नीम के बीज के फायदे और नुकसान – Neem ke Beej ke Fayde Aur Nuksan in Hindi

नीम के बीज के फायदे और नुकसान – Neem ke Beej ke Fayde Aur Nuksan in Hindi
Written by Jaideep

क्‍या आप नीम के बीज से होने वाले फायदों के बारे में जानते हैं। आयुर्वेद के अनुसार नीम के बीज के फायदे स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में मदद करते हैं। प्राचीन समय से ही प्रमुख औषधी के रूप में नीम के विभिन्‍न भागों का उपयोग किया जा रहा है। विशेष रूप से नीम के फायदे त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में मदद करते हैं। क्‍योंकि नीम के बीज (Neem Seeds) में शक्तिशाली जीवाणुरोधी गुण होते हैं।

जब जीवन शैली को बेहतर बनाने के लिए नीम के बीज का सेवन किया जाता है तो नीम के बीज आपको सभी प्रकार की पाचन समस्याओं, और त्वचा की समस्याओं में लाभ पहुँचाते हैं। नीम के बीज के फायदे भी विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने में अपनी अहम भूमिका निभाते हैं।

नीम के बीज, नीम का तेल और नीम के पत्ते का उपयोग पिछले 4000 वर्षों से चिकित्सा उपचार के लिए आयुर्वेद की प्राचीन चिकित्सा पद्धति द्वारा किया जाता है। यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि नीम के फायदे शरीर के साथ-साथ त्वचा के लिए भी लाभकारी होते हैं, लेकिन जो बात कम ज्ञात हो सकती है वह यह है कि इसके बीजों (Neem Seeds) का सेवन बहुत सारे लाभों के लिए भी किया जा सकता है। आज इस आर्टिकल में आप नीम के बीज के फायदे और नुकसान संबंधी जानकारी प्राप्‍त कर सकते हैं। आइए इन्‍हें जाने।

नीम के बीजों के उपयोग का सबसे अच्छा तरीका उन्हें कुचलकर पाउडर के रूप में गर्म दूध के साथ  मिला कर पिया जाये। आप पानी के साथ-साथ एक गोली की तरह भी इसका सेवन कर सकते हैं लेकिन याद रखें कि नीम के बीजों का स्वाद बहुत ही कड़वा होता है!

तो हम यहां नीम बीज के स्वास्थ्य लाभों को जानेंगे।

1. नीम के बीज के फायदे – Neem ke Beej ke Fayde in Hindi

2. नीम के बीज के नुकसान – Neem ke Beej ke Nuksan in Hindi

नीम के बीज के फायदे – Neem ke Beej ke Fayde in Hindi

  1. नीम के बीज के फायदे किडनी को स्‍वस्‍थ रखे – Neem beej ke fayde kidney swasth rakhe in Hindi
  2. नीम के बीज के लाभ मलेरिया के लिए – Neem ke beej ke labh Malaria ke liye in Hindi
  3. नीम के बीज का उपयोग एथलीट संक्रमण के इलाज में – Athletes Infection ke liye neem ke beej in Hindi
  4. नीम के फल के फायदे आंख और कान के लिए – Neem Ke Fal Ke Fayde Aankh Aur Kan Ke Liye In Hindi
  5. नीम के बीज का इस्‍तेमाल त्‍वचा के लिए – Neem ke beej ka Istemal Twacha ke liye in Hindi
  6. नीम के बीजों का प्रयोग बालों के लिए – Neem ke beejo ka pryog balo ke liye in Hindi
  7. नीम बीज के फायदे जन्‍म नियंत्रण में – Neem seeds for Birth Control in Hindi
  8. नीम की निम्बोली के फायदे प्रतिरक्षा को बढ़ाये – Neem Ki Nimboli Ke Fayde for Boost immunity in Hindi

नीम के बीज के फायदे किडनी को स्‍वस्‍थ रखे – Neem beej ke fayde kidney swasth rakhe in Hindi

नीम के बीज के फायदे किडनी को स्‍वस्‍थ रखे – Neem beej ke fayde kidney swasth rakhe in Hindi

औषधीय उद्देश्‍यों की पूर्ति करने के लिए नीम के पेड़ के सभी हिस्‍सों का अलग अलग प्रकार से उपयोग किया जाता है। इसी तरह से नीम के बीज के फायदे आपकी किडनी संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए उपयोग किये जाते हैं। इसके लिए आप नीम की पत्तियों और बीज से बनी चाय का सेवन किया जाना चाहिए। यह औषधीय चाय प्रोस्‍टेट और किडनी संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में सहायक होती है। यह कोई आज का इलाज नहीं है बल्कि आयुर्वेद में प्राचीन समय से ही नीम के बीज के फायदे प्राप्‍त किये जा रहे हैं। यदि आप भी अपनी किडनी संबंधी स्‍वास्‍थ्‍य से चिंतित हैं तो नीम के बीज का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – किडनी रोग क्या है कारण, लक्षण, जांच, इलाज और रोकथाम…)

नीम के बीज के लाभ मलेरिया के लिए – Neem ke beej ke labh Malaria ke liye in Hindi

नीम के बीज के लाभ मलेरिया के लिए – Neem ke beej ke labh Malaria ke liye in Hindi

मलेरिया एक संक्रामक बीमारी है जो कि मच्‍छर के काटने से फैलती है। मलेरिया रोगी के लिए नीम के बीज के फायदे बहुत अधिक होते हैं। मलेरिया का घरेलू उपचार करने के लिए नीम एक औषधी विकल्‍प है। विशेषज्ञों का मानना है कि नीम के बीज को पीसकर इसका लेप लगाने से मच्‍छर पास में नहीं आते हैं। जिससे मलेरिया फैलाने वाले मच्‍छरों के प्रभाव से और उनके काटने से आप बच सकते हैं। इसके अलावा नीम के बीज से प्राप्‍त तेल का उपयोग करने से भी मच्‍छरों को पास में आने से रोका जा सकता है।

(और पढ़े – मलेरिया के कारण, लक्षण और बचने के घरेलू उपाय…)

नीम के बीज का उपयोग एथलीट संक्रमण के इलाज में – Athletes Infection ke liye neem ke beej in Hindi

नीम के बीज का उपयोग एथलीट संक्रमण के इलाज में – Athletes Infection ke liye neem ke beej in Hindi

एथलीट फुट नामक संक्रमण के विकास को रोकने के लिए भी नीम के बीज का इस्‍तेमाल किया जा सकता है। क्‍योंकि नीम के बीज में शक्तिशाली जीवाणुरोधी गुण होते हैं। जो संक्रामक बैक्‍टीरिया के विकास और प्रभाव दोनों को कम कर सकते हैं। एथलीट संक्रमण होने पर आप रात में सोने से पहले घावों में नीम के बीज के तेल को नारियल के तेल के साथ उपयोग करें। यह न केवल घावों का उपचार करते हैं बल्कि कवक के विकास को भी रोकने में सहायक होते हैं। आप इंफेक्‍शन को रोकने के लिए नीम के बीज का उपयोग भी कर सकते हैं।

(और पढ़े – एथलीट फुट के कारण, लक्षण, बचाव और उपचार…)

नीम के फल के फायदे आंख और कान के लिए – Neem Ke Fal Ke Fayde Aankh Aur Kan Ke Liye In Hindi

नीम के फल के फायदे आंख और कान के लिए – Neem Ke Fal Ke Fayde Aankh Aur Kan Ke Liye In Hindi

आप अपने आंख और कान में होने वाले संक्रमण के प्रभाव को कम करने के लिए भी नीम के बीज का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए आप आंख और कान का मरहम बनाने के लिए नीम के बीज के अर्क का उपयोग कर सकते हैं। जो कि बहुत ही लोकप्रिय उपचार है। इन बीजों में जीवाणुरोधी गुण उच्‍च मात्रा में होते हैं जो संक्रमण फैलाने वाले बैक्‍टीरिया को नष्‍ट कर सकते हैं।

औषधीय पौधा होने के कारण नीम के बीजों का उपयोग करना बहुत सुरक्षित है। इस तरह से आप अपनी आंखों और कान के स्‍वास्थ्‍य को बनाए रखने के लिए नीम के बीजों का प्रयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – आंखों की एलर्जी दूर करने के घरेलू उपाय…)

नीम के बीज का इस्‍तेमाल त्‍वचा के लिए – Neem ke beej ka Istemal Twacha ke liye in Hindi

नीम के बीज का इस्‍तेमाल त्‍वचा के लिए – Neem ke beej ka Istemal Twacha ke liye in Hindi

नीम के बीज से निकाला गया तेल प्राचीन समय से त्‍वचा समस्‍याओं को दूर करने के लिए उपयोग किया जा रहा है। बहुत से सौंदर्य उत्पादों में नीम के बीजों का उपयोग प्रमुख घटक के रूप में उपयोग किया जाता है। आप त्‍वचा संबंधी विभिन्‍न प्रकार की समस्‍याओ जैसे मुंहासे, फंगल संक्रमण, परतदार त्‍वचा, आदि को ठीक करने के लिए नीम के बीज का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। अपने चेहरे पर नियमित रूप से नीम के बीजों का पेस्‍ट लगाने से यह त्‍वचा के दाग और धब्‍बों को भी दूर कर सकता है। आप अपने चेहरे को प्राकृतिक रूप से गोरा बनाने के लिए भी नीम के बीज का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। नीम के तेल में एंटीऑक्‍सीडेंट के साथ ही एंटीफंगल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो विभिन्‍न प्रकार की त्‍वचा समस्‍याओं जैसे एक्जिमा, सोरायसिस और पिंपल्‍स का उपचार करने में सहायक होते हैं।

(और पढ़े – नीम फेस पैक के फायदे, कैसे बनायें और लगाने का तरीका…)

नीम के बीजों का प्रयोग बालों के लिए – Neem ke beejo ka pryog balo ke liye in Hindi

नीम के बीजों का प्रयोग बालों के लिए – Neem ke beejo ka pryog balo ke liye in Hindi

सामान्‍य रूप से आप अपने बालों में नीम का उपयोग कई प्रकार से कर सकते हैं। डैंड्रफ बालों की सबसे आम समस्याओं में से एक है जिसका लोग अनुभव करते हैं। लेकिन, नीम के बीजों से निकाले गए तेल के उपयोग से ऐसी समस्याओं का आसानी से इलाज किया जा सकता है क्योंकि इसमें एंटी-फंगल, एंटीबैक्टीरियल और एंटी-पेरासिटिक गुण होते हैं। आज बाजार में मिलने वाले बालों संबंधी अधिकांश उत्‍पादों में नीम के तेल को प्रमुख घटक के रूप में उपयोग किया जाता है। औषधीय गुणों के कारण यह सिर की ऊपरी त्‍वचा या स्‍कैल्‍प को प्राकृतिक नमी दिलाने में सहायक होता है। साथ ही सिर में मौजूद संक्रमण को दूर करता है। जिनके प्रभाव के कारण अक्‍सर हमारे बाल कमजोर होकर झड़ते हैं। इस तरह से आप नीम के बीजों से प्राप्‍त तेल का उपयोग अपने बालों में कर लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – आयुर्वेदिक तरीकों से रुकेगा हेयर लॉस और होगा हेयर रिग्रोथ…)

नीम बीज के फायदे जन्‍म नियंत्रण में – Neem seeds for Birth Control in Hindi

नीम बीज के फायदे जन्‍म नियंत्रण में – Neem seeds for Birth Control in Hindi

जो महिलाएं गर्भाधारण नहीं करना चाहती हैं उनके लिए नीम के बीज बहुत ही फायदेमंद होते हैं। बहुत सी महिलाओें को रासायनिक जन्‍म नियंत्रण का उपयोग करना पसंद नहीं होता है। इसलिए यह जन्‍म नियंत्रण का प्राकृतिक तरीका है। ऐसा माना जाता है कि इन बीजों में शक्तिशाली गुण होते हैं जो गर्भ को रूकने से रोकते हैं।

नीम के बीज उन महिलाओं के लिए फायदेमंद हैं जिन्हें प्राकृतिक जन्म नियंत्रण की आवश्यकता होती है। बीज इतने शक्तिशाली होते हैं कि यह गर्भावस्था को रोकने के लिए लुब्रिकेंट की तरह काम करते हैं। यदि आप भी चाहें तो गर्भावस्था को रोकने के लिए नीम के बीज से निकाले गए तेल के लाभ प्राप्‍त कर सकती हैं।

(और पढ़े – गर्भनिरोधक के सभी उपाय और तरीके…)

नीम की निम्बोली के फायदे प्रतिरक्षा को बढ़ाये – Neem Ki Nimboli Ke Fayde for Boost immunity in Hindi

नीम की निम्बोली के फायदे प्रतिरक्षा को बढ़ाये – Neem Ki Nimboli Ke Fayde for Boost immunity in Hindi

औषधीय गुणों के साथ ही नीम के बीज में एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। इन गुणों के कारण शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले फ्री रेडिकल्‍स को रोका जा सकता है। इस तरह से मौखिक रूप से सेवन करने पर नीम के बीज हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक होते हैं। यदि आप भी बार-बार सर्दी और बुखार से परेशान हैं तो नीम के बीजों का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय…)

नीम के बीज के नुकसान – Neem ke Beej ke Nuksan in Hindi

नीम के बीज के नुकसान – Neem ke Beej ke Nuksan in Hindi

नीम के बीज गर्भवती महिलाओं के लिए गर्भपात को प्रेरित करते हैं। इसलिए यह गर्भवती महिलाओं के लिए सबसे खराब माने जाते है। इसलिए गर्भवती महिलाओं को नीम के बीज से बने किसी भी पदार्थ का उपयोग करने से बचना चाहिए।

(और पढ़े – गर्भपात (मिसकैरेज) के कारण, लक्षण और इसके बाद के लिए जानकारी…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration