योनी में गीलापन होने के कारण और उपाय – Yoni Me Gilapan (Vaginal Wetness) Ke Karan Aur Upay In Hindi




योनी में गीलापन होने के कारण और उपाय – Yoni Me Gilapan (Vaginal Wetness) Ke Karan Aur Upay In Hindiयोनी में गीलापन होने के कारण और उपाय – Yoni Me Gilapan (Vaginal Wetness) Ke Karan Aur Upay In Hindi
Written by Daivansh

Vaginal wetness in Hindi यदि आप जानना चाहतीं हैं की योनी में गीलापन क्या होता है? क्यों होता है, योनि के गीला होने के कारण क्या हैं और क्या यह नार्मल है तो हमारा ये लेख पढ़ें कभी-कभी ऐसा होता है की आप कहीं जाने की जल्दी में हों और एकदम से आप अपनी पेंटी में कुछ गीलापन महसूस करें। या कभी आप अपने किसी खास को देखें और आपको बॉडी में सिहरन सी हो लेकिन आप भले उस समय सेक्स या किसी और चीज के बारे में सोच न रहीं हों। या कभी कोई खास इवेंट आने पर आपको इतना गीलापन महसूस हो कि आपको ऐसा लगे की पीरियड्स आ गए और आप उदास हो जाएं।

तो ऐसा क्या है कि आपकी योनी किसी चीज के कारण गीली होकर रियेक्ट कर रही है? योनी में गीलापन क्यों होता है?  हमने यहां कुछ सवाल इकठ्ठा किये हैं जो की योनी के गीलेपन से जुड़े हुए है। आइये जाने योनी के गीलेपन से जुड़े सवाल और उसके जवाब –

1. योनी में गीलापन महसूस क्यों होता है – Why Does My Vagina Feel Wet In Hindi
2. योनी से सफ़ेद पानी आने के कारण – Causes Of  White Discharge From Vagina In Hindi
3. जन्म निरोधक से योनी का गीलापन – Birth Control And Vaginal Discharge In Hindi
4. बैक्टीरियल वेजिनोसिस के कारण से योनी में नमी – Bacterial Vaginosis Cause Wet Vagina In Hindi
5. महिला में उत्तेजना से योनी का गीलापन – Female Arousal And White Discharge In Hindi
6. योनी का गीलापन मूत्र तो नहीं – Is Vaginal Discharge A Urine In Hindi
7. ग्रीवा द्रव योनि स्राव में कैसे बदलता है – Cervical Fluid In Female Vaginal Discharge In Hindi

8. योनी में गीलापन होने पर डॉक्टर को कब दिखाएं – When To See Doctor For Vaginal Wetness In Hindi

योनी में गीलापन महसूस क्यों होता है – Why Does My Vagina Feel Wet In Hindi

अगर आप सेक्स के मूड में नहीं हैं, फिर भी आपको योनी में गीलापन महसूस क्यों हो रहा है?

भले आपको इसकी जानकारी न हो लेकिन, आपकी योनी एक प्राक्रतिक स्नेहन उत्पन्न करती है और यह आपकी बॉडी और फिजियोलॉजी फंक्शन का एक हिस्सा है।

आपके सर्विक्स (गर्भाशय ग्रीवा) और वेजाइनल वॉल पर्याप्त स्नेहन या लुब्रिकेशन बनातें हैं जिससे आपके यौन क्षेत्र की रक्षा होती है- यह आपको योनि में लगने वाली चोट या घर्षण से बचाता है। इससे आपकी योनि छिलने से बचती है और पर्याप्त रूप से नम रहती है। आपकी योनी का स्त्राव आपके होर्मोन के स्तर और पीरियड्स की साइकिल के हिसाब से कम या बढ़ सकता है।

इस बात का ध्यान रखें की यही तरल पदार्थ (फ्लूइड) आपको सेक्स करने के दौरान भी देखने को मिलता है। शारीरिक संबंध से जुड़े ग्रंथियां (ग्लैंड) लुब्रिकेशन बनाते हैं- इनको बारथोलिन ग्लैंड (Bartholin Gland) कहतें हैं और यह आपकी योनी के खुलने वाले क्षेत्र (Vaginal Opening) के आसपास होतें हैं।

(और पढ़े – योनि के बारे में सम्पूर्ण जानकारी…)

योनी से सफ़ेद पानी आने के कारण – Causes Of  White Discharge From Vagina In Hindi

योनी से सफ़ेद पानी का आना कई कारणों पर निर्भर करता है जैसे कि –

  • होर्मोन
  • उम्र
  • दवाइयां
  • मनोविज्ञानिक स्वस्थ्य
  • रिश्तें की स्तिथि
  • पसीना आना और इससे जुड़े ग्लैंड
  • तनाव
  • कपड़ों की डिजाईन
  • अत्यधिक पसीना आना
  • संक्रमण

(और पढ़े – योनि से सफ़ेद पानी आना (श्वेत प्रदर, ल्यूकोरिया) लक्षण, कारण और घरेलू उपचार…)

जन्म निरोधक से योनी का गीलापन – Birth Control And Vaginal Discharge In Hindi

कुछ महिलाओं में जन्म निरोधक से योनी का गीलापन बढ़ सकता है क्योंकि एस्ट्रोजन होर्मोन आपकी योनी के तरल पदार्थ के स्त्राव को बढ़ाता है। आपको यह स्तिथि हो तो अपनी बर्थ कंट्रोल पिल लेना कम करें या उनके विकल्प ढूंढे।

(और पढ़े – गर्भनिरोधक के सभी उपाय और तरीके…)

बैक्टीरियल वेजिनोसिस के कारण से योनी में नमी – Bacterial Vaginosis Cause Wet Vagina In Hindi

संक्रमण जैसे की बैक्टीरियल वेजीनोसिस से योनी में नमी महसूस हो सकती है क्योंकि यह आपकी योनी के कनाल (vaginal canal) से बैक्टीरिया को बहार निकालने का काम कर रही है। वेजाइनल लुब्रीकेशन से आपके अन्डोतसर्ग भी बढ़ता है और आपके प्रजनन क्षमता को बढ़ाता है जिससे की स्पर्म आसानी से वेजाइना में आ सके।

(और पढ़े – ओव्यूलेशन (अंडोत्सर्ग) क्या है, साइकिल, कब होता है, कितने दिन तक रहता है और लक्षण…)

महिला में उत्तेजना से योनी का गीलापन – Female Arousal And White Discharge In Hindi

योनी का गीलापन हर बार सेक्सुअल उत्तेजना के कारण नहीं होता है। इसके चांसेज हैं की आपको योनी में गीलापन सेक्स के प्रति उत्तेजित होने पर नहीं होता है। आपके यौन अंग कभी भी गर्माहट से युक्त, मोइस्ट, या गीले महसूस हो सकतें हैं। इसके अलावा आपको पेट में दर्द या एंठन हो सकती है जो की आपके पीरियड साइकिल पर निर्भर करती है। अगर आप तनाव में हैं, आपको पेट की गैस है, तो जब आप जोर से हंसती हैं या हेवी लिफ्टिंग करतीं हैं या छीकती या खास्ती हैं तो आपकी पेशाब छूट सकती है भले ही इसे स्ट्रेस इनकॉनटीनेन्स (Stress Incontinence) कहा जाता लेकिन यह एक शारीरिक घटना है, मनोवैज्ञानिक नहीं। यह तब होता है जब आप अपने ब्लैडर पर प्रेशर डालती हैं और आप न चाहते हुए भी अपने पेंट्स में पी (पेशाव) कर देतीं हैं।

(और पढ़े – पेशाब में जलन और दर्द (डिस्यूरिया) के कारण, लक्षण और उपचार…)

योनी का गीलापन मूत्र तो नहीं – Is Vaginal Discharge A Urine In Hindi

यह पता लगा पाना मुश्किल है कि योनी का गीलापन मूत्र तो नहीं यदि आपको एकदम से योनी में गीलापन महसूस हो। इसके लिए आपको बाथरूम जाकर अंडरवियर चेक करना पड़ेगा।

अगर आप देखतीं हैं की पेंटी में कुछ म्यूक्स जैसा पदार्थ है तो यह सर्वाइकल फ्लूइड (बलगम) हो सकता है जो की यौन उत्तेजना के कारण नहीं होता है। यह तरल पदार्थ कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन्स, एमिनो एसिड से बना हुआ होता है। यह अपनी बनावट, रंग और स्थिरता में बदलता है।

सर्विअकल फ्लूइड एक प्राक्रतिक शारीरिक प्रतिक्रिया है, लेकिन यदि आपको तरल पदार्थ में हरा, गंध वाला, या कॉटेज चीज (पनीर) के टेक्सचर या रंग वाला तरल पदार्थ दिखे तो अपने डॉक्टर से परामर्श लें क्योंकि यह संक्रमण का संकेत है।

(और पढ़े – योनि से जुड़े रोग और उपचार…)

ग्रीवा द्रव योनि स्राव में कैसे बदलता है – Cervical Fluid In Female Vaginal Discharge In Hindi

  1. पीरियड्स के दौरान योनी में स्त्राव – Discharge From Vagina During Periods In Hindi
  2. योनी में स्त्राव का कारण एस्ट्रोजन स्तर – Cause Of Vaginal Discharge Due To Estrogen In Hindi
  3. योनी में पसीना भी बनता है नमी का कारण – Vaginal Sweating A Reason For Wetness In Hindi
  4. स्केन ग्रंथियों से महिलाओं में सफ़ेद पानी की समस्या – Skene Glands And Female Discharge In Hindi
  5. महिलाओं में स्‍खलन – Squirting In Female In Hindi
  6. योनी में गीलेपन से शरीर का संतुलन – Yoni Me Geelapan Sharir Ka Balance Banaye Rakhe In Hindi
  7. आपकी योनी गीली हैं लेकिन आप उत्तेजित्त नहीं – You Are Not Aroused Yet Wet Down There In Hindi
  8. योनी के गीले होने का मतलब सेक्स की सहमति नहीं है – Do Not Confuse Physical Arousal And Sex Need In Hindi
  9. वैजाइना स्त्राव बर्थ कंट्रोल और व्यायाम के कारण – Birth Control And Exercise Cause Wet Vagina In Hindi
  10. योनी में गीलापन कम करने के घरेलू उपाय – Home Remedies For Vaginal Wetness In Hindi

आइये योनी के गीलेपन (ग्रीवा द्रव) के बारे में कुछ विशेष बातें जाने –

पीरियड्स के दौरान योनी में स्त्राव – Discharge From Vagina During Periods In Hindi

आप अपने पीरियड्स के दौरान इस द्रव्य को नोटिस नहीं करेंगी, लेकिन पीरियड खत्म होने के बाद जब योनी सूखी हुई ही होती है, आप की सर्विक्स एक बलगम जैसा पदार्थ बनाना शुरू करती है। यह म्यूक्स जैसा और चिपचिपा होता है।

(और पढ़े – जानें प्रेगनेंसी में योनि से सफेद स्राव होना सामान्य है या नहीं…)

योनी में स्त्राव का कारण एस्ट्रोजन स्तर – Cause Of Vaginal Discharge Due To Estrogen In Hindi

जैसे-जैसे आपके शरीर में एस्ट्रोजन बढ़ना शुरू होता है, आपके गर्भाशय ग्रीवा का द्रव मखमली से लेकर खिंचा हुआ महसूस होगा, और आप योनी में गीलापन महसूस करेगी। इसका रंग अपारदर्शी सफेद (Opaque White) होगा। ग्रीवा द्रव तब कच्चे अंडे की सफेदी की तरह दिखाई देगा। (यह तब भी हो सकता है जब शुक्राणु (sperm) पांच दिनों तक जीवित रहा है)।

आपका एस्ट्रोजन जितना अधिक होगा, आपका सर्वाइकल फ्लूइड उतना ही अधिक पानीदार होगा। जब आपका एस्ट्रोजन अपने उच्चतम स्तर पर होता है, तो तब आप अपने अंडरवियर में गीलापन (अत्यधिक गीला) महसूस करने की अधिक संभावना रखते हैं। यह तरल पदार्थ सबसे स्पष्ट और फिसलन भरा होगा। यदि आप गर्भवती होने की कोशिश कर रहीं हैं, तो इस समय आप सबसे ज्यादा उपजाऊ (फर्टाइल) हैं।

आप अपने अगले पीरियड्स तक, अपनी योनी में सूखापन महसूस करेंगी। आप नोटिस करेंगी की जब आपके पीरियड्स फिर से शुरू होने वाले हों तब योनी में पानी जैसा तरल पदार्थ फिर से आने लगेगा, यह एंडोमेट्रियल अस्तर में बदलाव का एक संकेत है।

(और पढ़े – एस्ट्रोजन हार्मोन की महिलाओं के शरीर में भूमिका…)

योनी में पसीना भी बनता है नमी का कारण – Vaginal Sweating A Reason For Wetness In Hindi

एक अन्य प्रकार का द्रव जो योनी में हो सकता है, वह है योनि का पसीना, जो आपके पसीने की ग्रंथियों से आता है। यौन उत्तेजना के दौरान, आपके योनि क्षेत्र में रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है। यह वेसोकनजेसशन (Vasocongestion) एक पानी का घोल बनाता है जिसे योनि ट्रांसड्यूएट (Vaginal Transudate) कहा जाता है।

तनाव के कारण आपको अधिक पसीना आ सकता है, और यह पसीना योनि क्षेत्र में भी हो सकता है। इससे निपटने के लिए, ऐसे अंडरवियर पहनें जिसमे आपकी योनी सांस ले सकें यानी एकदम टाइट और ओवरफिटिंग पेंटी पहनने से बचें, और अच्छा हाईजीन बनाए रखने का प्रयास करें।

(और पढ़े – ज्यादा पसीना आने के कारण, लक्षण और घरेलू उपाए…)

स्केन ग्रंथियों से महिलाओं में सफ़ेद पानी की समस्या – Skene Glands And Female Discharge In Hindi

योनि ग्रंथियों से एक अन्य दूधिया सा सफेद स्राव आता है जो कि बाकि तरल पदार्थों से अलग माना जाता है, यह भी एक अन्य योनि द्रव है।

जैसा कि हमने पहले कहा, स्केन ग्रंथियों (Skene Glands) जो कि अनौपचारिक रूप से महिला प्रोस्टेट के नाम से जाने जाते हैं, वे भी स्नेहन और तरल पदार्थों में भूमिका निभाते हैं। ये ग्रंथियां योनि की खुलने वाली जगह को नम करती हैं और तरल पदार्थ को बनातीं हैं जो रोगाणुरोधी गुणों के लिए जाना जाता है और यह यूरिनरी ट्रेक्ट क्षेत्र की रक्षा करता है।

(और पढ़े – महिलाओं में योनि से सफेद पानी आने (ल्यूकोरिया या श्वेत प्रदर) का घरेलू इलाज…)

महिलाओं में स्‍खलन – Squirting In Female In Hindi

स्केन ग्रंथियों को भी महिलाओं में स्‍खलन (Squirting) के लिए जिम्मेदार माना जाता है, क्योंकि वे मूत्रमार्ग (urethra) के निचले हिस्से के करीब स्थित होती हैं। इस बारे में बहस जारी है कि क्या महिला स्खलन वास्तविक है और क्या यह वास्तव में मूत्र है।

दुर्भाग्य से, महिलाओं के यौन स्वास्थ्य पर कोई शोध नहीं होने के कारण, इस बात को लेकर विवाद बना रहता है कि वास्तव में महिला स्खलन क्या है और यह किस चीज से बना है।

यह याद रखें की हर किसी का शरीर अलग होता है और इसलिए आप योनी में फ्लूइड अलग-अलग तरह से महसूस करतीं हैं।

(और पढ़े – महिला स्खलन क्या होता है और कैसे होता है…)

योनी में गीलेपन से शरीर का संतुलन – Yoni Me Geelapan Sharir Ka Balance Banaye Rakhe In Hindi

योनी का गीलापन आपके शरीर के संतुलन को बनाए रखने का तरीका भी हो सकता है। इसमें आपको चिंता करने की कोई बात ही नहीं है। यदि यह स्नेहन नहीं है, तो यह आपकी पसीने की ग्रंथियां या जब आप अपने पीरियड्स का इंतजार करतीं हैं तो यह उससे जुड़ा भी हो सकता है।

जब आपके पसीने की ग्रंथियों की बात आती है, तो आपकी योनी में कई पसीने और तेल ग्रंथियां होती हैं जो आपकी योनि को गीला रखती हैं। ऐसी स्तिथि में आपको स्वच्छता बनाए रखना चाहिए, पैंटी लाइनर पहनना या चीजों को ठंडा रखने के लिए सूती अंडरवियर पहनना सबसे अच्छा उपाय है।

(और पढ़े – मासिक धर्म (पीरियड्स) के देर से आने के कारण और उपाय…)

आपकी योनी गीली हैं लेकिन आप उत्तेजित्त नहीं – You Are Not Aroused Yet Wet Down There In Hindi

आपको योनी में गीलापन का अनुभव होने पर जरुरी नहीं की आप सेक्सुअली अरोउज (यौन उत्तेजित) भीं हो जाएं। कभी-कभी, यह केवल एक सामान्य शारीरिक प्रतिक्रिया होती है – आपकी योनि गीली होती है, क्योंकि यह एक शारीरिक क्रिया है।

इसे एस्ट्रल नॉन-कॉनकॉर्डेंस (Arousal Non-Concordance) कहा जाता है। यह कुछ महिलाओं को भ्रमित कर सकता है, वे कंफ्यूज हो सकतीं हैं की उनका शरीर और दिमाग अलग-अलग सिग्नल क्यों दे रहा है, लेकिन यह एक सामान्य प्रतिक्रिया है।

बिना यौन उत्तेजना के बाद भी योनी गीली होने के कुछ दूसरे कारण भी हो सकतें हैं जैसे की कुछ कामुक (erotic) देखना, या कुछ पढ़ते हुए उत्तेजित होना, इससे आपका शरीर स्वाभाविक ही शारीरिक रूप से योनी के गीलेपन का जिम्मेदार हो जाता है।

(और पढ़े – वैजाइना को इन तरीकों से करें टच लड़की को जल्दी उत्तेजित करने के लिए…)

योनी के गीले होने का मतलब सेक्स की सहमति नहीं है – Do Not Confuse Physical Arousal And Sex Need In Hindi

यह जानना जरुरी है कि सिर्फ आपकी योनी के गीले होने का मतलब यह नहीं है की आप सेक्स के लिए रेडी हो चुकीं हैं। इसका मतलब है कि आपका शरीर सही रूप से प्रतिक्रिया दे रहा है। आप एक यौन स्थिति में हो सकतीं हैं और वेजाइना गीली हो सकती हैं, लेकिन यह बिल्कुल ठीक है और सामान्य है कि फिलहाल आपको सेक्स नहीं करना चाहिए। शारीरिक उत्तेजना यौन उत्तेजना की बराबरी नहीं करती है।

कामोत्तेजना (Sexual Arousal) के लिए भावनात्मक प्रतिक्रिया की आवश्यकता होती है। योनी में गीलापन फिजिकल रिलेशन बनाने के लिए शरीर की एक भाषा या संकेत नहीं है, केवल एक स्पष्ट “हां” ही सेक्स के लिए सही होता है जब आप को मालूम हो की आपको सेक्स करना है या नहीं।

(और पढ़े – महिलाओं की यौन स्वास्थ्य समस्याएं और समाधान…)

वैजाइना स्त्राव बर्थ कंट्रोल और व्यायाम के कारण – Birth Control And Exercise Cause Wet Vagina In Hindi

योनी का गीलापन बर्थ कंट्रोल या जन्म नियंत्रण गोलियों या अत्यधिक व्यायाम के कारण भी हो सकता है।

यदि आप आपकी योनी गीली है, और तरल पदार्थ गंध भरा और रंग में असामान्य है, तो अपने चिकित्सक से परामर्श लेना सबसे अच्छा उपचार है, क्योंकि यह अन्य समस्याओं का संकेत हो सकता है।

(और पढ़े – गर्भनिरोधक दवाओं और उनके शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में जानें…)

योनी में गीलापन कम करने के घरेलू उपाय – Home Remedies For Vaginal Wetness In Hindi

भले ही अगर आपको जो योनी से स्त्राव हो रहा है, वह सामान्य माना जाता है, लेकिन यह असुविधा का स्रोत भी हो सकता है। यदि आप इसके प्रभाव को कम करना चाहतीं हैं तो निम्नलिखित सुझाव फॉलो करें –

  • जब आप भारी योनी स्त्राव का अनुभव कर रहीं हों तो पैंटी लाइनर पहनें। ये आपके जांघों की रक्षा करता है और आपको पूरे दिन ड्राय महसूस करने में भी मदद कर सकता है।
  • कॉटन के अंडरवियर पहने जो कि आरामदायक हों और आपकी योनी को एयर टाइट न करें। कॉटन नायलॉन पेंटी की तुलना में यीस्ट इन्फेक्शन को रोकने में मदद करता है।
  • बाथरूम का इस्तेमाल करते समय योनि को आगे से पीछे की दिशा में पोंछें। यह कुछ संक्रमणों के जोखिम को कम कर सकता है।
  • जलन के अपने जोखिम को कम करने के लिए हमेशा बिना महक वाले क्लीन्ज़र चुनें।
  • सामान्य तौर पर, योनि के अंदर साबुन का उपयोग करने से बचना सबसे सही होता है। साबुन के बजाय, आप योनी के टिशु को स्वस्थ रखने के लिए उसके बाहरी क्षेत्र (वल्वा) को धीरे से साफ करना चाहिए और पानी या वी वाश से अच्छी तरह धो लेना चाहिए।

(और पढ़े – कैसे करते हैं वेजाइनल डाउचिंग या डूशिंग, इसके फायदे और नुकसान…)

योनी में गीलापन होने पर डॉक्टर को कब दिखाएं – When To See Doctor For Vaginal Wetness In Hindi

जब तक आप अन्य असामान्य लक्षण न देख पाएं तब तक भारी योनि स्राव एक चिंता का विषय नहीं है। यह अक्सर आपके मासिक धर्म चक्र या पीरियड्स के होने के आधार पर बढ़ता या कम होता है।

यदि फिर भी आपको परेशानी का अनुभव हो तो आपको डॉक्टर को योनी में निम्न लक्षणों के होने पर जरुर देखें –

योनी में गीलापन महसूस होने पर अपने साथ नार्मल टिश्यू रखें, कपड़ों को हाईजिनिक रखें, फ्रेग्रेन्स वाले क्लीनर से बचें, अच्छी आहार शेली को अपनाएं और जंक फूड कम करें, इसके अलावा व्यायाम और पेल्विक एक्सरसाइज करें।

(और पढ़े – योनी में खुजली, जलन और इन्फेक्शन के कारण और घरेलू इलाज…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration