प्रेगनेंसी में कौन सा फ्रूट नहीं खाना चाहिए - Which Fruits Should Be Avoided During Pregnancy In Hindi - Healthunbox
गर्भावस्था

प्रेगनेंसी में कौन सा फ्रूट नहीं खाना चाहिए – Which Fruits Should Be Avoided During Pregnancy In Hindi

प्रेगनेंसी में कौन सा फ्रूट नहीं खाना चाहिए - Which Fruits Should Be Avoided During Pregnancy In Hindi

Fruits Should Be Avoided During Pregnancy In Hindi: प्रेगनेंसी के दौरान अपने खानपान का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है। ऐसे में हर गर्भवती महिलाओं को यह जानकारी होना आवश्यक हो जाता है कि उनको इस समय क्या खाना चाहिए और किस चीज को खाने से बचना चाहिए। सभी लोग गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को फलों के सेवन की सलाह देते हैं। हम सभी जानते है कि फ्रूट खाना सभी के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन ऐसे भी कुछ फल है जिनको प्रेगनेंसी के समय खाने से बचना चाहिए। ये फल आपके लिए नुकसानदायक होते है। आइये जानते है कि प्रेगनेंसी में कौन सा फ्रूट नहीं खाना चाहिए।

विषय सूची

प्रेगनेंसी में कौन सा फ्रूट नहीं खाना चाहिए – Pregnancy me kon sa Fruits nahi khana chahiye

प्रेगनेंसी में कौन सा फ्रूट नहीं खाना चाहिए - Pregnancy me kon sa Fruits nahi khana chahiye

यहाँ पर कुछ फलों की लिस्ट दी गई है जिसका सेवन प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को नहीं करना चाहिए।

(यह भी पढ़ें – प्रेगनेंसी में भूलकर भी नहीं खानी चाहिए ये चीजें, जानें क्या होते हैं नुकसान!)

प्रेगनेंसी में बिना धुले फल नहीं खाना चाहिए – During pregnancy do not eat without washing in Hindi

प्रेगनेंसी में बिना धुले फल नहीं खाना चाहिए – During pregnancy do not eat without washing in Hindi

वैसे तो बिना धुले फल कभी भी किसी को नहीं खाना चाहिए, लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान ये और भी खतरनाक हो सकते हैं, इसकी वजह से गर्भपात तक होने की संभावना होती हैं। कई बार फलों पर लगी मिट्टी में टोक्सोप्लास्मोसिस नामक नुकसानदायक बैक्टीरिया होता है जो गर्भवती महिलाओं के लिए जानलेवा साबित हो सकता है।

(यह भी पढ़ें – गर्भवती महिलाओं को कौन से फल खाने चाहिए)

प्रेगनेंसी के पहले महीने में पपीता खाने से बचें – Papaya Avoid In The First Month Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी के पहले महीने में पपीता खाने से बचें – Papaya Avoid In The First Month Pregnancy in Hindi

पपीता वैसे तो बहुत ही पौष्टिक फल है जिसका सामान्‍य रूप से कभी भी सेवन किया जा सकता है। लेकिन गर्भावस्‍था के पहले महीने में इसका सेवन करने से बचना चाहिए। क्‍योंकि इस दौरान पपीता का अधिक मात्रा में सेवन करने पर यह अवधि के दौरान गर्भपात की संभावना को बढ़ा सकता है।

यह शरीर को गर्म करता है जो भ्रूण के लिए सही नहीं है। गर्भावस्‍था की पहली तिमाही में भ्रूण का उचित विकास नहीं हो पाता है इसलिए इस दौरान पपीता का अधिक सेवन करने पर गर्भपात की संभावना प्रबल हो सकती है। इसलिए कच्चे पपीता को गर्भावस्‍था के पहले महीने में पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए।

(और पढ़े – पपीता खाने के फायदे और नुकसान…)

प्रेगनेंसी के समय अनानास नहीं खाना चाहिए – Do not eat pineapple during pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी के समय अनानास नहीं खाना चाहिए – Do not eat pineapple during pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के समय अनानास खाना हानिकारक हो सकता है। इसके सेवन से भी प्रसव जल्दी होने की संभावना बढ़ जाती है। हालांकि, एक गर्भवती महिला अगर दस्त होने पर थोड़ी मात्रा में अनानास का रस पीती है तो इससे उसे किसी प्रकार का नुकसान नहीं होगा। वैसे पहली तिमाही के दौरान इसका सेवन ना करना ही सही रहेगा, इससे किसी भी प्रकार के गर्भाशय के अप्रत्याशित घटना से बचा जा सकता है।

(और पढ़े – अनानास के फायदे, गुण लाभ और नुकसान)

गर्भावस्था के समय न खाएं अंगूर – Avoid grapes in pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के समय न खाएं अंगूर – Avoid grapes in pregnancy in Hindi

डॉक्टर भी गर्भवती महिलाओं को उसके गर्भावस्था के अंतिम तिमाही में अंगूर खाने से मना करते हैं क्योंकि इसकी तासीर गरम होती है। इसलिए बहुत ज़्यादा अंगूर खाने से असमय प्रसव पीड़ा हो सकती है। इसलिए कोशिश करें कि गर्भावस्था के समय अंगूर न खायें।

(और पढ़े – जानिए सामान्य प्रसव के बाद योनि में होने वाले बदलाव के बारे मे)

प्रेगनेंसी में खजूर फ्रूट नहीं खाना चाहिए – Dates fruits should be avoided during pregnancy In Hindi

प्रेगनेंसी में खजूर फ्रूट नहीं खाना चाहिए - Dates fruits should be avoided during pregnancy In Hindi

खजूर (Dates) मैग्निशियम और पोटेशियम से भरपूर होता है। लेकिन प्रेगनेंसी के दूसरे ट्राइमेस्टर के समय खजूर खाने से डायबिटीज (diabetes) होने का खतरा रहता है। इसलिए प्रेगनेंसी में खजूर फ्रूट को नहीं खाना चाहिए। यह आपके शरीर में एकदम से शुगर लेवल को बढ़ा देता है। इसके अलावा खजूर फल के सेवन से आपका वजन भी बढ़ जाता है जो प्रेगनेंसी में खतरनाक होता है।

(और पढ़े – शुगर ,मधुमेह लक्षण, कारण, निदान और बचाव के उपाय…)

गर्भावस्था में न करें तरबूज का सेवन – Side Effects of Consuming Watermelon While Pregnant in Hindi

गर्भावस्था में न करें तरबूज का सेवन - Side Effects of Consuming Watermelon While Pregnant in Hindi

प्रेगनेंसी के समय महिलाओं को तरबूज का सेवन नहीं करना चाहिए। इसमें पाई जाने वाली चीनी की मात्रा गर्भवती महिलाओं में ब्लड शुगर को बढ़ाने का काम करती है इस कारण से गर्भावस्था के दौरान तरबूज के सेवन से बचने की सलाह दी जाती हैं। इसके अलावा तरबूज पेट को पूरी तरह से साफ कर देता है जिसके कारण आवश्यक पोषक तत्वों को भी शरीर से बाहर निकाल देने की संभावना रहती है। हालांकि तरबूज खाने के कई फायदे भी हैं जिनके कारण प्रेगनेंसी में इसे खाने से पूरी तरह से मना नहीं किया जाता है। गर्भवती महिलाएं कभी-कभी कम मात्रा में इसका सेवन कर सकती है।

(यह भी पढ़ें – तरबूज का सेवन गर्भवती महिलाओं के लिए भी है बहुत फायदेमंद, प्रेग्नेंसी की कई समस्याएं होती हैं दूर)

प्रेगनेंसी में महिलाओं को केला नहीं खाना चाहिए – Women should be avoided banana during pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी में महिलाओं को केला नहीं खाना चाहिए - Women should be avoided banana during pregnancy in Hindi

गर्भवती महिलाओं को केले का सेवन करने से भी परहेज करना चाहिए। यदि आपको एलर्जी, डायबिटीज या जेस्‍टेशनल डायबिटीज (Gestational diabetes) की समस्या है, तो आपको प्रेगनेंसी के दौरान केला खाने से बचना चाहिए। केले में चिटिनेस (Chitinase) होता है, यह लैटेक्‍स जैसा तत्‍व है जो एलर्जी पैदा करता है और बॉडी को भी हीट करता है।

(यह भी पढ़ें – रोज सुबह केला और गर्म पानी के सेवन के फायदे जानकर दंग रह जाएगे आप)

गर्भवती महिलाओं को इमली के सेवन से बचना चाहिए – Pregnant women should avoid the consumption of tamarind in Hindi

गर्भवती महिलाओं को इमली के सेवन से बचना चाहिए - Pregnant women should avoid the consumption of tamarind in Hindi

गर्भावस्था के दौरान किसी खट्टी चीज़ को खाने का मन होना स्वाभाविक है।  लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान इमली खाना नुकसानदायक होता है। हालांकि इमली को लंबे समय से मॉर्निंग सिकनेस और मतली की दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन इमली में विटामिन सी की उच्च मात्रा होती है, अगर इसका अधिक मात्रा में सेवन किया जाता है, तो यह आपके शरीर में प्रोजेस्टेरोन (Progesterone) के उत्पादन को रोक सकता है। और गर्भवती महिलाओं के शरीर में प्रोजेस्टेरोन के लो लेवल से गर्भपात, समय से पूर्व जन्म, और भ्रूण में कोशिका क्षति हो सकती है। इसलिए प्रेगनेंसी की पहली तिमाही के दौरान इमली का बहुत अधिक सेवन नहीं करना चाहिए।

(यह भी पढ़ें – इमली के बीज के फायदे और नुकसान)

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration