उपवास (व्रत) के फायदे और नुकसान – Fasting Benefits And Side Effects In Hindi

उपवास (व्रत) के फायदे और नुकसान - Fasting Benefits And Side Effects In Hindi
Written by Anamika

upvas rakhne ke fayde in hindi भारत में व्रत और उपवास रखने का चलन चलन काफी पूराना है जो कहीं ना कहीं उपवास रखने के फायदे को दिखाता है आमतौर पर हमारे समाज में लगभग हर धर्म के लोग किसी न किसी रुप में व्रत या उपवास रखते हैं। इस्लाम धर्म के लोग रोजा के रुप में उपवास रखते हैं जबकि हिंदू धर्म में विभिन्न त्योहारों, व्रतों एवं शरीर की शुद्धि (purification) के लिए उपवास रखा जाता है। प्राचीन काल से ही भारत में व्रत और उपवास का बहुत महत्व है और आज भी लोग उसी तरह से व्रत (vrat) का महत्व समझते हैं। इस लेख में हम आपको उपवास क्या है, उपवास के प्रकार और उपवास के फायदे (upvas benefits in hindi) एवं उपवास रखने के नुकसान के बारे में बताने जा रहे हैं।

1. उपवास क्या है – upvas kya hai in hindi
2. उपवास के प्रकार – Types of Fasting in Hindi

3. उपवास रखने के फायदे – Upvas ke fayde in hindi

4. उपवास के नुकसान – Side effects of fasting in Hindi

उपवास क्या है – upvas kya hai in hindi

उपवास क्या है - upvas kya hai in hindi

एक निश्चित अवधि के लिए भोजन और पेय पदार्थों को त्यागने की क्रिया को उपवास (fasting) कहा जाता है। दूसरे शब्दों में अन्न और जल न ग्रहण करने की क्रिया उपवास कहलाता है। कुछ मामलों में लोग पानी को छोड़कर सभी प्रकार के भोजन और पेय (drinks) से परहेज करते हैं, लेकिन ब्लैक कॉफी और चाय का सेवन किया जा सकता है।

(और पढ़े – नवरात्रि में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए…)

उपवास के प्रकार – Types of Fasting in Hindi

  1. पानी का उपवास – Water fasting in Hindi
  2. जूस का उपवास – Juice fasting in Hindi
  3. आंतरायिक उपवास – Intermittent fasting in Hindi
  4. आंशिक उपवास – Partial fasting in Hindi
  5. कैलोरी प्रतिबंध उपवास – Calorie restriction fasting in Hindi

आमतौर पर उपवास (upvas) कई प्रकार का होता है। हर व्यक्ति अपनी जीवनशैली और जरूरत के अनुसार उपवास रखता है। आइये जानते हैं उपवास के प्रकार के बारे में।

पानी का उपवास – Water fasting in Hindi

इसमें व्यक्ति पूरे दिन व्रत रखता है और उपवास करने वाला व्यक्ति सिर्फ पानी (water) ही पीता है। इसके अलावा कुछ अन्य चीजें नहीं खाता पीता है।

जूस का उपवास – Juice fasting in Hindi

इस तरह के उपवास में व्यक्ति सिर्फ सब्जियों और फलों का जूस (vegetable and fruit juice) पीता है इसके अलावा किसी अन्य भोज्य पदार्थ या पेय का सेवन नहीं करता है।

आंतरायिक उपवास – Intermittent fasting in Hindi

इस तरह का उपवास कुछ दिनों तक सिर्फ कुछ ही घंटे (short span) के लिए रखा जाता है और इस दौरान फलाहार लिया जाता है। इसके बाद व्यक्ति अपनी नियमित दिनचर्या में लौट आता है और सामान्य भोजन (normal food) लेना फिर से शुरू कर देता है।

आंशिक उपवास – Partial fasting in Hindi

इस तरह का उपवास आंशिक समय के लिए होता है और इस दौरान व्यक्ति  प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ (processed foods), पशु उत्पाद या कैफीन एक निर्धारित अवधि के लिए छोड़ देता है।

कैलोरी प्रतिबंध उपवास – Calorie restriction fasting in Hindi

इस प्रकार के उपवास में व्यक्ति हर हफ्ते कुछ दिनों के लिए कैलोरी लेने पर (calorie intake) प्रतिबंध लगा देता है और इस दौरान किसी भी तरह की कैलोरी युक्त चीजें नहीं खाता है।

(और पढ़े – कैलोरी क्या है, मात्रा, चार्ट, कम कैलोरी वाले आहार और कैलोरी बर्न कैसे करें…)

उपवास रखने के फायदे – Upvas ke fayde in hindi

  1. उपवास के फायदे वजन घटाने के लिए – Upvas ke fayde Wajan ghatane ke liye in hindi
  2. उपवास रखने के फायदे अच्छे पाचन तंत्र के लिए – Fasting benefits fo good Metabolism in hindi
  3. व्रत के फायदे भूख को सुधारने में – Fasting Improves Hunger in hindi
  4. उपवास के लाभ मस्तिष्क के लिए – Upvas ke fayde mind ke liye in hindi
  5. व्रत रखने के फायदे मुंहासे दूर करने के लिए – Vrat ke fayde Clear The Skin And Prevent Acne in hindi
  6. मन की शुद्धि के लिए उपवास के फायदे – Fasting Benefits for Self-Enlightenment in hindi
  7. उपवास के फायदे शरीर की सूजन दूर करने में – Upvas ke fayde body ki sujan dur karne ke liye in Hindi

व्रत रखने से मन और आत्मा का शुद्धिकरण तो होता ही है साथ में शरीर को भी अन्य फायदे होते हैं। आइये जानते हैं कि उपवास के क्या फायदे हैं।

उपवास के फायदे वजन घटाने के लिए – Upvas ke fayde Wajan ghatane ke liye in hindi

उपवास के फायदे वजन घटाने के लिए - Upvas ke fayde Wajan ghatane ke liye in hindi

वजन घटाने के लिए उपवास एक सुरक्षित तरीका (safe way) माना जाता है। कई अध्ययनों से पता चलता है कि उपवास रखने पर एक निश्चित समय के अंदर वसा कोशिकाएं क्षतिग्रस्त होती हैं जिसके कारण व्यक्ति का वजन बहुत तेजी से कम होता है। उपवास के दौरान शरीर पहले से जमा वसा को उपयोग में लाता है और इस दौरान शरीर को इसी वसा से ऊर्जा मिलती है। कई एथलीट (athlete) अब प्रतियोगिताओं के लिए शरीर के वसा प्रतिशत को कम करने के लिए उपवास का सहारा लेते हैं। इसलिए हम कह सकते हैं कि वजन घटाने के लिए उपवास एक सबसे आसान और सुरक्षित तरीका है।

(और पढ़े – नवरात्रि में वजन घटाने के लिए डाइट प्लान और आहार…)

उपवास रखने के फायदे अच्छे पाचन तंत्र के लिए – Fasting benefits fo good Metabolism in hindi

उपवास रखने के फायदे अच्छे पाचन तंत्र के लिए - Fasting benefits fo good Metabolism in hindi

शोधकर्ताओं का मानना है कि उपवास रखने से पाचन तंत्र को आराम मिलता है जिसके कारण मेटाबोलिज्म बेहतर और मजबूत होता है और अधिक कैलोरी नष्ट करने के लिए शरीर को सक्रिय करता है। यदि आपका पाचन खराब है, तो यह भोजन को पचाने और वसा को जलाने की आपकी क्षमता को प्रभावित कर सकता है। जबकि उपवास आपके पाचन को विनियमित कर सकता है और आंत की क्रियाओं (bowel function) को स्वस्थ रखने का काम करता है। यही कारण है कि उपापचय की क्रियाओं को बेहतर रखने के लिए उपवास रखना लाभदायक होता है।

(और पढ़े – पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय…)

व्रत के फायदे भूख को सुधारने में – Fasting Improves Hunger in hindi

व्रत के फायदे भूख को सुधारने में - Fasting Improves Hunger in hindi

अगर आपको भूख की समस्या है तो इसे दूर करने के लिए उपवास रखना बेहद जरूरी है। वैज्ञानिकों का मानना है कि उपवास आपके शरीर में हार्मोन को विनियमित (regulate) करने में मदद करता है ताकि आपको सच्ची भूख (real hunger) का अनुभव हो सके। मोटे व्यक्तियों को यह बताने की जरूरत नहीं है कि उनके खाने का पैटर्न क्या होना चाहिए लेकिन भूख को बढ़ाने एवं नियंत्रित करने के लिए उपवास रखना बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। इससे हार्मोन सही तरीके से काम करता है और आपको सही समय पर भूख लगती है।

(और पढ़े – भूख बढ़ाने के आयुर्वेदिक घरेलू उपाय…)

उपवास के लाभ मस्तिष्क के लिए – Upvas ke fayde mind ke liye in hindi

उपवास के लाभ मस्तिष्क के लिए - Upvas ke fayde mind ke liye in hindi

व्रत या उपवास मस्तिष्क के कार्यों में सुधार करता है क्योंकि यह बीडीएनएफ (BDNF) नामक प्रोटीन के उत्पादन को बढ़ाता है। बीडीएनएफ नए न्यूरॉन्स (neurons) में बदलने के लिए मस्तिष्क की स्टेम कोशिकाओं (stem cells) को सक्रिय करता है, और कई अन्य रसायनों का स्राव  करता है जो तंत्रिका स्वास्थ्य (neural health) को बढ़ावा देते हैं। यह प्रोटीन आपके मस्तिष्क की कोशिकाओं को अल्जाइमर और पार्किंसन रोग (Parkinson’s disease) से जुड़े परिवर्तनों से भी बचाता है।

(और पढ़े – अल्जाइमर से बचने के लिए खाएं ये हेल्दी फूड…)

व्रत रखने के फायदे मुंहासे दूर करने के लिए – Vrat ke fayde Clear The Skin And Prevent Acne in hindi

व्रत रखने के फायदे मुंहासे दूर करने के लिए - Vrat ke fayde Clear The Skin And Prevent Acne in hindi

उपवास त्वचा को साफ करने में मदद कर सकता है क्योंकि शरीर अस्थायी रूप से पाचन से मुक्त हो जाता है, यह अन्य प्रणालियों पर अपनी पुनर्योजी ऊर्जा (regenerative energies) को केंद्रित करने में सक्षम है। सिर्फ एक दिन कुछ भी नहीं खाने या उपवास रखने से शरीर को विषाक्त पदार्थों को साफ करने में मदद मिलती है और शरीर के अन्य अंगों जैसे यकृत (liver) एवं गुर्दे की क्रियाएं नियंत्रित रहती हैं।

(और पढ़े – मुँहासे में आहार प्रमुख भूमिका निभाता है जाने कैसे…)

मन की शुद्धि के लिए उपवास के फायदे – Fasting Benefits for Self-Enlightenment in hindi

मन की शुद्धि के लिए उपवास के फायदे - Fasting Benefits for Self-Enlightenment in hindi

उपवास ने कई लोगों को पढ़ने, ध्यान, योग और मार्शल आर्ट (martial art) आदि के दौरान जीवन से जुड़े होने में मदद की है। जब पाचन तंत्र में कोई भोजन नहीं होता है तब शरीर में अधिक ऊर्जा के लिए जगह बनती है। पाचन तंत्र (digestive system) एक ऐसी प्रणाली है जो शरीर से सबसे अधिक मात्रा ऊर्जा को अवशोषित करने का कार्य करता है। उपवास रखने से आत्म ज्ञान की प्राप्ति होती है और मन एवं मस्तिष्क शांत (calm mind) रहता है। इसके अलावा आप शारीरिक रुप से भी बेहतर महसूस कर सकते हैं और आपके आसपास आपको सबकुछ सकारात्मक दिखायी देगा।

(और पढ़े – मन की शांति के उपाय हिंदी में…)

उपवास के फायदे शरीर की सूजन दूर करने में – Upvas ke fayde body ki sujan dur karne ke liye in Hindi

उपवास के फायदे शरीर की सूजन दूर करने में - Upvas ke fayde body ki sujan dur karne ke liye in Hindi

आमतौर पर शरीर में संक्रमण के कारण ही सूजन (inflammation) होती है और यह एक सामान्य प्रतिरक्षा प्रक्रिया है। कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि उपवास सूजन के स्तर को कम करने और बेहतर स्वास्थ्य (good health) को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है। इसके अलावा व्यक्ति उपवास के दौरान बहुत कम कैलोरी युक्त आहार का पालन करता है जिसके कारण शरीर में वसा बढ़ने की समस्या या संक्रमण का खतरा नहीं के बराबर होता है। इसके अलावा यह स्केलेरोसिस (sclerosis) की समस्या को दूर करने में भी बहुत सहायक होता है। यही कारण है कि उपवास रखना कई मायनों में फायदेमंद है।

(और पढ़े – सूजन के कारण, लक्षण और कम करने के घरेलू उपाय…)

उपवास के नुकसान – Side effects of fasting in Hindi

उपवास के नुकसान - Side effects of fasting in Hindi

आमतौर पर व्रत या उपवास रखने के जितने फायदे होते हैं नुकसान भी इतने ही होते हैं। आइये जानते हैं कि उपवास रखने से आपको क्या क्या नुकसान हो सकता है।

  • व्रत या उपवास रखने के दौरान जब अधिक समय तक पेट में किसी तरह का भोजन या पेय पदार्थ नहीं जाता है तो मस्तिष्क में कुछ खतरनाक रसायन बनते हैं जिसके कारण आपको गंभीर सिरदर्द हो सकता है। आमतौर पर सिरदर्द के कई कारणों में उपवास भी एक मुख्य कारण है।
  • उपवास रखने से शरीर में ऊर्जा की कमी हो जाती है जिसके कारण आपको जी मिचलाने, चक्कर आने या फिर कमजोरी की समस्या हो सकती है। इसलिए यदि आपके शरीर में खून की कमी (khoon ki kami) हो या फिर आप पहले से ही बहुत कमजोर हों तो आपको उपवास रखने का नुकसान हो सकता है।
  • अक्सर देखा जाता है कि व्रत या उपवास के दौरान व्यक्ति अधिक चिड़चिड़ेपन (irritation) का शिकार हो जाता है और उसे गुस्सा भी बहुत ज्यादा आता है। इसलिए अगर आप गुस्सैल स्वभाव के हों तो आपको व्रत या उपवास (upvas) नहीं रखना चाहिए।
  • व्रत या उपवास के दौरान व्यक्ति के शरीर में आवश्यक हार्मोन (important hormone) और रसायन कम मात्रा में बनते हैं जिसके कारण आपको अधिक ठंड लग सकती है, शरीर में सिरहन हो सकती है और बुखार भी आ सकता है।
  • उपवास रखने से आपको पेट में गैस, एसिडिटी, सीने में जलन (heartburn) और पेट फूलने की भी समस्या हो सकती है।

(और पढ़े – अगर आपको भी पेट फूलने की समस्या है तो अपनाएं इन टिप्स को…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration