच्‍चे को लौंग खिला सकती हैं। यदि आपका बच्‍चा लौंग नहीं चबा सकता है तो आप 1 कप पानी में कुछ लौंग को उबालें और चाय के रूप में बच्‍चे को पिला दें। लौंग उल्‍टी रोकने का सबसे अच्‍छा आयुर्वेदिक इलाज मानी जाती है। आप लौंग की चाय को अधिक प्रभावी बनाने के लिए 1 चम्‍मच शहद भी मिला सकते हैं।

(और पढ़े – लौंग के फायदे, औषधीय गुण और नुकसान…)

बच्चों की उल्टी बंद करने का उपाय सेब का सिरका – Bacho Ki Ulti Ki Dawa Seb Ka Sirka in Hindi

बच्चों की उल्टी बंद करने का उपाय सेब का सिरका - Bacho Ki Ulti Ki Dawa Seb Ka Sirka in Hindi

एप्‍पल साइडर विनेगर में एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं। ये गुण बच्‍चों में उल्‍टी और मतली की भावना को कम करने में सहायक होते हैं। इसके अलावा सेव के सिरका का सेवन करने से पेट को अच्‍छी तरह से साफ भी किया जा सकता है। जब बच्‍चों को उल्‍टी हो तो इसे बंद करने के लिए सेब के सिरका का सेवन फायदेमंद हो सकता है। इसके लिए आप 1 गिलास पानी में सेब का सिरका और शहद दोनों की 1 – 1 चम्‍मच मिलाएं और अपने बच्‍चे को थोड़ा – थोड़ा पूरे दिन पिलाएं। यह मिश्रण छोटे बच्‍चों की उल्‍टी को निय‍ंत्रित करने में मदद करता है।

(और पढ़े – सेब के सिरके के फायदे, लाभ, गुण और नुकसान…)

बच्चों की उल्टी का घरेलू इलाज जीरा – Cumin seeds for children’s vomiting in Hindi

बच्चों की उल्टी का घरेलू इलाज जीरा - Cumin seeds for children's vomiting in Hindi

हम सभी मसाले के रूप में जीरे का उपयोग करते हैं। जीरे में बहुत से औषधीय गुण होते हैं जो हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होते हैं। जीरे का सेवन करने से अग्नाशयी एंजाइमों के उत्‍पादान को बढ़ाने में मदद मिलती है जो कि पाचन समस्‍याओं को दूर करने में सहायक होते हैं। आपके बच्‍चों को उल्‍टी से छुटकारा दिलाने के लिए जीरे का फायदेमंद उपयोग किया जा सकता है। इसके लिए आप जीरे को तवे में हल्‍का भून लें और इसका पाउडर बना लें। 1 चम्‍मच जीरा पाउडर लें और 1 गिलास पानी में घोलकर बच्‍चे को पिला दें। आप इस मिश्रण को और अधिक प्रभावी बनाने के‍ लिए इसमें जायफल पाउडर को भी मिला सकते हैं। यह आपके बच्‍चों की उल्‍टी को रोकने का सबसे आसान तरीका हो सकता है। विकल्‍प के रूप में आप जीरा पाउडर इलायची और शहद के मिश्रण का भी उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – जीरा के फायदे जानकर हैरान रह जायेगें आप…)

बच्चों की उल्टी का इलाज है लैवेंडर तेल – Lavender oil for children’s vomiting treatment in Hindi

बच्चों की उल्टी का इलाज है लैवेंडर तेल - Lavender oil for children's vomiting treatment in Hindi

यह सुगंधित तेल बच्‍चों की उल्‍टी को रोकने और मतली की भावना को कम करने में असरदार माना जाता है। अक्‍सर देखा जाता है कि उल्‍टी करने के बाद बच्‍चों को सिर दर्द जैसी समस्‍याएं होती हैं। लेकिन लैवेंडर तेल का उपयोग कर आप इन सभी समस्‍याओं से छुटकारा पा सकते हैं। लैंवेडर तेल का उपयोग करने पर बच्‍चों को अच्‍छी नींद आती है। इसके लिए आप बच्‍चे के बिस्‍तर पर, तकिये पर या पहने हुए कपड़ों पर लैवेंडर तेल की कुछ बूंदे डालें। इस तेल की खुशबू उल्‍टी की भावना को कम करने में मदद करती है।

(और पढ़े – लैवेंडर ऑयल के फायदे और नुकसान…)

उल्टी रोकने के उपाय गहरी सांस लेना – Measures to prevent vomiting deep breathing in Hindi

उल्टी रोकने के उपाय गहरी सांस लेना - Measures to prevent vomiting deep breathing in Hindi

वयस्‍क बच्‍चों को उल्‍टी होने के दौरान कुछ घरेलू और प्रभावी उपचारों को अपनाना चाहिए। इस दौरान उन्‍हें नाक के माध्‍यम से गहरी सांस लेनी चाहिए। ऐसा करने से आपको उल्‍टी रोकने में मदद मिल सकती है। नाक से गहरी सांस लेते समय आपका पेट फूलना चाहिए और सांस छोड़ने के बाद आपके पेट को आराम के लिए कुछ समय देना चाहिए। अध्‍ययनों से पता चलता है कि गहरी सांस लेने से पैरासिम्‍पेथेटिक तंत्रिका तंत्र सक्रिय होता है। इसके अलावा गहरी सांस लेने से तनाव को भी कम किया जा सकता है। इस तरह से बच्‍चों की उल्‍टी रोकने के घरेलू नुस्‍खों के रूप में इस विधी का उपयोग लाभकारी होता है।

(और पढ़े – सफर के दौरान उल्टी आने के कारण और रोकने के उपाय…)

बच्चों की उल्टी रोकने के उपाय कलाई एक्‍यूप्रेशर – children vomiting prevention for Wrist acupressure in Hindi

बच्चों की उल्टी रोकने के उपाय कलाई एक्‍यूप्रेशर - children vomiting prevention for Wrist acupressure in Hindi

एक्‍यूप्रेशर एक लोकप्रिय पारंपरिक चीनी पद्यती है। शरीर की विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने के लिए शरीर के कुछ बिंदूओं को उत्‍तेजित करने की विधी को एक्‍यूप्रेशर कहते हैं। उल्‍टी को नियंत्रित करने के लिए आप अपने हाथ की कलाई पर दबाव डाल सकते हैं जिससे आपको उल्‍टी और मतली जैसे लक्षणों से छुटकारा मिल सकता है। कलाई पर एक्‍यूप्रेशर का उपयोग निम्‍न प्रकार से करें।

  • अपनी कलाई में 3 उंगलियां रखें।
  • अपने अंगूठे को तर्जनी उंगली के नींचे रखें।
  • अब इस बिंदू को तेजी से सर्कुलर गति में 2 से 3 मिनिट तक रगड़ें।
  • यही प्रकिया को अपनी दूसरी कलाई में दोहराएं।
  • इस विधी का उपयोग करने से उल्‍टी को रोकने में मदद मिल सकती है।

(और पढ़े – एक्यूप्रेशर के फायदे विशेष पॉइंट्स और नुकसान…)

बच्चों को उल्टी से बचाए अदरक – Ginger protects children from vomiting in Hindi

बच्चों को उल्टी से बचाए अदरक - Ginger protects children from vomiting in Hindi

आप अपने बच्‍चों की उल्‍टी को शांत करने के लिए औषधीय गुणों से भरपूर अदरक का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। उल्‍टी को रोकने के लिए अदरक का उपयोग बहुत ही आसान और सरल होता है। आप अपने बच्‍चों को उल्‍टी होने पर अदरक का एक छोटा टुकड़ा चूसने के लिए दे सकते हैं। इसके अलावा आप अदरक को पीसकर रस निकालें और इसमें शहद मिलाकर बच्‍चों को पिलाएं। यह मिश्रण बच्‍चों की उल्‍टी को ठीक करने के लिए टॉनिक का काम करता है साथ ही बच्‍चों की पाचन व्‍यवस्‍था को भी सुधारता है।

(और पढ़े – अदरक के फायदे, औषधीय गुण, उपयोग और नुकसान…)

बच्चों को उल्टी रोके प्‍याज का रस – onion juice home remedies for vomiting child in Hindi

बच्चों को उल्टी रोके प्‍याज का रस - onion juice home remedies for vomiting childin Hindi

प्राकृतिक रूप से प्‍याज में एंटीबायोटिक गुण होते हैं। आप अपने बच्‍चों की उल्‍टी को शांत करने के लिए प्‍याज के रस का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए आप प्‍याज का रस निकालें और बराबर मात्रा में अदरक के रस के साथ मिला लें। इस मिश्रण को आप अपने बच्‍चे को पिलाएं। आप इस मिश्रण का उपयोग दिन में 2 से 3 बार करें। यह प्रभावी रूप से बच्‍चों की उल्‍टी को शांत कर सकता है।

(और पढ़े – प्याज के फायदे और नुकसान…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration