मार्शमैलो रूट के फायदे और नुकसान – Marshmallow Root (Althaea officinalis) Benefits and Side effects in Hindi

मार्शमैलो रूट के फायदे और नुकसान – Marshmallow Root (Althaea officinalis) Benefits and Side effects in Hindi
Written by Jaideep

Marshmallow root in hindi मार्शमैलो रूट के फायदे बहुत से लोगों पता नहीं हैं, इसका उपयोग प्राचीन समय से हृदय को स्‍वस्‍थ्‍य रखने, संक्रमण को दूर करने, पाचन सुधारने, त्‍वचा को स्‍वस्‍थ्‍य रखने, घावों को ठीक करने आदि के लिए किया जा रहा है। मार्शमैलो रूट का औषधीय रूप में उपयोग अपना विशेष स्‍थान रखता है। इस लेख में आप जानेंगे मार्शमैलो रूट के फायदे और नुकसान के बारे में। जिनका उपयोग कर आप अपनी स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से छुटकारा पा सकते हैं। आइए जाने मार्शमैलो रूट क्‍या है।

1. मार्शमैलो क्‍या है – What Is Marshmallow Root in Hindi
2. मार्शमैलो के पोषक तत्‍व – Marshmallow Root Nutritional Value in Hindi
3. मार्शमैलो के फायदे – Marshmallow Benefits in Hindi

4. मार्शमैलो रूट चाय बनाने की विधि – How To Make Marshmallow Root Tea in Hindi
5. मार्शमैलो रूट की खुराक – Dosage Of Marshmallow in Hindi
6. मार्शमैलो रूट खाने के नुकसान – Marshmallow Root Side Effects in Hindi

मार्शमैलो क्‍या है – What Is Marshmallow Root in Hindi

एल्थिया ऑफिसिनैलिस (Althaea officinalis) या मार्शमैलो रूट एक बारहमासी जड़ी-बूटी जो यूरोप और उत्‍तरी अफ्रीका का मूल निवासी माना जाता है। इसका उपयोग पाचन, श्वसन, और त्वचा की स्थिति का इलाज करने के लिए हर्बल उपचार के रूप में किया जाता है। यह आयुर्वेदिक दवा फेफड़ों की बीमारियों, जीवाणु संक्रमण आदि के लिए भी फायदेमंद माना जाता है।

मार्शमैलो के पोषक तत्‍व – Marshmallow Root Nutritional Value in Hindi

औषधीय गुणों से भरपूर मार्शमैलो रूट में पोषक तत्‍व अच्‍छी मात्रा में होते हैं। जिनके कारण यह हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। मार्शमैलो रूट में एल्‍यूमीनियम, टिन, मैग्‍नीशियम, सेलेनियम और आयरन बहुत अधिक मात्रा में होते हैं। इसके अलावा मार्शमैलो रूट में कैल्शियम भी अच्‍छी मात्रा में होता है। इन पोषक तत्‍वों की उपस्थिति के कारण हम इसका उपयोग कर विभिन्‍न प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं का उपचार कर सकते हैं। आइए जाने मार्शमैलो रूट के फायदे क्‍या हैं।

मार्शमैलो के फायदे – Marshmallow Benefits in Hindi

यह एक औषधीय जड़ी-बूटी है जो हमारे शरीर के लिए प्राकृतिक श्‍लेष्‍म का काम करती है। इसका मतलब यह है कि यह हमारे लिए नरम फाइबर की तरह कार्य कारता है। यह पानी के संपर्क में आने पर फूल जाता है। मार्शमैलो रूट की यह गुणवत्‍ता झिल्‍ली के चारों ओर एक सुरक्षात्‍मक आवरण तैयार करती है। मार्शमैलो रूट में फ्लैवोनॉयड एंटीऑक्‍सीडेंट, पेक्टिन जो एक प्रकार के फाइबर होते हैं। इसके अलावा इसमें एंटीवायरल और एंटीबैक्‍टीरियल पदार्थ एस्पिनिन जैसे एमिनो एसिड, क्‍यूपरिन, फेनोलिक एसिड, टैनिन और क्वेरसेटिन जैसे अन्‍य यौगिक होते हैं।

अध्‍ययनों से पता चलता है कि ये सभी यौगिक श्वसन पथ में श्‍लेष्‍म झिल्‍ली के कामकाज में सुधार करते हैं। मार्शमैलो रूट में एंटीऑक्‍सीडेंट भी अच्‍छी मात्रा में होते हैं जो ऑक्‍सीडेटिव तनाव को कम करने में मदद करता है। आइये विस्‍तार से जाने मार्शमैलो रूट के फायदे क्‍या हैं।

(और पढ़े – फाइबर क्या है, स्रोत, फाइबर के फायदे और फाइबर के नुकसान…)

मार्शमैलो के फायदे दिल को स्‍वस्‍थ्‍य रखे – Marshmallow Benefits For Heart in Hindi

मार्शमैलो के फायदे दिल को स्‍वस्‍थ्‍य रखे – Marshmallow Benefits For Heart in Hindi

कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि मार्शमैलो रूट का उपयोग हृदय स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। वैज्ञानिक विभिन्‍न हृदय स्थितियों के इलाज के लिए मार्शमैलो फूल से निकाले जाने वाले रस के उपयोग पर परिक्षण कर रहे हैं।

2011 में एक पशु अध्‍ययन के दौरान लिपिमिया, प्‍लेटलेट और सूजन संबंधि समस्‍याओं के लिए मार्शमैलो फूल के रस का परिक्षण किया। ये सभी समस्‍याएं कार्डियोवैस्‍कुलर बीमारियों का कारण बन सकती हैं। इस अध्‍ययन के दौरान शोधकर्ताओं ने पाया कि नियमित रूप से 1 माह तक मार्शमैलो के फूल के रस हृदय स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देता है। इसके अलावा यह एचडीएल कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर पर सकारात्‍मक प्रभाव भी डालता है।

इन समस्‍याओं से बचने के लिए मार्शमैलो से प्राप्‍त रस की 2-5 मिलीलीटर मात्रा को दिन में 3 बार सेवन करें।

(और पढ़े – दिल मजबूत करने के उपाय…)

मार्शमैलो के लाभ पाचन के लिए – Marshmallow Benefits For Digestion in Hindi

मार्शमैलो के लाभ पाचन के लिए – Marshmallow Benefits For Digestion in Hindi

पेट से संबंधित समस्‍याओं के लिए मार्शमैलो रूट बहुत ही लाभकारी होती है। विशेष रूप से यह पाचन संबंधि विकारों का प्रभावी रूप से इलाज कर सकती है। मार्शमैलो का नियमित सेवन कर आप कब्‍ज, अपचन, आंतों की जलन आदि परेशानियों से बच रकते है। 2011 के एक अन्‍य अध्‍ययन से पता चलता है कि मार्शमैलो के फूल के रस का सेवन करने से गैस्ट्रिक अल्‍सर के इलाज में फायदा होता है। यदि 1 माह तक नियमित रूप से इसका सेवन किया जाए तो यह शरीर में एंटी-अल्‍सर गतिविधि को बढ़ावा देता है।

इसका उपयोग करने के लिए आपको 2-5 मिलीलीटर तरल मार्शमैलो का दिन में 3 बार सेवन करना च‍ाहिए। यदि आपको इसका सेवन करने से किसी प्रकार के दुष्‍प्रभाव हों तो इसका सेवन तुरंत ही बंद कर दिया जाना चाहिए।

(और पढ़े – मानव पाचन तंत्र कैसा होता है, और कैसे इसे मजबूत बनायें…)

मार्शमैलो का उपयोग त्‍वचा स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Marshmallow Root Benefits For Skin Health in Hindi

मार्शमैलो का उपयोग त्‍वचा स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Marshmallow Root Benefits For Skin Health in Hindi

आप अपनी त्‍वचा को स्‍वस्‍थ्‍य बनाने के लिए मार्शमैलो रूट का उपयोग कर सकते हैं। इसका उपयोग आप पराबैंगनी विकिरण के प्रभाव को भी दूर करने के लिए भी किया जा सकता है। इसका सीधा अर्थ यह है कि सूर्य प्रभाव से होने वाली त्‍वचा की समस्‍यओं के लिए मार्शमैलो रूट लाभकारी होती है।  2016 के एक अध्‍ययन बताते हैं कि यूवी विकिरण से प्रभावित त्‍वचा उपचार उत्‍पादों में मार्शमैलो रूट से निकाले गए रस का उपयोग किया जा सकता है।

त्‍वचा समस्‍याओं से बचने के लिए आप क्रीम, मलहम या तेल के साथ मार्शमैलो से निकाले गए रस का उपयोग सुबह शाम करें। सूर्य के संपर्क में आने पर आप इसका अधिक बार उपयोग कर सकते हैं। लेकिन त्‍वचा पर इसका उपयोग करने से पहले परिक्षण करने की आवश्‍कता होती है। आप अपने शरीर के अन्‍य हिस्‍से के छोटे क्षेत्र पर इसका उपयोग करें। यदि 24 घंटे के भीतर किसी भी प्रकार की जलन या सूजन नहीं होती है तो यह आपके लिए सुरक्षित हो सकता है।

(और पढ़े – त्वचा को खूबसूरत बनाए रखने के लिए लगाएं फ्रूट फेस मास्क…)

मार्शमैलो रूट के गुण सर्दी खांसी से बचाए- Marshmallow Benefits For Treat Cough and Cold in Hindi

मार्शमैलो रूट के गुण सर्दी खांसी से बचाए- Marshmallow Benefits For Treat Cough and Cold in Hindi

खांसी, कफ और गले की जलन को कम करने वाले औषधीय गुण मार्शमैलो में होते हैं। इसका उपभोग कर आप सर्दी खांसी जैसी समस्‍या का उपचार कर सकते हैं। यह लिम्‍फ नोड्स (lymph nodes) की सूजन को कम करने में मदद करता है। श्वसन बीमारियों और सर्दी खांसी से छुटकारा पाने में मार्शमैलो रूट बहुत ही फायदेमंद होता है। एक अध्‍ययन में पाया गया कि मार्शमैलो रूट युक्‍त हर्बल सिरप में श्‍लेष्‍म गठन से संबंधित श्वसन बीमारियों से राहत मिलती है। इसके अलावा आप मार्शमैलो की चाय का भी सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़े – सूखी खांसी के लिए घरेलू उपचार…)

मार्शमैलो के लाभ घाव का उपचार करे – Marshmallow Help With Wound Healing in Hindi

मार्शमैलो के लाभ घाव का उपचार करे – Marshmallow Help With Wound Healing in Hindi

एंटीबैक्‍टीरियल गुण होने के कारण मार्शमैलो का उपयोग घावों के उपचार में मदद करता है। 2015 में किये गए एक अध्‍ययन से पता चलता है कि मार्शमैलो रूट से निकाले गए रस का उपयोग करने पर यह बैक्‍टीरिया के प्रभाव को कम करने में मदद करता है। ये बैक्‍टीरिया संक्रमण में लगभग 50 प्रतिशत हिस्‍सेदारी रखते हैं। घावों पर इस रस का उपयोग करने से इसके एंटीबैक्‍टीरियल प्रभाव बैक्‍टीरिया को नष्‍ट कर घावों का इलाज करने मे मदद करते हैं। मार्शमैलो रूट उपचार गति को बढ़ाने और घावों की सूजन को कम करता है।

आप क्रीम या मलहम के साथ मार्शमैलो रूट के रस का उपयोग करें। इसे आप क्रीम या मलहम के साथ दिन में 3 बार घाव के ऊपर लगाएं। लेकिन ध्‍यान दें कि इसका उपयोग करने से पहले इसे शरीर के अन्‍य हिस्‍से में लगा कर जांच लें। यदि आपको किसी प्रकार के दुष्‍प्रभाव होते हैं तो इसका उपयोग न करें।

(और पढ़े – फंगल इन्फेक्शन क्या है, कारण, लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार…)

मार्शमैलो के औषधीय गुण दर्द को ठीक करे – Marshmallow Benefits For Pain Reliever in Hindi

मार्शमैलो के औषधीय गुण दर्द को ठीक करे – Marshmallow Benefits For Pain Reliever in Hindi

2014 में किये गए एक अध्‍ययन से पता चलता है कि मार्शमैलो रूट दर्द से छुटकारा पाने में मदद करती है। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि मार्शमैलो रूट में दर्द कम करने वाले (analgesic) गुण होते हैं। मार्शमैलो रूट का उपयोग सुखद अनुभव के लिए उपयोग किया जाता है। यह गले की खराश और दर्द आदि का भी प्रभावी रूप से इलाज कर सकता है।

इसका उपयोग आप 2-5 मिलीलीटर तरल मार्शमैलो का उपयोग दिन में 3 बार सेवन करना चाहिए। यदि आपको इसका सेवन करने से किसी प्रकार की समस्‍या हो तो इसका सेवन तुरंत बंद कर दें और अपने डॉक्‍टर से सलाह लें।

(और पढ़े – जोड़ों में दर्द का घरेलू उपचार…)

मार्शमैलो रूट का इस्‍तेमाल बालों के लिए – Marshmallow Root Benefits For Hair in Hindi

मार्शमैलो रूट का इस्‍तेमाल बालों के लिए – Marshmallow Root Benefits For Hair in Hindi

कुछ अध्‍ययनों से पता चलता है कि मार्शमैलो रूट में मौजूद श्‍लेष्‍म आपके बालों के लिए फायदेमंद होते हैं। यह बालों के प्रोटीन उपलब्‍ध कराता है और बालों को मोटा करने में मदद करता है। मार्शमैलो में मौजूद श्‍लेष्‍म बालों को मजबूत करने और कंडीशनर के रूप में भी उपयोग किया जा स‍कता है।

(और पढ़े – बालों को लम्बे और घने बनाने के लिए आवश्यक तेल का इस्तमाल कैसे करें…)

मार्शमैलो रूट फॉर वेट लॉस – Marshmallow Root Benefits For Weight Loss in Hindi

मार्शमैलो रूट फॉर वेट लॉस – Marshmallow Root Benefits For Weight Loss in Hindi

यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो मार्शमैलो रूट का उपयोग कर सकते हैं। यह आपके लिए वजन कम करने का सबसे आसान और प्रभावी तरीका हो सकता है। यह आपके वजन को इस लिए नियंत्रित करता है क्‍योंकि मार्शमैलो का उपभोग करने पर यह लंबे समय तक आपकी भूख को नियंत्रित रख सकता है। यह पाचन में भी आसान होता है जिसके कारण आप अतिरिक्‍त कैलोरी का उपयोग करते हैं। इसलिए नियमित रूप से इसका सेवन करने पर आपके श‍रीर में अतिरिक्‍त कैलोरी जमा नहीं हो पाती है। परिणामस्‍वरूप आप अपने वजन को नियंत्रित कर सकते हैं।

(और पढ़े – वजन और मोटापा कम करने के लिए क्या खाएं क्या न खाए…)

मार्शमैलो रूट के फायदे तरल पदार्थ के संतुलन में – Marshmallow roots For Reduces Water Retention in Hindi

मार्शमैलो रूट के फायदे तरल पदार्थ के संतुलन में – Marshmallow roots For Reduces Water Retention in Hindi

यह जल प्रतिधारण को कम करता है। आसान शब्‍दों में कहा जाए तो यह निर्जलीकरण को दूर करने में सहायक होता है। इस स्थिति में आपके शरीर में पानी बहुत अधिक मिलता है जिससे शरीर में पानी की मात्रा बहुत अधिक हो जाती है। मार्शमैलो रूट एक औषधीय जड़ी-बूटी है जिसमें कुछ सक्रिय यौगिक होते हैं जो आपके शरीर में पेशाब वृद्धि करने में मदद करते हैं। और साथ ही आपके शरीर में तरल पदार्थ को संतुलित करने में मदार हैं। इससे आपके शरीर में तरल पदार्थ को संतुलित करने में आसानी होती है।

(और पढ़े – डिहाइड्रेशन से बचने के घरेलू उपाय, जानलेंगें तो कभी नहीं होगी पानी की कमी…)

मार्शमैलो रूट चाय बनाने की विधि – How To Make Marshmallow Root Tea in Hindi

आप औषधीय गुणों से भरपूर मार्शमैलो टी बनाने के लिए एक जार में इस जड़ी-बूटी (लगभग 1 चौथाई जार) डालें। इस जार में आप गर्म पानी डालें और इसे ढक्‍कन से ढक दें। आप इस जार को लगभग 6 घंटे या पूरी रात के लिए ऐसे ही रखे रहने दें। आप अगली सुबह इस पानी का रंग हल्‍का पीला देखेंगे। आप इसे किसी पतले कपड़े या छन्‍नी से छान लें। आपको जो गढ़ा तरल पदार्थ मिलेगा वह आपकी मार्शमैलो चाय है। लेकिन इसकी कितनी मात्रा का सेवन करना चाहिए इसकी जानकारी होना भी आवश्‍यक है। आइए जाने मार्शमैलो के सेवन करने की निर्धारित मात्रा क्‍या है।

मार्शमैलो रूट की खुराक – Dosage Of Marshmallow in Hindi

विभिन्‍न प्रकार की स्‍वासथ्‍य समस्‍याओं से बचने के लिए मार्शमैलो रूट का उपभोग किया जाता है लेकिन इसके फायदे निश्चित खुराक पर ही होते हैं। आइए जाने मार्शमैलो की निर्धारित खुराक।

  • श्वसन संबंधी समस्‍याओं के लिए मार्शमैलो रूट पाउडर की 1-2 चम्‍मच मात्रा का दिन में कई बार सेवन किया जा सकता है। इसके अलावा आप मार्शमैलो चाय के 1-2 कप का सेवन कर सकते हैं।
  • पाचन समस्‍याओं के लिए प्रतिदिन 6 ग्राम मार्शमैलो रूट लें। इन समस्‍याओं के लिए आप माश्रमैलो पाउडर, कैप्‍सूल या चाय का सेवन कर सकते हैं।
  • यदि आप इसे अपनी त्‍वचा पर उपयोग कर रहे हैं तो आप इसकी जड़ के साथ किसी मलहम या तेल का उपयोग कर सकते हैं। आप अपने बालों के लिए मार्शमैलो टी का भी उपयोग कर सकते हैं।
  • यदि आप किसी दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो ध्‍यान दें कि दवाओं के सेवन के 2 घंटे बाद ही मार्शमैलो रूट का सेवन करें।

(और पढ़े – सांस फूलने के कारण, लक्षण, जांच, उपचार, और रोकथाम…)

मार्शमैलो रूट खाने के नुकसान – Marshmallow Root Side Effects in Hindi

आयुर्वेदिक औषधी होने के बाद भी यदि अधिक मात्रा में इसका सेवन किया जाता है तो इसके कुछ दुष्‍प्रभाव भी हो सकते हैं जो इस प्रकार हैं।

  • गर्भावस्‍था और स्‍तनपान कराने के दौरान मार्शमैलो रूट का अधिक मात्रा में सेवन न करें। इस दौरान मार्शमैलो रूट की सुरक्षा की पर्याप्‍त जानकारी नहीं है। इसलिए इसका अधिक मात्रा में सेवन करने बचना चाहिए।
  • कुछ जानकारों का मानना है कि मार्शमैलो का अधिक मात्रा में सेवन करने से आपके शरीर में रक्‍त शर्करा के स्‍तर को प्रभावित कर सकती है। इसलिए यदि आप मधुमेह संबंधि किसी प्रकार की दवा का उपभोग कर रहे हैं तो मार्शमैलो का सेवन करने से बचें। यह आपके शरीर में रक्‍त शर्करा के स्‍तर को बहुत ही कम कर सकता है।
  • चूंकि मार्शमैलो रूट रकत शर्करा के स्‍तर को प्रभावित कर सकती है इसलिए यह शल्‍य चिकित्‍सा के दौरान और उसके बाद रक्‍त शर्करा नियंत्रण में हस्‍तक्षेप कर सकती है। इसलिए सर्जरी के पहले कम से कम 2 सप्‍ताह पहले से इसका सेवन बंद कर दें।

(और पढ़े – मधुमेह को कम करने वाले आहार…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration