ताड़ के तेल के फायदे और नुकसान – Palm Oil (Taad ka tel) Benefits And Side Effects In Hindi

ताड़ के तेल के फायदे और नुकसान - Palm Oil (Taad ka tel) Benefits And Side Effects In Hindi
Written by Jaideep

Taad Ka Tel Ke Fayde ताड़ के तेल के फायदे होने के कारण दुनिया के बहुत से देशों में इसे चीजों को तलने के लिए उपयोग किया जाता है। ताड़ के तेल के फायदे बहुत सी बीमारियों और स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने में मदद करते हैं। लेकिन फायदे के समान ही इसके नुकसान होते हैं। इस आर्टिकल में ताड़ के तेल के फायदे और नुकसान की जानकारी प्राप्‍त कर सकते हैं।ताड़ का तेल (palm oil) , मुख्य रूप से बीटा-कैरोटीन, विटामिन ई और संतृप्त और असंतृप्त वसा का गठन करता है। इसमें मक्खन के रूप में अधिक संतृप्त वसा होता है। लेकिन यह तेल विटामिन ए जैसी कमियों को रोकने में मदद करता है और उम्र बढ़ने के कारण कैंसर और मस्तिष्क में होने वाले रोगों से भी रक्षा करता है। यह मलेरिया के इलाज, उच्च रक्तचाप और उच्च कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद करता है।

पाम तेल (palm oil) का उपयोग मानव शरीर में चयापचय दर को बढ़ाने के लिए किया जाता है और ताड़ का तेल वजन घटाने में भी मदद करता है। ताड़ के तेल का उपयोग दक्षिण पूर्व एशिया, अफ्रीका और ब्राजील के कुछ हिस्सों के उष्णकटिबंधीय क्षेत्र में एक आम खाना पकाने वाले घटकके रूप में इस्तेमाल किया जाता है। आइए जाने ताड़ के तेल के फायदे और नुकसान के बारे में।

1. ताड़ का तेल क्या है – What Is Palm Oil in Hindi
2. ताड़ के तेल के पोषक तत्‍व – Palm oil Nutrients in Hindi
3. ताड़ के तेल के फायदे – Palm oil Benefits in Hindi

4. ताड़ के तेल का उपयोग कैसे करें – How to use palm oil in Hindi
5. ताड़ के तेल के नुकसान – Palm oil side effects in Hindi

ताड़ का तेल क्या है – What Is Palm Oil in Hindi

चिकित्‍सा प्रणाली में संतृप्‍त वसा को हृदय स्‍वास्‍थ्‍य के सबसे बड़े खतरे के रूप में जाना जाता है। इसलिए दैनिक उपभोग के लिए इसे उपयुक्‍त नहीं माना जाता है। ताड़ का तेल दो प्रकार का होता है। एक ताड़ के फल से तैयार किया जाता है और दूसरा ताड़ फल के बीजों से निकाला जाता है। इन दोनों ही प्रकार के तेल में कैलोरी उच्‍च मात्रा में होती है। हालांकि ताड़ फल के बीज से निकाले गए तेल में मध्‍यम श्रृंखला ट्राइग्लिसराइड्स के रूप में कुछ स्‍वस्‍थ वसा भी होता है। इस तरह से ताड़ के बीजों से प्राप्‍त तेल का कम मात्रा में सेवन करना फायदेमंद होता है। आइए जाने ताड़ के तेल में पाए जाने वाले पोषक तत्‍व क्या हैं।

ताड़ के तेल के पोषक तत्‍व – Palm oil Nutrients in Hindi

इस तेल को खाद्य तेल कहा जाता है। इसे कमरे के सामान्‍य ताप में रखा जा सकता है। ताड़ के तेल में अत्‍याधिक मात्रा में वनस्‍पति वसा होता है। इस तेल में बीटा-कैरोटीन, विटामिन ई की अच्‍छी मात्रा होती है। इसके अलावा ताड़ के तेल में फाइटोन्‍यूट्रिएंट्स जैसे स्‍टेरोल्‍स आदि की भी उच्‍च मात्रा होती है। पाम आयल में कैरोटीनॉयड भी होते हैं जिनमें अल्‍फा, बीटा और गामा कैरोटीन होते हैं। ताड़ का तेल घुलनशील एंटीऑक्‍सीडेंट और फ्लेवोनोइड से भरा होता है। ये सभी पोषक तत्‍वों की उपस्थिति ताड़ के तेल को फायदेमंद बनाते हैं। आइए जाने ताड़ का तेल हमारे लिए किस प्रकार फायदेमंद होता है।

ताड़ के तेल के फायदे – Palm oil Benefits in Hindi

  1. ताड़ के तेल के फायदे रक्‍तचाप के लिए – Taad ke tel ke fayde raktchap ke liye in Hindi
  2. ताड़ के तेल के लाभ ब्रेन के लिए – Palm Oil Benefits For Brain Health in Hindi
  3. ताड़ का तेल दिल को स्‍वस्‍थ रखे – Taad ka tel ke fayde for heart health in Hindi
  4. ताड़ का तेल का उपयोग कैंसर के लिए – Palm oil benefits for cancer in Hindi
  5. पाम ऑइल बेनिफिट्स फॉर प्रेगनेंसी – Palm Oil Benefits for Pregnancy in Hindi
  6. पाम ऑइल खाद्य पदार्थों को खराब होने से बचाए – Palm Oil for Increases shelf life of food items in Hindi
  7. पाम तेल के फायदे आंखों के लिए – Palm Oil good for eye in Hindi
  8. पाम आयल बेनिफिट्स फोर स्किन – Palm Oil Benefits for Skin in Hindi

ताड़ के तेल के फायदे रक्‍तचाप के लिए – Taad ke tel ke fayde raktchap ke liye in Hindi

ताड़ के तेल के फायदे रक्‍तचाप के लिए - Taad ke tel ke fayde raktchap ke liye in Hindi

पाम आयल में एंटीऑक्‍सीडेंट की उच्‍च मात्रा होती है। इनकी उपस्थिति के कारण यह न्‍यूरोलॉजिकल अध: पतन को रोकने में मदद करता है। इसके अलावा ये एंटीऑक्‍सीडेंट तंत्रिका और मस्तिष्‍क को नुकसान पहुंचाने वाले फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव को भी कम करने में मदद करते हैं। नियमित रूप से ताड़ के तेल की मध्‍यम मात्रा का सेवन करने से रक्‍तचाप को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। जिसके परिणाम स्‍वरूप अल्‍जाइमर, मनोभ्रंश पार्किंसंस और कई अन्‍य मानसिक समस्‍याओं से छुटकारा मिल सकता है। इस तरह से ताड़ का सेवन मानव स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होता है।

(और पढ़े – जानिए उच्च रक्तचाप के बारे में सब कुछ…)

ताड़ के तेल के लाभ ब्रेन के लिए – Palm Oil Benefits For Brain Health in Hindi

ताड़ के तेल के लाभ ब्रेन के लिए - Palm Oil Benefits For Brain Health in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि पाम आयल का सेवन करने से ऊर्जा में वृद्धि होती है। यह भी ज्ञात होता है कि टोकोट्रिएनोल्स्विच (Tocotrienolswhich) विटामिन ई परिवार का सदस्‍य होता है जो कि ताड़ के तेल में मौजूद रहता है। यह घटक मस्तिष्‍क के स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने में मदद करता है। मुख्य रूप से यह मस्तिष्‍क की उन धमनियों में रक्‍त परिसंचराण को बढ़ाता है जो स्‍ट्रोक का सामना करती हैं। इस तरह से स्‍ट्रोक के लक्षणों को कम करने में ताड़ के तेल का उपयोग किया जा सकता है। आप भी अपने मस्तिष्‍क को स्‍वसथ्‍य रखने के लिए अपने आहार में पाम ऑयल को शामिल कर सकते हैं।

(और पढ़े – दिमाग तेज करने के लिए क्या खाये और घरेलू उपाय…)

ताड़ का तेल दिल को स्‍वस्‍थ रखे – Taad ka tel ke fayde for heart health in Hindi

ताड़ का तेल दिल को स्‍वस्‍थ रखे - Taad ka tel ke fayde for heart health in Hindi

यदि आप अपने हृदय स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देना चाहते हैं तो ताड़ के तेल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। ताड़ के तेल के फायदे दिल को स्‍वस्‍थ्‍य रखने में सहायक होते हैं। इस तेल का सेवन करने से कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को कम करने में मदद मिलती है। यह उच्‍च घनत्‍व वाले लिपोप्रोटीन को बढ़ाने में भी सहायक होता है। एक अध्‍ययन से पता चलता है कि ताड़ के तेल का सेवन करने से शरीर में एलडीएल और एचडीए के स्‍तर को संतुलित रखने में मदद मिलती है। शरीर में खराब कोलेस्‍ट्रॉल की अधिक मात्रा हृदय स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित कर सकती है। इसलिए अपने दिल को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए आप ताड़ के तेल का उपयोग कर लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – जानें हार्ट को हेल्‍दी कैसे रखें…)

ताड़ का तेल का उपयोग कैंसर के लिए – Palm oil benefits for cancer in Hindi

ताड़ का तेल का उपयोग कैंसर के लिए - Palm oil benefits for cancer in Hindi

अग्‍नाशय कैंसर का उपचार करने के लिए पाम ऑयल के फायदे जाने जाते हैं। नियमित रूप से ताड़ के तेल का उपभोग अग्‍नाशय कैंसर के लक्षणों को कम करने में सहायक हो सकता है। ताड़ तेल में मौजूद एंटीआक्‍सीडेंट और विटामिन ई कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकने और उन्‍हें नष्‍ट करने में अहम योगदान निभाते हैं। इस तरह से आप भी भविष्‍य में अग्‍नाशयी कैंसर की संभावनाओं को कम करने के लिए ताड़ के तेल का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – अग्नाशय कैंसर क्या है, लक्षण, कारण, जांच, इलाज और बचाव…)

पाम ऑइल बेनिफिट्स फॉर प्रेगनेंसी – Palm Oil Benefits for Pregnancy in Hindi

पाम ऑइल बेनिफिट्स फॉर प्रेगनेंसी - Palm Oil Benefits for Pregnancy in Hindi

महिलाओं के लिए गर्भावस्‍था एक संवेदनशील अवस्‍था होती है। ताड़ के तेल में विटामिन ए, डी और ई की अच्‍छी मात्रा होती है। हमारा शरीर सभी विटामिनों को प्राकृतिक रूप से उत्‍पन्‍न नहीं कर सकता है। इनकी आपूर्ति केवल खाद्य पदार्थों के माध्‍यम से ही की जा सकती है। ये सभी घटक गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद और उपयोगी होते हैं। ये न केवल महिला स्‍वास्‍थ्‍य बल्कि भ्रूण के स्‍वास्‍थ्‍य को भी बढ़ावा देते हैं। इसके अलावा ताड़ के तेल में संतृप्‍त फैटी एसिड की भी उच्‍च मात्रा होती है जो केवल मां के दूध से ही प्राप्‍त होता है। इस तरह से पाम आइल बच्‍चों और महिलाओं को महत्‍वपूर्ण विटामिनों की कमी को पूरा करता है। इस तरह से गर्भवती महिलाओं के लिए ताड़ के तेल का सेवन लाभकारी होता है।

(और पढ़े – गर्भावस्‍था के पहली तिमाही में क्‍या खाना चाहिए और क्‍या नहीं…)

पाम ऑइल खाद्य पदार्थों को खराब होने से बचाए – Palm Oil for Increases shelf life of food items in Hindi

पाम ऑइल खाद्य पदार्थों को खराब होने से बचाए - Palm Oil for Increases shelf life of food items in Hindi

बहुत से खाद्य निर्माता ताड़ के तेल का उपयोग करते हैं। क्‍योंकि इस तेल में विशेष गुण मौजूद रहते हैं जो भोजन को लंबे समय खराब होने से बचाते हैं। असंतृप्‍त तेलों की अपेक्षा ताड़ का तेल बहुत ही फायदेमंद होता है साथ ही इसकी कीमत भी कम होती है। इस तरह से आप अपने भोजन को गुणवत्‍ता को बनाए रखने के लिए पाम ऑइल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़े – स्वस्थ आहार के प्रकार और फायदे…)

पाम तेल के फायदे आंखों के लिए – Palm Oil good for eye in Hindi

पाम तेल के फायदे आंखों के लिए - Palm Oil good for eye in Hindi

विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य लाभ दिलाने वाले पाम आइल के फायदे आंखों के लिए भी होते हैं। क्‍योंकि ताड़ के तेल में बीटा-कैरोटीन मुख्‍य घटक के रूप में मौजूद रहता है। यह शरीर में हार्मोंनल संतुलन को बनाए रखने और ऊर्जा को उत्‍तेजित करने में सहायक होता है। आप अपनी आंखों संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए ताड़ के तेल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़े – आँखों को स्वस्थ रखने के लिए 10 सबसे अच्छे खाद्य पदार्थ…)

पाम आयल बेनिफिट्स फोर स्किन – Palm Oil Benefits for Skin in Hindi

पाम आयल बेनिफिट्स फोर स्किन - Palm Oil Benefits for Skin in Hindi

विटामिन ई शरीर के लिए एक एंटीऑक्‍सीडेंट के रूप में काम करता है। ताड़ के तेल में विटामिन ई और अन्‍य एंटीऑक्‍सीडेंट उच्‍च मात्रा में होते हैं जो त्‍वचा को फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव से बचाते हैं। औषधीय पाम आइल में बीटा-कैरोटीन और अल्‍फा कैरोटीन जैसे कैरोटीनॉयड होते हैं। ये घटक हमारी त्‍वचा की समस्‍याओं को प्रभावी रूप से दूर करने और त्‍वचा स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। इस तरह से पाम आइल का उपयोग त्‍वचा के लिए फायदेमंद होता है। आप भी अपनी त्‍वचा को सुंदर और स्‍वस्‍थ्‍य बनाने के लिए ताड़ के तेल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़े – चेहरे पर ग्लो लाने के घरेलू उपाय…)

ताड़ के तेल का उपयोग कैसे करें – How to use palm oil in Hindi

प्राचीन समय से औषधीय गुणों से भरपूर पाम आइल का उपयोग खाद्य तेल के रूप में किया जा रहा है। ताड़ के तेल का उपयोग करने से खाद्य उद्योगों को विशेष लाभ होता है। इसका उपयोग खाना पकाने, गैर-डेयरी क्रीमर (non-dairy creamers) और आइस्‍क्रीम के रूप में किया जाता है। इसके अलावा ताड़ के तेल का उपयोग उन उत्पादों में भी किया जाता है जहां पशु आ‍धारित वसा का उपयोग नहीं किया जाता है। ताड़ का तेल आक्‍सीकरण को रोकने में समर्थ होता है इसलिए इसका उपयोग प्रसंस्‍कृत खाद्य पदार्थों के साथ किया जाता है।

ताड़ के तेल के नुकसान – Palm oil side effects in Hindi

जाता है। इसके अलावा ताड़ के तेल का उपयोग उन उत्पादों में भी किया जाता है जहां पशु आ‍धारित वसा का उपयोग नहीं किया जाता है। ताड़ का तेल आक्‍सीकरण को रोकने में समर्थ होता है इसलिए इसका उपयोग प्रसंस्‍कृत खाद्य पदार्थों के साथ किया जाता है। ताड़ के तेल के नुकसान – Palm oil side effects in Hindi

सामान्‍य रूप से ताड़ के तेल का सेवन करना फायदेमंद और सुरक्षित माना जाता है। हालांकि अन्‍य रासायनिक पदार्थों और दवाओं की अपेक्षा ताड़ के तेल के दुष्‍प्रभाव बहुत ही कम होते हैं। लेकिन आपको सलाह दी जाती है कि ताड़ के तेल का अधिक मात्रा में उपभोग न करें।

  • कुछ लोगों का शरीर ताड़ के तेल के प्रति संवेदनशील होता है। इसलिए अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से त्‍वचा में पीलापन आ सकता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि इस तेल में कैरोटीन की उच्‍च मात्रा होती है।
  • जरूरत से ज्‍यादा मात्रा में ताड़ के तेल का उपभोग करने से पेट की समस्‍याएं जैसे दस्‍त और पेट दर्द की समस्‍याएं हो सकती हैं।
  • यदि आप किसी विशेष प्रकार की दवाओं का सेवन कर रहे हैं। तो ऐसी स्थिति में पाम आइल का सेवन करने से पहले अपने डॉक्‍टर से संपर्क करना फायदेमंद होता है।
  • ताड़ के तेल को पचाने में मुश्किल आती है। इसलिए अगर आपकी पाचन शक्ति कमजोर है तो इसके इस्तेमाल से बचें।

(और पढ़े – पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration