सीताफल की पत्तियों के फायदे उपयोग और नुकसान – Custard Apple Leaves Benefits, Uses And Side Effects in Hindi

सीताफल की पत्तियों के फायदे उपयोग और नुकसान - Custard Apple Leaves Benefits, Uses And Side Effects in Hindi
Written by Jaideep

शरीफा या सीताफल (कस्टर्ड ऐपल) सर्दियों के मौसम (अगस्त से अक्टूबर) में मिलने वाला औषधीय फल है। क्‍या आप सीताफल की पत्तियों के फायदे जानते हैं? सीताफल की पत्तियों का उपयोग प्राचीन समय से ही औषधी के रूप में किया जा रहा है। इसके पत्ते का इस्‍तेमाल आप आयुर्वेदिक जड़ी बूटी के रूप में घरेलू उपाय के तौर पर कर सकते हैं। क्‍योंकि सीताफल के पत्ते के फायदे हृदय स्‍वास्‍थ्‍य, मधुमेह, त्‍वचा रोग और बालों सहित अन्‍य कई बीमारियों के लिए होते हैं। कस्‍टर्ड एप्‍पल लीफ का उपयोग उनके त्‍वरित उपचार क्षमता और औषधीय गुण के कारण किया जाता है। शरीफा की पत्ती से लाभ प्राप्‍त करने के लिए आप इसे सीधे ही त्‍वचा में लगा सकते हैं। इसकी पत्तियों को उबालना और इनका सेवन करना काफी फायदेमंद माना जाता है।

इस लेख में आप सीताफल के पत्तों के फायदे, उपयोग, औषधीय गुण, लाभ के साथ ही सीताफल के पत्ते खाने से क्‍या होता और शरीफा की पत्ती किस काम में आती है के बारे में जानकारी प्राप्‍त करेगें। आइए सीताफल के पत्तों के फायदे, उपयोग और नुकसान को जानें।

विषय सूची

1. सीताफल के पत्तों के फायदे – Benefits Of Custard Apple Leaves in Hindi2.
2. सीताफल की पत्तियों के नुकसान – Custard Apple Leaves Side Effects in Hindi

सीताफल के पत्तों के फायदे – Benefits Of Custard Apple Leaves in Hindi

सीताफल के पत्तों के फायदे - Benefits Of Custard Apple Leaves in Hindi

शरीफा के पत्तों में औषधीय गुण होते हैं जिसके कारण इसका इस्‍तेमाल कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं में किया जाता है। जानकारों के अनुसार सीताफल की पत्तियों के बहुत से पोषक तत्व होते हैं जो स्‍वास्‍थ्‍य लाभ दिलाने में सहायक होते हैं, जिसके कारण इनका उपयोग आयुर्वेद में में व्‍यापक रूप से किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि सीताफल की पत्तियों को उबालकर उपयोग करना काफी फायदेमंद होता है। कुछ विशेष प्रकार की बीमारियों को ठीक करने के लिए सीताफल की पत्ती की चाय का उपयोग किया जा सकता है । आयुर्वेद विशेषज्ञों के अनुसार सीताफल की पत्तीयों से प्राप्‍त कुछ विशेष लाभ इस प्रकार हैं।

(और पढ़े – सीताफल खाने के फायदे और नुकसान…)

शीताफल की पत्ती के फायदे मधुमेह के लिए – Custard Apple Leaves Benefits For Diabetes in Hindi

शीताफल की पत्ती के फायदे मधुमेह के लिए - Custard Apple Leaves Benefits For Diabetes in Hindi

डायबिटीज रोगियों के लिए आयुर्वेदिक उपचार के रूप में सीताफल के पत्ते इस्‍तेमाल किये जा सकते हैं। सीताफल के पत्तों में फाइबर भरपूर मात्रा में होता है, इसलिए ये पत्तियां हमारे शरीर में चीनी के अवशोषण को धीमा करने में सहायक होती हैं। जिससे वे रक्‍त शर्करा के स्‍तर को नियंत्रित करने में मदद करती हैं। फाइबर धीरे-धीरे पचता है, जिसके कारण यह आपके रक्‍त शर्करा के स्‍तर में अचानक स्‍पाइक्स का कारण नहीं बनता है। इस प्रकार सीताफल के पत्तों के फायदे आपके पाचन तंत्र को भी स्‍वस्‍थ रखने में मदद करते हैं। मधुमेह के लक्षणों को नियंत्रित करने के लिए आप शरीफा की 2-3 पत्तियों को पानी में उबाल सकते हैं। इस मिश्रण को सुबह खाली पेट पी सकते हैं। ऐसा करने पर रक्‍त शर्करा के स्‍तर को संतुलित करने में मदद मिल सकती है।

(और पढ़े – मधुमेह रोगियों के खाने के लिए फल की सूची…)

शरीफा की पत्ती से लाभ हृदय के लिए – Custard Apple Leaves For Heart in Hindi

शरीफा की पत्ती से लाभ हृदय के लिए - Custard Apple Leaves For Heart in Hindi

जिन लोगों को हृदय संबंधी रोग हैं वे सीताफल की पत्ती का उपयोग आयुर्वेदिक औषधी के रूप में कर सकते हैं। क्‍योंकि सीताफल के पत्तों में मौजूद पोषक तत्‍वों में पोटेशियम और मैग्नीशियम अच्‍छी मात्रा में होते हैं। ये घटक हृदय की मांसपेशियों को आराम देने में मदद करते हैं। नियमित रूप से सीताफल की पत्तियों के उपयोग से स्‍ट्रोक और हृदय रोगों की संभावना को कम किया जा सकता है।

इसके आलावा सीताफल के पत्ते पोटेशियम और मैग्नीशियम की उपस्थिति के कारण उच्च रक्तचाप को कम करने में मदद करते हैं जो रक्त वाहिकाओं के फैलाव को बढ़ावा देकर रक्त के प्रवाह को बेहतर बनाते हैं।

(और पढ़े – दिल को स्‍वस्‍थ रखने के लिए सर्वश्रेष्‍ठ आहार…)

सीताफल की पत्ती का उपयोग शरीर की शक्ति बढ़ाये – Custard Apple Leaf For Body Strength in Hindi

सीताफल की पत्ती का उपयोग शरीर की शक्ति बढ़ाये - Custard Apple Leaf For Body Strength in Hindi

जानकारों के अनुसार सीताफल के पत्तों का इस्‍तेमाल शारीरिक क्षमता और शक्ति को बढ़ाने के लिए किया जा सकता है। क्‍योंकि इन औषधीय पत्तों में बहुत से पोषक तत्‍व और खनिज पदार्थ होते हैं जिनकी आवश्‍यकता हमारे शरीर को होती है। शारीरिक शक्ति को बढ़ाने के लिए आधा कप पानी में 2 से 3 सीताफल के पत्तों को उबालें और चाय के रूप में इसका सेवन करें। यह हर्बल चाय आपके चयापचय दर और ऊर्जा के स्‍तर को बनाए रखने में मदद कर सकती है। इसके अलावा सीताफल की पत्ति की चाय पीने से शरीर में मौजूद विषाक्‍तता को दूर करने में भी मदद मिलती है।

(और पढ़े – शरीर को ताकतवर बनाने के घरेलू उपाय और तरीके…)

सीताफल के पत्तों का उपयोग उम्र बढ़ने से रोके – Custard Apple Leaf For Prevents Aging in Hindi

सीताफल के पत्तों का उपयोग उम्र बढ़ने से रोके - Custard Apple Leaf For Prevents Aging in Hindi

औषधीय गुणों से भरपूर सीताफल के पत्ते त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं के लिए भी फायदेमंद होते हैं। इन पत्तों में एंटीऑक्‍सीडेंट की भरपूर मात्रा होती है। ये एंटीऑक्‍सीडेंट त्‍वचा को सूरज की धूप से होने वाली क्षति से बचाते हैं। इसके अलावा सीताफल के पत्तों के गुण त्‍वचा कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाने वाले फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव को भी कम करने में सहायक होते हैं। त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए आप पानी में इन पत्तों को उबालकर इस चाय का नियमित सेवन करें। यह त्वचा की उम्र बढ़ने से रोकने में मदद करता है।

विटामिन ए और विटामिन सी की मौजूदगी के कारण भी सीताफल के पत्ते त्वचा के लिए फायदेमंद होते हैं। यह झुर्रियों, मुँहासे को रोकने और स्वस्थ चमकती त्वचा को बनाए रखने में मदद कर सकता है।

(और पढ़े – बढ़ती उम्र (एजिंग) के लक्षण कम करने के उपाय…)

सीताफल की पत्तियों के फायदे घाव उपचार में – Custard Apple leaves Benefits For Wound Healing in Hindi

सीताफल की पत्तियों के फायदे घाव उपचार में – Custard Apple leaves Benefits For Wound Healing in Hindi

आपको बता दें कि सीताफल की पत्तियों का इस्‍तेमाल त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं और घाव उपचार के लिए भी किया जा सकता है। त्‍वचा में मौजूद घाव की यदि सही तरीके से सफाई नहीं होती है तो घाव में मवाद बन सकता है जो घाव को गंभीर बना सकता है। लेकिन इस तरह के खुले घावों का प्राकृतिक उपचार करने के लिए सीताफल के पत्तों का प्रयोग किया जा सकता है। क्‍योंकि इन पत्तियों में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। सीताफल की पत्तियों से रस निकालें और घाव में इस रस को लगाएं। पत्तीयों का रस प्रभावी रूप से घाव उपचार करने में मदद कर सकता है।

(और पढ़े – फोड़े फुंसी का घरेलू उपचार, उपाय और नुस्खे…)

सीताफल की पत्तियों के नुकसान – Custard Apple Leaves Side Effects in Hindi

सीताफल की पत्तियों के नुकसान - Custard Apple Leaves Side Effects in Hindi

सही तरीकों से और कम मात्रा में सीताफल की पत्तियों का इस्तेमाल करने से किसी भी प्रकार के नुकसान की जानकारी नहीं हैं लेकिन यदि आप इनका अधिक इस्तेमाल करते हैं तो हो सकता है आपको इससे कुछ नुकसान देखने को मिलें।

सीताफल के पत्ते फायदों का भंडार हैं। जब इन्हें सही तरीके से लगाया या खाया जाता है, तो वे आपके स्वास्थ्य के लिए चमत्कार कर सकते हैं। तो, यदि आप अब तक सीताफल की पत्तियों का इस्तेमाल नहीं करते थे तो इसके इतने सारे फायदों को जानकर अब तो आप इसका उपयोग जरूर करेगें।

(और पढ़े – सर्दी की 10 बीमारियां और उनसे बचने के उपाय…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

आपको ये भी जानना चाहिये –

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration