परवल के फायदे और नुकसान – Parwal (Pointed Gourd) ke fayde aur nuksan in Hindi

परवल के फायदे और नुकसान – Parwal (Pointed Gourd) ke fayde aur nuksan in Hindi
Written by Jaideep

परवल भारतीय उप महाद्वीप में एक प्रसिद्ध सब्जी है, इसे पॉइंटेड गार्ड (Pointed gourd) के नाम से भी जाना जाता है। जो Cucurbitaceae परिवार की सदय है, परवल के फायदे मूत्र संबंधी (urinary problems) समस्याओं और मधुमेह के इलाज में विशेष रूप से अच्छे होते हैं। परवल को आयुर्वेदिक औषधि के रूप में भी जाना जाता है जो कब्ज, बुखार, त्वचा संक्रमण, घावों, कम भूख और पाचन तंत्र संबंधी बीमारियों के इलाज में प्रयोग किया जाता है। इस पौधे के पत्तों का रस ज्वरनाशक, एडिमा, गंजापन और यकृत के विस्तार के गंभीर मामलों में बहुत प्रभावी है।

ज्यादातर लोग इसके स्‍वास्‍थ्‍य लाभों को नहीं जानते हैं। परवल में विटामिन ए, विटामिन बी1 विटामिन बी2 और विटामिन सी जैसे विटामिन होते हैं। इसके अलावा इसमें कैल्शियम होता है। इसमें कैलोरी कम होती है। इसे प्राकृतिक एफ्रोडाइसियाक (aphrodisiac) भी माना जाता है जो यौन जीवन को बढ़ा सकता है। इसमें पोटेशियम, मैग्‍नीशियम और फॉस्‍फोरस जैसे पोषक तत्व भी होते है।

1. परवल के फायदे – Parwal ke fayde in Hindi

2. परवल के नुकसान – Parwal Ke Nuksan in Hindi

परवल के फायदे – Parwal ke fayde in Hindi

इस आयुर्वेदिक सब्जी के बहुत अधिक स्‍वास्‍थ्‍य लाभ हैं जो अधिकतर सभी लोगों को पता नहीं हैं। इसमें बहुत से विटामिन, खनिज पदार्थ एंटीआक्‍सीडेंट गुण आदि अच्छी मात्रा होते हैं। जो इसे आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही लाभकारी बनाते हैं। यह आपके कोलेस्‍ट्रॉल (Cholesterol) को कम करने में मदद करता है। आयुर्वेद के अनुसार यह गैस्ट्रिक समस्याओं को भी दूर करता है। इस लेख में आप परवल से होने वाले फायदों के बारे में जानेंगे जो आपको अब तक पता नहीं थे।

परवल के फायदे करे खून को साफ – Parwal vegetable benefits For Blood purifier in Hindi

खून को साफ करने के लिए परवल बहुत ही फायदेमंद होता है। आयुर्वेद के अनुसार यह कफ नियंत्रण करने के लिए कुशलता पूर्वक कार्य करता है। यह हमारे रक्त ऊतकों को साफ करने में मदद करता है और त्वचा की देखभाल भी करता है। प्रत्येक इंसान के लिए रक्त शुद्धिकरण (blood purifier) बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। यह आपको सभी बीमारियों से दूर रखता है। यहां तक की आपके शरीर के भीतर अशुद्धता रक्त प्रवाह से दूर चली जाएगी। आप अपने खून को साफ करने के लिए परवल का सेवन कर सकते हैं।

पाचन में सुधार के लिए परवल खाने के फायदे – parwal ke fayde For Digestion in Hindi

हरे रंगीन परवल में फाइबर अच्छी मात्रा में होते है जो पाचन को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। यह गैस्‍ट्रोइंटेस्‍टाइनल और यकृत (gastrointestinal and liver) से संबंधित कुछ समस्याओं को दूर करने में भी मदद करता है। यदि आपका पाचन तंत्र अच्छा होगा तो आपके स्वस्थ रहने की संभावना भी अधिक होगी। अपने नियमित आहार में परवल का उपयोग करें यह आपके पाचन में सुधार के लिए काफी फायदेमंद है।

(और पढ़े – मानव पाचन तंत्र कैसा होता है, और कैसे इसे मजबूत बनायें)

परवल के औषधीय गुण बढ़ती उम्र को रोके – Parwal fight with aging factors in Hindi

जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है वैसे ही झुर्रियां और रेखाएं (wrinkles and fine lines) हमारे चेहरे पर दिखाई देने लगती है। परवल में एंटीआक्‍सीडेंट, विटामिन ए और सी अच्छी मात्रा में होते हैं जो मुक्त कणों (free radical) के अणुओं से लड़ने में मदद करते हैं जो उम्र बढ़ने वाले संकेतों को प्रोत्साहित करती हैं। वृद्धावस्था सभी के लिए एक भयानक चिंता बन जाती है, चूंकि यह प्राकृतिक प्रक्रिया है, फिर भी इन दिनों उम्र बढ़ने (aging) की प्रक्रिया तेजी से हो रही है। यह प्रदूषण के कारण है। लेकिन प्राकृतिक परवल उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को स्थगित कर सकता है। इसलिए आप इसे अपने दैनिक आहार में शामिल कर सकते हैं।

परवल के बीज कब्ज के लिए – Parwal Beej treats constipation in Hindi

कब्ज को हम जितना सरल समझते हैं उतना नहीं है। अगर इसका समय पर उपचार न किया जाए तो यह विभिन्न गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्याओं का कारण बन सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि अपशिष्‍ट भोजन आंतों (Intestines) में रहता है और विभिन्न बीमारियों का कारण बन सकता है। पानी का कम सेवन या लौह जैसे खनिजों के उच्च सेवन के कारण कब्ज हो सकता है। परवल के बीज मल के मार्ग को कम होने से रोकता है। यही कारण है कि कब्ज से पीडित लोगों को परवल के बीज खाने की सलाह दी जाती है।

(और पढ़े – कब्ज के कारण और इलाज)

ब्‍लड शुगर को नियंत्रित करें परवल की सब्जी – Parwal benefits for Blood sugar in Hindi

यदि आप परवल की सब्जी बनाने की तैयारी कर रहे हैं तो आपको इसके बीजों को फेंकना नहीं चाहिए क्योंकि वे रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। मधुमेह एक जीवनशैली से जुड़ा रोग (lifestyle disease) है और वंशागत कारकों के कारण भी हो सकता है। हालांकि आप अपने आहार में अच्छी मात्रा परवल का सेवन कर रक्त शर्करा (blood sugar) के स्तर को नियंत्रित कर सकते हैं।

(और पढ़े  – शुगर ,मधुमेह लक्षण, कारण, निदान और बचाव के उपाय)

परवल के फायदे वजन घटाने में – Parwal For Weight loss in Hindi

परवल के फायदे वजन घटाने में – Parwal For Weight loss in Hindi

लोग अपने शरीर के वजन को कम करने के लिए लगभग हर चीज कर रहे हैं। यह एक या दो सप्‍ताह का मामला नहीं है। वजन को नियंत्रित करने के लिए आपको अपने व्यायाम और आहार के बारे में सतर्क रहना होगा। आप अपने आहार में परवल को शामिल करें, इसमें कैलोरी बहुत ही कम होती है। तो इसका उपयोग कर आप अपने वजन को कम करने के लिए बिना किसी संदेह के खा सकते हैं। यह आपके पेट को पूर्ण महसूस करने में मदद करता है और खाने की जरूरत को भी नियंत्रित करता है।

(और पढ़े – जीएम डाइट है वजन कम करने का सबसे तेज तरीका)

परवल का उपयोग करता है फ्लू को कम – Parwal Reduces Flu in Hindi

सर्दी और फ्लू सामान्य स्‍वास्‍थ्‍य समस्याओं में से एक है जो मौसम के परिवर्तन के कारण होता है। आयुर्वेद के अनुसार परवल में आपकी प्रतिरक्षा शक्ति (immunity power) को बढ़ावा देने की क्षमता है। यह फ्लू गले की समस्याओं और उच्च तापमान का इलाज करने के लिए दवा की तरह प्रयोग किया जाता है। यदि आप नियमित रूप से परवल का उपभोग कर सकते हैं तो यह ठंड और फ्लू (cold and flu) की समस्या को कम करने में मदद कर सकता है।

पीलिया रोग में परमल के फायदे – Parmal Ke Fayde For jaundice in Hindi

यकृत के लिए परमल बहुत ही अच्छा होता है। इसलिए यह पीलिया के इलाज (treatment of jaundice) में मदद करता है जो यकृत को प्रभावित करने बाली बीमारी है। साथ ही यह यकृत की समग्र कार्य क्षमता में भी सुधार करता है। यह पाचन में सुधार करता है क्योंकि यकृत पाचन तंत्र (digestive system) में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

(और पढ़े – पीलिया के कारण, लक्षण और उपचार)

शराब की आदत छुटाने में परवल की बेल – Parwal Bel Treating alcoholism in Hindi

प्राचीन भारतीय लेख चरक संहिता के अनुसार परवल का प्रयोग शराब (alcoholism) के इलाज में भी किया जाता है। न केवल फल बल्कि इसके पौधे की पत्तियां भी इस उद्देश्य के लिए उपयोगी है।

परवल का पौधा के अन्य आयुर्वेदिक उपचार – parwal Ayurvedic Health benefits in Hindi

सिर दर्द : परवल की जड़ों को मसलकर पेस्‍ट बनाए और इसे अपने माथे पर लगाएं और सूखने दें।
घाव : परवल के पाउडर का काढ़ा तैयार करें और अपने घाव को धोने के लिए इसका उपयोग करें ।
लीवर की बीमारी : दिन में एक बार परवल के पत्तों का रस लें ।
त्वचा की बीमारी : 1 चम्मच परवल के पत्ते के रस के साथ उतनी ही मात्रा में शहद मिला कर गर्म पानी के साथ सेवन करें।

परवल के नुकसान – Parwal Ke Nuksan in Hindi

परवल एक सब्जी है जो भारत की ही खोज हैं। परवल के औषधीय गुण बहुत अधिक होने के कारण इसके स्‍वास्‍थ्‍य लाभ बहुत अधिक हैं। परवल से होने वाले नुकसानों की जानकारी प्राप्त नहीं है। फिर भी इसका सेवन कम मात्रा में और जरूरत के हिसाब से ही करना चाहिए।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration