हाइमन सर्जरी (हाइमनोप्लास्टी) क्या है, कैसे की जाती है, प्रकार, फायदे और नुकसान
सेक्स एजुकेशन

हाइमन सर्जरी (हाइमनोप्लास्टी) क्या है, कैसे की जाती है, प्रकार, फायदे और नुकसान – Hymen Reconstruction Surgery (Hymenoplasty) In Hindi

हाइमन सर्जरी (हाइमनोप्लास्टी) क्या है, कैसे की जाती है, प्रकार, फायदे और नुकसान - Hymen reconstruction surgery (Hymenoplasty) in hindi

Hymen surgery (Hymenoplasty) in hindi वर्जिनिटी वापस पाने के उपाय में हाइमनोप्लास्टी सर्जरी काफी लोकपीर्य होती जा रही है कौमार्य और वर्जिनिटी वापस पाने के लिए लड़कियां और महिलाएं इस सर्जरी का सहारा लेती हैं जिससे वो अपनी ‘वर्जिनिटी’ या कुंवारापन दोबारा हासिल कर सकती हैं माना जाता है महिलाओं को शादी के बाद ही किसी पुरुष के साथ यौन संबंध बनाना चाहिए। इसका कारण यह होता है कि यौन संबंध बनाने के बाद योनि में पायी जाने वाली एक झिल्ली जिसे हाइमन कहा जाता है टूट जाती है जिससे महिलाओं की वर्जिनिटी भी खत्म हो जाती है। (हाइमन झिल्ली अन्य कारणों से भी टूट सकती है)।

जब कोई महिला पहली बार सेक्स करती है तब हाइमन झिल्ली टूटने पर उसे ब्लीडिंग होती है (जरुरी नहीं पहली बार सेक्स करने पर हर बार ब्लीडिंग हो) और इसी के आधार पर अंदाजा लगाया जाता है कि महिला अब तक वर्जिन थी। लेकिन शादी के बाद जब पति के साथ यौन संबंध बनाने पर ब्लीडिंग नहीं होती है तब पति महिला के चरित्र पर शक करने लगता है। यही कारण है कि हाइमेन सर्जरी अपना कौमार्य खो चुकी महिलाओं के बीच ज्यादा लोकप्रिय हो रही है।

विषय सूची

1. हाइमन सर्जरी क्या है – hymen surgery kya hai in Hindi
2. हाइमन सर्जरी के प्रकार और हाइमनोप्लास्टी का तरीका – Hymenoplasty Surgery Procedure in Hindi

3. हाइमन सर्जरी ठीक होने में कितना समय लगता है – Hymen reconstruction surgery Recovery Time in Hindi
4. महिलाएं हाइमनोप्लास्टी क्यों कराती हैं – Causes of Hymenoplasty in Hindi
5. कौन महिलाएं हाइमनोप्लास्टी नहीं करा सकती हैं – Who is not eligible for Hymenoplasty in Hindi
6. हाइमन सर्जरी या वर्जिन ऑपरेशन कराने के नुकसान  – hymenoplasty surgery side effects in hindi
7. ह्य्मेनोप्लास्टी या योनिच्छद पुनर्निर्माण सर्जरी कराने के फायदे – Benefits of hymen reconstruction surgery in Hindi
8. हाइमेन सर्जरी कराने में कितना खर्च आता है – hymenoplasty surgery cost in india in hindi

हाइमन सर्जरी क्या है – Hymen surgery kya hai in Hindi

हाइमन सर्जरी क्या है - hymen surgery kya hai in Hindi

स्त्रियों की योनि के बाहरी भाग में एक पतली सी झिल्ली होती है जिसे हाइमन कहते हैं। यह स्त्री के जननांगों का हिस्सा होती है लेकिन शारीरिक संबंध बनाने में इसकी कोई भूमिका नहीं होती है। यह महज ऊतकों से बनी एक झिल्ली होती है जो यौन संबंध बनाने के दौरान टूट जाती है और स्त्री अपनी कौमार्यता खो बैठती है। झिल्ली टूटने के बाद लंबे समय तक सेक्स करने पर महिलाओं की योनि ढीली पड़ जाती है और सेक्स का आनंद कम हो जाता है। इसलिए योनि में कसाव बनाये रखने के लिए हाइमन की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। जब महिला अपनी योनि में हाइमन को फिर से प्राप्त करने के लिए चिकित्सा पद्धति का सहारा लेती है तो इस प्रक्रिया को हाइमनोप्लास्टी सर्जरी (Hymenoplasty Surgery) कहा जाता है।

हाइमनोप्लास्टी (Hymenoplasty), हाइमेन पुनर्निर्माण सर्जरी के लिए एक चिकित्सा शब्द है, यह लोचदार और रेशेदार ऊतक से बनी पतली योनी झिल्ली के पुनर्निर्माण करने की प्रक्रिया है जिसे हाइमन के नाम से जाना जाता है। हाइमेनोप्लास्टी का उद्देश्य हाइमेन का पुनर्निर्माण करना है, जो अक्सर चोट या व्यापक व्यायाम के कारण टूट जाटी है। कुछ देशों में, सामाजिक और सांस्कृतिक कारणों से यह सर्जरी अवैध है।

(और पढ़े – योनी कि झिल्ली और वर्जिनिटी की जानकारी…)

हाइमन सर्जरी के प्रकार और हाइमनोप्लास्टी का तरीका – Hymenoplasty Surgery Procedure in Hindi

हाइमन सर्जरी के प्रकार और हाइमनोप्लास्टी का तरीका - Hymenoplasty Surgery Procedure in Hindi

hymenoplasty surgery kaise ki jati hai हाइमनोप्लास्टी सर्जरी कराने के लिए सबसे पहले महिला को डॉक्टर से मिलकर हाइमेन सर्जरी के बारे में परामर्श लेना पड़ता है। जांच के बाद डॉक्टर महिला को यह बताते हैं कि उसकी हाइमन सर्जरी हो सकती है या नहीं। आमतौर पर हाइमेन सर्जरी प्लास्टिक सर्जन करते हैं। यह सर्जरी तीन तरीके से की जाती है।

हाइमन सर्जरी की बेसिक तकनीक – Hymenoplasty Surgery basic technique in Hindi

इस तकनीक के माध्यम से हाइमन सर्जरी करने के लिए सबसे पहले यह देखा जाता है कि योनि के अंदर कितना हाइमन बचा है। यदि थोड़ा सा भी हाइमन बचा होता है तो उसे दोबारा से सिल दिया जाता है। इस दौरान महिला को लोकल या सामान्य एनिस्थिशिया दिया जाता है ताकि हाइमन की सिलाई (stitched) के दौरान उसे दर्द न हो। इसके बाद सर्जन हाइमेन झिल्ली के टूटे हुए हिस्से को पकड़कर एक धागे से सिलाई करते हैं। इस सिलाई में जिस धागे का इस्तेमाल किया जाता है वह ऊतकों में अपने आप ही घुल जाता है और इसे अलग से निकालने की जरूरत नहीं पड़ती है। मूल तकनीक के जरिए हाइमन सर्जरी कराने में 30 से 40 मिनट का समय लगता है।

(और पढ़े – योनि के बारे में सम्पूर्ण जानकारी…)

वर्जिन ऑपरेशन की एलोप्लांट तकनीक – Alloplant technique for Hymen repair in Hindi

इस तकनीक का प्रयोग तब किया जाता है जब हाइमेन झिल्ली को दोबारा से सिलने में कठिनाई होती है या दोबारा सिलना संभव न हो। तब सर्जन योनि में एक बायो मैटेरियल प्रवेश करात हैं जो हाइमेन के रूप में काम करता है। इस प्रकिया में कुल दो घंटे या इससे अधिक का समय लगता है और मरीज को लोकल एनेस्थिशिया देकर हाइमेन सर्जरी की जाती है।

वर्जिन सर्जरी हाइमेन पुनर्निमाण – Hymen surgery for Hymen reconstruction in Hindi

इस प्रक्रिया में सर्जन योनि के किनारे से ऊतकों को निकालकर नया हाइमेन बनाते हैं और उसके बाद योनि के अंदर इन ऊतकों का प्रयोग करके योनि में कसाव पैदा करते हैं। हालांकि यह सर्जरी कराने के बाद महिला को कम से कम तीन से चार महीनों तक सेक्स करने से परहेज करना चाहिए।

(और पढ़े – योनि को टाइट करने के असरदार घरेलू उपाय और तरीके…)

हाइमन सर्जरी ठीक होने में कितना समय लगता है – Hymen reconstruction surgery Recovery Time in Hindi

यह इस बात पर निर्भर करता है कि महिला ने किस तरीके की हाइमनोप्लास्टी सर्जरी करायी है। आमतौर पर हाइमेन सर्जरी कराने के 48 से 72 घंटे के भीतर ही महिला सामान्य अवस्था में लौट सकती है लेकिन इस दौरान उसे हल्की ब्लीडिंग का भी सामना करना पड़ता है। हाइमनोप्लास्टी सर्जरी कराने के बाद पूरी तरह से ठीक होने में लगभग छह हफ्तों का समय लगता है और ठीक होने के बाद जननांगों में सर्जरी का कोई निशान नहीं दिखायी देता है।

महिलाएं हाइमनोप्लास्टी क्यों कराती हैं – Causes of Hymenoplasty in Hindi

महिलाएं हाइमनोप्लास्टी क्यों कराती हैं - Causes of Hymenoplasty in Hindi

समाज में महिलाओं के चरित्र को उनकी वर्जिनिटी के आधार पर निर्धारित किया जाता है। यदि कोई अविवाहित महिला अपनी वर्जिनिटी खो चुकी हो तो उसे चरित्रहीन माना जाता है। हाइमेन सर्जरी या हाइमनोप्लास्टी कराने के कई कारण होते हैं। आइये जानते हैं महिलाएं क्यों कराती हैं हाइमन सर्जरी।

(और पढ़े – पहली बार सेक्स करने के बाद लड़कियों में दिखते हैं ये बदलाव…)

यौन हिंसा का शिकार होने पर

यदि कोई महिला लंबे समय तक यौन हिंसा का शिकार रही हो जिसके कारण उसकी हाइमेन झिल्ली टूट गई हो तो वह अपनी योनि को पहले की अवस्था में लौटाने के लिए हाइमन सर्जरी कराती है। यह मनोवैज्ञानिक रूप से महिला को यौन हिंसा की दुर्घटना से उबरने में मदद करता है।

बचपन में की गई गलती के कारण

यौवनावस्था में कदम रखते ही लड़कियों के शरीर में कई हार्मोनल बदलाव होते हैं जिसके कारण उस दौरान उनका सेक्स करने का खूब मन होता है। यदि उस उम्र में ही उनकी हाइमन झिल्ली टूट गई हो तो इस बात के डर से कि शादी के बात कहीं उनका पति शक न करे, इस वजह से वे हाइमेन पुनर्निर्माण सर्जरी कराती हैं।

सामाजिक कलंकों से बचने और कौमार्य वापस पाने के लिए

शादी के बाद ज्यादातर घरों में महिला की वर्जिनिटी की जांच करने के लिए कहा जाता है। इस आधार पर ही उसे पवित्र या संस्कारी बहू का दर्जा दिया जाता है। इस सामाजिक कलंक से बचने के लिए महिलाएं वर्जिन ऑपरेशन कराती हैं।

दुर्घटना के कारण हाइमन झिल्ली टूट या क्षतिग्रस्त हो जाने पर

कुछ महिलाओं में साइकिल चलाने या उससे गिर जाने, घुड़सवारी के दौरान जमीन पर गिर जाने, बर्फ पर फिसलने और टैम्पोन के इस्तेमाल के कारण भी हाइमेन झिल्ली टूट या क्षतिग्रस्त हो जाती है। इस स्थिति में वे इलाज के रूप में हाइमन झिल्ली की सिलाई करवाती हैं। ताकि वह अपनी हाइमन सर्जरी के द्वारा अपनी वर्जिनिटी वापस पा सकें।

(और पढ़े – फर्स्ट टाइम सेक्स टिप्स महिला और पुरुष दोनों के लिए…)

कौन महिलाएं हाइमनोप्लास्टी नहीं करा सकती हैं – Who is not eligible for Hymenoplasty in Hindi

आमतौर पर हाइमन सर्जरी या हाइमनोप्लास्टी 18 साल की उम्र के बाद किया जाता है लेकिन यदि कोई महिला जननांगों के कैंसर या गंभीर यौन रोगों से ग्रसित हो तो वह हाइमनोप्लास्टी सर्जरी नहीं करा सकती है।

हाइमन सर्जरी या वर्जिन ऑपरेशन कराने के नुकसान  – Hymenoplasty surgery side effects in Hindi

हाइमन सर्जरी या वर्जिन ऑपरेशन कराने के नुकसान  - hymenoplasty surgery side effects in hindi

  • चूंकि योनि महिलाओं के शरीर का सबसे अधिक संवेदनशील और नाजुक हिस्सा है इसलिए इस हिस्से की सर्जरी कराने पर उन्हें कुछ संभावित नुकसान उठाने पड़ते हैं।
  • हाइमनोप्लास्टी सर्जरी कराने के बाद महिला की योनि में दर्द, चोट या सूजन हो सकती है।
  • इस दौरान महिला की योनि से अधिक ब्लीडिंग भी हो सकती है।
  • हाइमन के रंग में परिवर्तन हो सकता है।
  • योनि के आसपास के ऊतकों में सुन्नता का अनुभव हो सकता है।
  • हाइमनोप्लास्टी के बाद महिला की योनि में संक्रमण और खुजली हो सकती है और कुछ मामलों में उसे यौन रोग भी हो सकता है।
  • कुछ विशेष स्थितियों में हाइमनोप्लास्टी के बाद महिला को भविष्य में यौन संबंध बनाने में परेशानी भी हो सकती है।

(और पढ़े – वैजिनाइटिस (योनिशोथ या योनि में सूजन) के कारण लक्षण और बचाव…)

ह्य्मेनोप्लास्टी या योनिच्छद पुनर्निर्माण सर्जरी कराने के फायदे – Benefits of hymen reconstruction surgery in Hindi

ह्य्मेनोप्लास्टी या योनिच्छद पुनर्निर्माण सर्जरी कराने के फायदे - Benefits of hymen reconstruction surgery in Hindi

  • योनि के हाइमन को टाइट करने में हाइमनोप्लास्टी सर्जरी बहुत फायदेमंद होती है।
  • इंटरकोर्स के दौरान हाइमन झिल्ली टूट जाती है जिससे महिलाओं को सेक्स के दौरान दर्द होता है। हाइमनोप्लास्टी सर्जरी से हाइमेन को दोबारा से रिस्टोर करने करने के बाद सेक्स का आनंद बढ़ जाता है।
  • हाइमनोप्लास्टी सर्जरी कराने से महिलाओं को चरम सुख (orgasm) की प्राप्ति होती है।
  • हाइमनोप्लास्टी एक ऐसी सर्जरी है जिसे महिला अकेले ही जाकर करा सकती है। इसलिए इसका सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि आपके निजी जीवन की बातें किसी दूसरे व्यक्ति को नहीं पता चलती हैं।
  • यदि आप सामाजिक मान्यताओं, रूढियों और संस्कारों में विश्वास करती हैं लेकिन आप अपनी कौमार्यता खो चुकी हैं तो इस स्थिति में हाइमेनोप्लाटी सर्जरी कराने से आप बदनामी से बच सकती हैं।

(और पढ़े – सेक्स के बाद योनि में दर्द के कारण और बचने के उपाय…)

हाइमेन सर्जरी कराने में कितना खर्च आता है – Hymenoplasty surgery cost in india in Hindi

हाइमेन सर्जरी कराने में कितना खर्च आता है - Hymenoplasty surgery cost in india in Hindi

भारत में सार्वजनिक अस्पतालों (public hospitals) में हाइमनोप्लास्टी कराने मे लगभग चौदह हजार से पंद्रह हजार रूपये तक का खर्च आता है जबकि प्राइवेट हॉस्पिटल में यह सर्जरी कराने में पचास हजार से साठ हजार तक का खर्च आता है। बड़े और लोकप्रिय हॉस्पिटलों का खर्च इससे भी अधिक हो सकता है।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration