पीठ के मुंहासे और दाग-धब्बे हटाने के घरेलू उपाय - Back Acne Home Remedies In Hindi
आयुर्वेदिक उपचार

पीठ के मुंहासे और दाग-धब्बे हटाने के घरेलू उपाय – Back Acne Home Remedies In Hindi

पीठ के मुंहासे और दाग-धब्बे हटाने के घरेलू उपाय - Back Acne Home Remedies In Hindi

Pith Par Pimple Ke Upay जानिए पीठ के मुंहासे और दाग-धब्बे हटाने के घरेलू उपाय के बारे में, क्या आप जानते है चेहरे की तरह ही पीठ पर भी कील-मुंहासे और दाग-धब्बे होते हैं लेकिन इन पर अधिकतर लोगों का ध्यान ही नहीं जाता है। पीठ पर होने वाले कील मुहांसों को एक्ने भी कहा जाता है। खासतौर पर जिन लोगों स्किन एक्ने प्रोन (acne-prone) होती है उनके साथ पीठ पर पिम्पल होने की समस्या सबसे अधिक होती है। वैसे तो पीठ पर कील मुंहासों का होना एक आम समस्या है लेकिन कभी-कभी यह काफी तकलीफदेह भी हो सकती हैं जिसमें काफी दर्द भी होता है। पीठ पर मुँहासे की समस्या पुरुषों और महिलाओं में समान मात्रा में हो सकती है लेकिन महिलाओं के मामलों में पीठ पर एक्ने के ज्यादा मामले सामने आते है।

अगर आप भी पीठ पर मुहांसों की समस्या से जूझ रहे है तो आज हम आपके लिए पीठ के मुंहासे और दाग धब्बे हटाने के घरेलू उपाय लेकर आए है। तो चलिए जानते हैं पीठ पर होने वाले कील-मुंहासों से निजात पाने के लिए क्या करें-

विषय सूची

1. पीठ पर मुँहासे होने के कारण – Peeth par muhase hone ke karan in Hindi

2. पीठ के कील मुंहासे और दाग-धब्बे हटाने के घरेलू उपाय – back acne home remedies in Hindi

3. पीठ पर मुँहासे होने से कैसे बचें – Peeth Par Muhase Hone Se kaise Bache in Hindi

पीठ पर मुँहासे होने के कारण – Peeth par muhase hone ke karan in Hindi

पीठ पर कील-मंहासे होने के कई कारण हो सकते है। आइये जानते है पीठ पर एक्ने होने के प्रमुख कारण-

पीठ पर एक्ने का कारण है रोम छिद्रों का बंद होना – Peeth par keel muhase hone ke karan rom chidra ka band hona

पीठ पर एक्ने का कारण है रोम छिद्रों का बंद होना - Peeth par keel muhase hone ke karan rom chidra ka band hona

पीठ पर कील-मुंहासे होने का एक मुख्य कारण त्वचा के रोम छिद्रो का बंद होना होता है। जब त्वचा से अत्यधिक मात्रा में तेल का स्राव होता है तो त्वचा के रोम छिद्र चिपचिपे होकर बंद हो जाते हैं और पीठ पर कील-मुंहासे की समस्या होने लगती है।

(और पढ़े – त्वचा के बड़े रोम छिद्रों को कम करने के घरेलू उपाय…)

पीठ पर कील-मुंहासों का कारण है डेड स्किन सेल्स – Dead skin cells cause back acne in Hindi

मनुष्य के शरीर में डेड स्किन सेल्स जमा होने से भी पीठ पर कील-मुंहासों की समस्या होती है। ऐसे में स्किन को समय- समय पर एक्सफोलिएट करना जरूरी होता है। पीठ पर डेड स्किन सेल्स जमा होने से त्वचा में ब्लड का सर्कूलेशन ठीक से नहीं हो पाता है जिससे पीठ पर कील-मुंहासों की समस्या होने लगती है।

(और पढ़े – मुहांसों के प्रकार और उनका इलाज…)

पीठ में दाने होने का कारण कब्ज – Peeth par pimple hone ke reason kabj

पीठ में दाने होने का कारण कब्ज - Peeth par pimple hone ke reason kabj

जिन लोगों को पीठ पर कील-मुहासे होते है उन लोगों को कब्ज की समस्या रहती है। कब्ज की समस्या होने से शरीर के विभिन्न भागों पर कील-मुंहासों की समस्या होने लगती है।

(और पढ़े – कब्ज के लिए उच्च फाइबर फल और खाद्य पदार्थ…)

पीठ पर मुंहासो का कारण है हार्मोनल अंसतुलन – Hormone imbalance causing back acne

हार्मोन असंतुलित होने की वजह से भी पीठ पर कील-मुंहासे हो जाते है। कुछ खास तरह की दवाईयों के सेवन से भी हार्मोन असंतुलित हो जाते हैं और पीठ पर कील-मुंहासे होने लगते हैं।

(और पढ़े – महिलाओं में हार्मोन असंतुलन के कारण, लक्षण और इलाज…)

पीठ पर फुंसी का कारण बनता है अत्यधिक चाय-कॉफी का सेवन – Chai coffee ke sevan se hote hai peeth par keel munhase

पीठ पर फुंसी का कारण बनता है अत्यधिक चाय-कॉफी का सेवन - chai coffee ke sevan se hote hai peeth par keel munhase

अत्यधिक चाय-कॉफी के सेवन से भी पीठ पर मुंहासों की समस्या होती है। चाय-कॉफी के अत्यधिक सेवन से शरीर में सीबम बनने लगता है जो बाद में पीठ पर कील-मुंहासों का कारण बनते है।

(और पढ़े – चाय पीने से होने वाले इन नुकसान के बारे में नहीं जानते होंगे आप…)

पीठ पर एक्ने का कारण है धुल-मिट्टी और प्रदूषण – Pollution causes back acne in Hindi

चेहरे की तरह ही पीठ पर भी कील-मुंहासों का एक मुख्य कारण धूल-मिट्टी व प्रदूषण भी हो सकता है।

(और पढ़े – मुहासे के दाग धब्बे हटाने के घरेलू उपाय…)

पीठ पर मुंहासों का कारण है अत्यधिक पसीना आना – Pith par pimple ka karan adhik pasina aana

पीठ पर मुंहासों का कारण है अत्यधिक पसीना आना - Pith par pimple ka karan adhik pasina aana

जिन लोगों को पसीना अधिक आता है, उन्हें पीठ पर कील-मुंहासे होने लगते हैं। शायद यही कारण है कि गर्मी के मौसम में पीठ पर कील-मुंहासे व दाग-धब्बे अधिक होते हैं।

(और पढ़े – ज्यादा पसीना आने के कारण, लक्षण और घरेलू उपाए…)

पीठ के कील मुंहासे और दाग-धब्बे हटाने के घरेलू उपाय – Back acne home remedies in Hindi

यदि आप भी अपनी पीठ से कील मुंहासे को दूर करना चाहते है तो इसके लिए आप नीचे दिए गए घरेलू उपायों को अपना सकते है।

पीठ पर फुंसी का प्रभावी इलाज है खीरा – kheere ke istemal se hataye peeth ke keel muhase

पीठ पर फुंसी का प्रभावी इलाज है खीरा - kheere ke istemal se hataye peeth ke keel muhase

शरीर को भीतर से ठंडक पहुंचाने वाला खीरा पीठ के कील-मुंहासों को दूर करने में काफी मददगार हो सकता है। यह स्किन को हाइड्रेट तो करता है ही साथ ही त्वचा के बंद रोम छिद्रों को भी खोलता है, जिससे पीठ पर कील-मुंहासों की समस्या से छुटकारा मिलता है। पीठ के कील-मुंहासे हटाने के लिए एक खीरा लेकर इसे कद्दूकस करें और पीठ पर लगाएं। अब कुछ देर इसे यूं ही छोड़ दें। अंत में सादे पानी से स्किन को साफ करें।

(और पढ़े – खीरा के फायदे गुण लाभ और नुकसान…)

पीठ पर मुँहासे दूर करने का रामबाण उपाय प्याज – Pyaj ke istemal se hataye peeth ke muhase

पीठ पर मुँहासे दूर करने का रामबाण उपाय प्याज - Pyaj ke istemal se hataye peeth ke muhase

भोजन का स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ पीठ पर मुंहासों को ठीक करने में प्याज सहायक होता है। ऐसा इसके एंटी इंफ्लेमेटरी व एंटी-वायरल गुणों के कारण होता है। अगर किसी व्यक्ति को पीठ पर कील-मुंहासे होने के साथ-साथ दाग-धब्बे हों तो उसे प्याज का इस्तेमाल अवश्य करना चाहिए। इसके इस्तेमाल के लिए प्याज का रस निकालकर उसमें नींबू का रसशहद मिलाकर पीठ पर लगाएं। करीबन आधे घंटे बाद पीठ को पानी की मदद से साफ करें।

(और पढ़े – प्याज के फायदे और नुकसान…)

पीठ पर दाने निकलना बंद करे जायफल – Peeth par dane hatane ke liye jaifal ka istemal

पीठ पर दाने निकलना बंद करे जायफल - Peeth par dane hatane ke liye jaifal ka istemal

प्याज की ही तरह जायफल में भी एंटी इंफ्लेमेटरी व एंटी-वायरल गुण होते हैं और इसलिए पीठ के कील-मुंहासों व दाग-धब्बों को दूर करने में यह सहायक होता है। इसके इस्तेमाल के लिए जायफल को घिसकर उसमें शहद व दालचीनी पाउडर मिक्स करें। अब इसे पीठ पर मुंहासों की जगह लगाएं। करीबन 20 से 25 मिनट बाद पानी की मदद से पीठ को साफ करें।

(और पढ़े – जायफल के फायदे और नुकसान…)

पीठ पर फुंसी को दूर करने के लिए मुल्तानी मिट्टी – Multani mitti se hataye peeth ke muhase

पीठ पर फुंसी को दूर करने के लिए मुल्तानी मिट्टी - Multani mitti se hataye peeth ke muhase

जैसा कि हम जानते हैं कि पीठ के कील-मुंहासों का एक कारण त्वचा से अतिरिक्त तेल का स्त्राव भी है। इसलिए इन अतिरिक्त तेल को नियंत्रित करने में मुल्तानी मिट्टी की मदद लें। पीठ पर फुंसी को दूर करने के लिए के मुल्तानी मिट्टी को पानी में मिलाकर एक पेस्ट बनाएं और पीठ पर लगाएं। जब यह सूख जाए तो पीठ को साफ करें। मुल्तानी मिट्टी अतिरिक्त तेल को सोखकर त्वचा के रोम छिद्रो को खोलेगी, जिससे पीठ पर कील-मुंहासों व दाग-धब्बों से राहत मिलेगी।

(और पढ़े – मुल्तानी मिट्टी फेस पैक के फायदे…)

पीठ पर पिम्पल को ठीक करता है एलोवेरा – Aloe vera fixing back nail-acne in Hindi

पीठ पर पिम्पल को ठीक करता है एलोवेरा - Aloe vera fixing back nail-acne in Hindi

एलोवेरा जेल पीठ पर पिम्पल को बेहद आसानी से ठीक कर सकता है। इसके लिए ताजा एलोवेरा का पत्ता तोड़कर उसका जेल निकालें और इसमें टमाटर का पल्प मिलाएं। अब इस पेस्ट को पीठ पर लगाकर कुछ देर के लिए छोड़ दें। अंत में साफ पानी से पीठ को साफ करें।

(और पढ़े – चेहरे पर एलोवेरा फेस पैक का उपयोग कैसे करें…)

पीठ पर मुँहासे होने से कैसे बचें – Peeth Par Muhase Hone Se kaise Bache in Hindi

पीठ पर मुँहासे होने से कैसे बचें - Peeth Par Muhase Hone Se kaise Bache in Hindi

घरेलू उपायों के अतिरिक्त भी पीठ पर कील-मुंहासों का प्रभाव कम करने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद आवश्यक है।

  • सबसे पहले तो भोजन में अत्यधिक घी, तेल व मसाले व चिकनाईयुक्त चीजों का सेवन न करें।
  • आरामदायक कपड़े पहनें और ऐसी किसी भी चीज को कंधे पर न टांगे, जिससे रगड़ होने से पीठ में दानों की समस्या बढ़ जाए।
  • बहुत देर तक पसीने में न रहें। साथ ही किसी भी तरह की स्पोर्ट्स एक्टिविटी करने के बाद अवश्य नहाएं।
  • पीठ की रोजमर्रा की देख-रेख के साथ-साथ सप्ताह में एक बार उसे स्क्रब अवश्य करें। चूंकि पीठ की स्किन चेहरे की अपेक्षा थोड़ी टफ होती है, इसलिए सही तरह से की गई स्क्रबिंग डेड स्किन सेल्स को बाहर निकालकर कील-मुंहासों की समस्या से राहत दिलाएगी।
  • कपड़े धोने के डिटर्जेंट पर भी सही तरह से ध्यान देना चाहिए। इसमें मौजूद फ्रेग्रेंस स्किन को इरिटेट व रूखा बनाकर मुंहासें की समस्या को बढ़ाती है। इसलिए पीठ पर मुँहासे होने से बचने के लिए किसी माइल्ड डिटर्जेंट का ही प्रयोग करें।
  • पीठ पर ऑयल बेस्ड प्रॉडक्ट का इस्तेमाल कम से कम करने की कोशिश करें।
  • भोजन की ही तरह चिकनाई युक्त कॉस्मेटिक उत्पाद का प्रयोग करने से भी बचें।
  • तनाव भी पीठ पर पिम्पल का एक कारण बनता है, इसलिए तनाव से दूर रहे और पर्याप्त नींद लें।
  • आहार के अतिरिक्त पानी के सेवन पर भी पर्याप्त ध्यान दें। पीठ पर पिम्पल से बचाव के लिए दिनभर में दस से बारह गिलास पानी पीने की कोशिश करें।
  • बहुत अधिक मीठा, गर्म चीजों व चाय-कॉफी से भी परहेज करें। इनकी अधिकता पीठ पर मुंहासों की समस्या को बढ़ावा देती है।
  • कुछ लोग पीठ पर मुंहासे होने पर उन्हें दबाने, खरोचने व रगड़ने लग जाते हैं ऐसा न करें। अगर समस्या अत्यधिक कष्टकारी हो तो किसी चर्म रोग विशेषज्ञ से मिलें।

(और पढ़े – मसालेदार खाना खाने के फायदे और नुकसान…)

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration