सेक्स ही नहीं इन वजहों से भी टूट जाती है लड़कियों की वर्जिनिटी (हाइमन) – Not only sex, these reasons also break the virginity of girls in Hindi
सेक्स एजुकेशन

सेक्स ही नहीं इन वजहों से भी टूट जाती है लड़कियों की वर्जिनिटी (हाइमन) – Not only sex, these reasons also break the virginity of girls in Hindi

सेक्स ही नहीं इन वजहों से भी टूट जाती है लड़कियों की वर्जिनिटी (हाइमन) – Not only sex, these reasons also break the virginity of girls in Hindi

भारतीय समाज में लड़कियों की वर्जिनिटी यानी कौमार्यता का बहुत महत्व है। कहा जाता है कि लड़कियों को अपनी शादी तक अपनी वर्जिनिटी को संभालकर रखना चाहिए। जिन लड़कियों की वर्जिनिटी या हाइमन टूट चुकी होती है उन्हें चरित्रहीन माना जाता है और शादी के बाद पति उन पर शक करता है। इससे शादीशुदा जिंदगी बर्बाद होती है। क्योंकि उन्हें यह पता नहीं होता है कि  सेक्स के आलावा भी और बहुत सी चीजों को करने से वर्जिनिटी या हाइमन टूट सकती हैं।

कई राज्यों में वर्जिनिटी ब्रेक होने के कारण शादी के बाद महिलाओं को शारीरिक प्रताड़ना दी जाती है, समाज में उन्हें बदनाम किया जाता है और ऐसी महिलाएं घरेलू हिंसा का भी शिकार होती हैं। आजकल लड़कियां घर से बाहर रहती हैं और मॉडर्न टाइम में वो इन मान्यताओं को तोड़ते हुए अपने बॉयफ्रेंड के साथ शादी से पहले ही सेक्स कर लेती हैं जिसके कारण उनकी वर्जिनिटी खत्म हो जाती है। हालांकि वर्जिनिटी खोने का यही एक कारण नहीं है। इस आर्टिकल में हम आपको बताने जा रहे हैं कि सेक्स ही नहीं इन वजहों से भी टूट जाती है लडकियों की वर्जिनिटी।

हाइमन क्या है? – What is hymen in Hindi

हाइमन क्या है? - What is hymen in Hindi

हाइमन वेजाइना ओपेनिंग के आसपास ऊतकों से घिरी एक मेम्ब्रेन या झिल्ली है। यह बहुत पतली और नाजुक होती है। हालांकि यह पतली झिल्ली तभी तक रहती है जब तक कोई महिला सेक्स नहीं करती या फिर उसके हाइमन पर कोई बाहरी दबाव नहीं पड़ता है। इंटरकोर्स करने और बाहरी प्रेशर से यह झिल्ली टूट जाती है और फिर दोबारा नहीं बनती है।

(और पढ़े – योनी कि झिल्ली और वर्जिनिटी की जानकारी…)

लड़कियों की वर्जिनिटी या हाइमन टूटने का कारण – Causes of Girl’s virginity break in Hindi

लड़कियों की वर्जिनिटी या हाइमन टूटने का कारण - Causes of Girl’s virginity break in Hindi

यह पूरी तरह से मिथक है कि लड़कियों की वर्जिनिटी सिर्फ संभोग करने से ही टूटती है। इसके अलावा भी ऐसे कई कारण हैं जिससे हाइमन की झिल्ली टूटती है। आइये जानते हैं।

स्पोर्ट्स खेलने से टूट जाती है लड़कियों की वर्जिनिटी

सिर्फ सेक्स करने से ही नहीं बल्कि खेलने से भी लड़कियों का हाइमन टूट जाता है। लड़कियां क्रिकेट, हॉकी, बैडमिंटन, कबड्डी सहित कई ऐसे खेल खेलती हैं जिनमें उन्हें तेज भागने, दौड़ने, कूदने और उछलने की जरूरत पड़ती है। इस दौरान न सिर्फ बॉडी पर प्रेशर बढ़ता है बल्कि योनि के ऊपरी हिस्से में मौजूद हाइमन पर भी उतना ही दबाव पड़ता है।

किसी स्पोर्ट्स के दौरान लड़कियों का हाइमन कब टूट जाता है, कई बार उन्हें पता ही नहीं चल पाता है। आमतौर पर प्रोफेशनल एथलीट्स और प्लेयर के साथ ऐसा अधिकतर होता है, जबकि कभी कभी कोई खेल खेलने से हाइमन टूटने की संभावना कम रहती है।

(और पढ़े – योनि (वैजाइना) से जुडे़ ये फैक्ट जान कर रह जाएंगी आप हैरान…)

पेड़ पर चढ़ने से टूट सकती है लड़कियों की हाइमन

लड़कियों की वर्जिनिटी या हाइमन टूटने का एक कारण है पेड़ पर चढ़ना। आमतौर पर गांव की लड़कियों की वर्जिनिटी भंग होने का यह एक मुख्य कारण है। ग्रामीण परिवेश में लड़कियां पेड़ों पर चढ़कर फल और दातून तोड़ती हैं जबकि कुछ लड़कियां लंबाई बढ़ाने के लिए पेड़ों से लटकती हैं। इस दौरान ना सिर्फ बॉडी पर बल्कि वेजाइना की फ्लेक्सिबल मेम्ब्रेन पर भी एक्स्ट्रा प्रेशर पड़ता है जिसके कारण वर्जिनिटी ब्रेक हो जाती है। हालांकि यह तुरंत नहीं पता चल पाता और जब कुछ घंटों बाद योनि से खूनी गाढ़ा पदार्थ निकलता है तब कारण समझ में आता है।

साइकिल चलाने से लड़कियों की वर्जिनिटी टूटती है

साइकिल चलाने से लड़कियों की वर्जिनिटी टूटती है

लड़कियों की वर्जिनिटी या हाइमन टूटने का मुख्य कारण सिर्फ सेक्स करना ही नहीं है। ज्यादातर लड़कियां जो साइकिल चलाती हैं, उनकी भी वर्जिनिटी शारीरिक संबंध बनाने से पहले ही टूट जाती है। वास्तव में साइकिल चलाते समय दोनों जांघों के बीच में स्थित वेजाइना पर सबसे ज्यादा प्रेशर पड़ता है। इस दौरान लड़की को अपनी योनि में झटके और दर्द का भी अनुभव होता है। साइकिल चलाकर लंबी दूरी तय कर स्कूल और कॉलेज जाने वाली लड़कियों की वर्जिनिटी इसी कारण ब्रेक होती है। ऐसी लड़कियों की संख्या भी बहुत ज्यादा है।

(और पढ़े – बिना दर्द के अपनी वर्जिनिटी कैसे खोये…)

भारी सामान उठाने से भी टूटती है वर्जिनिटी या हाइमन

भारी सामान उठाने से भी टूटती है वर्जिनिटी या हाइमन

  • रोजमर्रा के जीवन में घरेलू कामकाज के दौरान भारी सामान उठाने से लड़कियों की वर्जिनिटी भंग हो जाती है।
  • घर में कई ऐसे काम होते हैं जिन्हें रोजाना करना पड़ता है जैसे झुककर या बैठकर फर्श पर पोछा लगाना, तेजी से सीढ़ियां उतरना या चढ़ना, कोई भारी सामान उठाकर छत पर ले जाना या घर में भारी फर्नीचर को इधर से उधर करना।
  • ये सभी काम ऐसे हैं जो योनि के लचीले हाइमन पर प्रेशर डालते हैं। इससे शरीर में भी थकान आती है और हाइमन की झिल्ली टूट जाती है।

हाई या लो ब्लड प्रेशर के कारण ब्रेक होती है वर्जिनिटी

हाई या लो ब्लड प्रेशर के कारण ब्रेक होती है वर्जिनिटी

लड़कियों की वर्जिनिटी खत्म होने का एक कारण ब्लड प्रेशर भी है। कम उम्र में लड़कियों को हाई ब्लड प्रेशर और लो ब्लड प्रेशर की समस्या हो रही है। जिसके कारण उनका मासिक धर्म अनियमित हो जाता है और मूड स्विंग होने की समस्या शुरू हो जाती है।

रक्तचाप घटने और बढ़ने से ना सिर्फ शरीर पर बल्कि हाइमन पर भी इसका असर पड़ता है जिसके कारण हाइमन की परत टूट जाती है और ब्लीडिंग होने लगती है। हालांकि यह ब्लीडिंग बहुत हल्की होती है और लड़कियां कन्फ्यूज होकर इसे पीरियड समझ बैठती हैं।

स्ट्रेस और तनाव से टूटती है वर्जिनिटी या हाइमन

स्ट्रेस और तनाव से टूटती है वर्जिनिटी या हाइमन

आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन यह सच है की अधिक स्ट्रेस और डिप्रेशन के कारण वर्जिनिटी या हाइमन ब्रेक हो जाती है। वास्तव में लड़कियां कम उम्र में ही पढ़ाई और अच्छी जॉब का प्रेशर लेना शुरू कर देती हैं।

इसके अलावा रिलेशनशिप और अफेयर सक्सेस ना होने के कारण भी कई लड़कियां डिप्रेशन में चली जाती है। इससे मस्तिष्क में कार्टिसोल का लेवल बढ़ जाता है और शरीर में तनाव उत्पन्न होता है जिसके कारण वर्जिनिटी भी ब्रेक हो जाती है।

(और पढ़े – डिप्रेशन और उदासी दूर करने के उपाय…)

डासिंग होता है लड़कियों की वर्जिनिटी ब्रेक होने का कारण

डासिंग होता है लड़कियों की वर्जिनिटी ब्रेक होने का कारण

हाइमन या वर्जिनिटी डांस करने से भी टूटती है। भारत जैसे देश में डांसिंग की कई विधाएं हैं और हर प्रकार के डांस में अलग-अलग तरह के स्टेप्स होते हैं।

डांस करने से पूरे शरीर पर दबाव पड़ता है और बॉडी के हर एक पार्ट्स में मूवमेंट होता है। यही कारण है कि डांस को एक बेस्ट एक्सरसाइज माना जाता है। सिर्फ शरीर ही नहीं बल्कि वेजाइना ओपनिंग को कवर की हुई हाइमन की झिल्ली पर भी उतना ही प्रेशर पड़ता है। यह झिल्ली इतनी लचीली और पतली होती है कि तुरंत टूट जाती है।

घुड़सवारी करने से टूट जाती है हाइमन की झिल्ली

घुड़सवारी करने से टूट जाती है हाइमन की झिल्ली

ध्घुयान रहे ड़सवारी करना वर्जिनिटी या हाइमन टूटने का एक अन्य कारण है। घुड़सवारी बहुत आसान नहीं होती है और महिलाओं का शरीर इसके लिए बहुत नाजुक होता है। घुड़सवारी में अधिक एनर्जी और नियंत्रण की क्षमता की जरुरत पड़ती है।

घुड़सवारी के दौरान शरीर में सिर्फ हलचल ही नहीं होती है बल्कि पूरा शरीर उछलता है। इसके अलावा घुड़सवारी के लिए भी बैठने की पोजीशन वैसी हो होती है जैसे साइकिल पर बैठने की होती है। इससे दोनों जांघों के बीच में वेजाइना पर एक्स्ट्रा प्रेशर पड़ता है। हाइमन की झिल्ली इतनी कमजोर होती है कि वह प्रेशर पड़ते ही टूट जाती है।

(और पढ़े – बातें जो वर्जिन सेक्स वर्जिनिटी या कौमार्य खोने से पहले आपको जानना है जरुरी…)

जिम करने से भी टूटती है लड़कियों की वर्जिनिटी (हाइमन)

जिम करने से भी टूटती है लड़कियों की वर्जिनिटी (हाइमन)

जिम जाने वाली लड़कियों की भी वर्जिनिटी या हाइमन टूटना बहुत सामान्य है। जिम में भारी से भारी उपकरण होते हैं जिन्हें उठाकर वर्कआउट करने से बॉडी जितनी अधिक स्ट्रेच होती है उतना ही पसीना निकलता है और कैलोरी बर्न होती है।

आपके जिम का उपकरण उठाने से सिर्फ बॉडी ही नहीं बल्कि वेजाइना भी स्ट्रेच होती है और हाइमन पर प्रेशर पड़ता है। इसके कारण हाइमन की पतली परत टूट जाती है और खून निकलने लगता है। हालांकि खून इतना ज्यादा नहीं होता है और उतनी ही मात्रा में निकलता है जैसे कोई घाव लगने पर खून निकलता है। लेकिन यह खून हाइमन टूटने का संकेत होता है।

(और पढ़े – जिम के पहले दिन करें इन नियमों का पालन…)

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

आपको ये भी जानना चाहिये –

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration