बच्चे के लिए घर पर ऐसे बनाएं उबटन – Homemade ubtan for babies in hindi

बच्चे के लिए घर पर ऐसे बनाएं उबटन - Homemade ubtan for babies in hindi
Written by Anamika

ubtan for babies in Hindi जिस तरह बच्चे के शरीर के विकास और मजबूती के लिए उसे अच्छे बेबी ऑयल से मसाज करने की जरूरत पड़ती है, उसी तरह बच्चे की मालिश के लिए अच्छे उबटन की भी जरूरत पड़ती है। उबटन से बच्चे के शरीर की मालिश करना बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। उबटन में एंटीबैक्टीरियल गुण पाया जाता है जो बच्चे के शरीर को बीमारियों से तो बचाता ही है साथ में त्वचा को मॉश्चराइज करने का भी काम करता है। माना जाता है शिशु के जन्म के एक या दो महीनों तक उसकी मालिश बेबी ऑयल से करनी चाहिए और फिर इसके बाद उबटन से मालिश शुरू करनी चाहिए। तब तक बच्चे का शरीर की त्वचा उबटन की मोटी परत को सहन करने योग्य हो जाती है।

1. शिशु के लिए उबटन – ubtan for babies in Hindi

  1. बच्चे के लिए बेसन का आयुर्वेदिक उबटन – Ayurvedic gram flour Ubtan For Baby in hindi
  2. गुलाब की पंखुड़ियों का उबटन बच्चे के लिए – Rose petals Ubtan For Baby in hindi
  3. नवजात शिशु के लिए मलाई और बेसन का उबटन -Gram flour, cream Ubtan For Baby in Hindi
  4. नवजात शिशु के बाल हटाने के लिए गेहूं के आटे का उबटन (बच्चों की लोई) – Wheat flour Ubtan For Baby in hindi
  5. ब्रेड और दूध का उबटन बच्चे की मालिश के लिए – Bread and Milk Ubtan For Baby in hindi
  6. शिशु के मसाज के लिए मसूर दाल का उबटन – Masoor dal powder Ubtan For Baby in hindi
  7. शिशु शरीर के बालों को हटाने के लिए हल्दी और दूध का उबटन -Turmeric and Milk Ubtan For Baby in hindi
  8. बच्चे के लिए सरसों का उबटन Musturd Ubtan For Baby in hindi

2. बच्चे को उबटन लगाते समय रखें ये सावधानियां – precautions while apply baby ubatan in Hindi

शिशु के लिए उबटन – ubtan for babies in Hindi

  1. बच्चे के लिए बेसन का आयुर्वेदिक उबटन – Ayurvedic gram flour Ubtan For Baby in hindi
  2. गुलाब की पंखुड़ियों का उबटन बच्चे के लिए – Rose petals Ubtan For Baby in hindi
  3. नवजात शिशु के लिए मलाई और बेसन का उबटन -Gram flour, cream Ubtan For Baby in Hindi
  4. नवजात शिशु के बाल हटाने के लिए गेहूं के आटे का उबटन (बच्चों की लोई) – Wheat flour Ubtan For Baby in hindi
  5. ब्रेड और दूध का उबटन बच्चे की मालिश के लिए – Bread and Milk Ubtan For Baby in hindi
  6. शिशु के मसाज के लिए मसूर दाल का उबटन – Masoor dal powder Ubtan For Baby in hindi
  7. शिशु शरीर के बालों को हटाने के लिए हल्दी और दूध का उबटन -Turmeric and Milk Ubtan For Baby in hindi
  8. बच्चे के लिए सरसों का उबटन Musturd Ubtan For Baby in hindi

बच्चे के लिए बेसन का आयुर्वेदिक उबटन – Ayurvedic gram flour Ubtan For Baby in hindi

बच्चे के लिए बेसन का आयुर्वेदिक उबटन - Ayurvedic gram flour Ubtan For Baby in hindi

चने का आटा, हल्दी, थोड़ा सा पानी और बादाम का तेल मिलाकर तैयार किया गया उबटन एक प्राकृतिक उबटन है। इस उबटन से मालिश करने पर बच्चे की नाजुक त्वचा को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है। चने के आटे में विटामिन ई पाया जाता है जो एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होने के कारण बच्चे के शरीर को स्वस्थ रखता है। बादाम का तेल बच्चे की त्वचा को मॉश्चराइज करता है। शिशु की मालिश के लिए यह एक बेहतर उबटन माना जाता है। बच्चे के शरीर पर यदि बहुत ज्यादा बाल हो तो इस उबटन से मालिश करना अधिक लाभकारी होता है।

(और पढ़े – स्किन के लिए बेसन के फायदे…)

गुलाब की पंखुड़ियों का उबटन बच्चे के लिए – Rose petals Ubtan For Baby in hindi

गुलाब की पंखुड़ियों का उबटन बच्चे के लिए - Rose petals Ubtan For Baby in hindi

दो कप गुलाब की सूखी हुई पंखुड़ियां और आधे कप बादाम को अच्छी तरह से पीस लें। इसके बाद इसमें दो चम्मच हल्दी और दो चम्मच चंदन पावडर मिलाकर इस मिश्रण को एक डिब्बे में रख लें। प्रतिदिन तेल से मालिश करने के बाद इस मिश्रण में थोड़ा सा दही मिलाकर उबटन तैयार कर लें और बच्चे के पूरे शरीर पर लगाकर हल्के हाथों से मसाज करें। यह उबटन बच्चे की त्वचा को पोषण प्रदान करता है और नमी बनाये रखने में मदद करता है।

(और पढ़े – गुलाब के फूल (पंखुड़ियों) के फायदे और नुकसान…)

नवजात शिशु के लिए मलाई और बेसन का उबटन -Gram flour, cream Ubtan For Baby in Hindi

ज्यादातर मांएं अपने बच्चे की त्वचा को ध्यान में रखते हुए घर पर ही उबटन बनाती हैं। यदि आपके बच्चे की त्वचा शुष्क है और कपड़े उतारने के बाद उसके शरीर से मृत त्वचा बाहर निकलती है तो आप दो चम्मच बेसन में शुद्ध दूध की मलाई, चुटकी भर हल्दी और एक चम्मच शहद मिलाकर एक प्राकृतिक उबटन बनाएं और इस उबटन से शिशु के शरीर पर मालिश करने के बाद गुनगुने पानी में एक कपड़े को भिगोएं और पानी निचोड़कर बच्चे के शरीर को पोछ दें। इसका सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि दिन भर बिस्तर पर लिटाये रहने के कारण बच्चे के शरीर में उत्पन्न अकड़न खत्म हो जाती है।

(और पढ़े – नवजात शिशुओं के बारे में रोचक तथ्य…)

नवजात शिशु के बाल हटाने के लिए गेहूं के आटे का उबटन (बच्चों की लोई) – Wheat flour Ubtan For Baby in hindi

नवजात शिशु के बाल हटाने के लिए गेहूं के आटे का उबटन (बच्चों की लोई) - Wheat flour Ubtan For Baby in hindi

एक महीने के बच्चे के लिए घर पर बनाये गये आटे के क्लिंजर या उबटन से मालिश करना बहुत फायदेमंद होता है। यह बच्चे के शरीर से बालों को कम करने और त्वचा के रंग में निखार लाने में मदद करता है। दो चम्मच गेहूं के आटे में चुटकी भर हल्दी मिलाकर इसे पानी से गीला करके उबटन बना लें। इसके बाद हाथ में तीन चार बूंद घी लगाकर आटे की लोई बनाएं और इस लोई से बच्चे के पूरे शरीर पर गोलाकृति में मसाज करें। अब गुनगुने पानी में स्पंज भिगोएं और पानी निचोड़कर बच्चे के शरीर को पोछ दें।

(और पढ़े – बच्चे का रंग गोरा करने के घरेलू उपाय…)

ब्रेड और दूध का उबटन बच्चे की मालिश के लिए – Bread and Milk Ubtan For Baby in hindi

ब्रेड और दूध का उबटन बच्चे की मालिश के लिए - Bread and Milk Ubtan For Baby in hindi

आमतौर पर सर्दियों के मौसम में बच्चे की त्वचा की अत्यधिक देखभाल की जरूरत पड़ती है। ऐसे में घर पर बच्चे के लिए उबटन बनाते समय यह ध्यान रखना चाहिए कि बच्चे की नाजुक त्वचा उस उबटन से छिल न जाए। दो कप गाढ़े दूध में ब्रेड भिगाएं और जब कुछ देर बाद ब्रेड दूध को सोख ले तो इसे हाथों से अच्छी तरह से मसल लें और इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर बच्चे के शरीर पर इस उबटन से अच्छी तरह मालिश करें। जाड़े के दिनों में बच्चे की त्वचा पर निखार लाने, और त्वचा को मॉश्चराइज करने के लिए यह एक बेहतर उबटन है। लेकिन यह ध्यान रखें कि इस उबटन का इस्तेमाल एक साल से अधिक उम्र के बच्चे के शरीर पर करें।

(और पढ़े – सर्दियों में इस तेल से शिशु की मालिश करने के है कई फायदे…)

शिशु के मसाज के लिए मसूर दाल का उबटन – Masoor dal powder Ubtan For Baby in hindi

शिशु के मसाज के लिए मसूर दाल का उबटन - Masoor dal powder Ubtan For Baby in hindi

पीसी हुई मसूस दाल या मसूर दाल के पाउडर में थोड़ा सा कपूर, चुटकी भर हल्दी, एक चम्मच चंदन पाउडर, एक चम्मच बादाम का तेल और ताजे दूध की मलाई मिलाकर उबटन तैयार कर लें। इस उबटन को बच्चे के पूरे शरीर में लगाकर हल्के हाथों से मालिश करें और चाहें तो मालिश करते-करते ही शरीर से उबटन को छुड़ा दें या फिर गुनगुने पानी में कपड़े को गीला करके बच्चे के शरीर को पोछ दें। यह एक ऐसा उबटन है जो यदि चार महीने के बच्चे को लगाया जाए तो बच्चे के रंग में निखार आता है और मलाई के कारण त्वचा में नमी बनी रहती है।

(और पढ़े – मसूर दाल के बेहतरीन बॉडी स्क्रब…)

शिशु शरीर के बालों को हटाने के लिए हल्दी और दूध का उबटन -Turmeric and Milk Ubtan For Baby in hindi

बच्चे की मालिश करने के लिए चार चम्मच हल्दी में कच्चा दूध या दूध की मलाई, चंदन पाउडर और एक चम्मच शहद मिलाकर गाढ़ा उबटन बनाएं और बच्चे के पेट, पीठ, पैर और हाथों में इस उबटन से अच्छी तरह मालिश करें। उबटन सूखने के बाद बच्चे के शरीर को गुनगुने पानी में कपड़े को गीला करके शरीर पोछ दें। लेकिन यह ध्यान रखें कि उबटन से मालिश करने के बाद बच्चे के शरीर पर साबुन न लगाएं। इस उबटन में मिलाए जाने वाला दूध या दूध की मलाई क्लिंजर का काम करता है जो बच्चे के शरीर के असामान्य बालों को प्राकृतिक रूप से हटाने में मदद करता है।

(और पढ़े – हेयर रिमूवर क्रीम का इस्तेमाल कैसे करें…)

बच्चे के लिए सरसों का उबटन Musturd Ubtan For Baby in hindi

बच्चे के लिए सरसों का उबटन Musturd Ubtan For Baby in hindi

सरसों को पानी में उबालकर धूप में सूखा लें और सूखने के बाद सरसों को पानी के साथ पीसकर उबटन तैयार कर लें और फिर इस उबटन से बच्चे की मालिश करें। बच्चों की मालिश करने के लिए सरसों का उबटन सदियों से इस्तेमाल किया जा रहा है। हालांकि यह ध्यान रखना चाहिए कि कच्चे सरसों को पीसकर बच्चे की मालिश नहीं करनी चाहिए अन्यथा बच्चे की त्वचा में जलन शुरू हो सकती है। छोटे शहरों में ज्यादातर घरों में महिलाएं सरसों के उबटन से ही बच्चे की मालिश करती हैं।

(और पढ़े – सरसों के बीज के फायदे और स्वास्थ्य लाभ…)

बच्चे को उबटन लगाते समय रखें ये सावधानियां – precautions while apply baby ubatan in Hindi

बच्चे को उबटन लगाते समय रखें ये सावधानियां - precautions while apply baby ubatan in Hindi

माना जाता है कि उबटन में एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल गुण होता है जो बच्चे के शरीर के तनाव को कम करता है और उबटन में मौजूद विटामिन ई बच्चे की त्वचा में निखार लाने का काम करता है। लेकिन इन फायदों के बावजूद भी बच्चे को उबटन लगाते समय यदि कुछ सावधानियां न बरती जाएं तो बच्चे को कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं।

  • आमतौर पर घर पर बच्चे की मालिश के लिए उबटन बनाने में ज्यादातर बेसन का उपयोग किया जाता है। चूंकि बेसन स्क्रब का भी काम करता है इसलिए बच्चे के शरीर पर बिल्कुल हल्के हाथों से मालिश करनी चाहिए अन्यथा त्वचा छिल सकती है।
  • यह बच्चे की त्वचा अलग तरह की होती है इसलिए बच्चे के पूरे शरीर पर कोई उबटन लगाने से पहले थोड़े से हिस्से पर लगाकर पहले यह जांच कर लें कि कहीं उबटन से बच्चे को एलर्जी तो नहीं हो रही।
  • बच्चे की त्वचा नाजुक और लचीली होती है जिसके कारण उबटन से मालिश करने पर बच्चे के शरीर पर लालिमा, रैशेज और चुभन हो सकती है। इसलिए यह ध्यान रखें कि हाथों से अधिक दबाव देकर मालिश न करें।
  • उबटन लगाने के बाद कुछ बच्चों के शरीर में जलन भी होने लगती है। यदि बच्चे को ऐसा महसूस हो तो दोबारा वह उबटन न लगाएं।

(और पढ़े – शिशु के रोने के कारण और उसे चुप कराने के तरीके…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration