अपच और बदहजमी के घरेलू उपाय - Home remedies for indigestion in Hindi - Healthunbox
घरेलू उपाय

अपच और बदहजमी के घरेलू उपाय – Home remedies for indigestion in Hindi

अपच और बदहजमी के घरेलू उपाय - Home remedies for indigestion in Hindi

Home remedies for indigestion in Hindi: कभी कभी हम अपना पसंदीदा भोजन मिलने पर या अच्छे स्वाद के कारण अधिक खाना खा लेते है, जिसकी वजह से हमें अपच और बदहजमी की समस्या हो जाती है। इसलिए आज हम आपको अपच और बदहजमी के घरेलू उपाय के बारे में बताएंगे।

खाना के बाद अपच होने की वजह से असहजता महसूस हो सकती है, जिसकी वजह से पेट में दर्द या जलन आदि की परेशानी हो सकती है। अपच कोई बीमारी नहीं हैं, बल्कि गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं जैसे कि अल्सर, गैस्ट्र्रिटिस या एसिड रिफ्लक्स का लक्षण है।

कई लोगों अपच की समस्या को दूर करने के लिए और अपने पेट को शांत करने के लिए ओवर-द-काउंटर एंटासिड्स लेते है। लेकिन इसके लिए घरेलू उपाय बहुत ही प्रभावी होते है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको अपच और बदहजमी के घरेलू उपाय के बारे में बताएंगे जो त्वरित राहत प्रदान करने में आपकी मदद कर सकते हैं।

विषय सूची

अपच और बदहजमी के घरेलू उपाय – Apach aur badhazmi ke upay in Hindi

अपच और बदहजमी के घरेलू उपाय - Apach aur badhazmi ke upay in Hindi

अधिक खाना खाने की वजह से होने वाले अपच को दूर करने के लिए निम्न घरेलू उपायों को करें।

अपच होने पर पियें पुदीना की चाय – Peppermint tea for indigestion in Hindi

अपच होने पर पियें पुदीना की चाय - Peppermint tea for indigestion in Hindi

पुदीना की चाय अपच और बदहजमी की समस्याओं को दूर करने में आपकी मदद कर सकता है। पुदीना एक सांस फ्रेशनर से अधिक है। यह शरीर पर एक एंटीस्पास्मोडिक (antispasmodic) प्रभाव भी डालता है, जो मतली और अपच जैसी पेट की समस्याओं से राहत के लिए एक शानदार विकल्प बनाता है। भोजन के बाद एक कप पुदीने की चाय पिएं ताकि आपका पेट इसे जल्दी सोख सके। इसके अलावा आप अपनी जेब में पुदीना के कुछ टुकड़े रखें और खाने के बाद पुदीना की कैंडी को चूसें। पुदीना अपच को कम कर सकता है, लेकिन एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux) के कारण अपच होने पर आपको पुदीना नहीं पीना चाहिए। क्योंकि पुदीना निचले एसोफेजियल स्फिंक्टर को आराम देता है। इसकी वजह से एसिड रिफ्लक्स खराब हो सकता है।

अपच और बदहजमी के घरेलू उपाय अदरक – Ginger for indigestion in Hindi

अपच और बदहजमी के घरेलू उपाय अदरक - Ginger for indigestion in Hindi

अदरक अपच के लिए एक और प्राकृतिक उपचार है क्योंकि यह पेट के एसिड को कम कर सकता है। उसी तरह बहुत कम एसिड रिफ्लक्स के कारण होने वाले अपच के लिए भी बहुत ही प्रभावी होता है।

अपने पेट को शांत करने और अपच से छुटकारा पाने के लिए एक कप अदरक की चाय पिएं। अन्य विकल्पों में अदरक की कैंडी को चूसना, अदरक को पीना या अदरक का पानी बनाकर पीना लाभदायक होता है। एक या दो टुकड़े अदरक की जड़ को चार कप पानी में उबालें। पीने से पहले इसमें नींबू या शहद को स्वाद के लिए जोड़ें।

आप अदरक की खपत को सीमित करें, प्रति दिन केवल 3 से 4 ग्राम अदरक का सेवन करें। बहुत अधिक अदरक का सेवन करने से गैस, गले में जलन और हार्टबर्न की समस्या हो सकती है।

अपच के घरेलू उपाय में पिएं नींबू पानी – Lemon water for indigestion in Hindi

अपच के घरेलू उपाय में पिएं नींबू पानी - Lemon water for indigestion in Hindi

नींबू पानी का क्षारीय प्रभाव पेट के एसिड को भी बेअसर करता है और पाचन में सुधार करता है। गर्म पानी में एक बड़ा चम्मच नींबू का रस मिलाएं और खाने से कुछ मिनट पहले पिएं।

अपच को कम करने के साथ-साथ, नींबू का पानी भी विटामिन सी का एक उत्कृष्ट स्रोत है। हालांकि, बहुत अधिक नींबू पानी दांतों के इनेमल को कम कर सकता है और पेशाब में वृद्धि का कारण बन सकता है। अपने दांतों की सुरक्षा के लिए, निम्बू पानी पीने के बाद अपने मुँह को पानी से धोएँ।

बदहजमी के घरेलू उपाय पिएं सौंफ का पानी – Fennel seed water for indigestion in Hindi

Fennel seed water for indigestion in Hindi

सौंफ का बीज एंटीस्पास्मोडिक जड़ी बूटी है जो भोजन के बाद अपच को भी ठीक कर सकती है। साथ ही पेट की ऐंठन, मतली और सूजन जैसी अन्य जठरांत्र संबंधी समस्याओं को शांत कर सकती है।

1/2 चम्मच सौंफ़ के बीज को कुचल कर पानी में डालें और इसे पीने से पहले 10 मिनट तक उबालने दें। इसके बाद पानी को छानकर पियें। जब भी आपको अपच का अनुभव हो, आप सौंफ की चाय पिएं। यदि कुछ खाद्य पदार्थ अपच का कारण बनते हैं, तो आप भोजन के बाद सौंफ के बीज को भी खा सकते है।

अधिक सौंफ खाने के संभावित दुष्प्रभावों में मतली, उल्टी और सूर्य की संवेदनशीलता शामिल है।

बेकिंग सोडा है अपच और बदहजमी के घरेलू उपाय – Baking soda for indigestion in Hindi

बेकिंग सोडा है अपच और बदहजमी के घरेलू उपाय - Baking soda for indigestion in Hindi

बेकिंग सोडा पेट के एसिड को जल्दी से बेअसर कर सकता है और खाने के बाद अपच, सूजन और गैस से राहत दिला सकता है। इस उपाय के लिए, 1/2 चम्मच बेकिंग सोडा को एक कप गर्म पानी में मिलाकर पिएं।

सोडियम बाइकार्बोनेट (बेकिंग सोडा) आम तौर पर सुरक्षित और नॉनटॉक्सिक (nontoxic) है। लेकिन अधिक मात्रा में बेकिंग सोडा पीने से कुछ दुष्प्रभाव  जैसे कि कब्ज, दस्त, चिड़चिड़ापन, उल्टी और मांसपेशियों में ऐंठन हो सकते हैं। यदि आप अपच के लिए 1/2 चम्मच बेकिंग सोडा युक्त घोल पीते हैं, तो कम से कम दो घंटे तक इसे दोहराएं नहीं।

अपच और बदहजमी का घरेलू उपाय कैमोमाइल चाय – Chamomile tea for indigestion in Hindi

अपच और बदहजमी का घरेलू उपाय कैमोमाइल चाय - Chamomile tea for indigestion in Hindi

कैमोमाइल चाय का सेवन नींद और चिंता शांत करने में मदद करने के लिए जानी जाती है। यह जड़ी बूटी भी पेट की परेशानी को कम कर सकती है और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट (gastrointestinal tract) में पेट के एसिड को कम करके अपच से राहत दिला सकती है। कैमोमाइल दर्द को रोकने के लिए एक एंटी इंफ्लेमेटरी के रूप में भी कार्य करता है।

कैमोमाइल चाय तैयार करने के लिए, उबलते पानी में 10 मिनट के लिए एक या दो टीबैग रखें। अब इसे एक कप में लेकर इसमें शहद मिला लें। अपच को रोकने के लिए आवश्यकतानुसार चाय पियें।

अगर आप ब्लड थिनर लेते हैं तो कैमोमाइल चाय पीने से पहले डॉक्टर से सलाह लें । कैमोमाइल में एक घटक होता है जो एक थक्कारोधी (anticoagulant) के रूप में काम करता है। इससे रक्त के पतले होने के साथ ही रक्तस्राव का जोखिम होता है।

एप्पल साइडर सिरका के फायदे अपच और बदहजमी में – Apple cider vinegar for indigestion in Hindi

एप्पल साइडर सिरका के फायदे अपच और बदहजमी में - Apple cider vinegar for indigestion in Hindi

एप्पल साइडर सिरका स्वास्थ्य लाभ, त्वचा की स्थिति में सुधार करने और वजन घटाने आदि में बहुत ही लाभदायक होता है। यह अपच को कम करने में भी मदद कर सकता है।

पेट में एसिड बहुत कम होना अपच पैदा कर सकता है, अपने शरीर में पेट के एसिड के उत्पादन को बढ़ाने के लिए सेब साइडर सिरका पी सकते हैं। एक कप पानी में एक से दो चम्मच कच्चे, बिना स्वाद के सेब साइडर सिरका मिलाएं और तेजी से राहत पाने के लिए पिएं। या खाने से 30 मिनट पहले मिश्रण पीने से पहले अपच को रोकें।

भले ही ऐप्पल साइडर सिरका सुरक्षित हो, लेकिन इसे अधिक या बिना पके पीने से दांतों का क्षरण, मतली, गले में जलन और निम्न रक्त शर्करा जैसे दुष्प्रभाव हो सकते हैं। इसलिए इसका सेवन सीमित करें।

बदहजमी की आयुर्वेदिक दवा मुलेठी की जड़ – Licorice root for indigestion in Hindi

बदहजमी की आयुर्वेदिक दवा मुलेठी की जड़ - Licorice root for indigestion in Hindi

मुलेठी की जड़ मांसपेशियों की ऐंठन और जठरांत्र संबंधी मार्ग में सूजन को शांत कर सकता है, जो दोनों अपच को ट्रिगर कर सकते हैं। बदहजमी से राहत के लिए मुलेठी की जड़ को चबाएं या उबलते पानी में मुलेठी की जड़ मिलाएं और मिश्रण को पीएं।

हालांकि  मुलेठी की जड़ अपच के लिए प्रभावी है लेकिन इसके अधिक सेवन से शरीर में सोडियम और पोटेशियम असंतुलन और उच्च रक्तचाप की समस्या हो सकती है। अपच से तेजी से राहत के लिए प्रति दिन 2.5 ग्राम से अधिक सूखे मुलेठी की जड़ का सेवन न करें। खाने से 30 मिनट पहले या खाने के एक घंटे बाद मुलेठी रूट को खाएं या पिएं।

अपच को दूर करने के लिए जीरा पानी पियें – Cumin water for indigestion in Hindi

अपच को दूर करने के लिए जीरा पानी पियें - Cumin water for indigestion in Hindi

जीरा पानी गैस्ट्रिक या गैस की समस्या को जड़ से खत्म करने का सबसे अच्छा आयुर्वेदिक उपाय है। जीरे में मौजूद आवश्यक तेल, लार ग्रंथियों को उत्तेजित कर भोजन के बेहतर पाचन में मददगार होता है। इसके साथ ही यह अपच होने से रोकता भी है। अगर आप पेट की बदहजमी से राहत पाना चाहते हैं, तो 1 चम्मच जीरा को दो कप पानी में 10-15 मिनट के लिए उबालें। इसे ठंडा होने दें और खाना खाने के बाद इस पानी को पीएं।

अपच और बदहजमी के घरेलू उपाय में पिएं खूब पानी – Drink more water for indigestion in Hindi

अपच और बदहजमी के घरेलू उपाय में पिएं खूब पानी - Drink more water for indigestion in Hindi

शरीर में पानी की कमी अपच और बदहजमी का कारण बनता है। खाद्य पदार्थों को अच्छी तरह से पचाने और अवशोषित करने के लिए पानी की आवश्यकता होती है। पानी की कमी होने से पाचन अधिक कठिन और कम प्रभावी होता है, जिससे पेट खराब होने की संभावना बढ़ जाती है।

महिलाओं को एक दिन में लगभग 2.7 लीटर पानी पीना चाहिए और पुरुषों को दिन में लगभग 3.7 पानी पीना चाहिए। पाचन समस्याओं वाले लोगों के लिए, हाइड्रेटेड रहना अनिवार्य है। उल्टी और दस्त भी निर्जलीकरण का कारण बन सकता है, इसलिए इन लक्षणों के बाद लोगों को पानी पीना चाहिए।

अपच और बदहजमी के घरेलू उपाय (Home remedies for indigestion in Hindi) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration