विपरीत करणी योग करने का तरीका और फायदे – Viparita Karani (Legs Up the Wall pose) steps and benefits in Hindi

विपरीत करणी योग करने का तरीका और फायदे - Viparita Karani (Legs Up the Wall pose) steps and benefits in Hindi
Written by Shivam

Viparita Karani Yoga In Hindi विपरीत करणी योग आसन एक स्फूर्तिदायक और उल्टा होने वाली मुद्रा हैं जो रीढ़, पैर और तंत्रिका तंत्र को राहत देता है। विपरीता करणी को अक्सर लेग्स-अप-द-वॉल पोज़ कहा जाता है। यह आसन धीरे-धीरे शरीर को पूर्ण विश्राम की स्थिति में लाता है। यह मस्तिष्क को शांत करता है और इसे अधिक आत्म-जागरूक बनाता है। यह सबसे अधिक स्वीकार्य योग में से एक है क्योंकि इसमें बहुत अधिक लचीलापन या शक्ति की आवश्यकता नहीं होती है।

विपरीत करणी या लेग्स-अप-द-वॉल पोज़ को या तो आसन माना जाता है या हठ योग में से एक मुद्रा। आइये विपरीत करणी योग को करने की विधि और लाभ को विस्तार से जानते हैं।

1. विपरीत करणी  क्या हैं – What is Viparita Karani in Hindi
2. विपरीत करणी करने से पहले करें यह आसन – Viparita Karani se pahle kare ye aasan in Hindi
3. विपरीत करणी करने का तरीका – Steps to do Viparita Karani in Hindi
4. शुरुआती लोगों के लिए विपरीत करणी करने की टिप्स – Beginner’s Tip to do Viparita Karani in Hindi
5. विपरीत करणी योग करने फायदे – Benefits Of The Viparita Karani in Hindi

6. विपरीत करणी योग करने से पहले यह सावधानी रखें – Precautions to do Viparita Karani in Hindi

विपरीत करणी  क्या हैं – What is Viparita Karani in Hindi

विपरीता करणी एक संस्कृत शब्द है जो उल्टे होने के एक कार्य को दर्शाता है। विपरीता करणी एक संस्कृत भाषा का शब्द हैं दो शब्दों से मिलकर बना है जिसमे पहला शब्द “विपरीत” जिसका अर्थ “उलटा” है और दूसरा शब्द “करणी ’ जिसका अर्थ “करना” होता हैं। इस आसन में आपको सर्वांगासन के समान अपने पैरों को ऊपर की ओर करना होता है। यह आसन हमारे शरीर के लिए अनेक प्रकार से लाभदायक है। इस आसन को लेग्स अप द वॉल पोज़ (Legs Up the Wall pose) भी कहा जाता है। कुछ हिंदू धर्म ग्रंथों में कहा गया है कि विपरीता करणी न केवल झुर्रियों को कम करता है बल्कि बुढ़ापे और मृत्यु दोनों को रोकता है। आइये विपरीत करणी को करने का तरीका और उससे होने वाले लाभ को विस्तार से जानते हैं।

(और पढ़े – सर्वांगासन करने का तरीका और फायदे…)

विपरीत करणी करने से पहले करें यह आसन – Viparita Karani se pahle kare ye aasan in Hindi

विपरीत करणी करने से पहले करें यह आसन - Viparita Karani se pahle kare ye aasan in Hindi

विपरीत करणी करने से पहले आप नीचे दिए गए कुछ आसन का अभ्यास करें जिससे आपको यह आसन करने में आसानी होगी-

(और पढ़े – वीरासन (हीरो पोज़) करने का तरीका और फायदे…)

विपरीत करणी करने का तरीका – Steps to do Viparita Karani in Hindi

विपरीत करणी एक सरल आसन है इसे करना बहुत ही आसान हैं इसे किसी भी उम्र का व्यक्ति आसानी से कर सकता हैं। नीचे इस आसन को करने की कुछ स्टेप दी गई है जिसकी मदद से आप इसे आसानी से कर सकते हैं।

  • इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले एक योगा मैट को फर्श पर बिछा के उस पर पीठ के बल लेट जाएं।
  • अपने दोनों हाथ और पैरों को जमीन पर सीधा रखें।
  • अब धीरे-धीरे दोनों पैरों को ऊपर उठायें और अपने ऊपर के शरीर को फर्श पर ही रखा रहने दें।
  • अपने दोनों पैरों को 90 डिग्री कोण तक ऊपर उठायें।
  • आप आराम पाने के लिए अपने कूल्हों के नीचे किसी तकिये या कंबल को मोड़ के रखें लें।
  • सुनिश्चित करें कि आपकी पीठ और सिर फर्श पर आराम कर रहे हैं।
  • अपनी आँखों को बंद करें और इस स्थिति में आप कम से कम पांच मिनट के लिए रुकें।

(और पढ़े – योग मुद्रा क्या है प्रकार और फायदे…)

शुरुआती लोगों के लिए विपरीत करणी करने की टिप्स – Beginner’s Tip to do Viparita Karani in Hindi

अगर आप एक बिगिनर हैं और योग अभ्यास की अभी-अभी शुरुआत कर रहें है तो हो सकता है कि आपको अपने पैरों को सीधे और 90 डिग्री पर रखने में कठिनाई हो तो आप इसके लिए आप के दीवार का सहारा ले सकते हैं इसके लिए नीचे दी गई स्टेप का अनुसरण करें।

  • आप योगा मैट को दीवार के किनारें बिछा के अपने दोनों पैरों को दीवार की ओर करके सीधे लेट जाएं।
  • अब अपने दोनों पैरों को ऊपर उठा के दीवार पर टिका लें।
  • अब दोनों पैरों को दीवार के सहारे सीधा कर लें और अपनी कमर पर 90 डिग्री का कोण बनायें।
  • आप चाहें तो अपनी सुविधा के लिए हिप्स के नीचे किसी तकिया को रख सकते हैं।

(और पढ़े – योग की शुरुआत करने के लिए कुछ सरल आसन…)

विपरीत करणी योग करने फायदे – Benefits Of The Viparita Karani in Hindi

  1. विपरीत करणी के फायदे तनाव को कम करने में – Viparita Karani benefits for Relieves tension in Hindi
  2. श्वसन संबंधी बीमारियां ठीक करे विपरीत करणी  – Viparita Karani benefits for Respiratory diseases in Hindi
  3. पेट की समस्या को दूर करने में लाभदायक विपरीत करणी – Viparita Karani ke labh for stomach problems in Hindi
  4. विपरीत करणी  के लाभ मासिक धर्म की समस्या ठीक करे – Viparita Karani ke labh Masik Dharm ki samasya thik kare
  5. विपरीत करणी के फायदे पीठ दर्द को ठीक करने में –  Viparita Karani ke fayde peeth dard ko thik karne me in Hindi

लेग्स अप द वॉल पोज़ या विपरीत करणी योग आसन हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं। यह हमारे शरीर में होने वाली कई प्रकार की समस्या से हमें दूर रखता हैं। आइये इसके लाभों को विस्तार से जाते हैं।

विपरीत करणी के फायदे तनाव को कम करने में – Viparita Karani benefits for Relieves tension in Hindi

विपरीत करणी के फायदे तनाव को कम करने में - Viparita Karani benefits for Relieves tension in Hindi

इस आसन को करने के लिए अपने सिर को नीचे फर्श पर रखना पड़ता हैं जिससे सिर में ताजा रक्त जाता हैं जो हल्के अवसाद और अनिद्रा के लक्षणों से छुटकारा दिलाता है। विपरीत करणी एक ऐसा आसन है जो मन को प्रसन्न करने और शांत करने में मदद करता है। यह आसन माइग्रेन और सिरदर्द से राहत प्रदान करता है।

(और पढ़े – मानसिक तनाव दूर करने के घरेलू उपाय…)

श्वसन संबंधी बीमारियां ठीक करे विपरीत करणी  – Viparita Karani benefits for Respiratory diseases in Hindi

श्वसन संबंधी बीमारियां ठीक करे विपरीत करणी  - Viparita Karani benefits for Respiratory diseases in Hindi

विपरीत करणी आसन को करने के लिए आपको अपनी साँस को नियंत्रित रखना पड़ता हैं जो श्वसन संबंधी समस्याओं को ठीक करता है। यह आसन आंखों और कानों की समस्याओं में सुधार करता है। यह आसन रक्त के प्रवाह को भी नियंत्रित करता है।

(और पढ़े – सांस फूलने के कारण, लक्षण, जांच, उपचार, और रोकथाम…)

पेट की समस्या को दूर करने में लाभदायक विपरीत करणी – Viparita Karani ke labh for stomach problems in Hindi

पेट की समस्या को दूर करने में लाभदायक विपरीत करणी – Viparita Karani ke labh for stomach problems in Hindi

विपरीत करणी कब्ज़ की शिकायत को दूर करता है और हमारे पाचनतंत्र को स्वस्थ रखता हैं। इसके अलावा यह आसन अन्य बीमारीयों जैसे मूत्र संबंधी विकार, उच्च रक्तचाप और निम्न रक्तचाप और गठिया आदि को ठीक करने में मदद करता हैं। यह प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार करता है और आपके पेट और सभी अंगों में ताजा रक्त और लसीका द्रव लाता है।

(और पढ़े – पेट साफ करने और कब्ज दूर करने के योग…)

विपरीत करणी  के लाभ मासिक धर्म की समस्या ठीक करे – Viparita Karani ke labh Masik Dharm ki samasya thik kare

विपरीत करणी  के लाभ मासिक धर्म की समस्या ठीक करे - Viparita Karani ke labh Masik Dharm ki samasya thik kare

लेग्स अप द वॉल पोज़ या विपरीत करणी योग आसन महिलाओं में होने वाली मासिक धर्म की समस्याओं को दूर करता हैं। यह आसन रजोनिवृत्ति और मासिक धर्म ऐंठन को कम करता है। यह आसन पुरुषों में वृषण, वीर्य और महिलाओं में डिम्बग्रंथि समस्याओं में मदद करता है।

(और पढ़े – पीरियड्स के दिनों में दर्द क्यों होता है जानें मुख्य कारण…)

विपरीत करणी के फायदे पीठ दर्द को ठीक करने में –  Viparita Karani ke fayde peeth dard ko thik karne me in Hindi

विपरीत करणी के फायदे पीठ दर्द को ठीक करने में -  Viparita Karani ke fayde peeth dard ko thik karne me in Hindi

विपरीत करणी धड़ के सामने, पैरों के पीछे और गर्दन के पिछले हिस्से को एक अच्छा खिंचाव देता है और हल्के पीठ दर्द से राहत दिलाता है। यह आसन थके हुए पैरों को स्वस्थ करता है। यह आपको युवा और जीवनप्रद बनाए रखने में भी मदद करता है।

(और पढ़े – पीठ दर्द के लिए योगासन…)

विपरीत करणी योग करने से पहले यह सावधानी रखें – Precautions to do Viparita Karani in Hindi

विपरीत करणी योग करने से पहले यह सावधानी रखें - Precautions to do Viparita Karani in Hindi

विपरीत करणी योग वैसे तो एक सरल आसन है पर फिर भी इस आसन को करने से पहले आप निम्न बातों का ध्यान रखें-

  • इस आसन को महिलाएं मासिक धर्म के दौरान ना करें।
  • अगर आपको मोतियाबिंद जैसी गंभीर समस्या है तो इस आसन से बचें।
  • यदि आपको पीठ दर्द की समस्या है तो अपनी पीठ के नीचे एक मुड़ा हुआ कंबल रख कर इस आसन को करें।
  • कूल्हे या घुटने की चोट वाले व्यक्ति को इस आसन को करने से बचना चाहिए।
  • गर्भवती महिलाओं को इस आसन को करने से बचना चाहिए।
  • ग्लूकोमा, उच्च रक्तचाप या हर्निया के रोगियों को इस आसन को नहीं करना चाहिए।

(और पढ़े – हर्निया के कारण लक्षण इलाज और परहेज…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration