प्रेग्नेंट होने की सही उम्र क्या है 20, 30 या 40 – Best Age To Get Pregnant 20 30 or 40 In Hindi

प्रेग्नेंट होने की सही उम्र क्या है 20, 30 या 40 - Best Age To Get Pregnant 20 30 or 40 In Hindi
Written by Deepti

Pregnant hone ki sahi umar kya hai in hindi शादी के बाद, हर महिला के मन में सवाल होता है, कि “गर्भवती होने की सही उम्र क्या है”। देखा जाए, तो अब तक महिलाएं 22 की उम्र में शादी और 24 की उम्र तक बच्चा पैदा कर लेती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं है। कपल्स अपना करियर और आर्थिक रूप से सेटल होने के बाद ही परिवार बढ़ाने की प्लानिंग करते हैं। डॉक्टर्स की मानें, तो परिवार शुरू करने के लिए भले ही इंतजार किया जा सकता हो, लेकिन गर्भवती होने के लिए ये इंतजार थोड़ा कठिन होता है। क्योंकि उम्र के साथ प्रजनन क्षमता भी तेजी से कमी आती है और उम्र बढ़ने पर प्रेग्नेंट होने से गर्भावस्था की जटिलताओं का खतरा बढ़ सकता है।

लाइफ में व्यस्त रहने से महिलाओं को गर्भधारण करने के बारे में सोचने तक का समय नहीं मिल पाता। लेकिन इसके साथ, ये जानना बेहद जरूरी है कि गर्भधारण करने की आखिर सही उम्र क्या है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको 20 से लेकर 50 वर्ष तक गर्भधारण करने के फायदे और नुकसान के बारे में बताने जा रहे हैं। इसे पढ़कर आप जरूर समझ पाएंगीं, कि आपके लिए गर्भवती होने की सही उम्र आखिर क्या होनी चाहिए।

  1. क्या 20-25 वर्ष प्रेग्नेंट होने की सही उम्र है – Kya 20-25 Pregnant Hone Ki Sahi Umar Hai In Hindi
  2. क्या 26-30 की उम्र में मां बनना सही है – Kya 26-30 Maa Banne Ki Sahi Umar Hai In Hindi
  3. क्या 31-35 वर्ष की उम्र में गर्भधारण करना चाहिए? – Kya 31-35 Ki Age Me Garbhdharan Karna Chahiye In Hindi
  4. क्या 36 -40 की उम्र में गर्भधारण हो सकता है? – Kya 36-40 Ki Umar Me Pregnant Ho Sakte Hain In Hindi
  5. क्या 41-45 वर्ष गर्भवती होने का सही समय है? – Pregnant after 41-45 In Hindi
  6. 41 वर्ष में गर्भधारण कैसे करें – How to get pregnant after 40 fast in Hindi
  7. क्या 46 की उम्र के बाद बच्चा हो सकता है – Kya 46 ki age me bachha ho sakta hai in hindi
  8. 20, 30 या 40 क्या है बच्चे पैदा करने की सही उम्र? – Which is the right age to get pregnant 20 30 or 40 in Hindi

क्या 20-25 वर्ष प्रेग्नेंट होने की सही उम्र है – Kya 20-25 Pregnant Hone Ki Sahi Umar Hai In Hindi

क्या 20-25 वर्ष प्रेग्नेंट होने की सही उम्र है - Kya 20-25 Pregnant Hone Ki Sahi Umar Hai In Hindi

20 साल प्रेग्नेंट होने की आदर्श उम्र मानी जाती है, जो 25 तक रहती है। डॉक्टर्स के अनुसार 20 से 25 तक की उम्र महिलाओं के प्रेग्नेंट होने की बेहतरीन उम्र होती है। इस दौरान ऋतुस्त्राव भी रैगुलर होता है, जिसमें जन्म देने के लिए जरूरी अंडे हर महीने बनते हैं। यह वह उम्र होती है, जब आपको गर्भधारण करने के कई मौके मिलते हैं। भले ही यह उम्र कम लगती हो, लेकिन इसमें प्रेगनेंसी का रिस्क बहुत कम होता है।

20-25 की उम्र में गर्भवती होने के फायदे

20 की उम्र में गर्भवती होने के कई फायदे होते हैं। इस उम्र में न केवल महिलाएं मानसिक रूप से स्वस्थ होती हैं, वहीं अंडे भी तेजी से बनते हैं, जिससे स्वस्थ बच्चा होने की संभावना ज्यादा रहती है।

20 की उम्र में मां बनने के फायदे: 20 की उम्र में पाचन तंत्र बहुत मजबूत होता है। इसलिए आप इस दौरान तरह-तरह के स्वादिष्ट और स्वस्थ भोजन खा सकती हैं। अगर आप अपने डॉक्टर की बताई गई डाइट फॉलो करेंगी, तो प्रेग्नेंसी में कभी बीमार नहीं पड़ेंगी और स्वस्थ रहेंगी।

नीचे जानिए 20 से 25 की उम्र में मां बनने के अन्य फायदे।

  • 20 से 25 साल तक की उम्र मां बनने के लिए बहुत अच्छी रहती है। इस दौरान अगर एक मौका छूट भी जाए, तो आपको कई मौके मिलते हैं। अगर आप सेक्स के दौरान कंडोम यूज नहीं करती हैं, तो आपके गर्भवती होने की संभावना बहुत ज्यादा रहती है।
  • इस उम्र में मां बनने पर आपके पास बच्चे पैदा करने के लिए काफी समय होता है।
  • 20- 25 साल की उम्र में आपका वजन कम होता है, ऐसे में प्रेग्रेंसी के दौरान और प्रेग्नेंसी के बाद आप आसानी से वजन को कंट्रोल कर सकती हैं।
  • 20 से 25 साल की उम्र में मां बनने के लिए गर्भपात की संभावना बहुत कम होती है।
  • इस उम्र में मां बनने पर हाइपरटेंशन, जेस्टेशनल डायबिटीज का खतरा कम रहता है।
  • 20 की उम्र में मां बनने पर आपकी अपने बच्चे के साथ बॉन्डिंग बहुत अच्छी हो जाती है।

20-25 वर्ष में मां बनने के नुकसान

20 से ज्यादा की उम्र में मां बनने के कई नुकसान भी हैं, जिनके बारे में हम आपको नीचे बता रहे हैं।

  • 20 साल की उम्र में महिलाएं प्रेग्नेंट होने के लिए शारीरिक और मानसिक रूप से तैयार नहीं रहती हैं।
  • डिलीवरी के दौरान ज्यादा चोट लगने की संभावना होती है।
  • 20-25 वर्ष में में कई महिलाएं या तो पढ़ रही होती हैं या नौकरी कर रही होती हैं। ऐसे में प्रेग्नेंसी उनके करियर में बाधा बन सकती है।

(और पढ़े – गर्भधारण कैसे होता है व गर्भधारण की प्रक्रिया क्या होती है…)

क्या 26-30 की उम्र में मां बनना सही है – Kya 26-30 Maa Banne Ki Sahi Umar Hai In Hindi

क्या 26-30 की उम्र में मां बनना सही है - Kya 26-30 Maa Banne Ki Sahi Umar Hai In Hindi

वैसे तो मां बनने की आदर्श उम्र 20 से 25 साल मानी जाती है, लेकिन करियर बनाने के कारण महिलाएं बच्चा देर में करती हैं। वैसे इस उम्र में भी मां बनने की क्षमता अच्छी होती है। लगातार कोशिश करने पर, दो से तीन महीने में ना सही, लेकिन एक साल के भीतर आप गर्भधारण जरूर कर लेंगी।

26-30 की उम्र में मां बनने के फायदे

इस उम्र में महिलाओं में मैच्योरिटी आ जाती है और वह बच्चे पैदा करने के लिए पूरी तरह से मेंटली प्रिपेयर हो जाती हैं। इस उम्र में भी मां बनने के अपने फायदे हैं, जिसके बारे में आप नीचे जान सकते हैं।

  • 26-30 साल की उम्र बच्चा पैदा करने के लिए अच्छी होती है। इस उम्र में एक महिला स्वस्थ बच्चे को जन्म दे सकती है।
  • इस उम्र में अंडाशय उच्च गुणवत्ता के अंडे बनाना जारी रखते हैं, जिससे प्रेग्नेंट होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • इस उम्र में गर्भावस्था से जुड़ी कई जटिलताओं से बचा जा सकता है।

26-30 की उम्र में गर्भवती होने के नुकसान

  • 26-30 की उम्र में कई बार लड़कियों का वजन बढ़ने से गर्भधारण करने में परेशानी आती है।
  • अगर आप एक से ज्यादा बच्चे पैदा करना चाहती हैं, तो इस उम्र में एक से डेढ़ साल के अंदर दूसरा बच्चा पैदा करने का दबाव बढ़ जाता है।
  • ये समय किसी भी कामकाजी महिला के करियर का पीक टाइम होता है, जहां उसकी तरक्की के रास्ते भी खुलते हैं, ऐसे में प्रेग्नेंट होना उसके प्रोफेशनल करियर को आगे बढ़ाने में बाधा डाल सकता है।
  • 26-30 की उम्र में अगर आपको कोई बीमारी या समस्या है, तो नॉर्मल डिलीवरी की संभावना बहुत कम हो जाती है।

(और पढ़े – गर्भवती होने (गर्भधारण करने) के लिए सही सही समय…)

क्या 31-35 वर्ष की उम्र में गर्भधारण करना चाहिए? – Kya 31-35 Ki Age Me Garbhdharan Karna Chahiye In Hindi

क्या 31-35 वर्ष की उम्र में गर्भधारण करना चाहिए? - Kya 31-35 Ki Age Me Garbhdharan Karna Chahiye In Hindi

20 साल की उम्र के मुकाबले 31 साल की उम्र में मां बनने की संभावना थोड़ी कम हो जाती है साथ ही खतरा भी बढ़ जाता है। डॉक्टर्स के अनुसार इस उम्र में ओव्यूलेशन में अनियमितता आ जाती है, जो गर्भधारण करने में बाधा पैदा करती है। शरीर में स्वस्थ अंडे पैदा नहीं हो पाते, जिसकी वजह से गर्भधारण करने की संभावना कम रह जाती है। इस उम्र में गर्भधारण करना चुनौतीपूर्ण होता है, लेकिन अगर आपने एक बार प्रेग्नेंट होना तय कर लिया है, तो कठिन रास्ता भी बहुत ही सब्र से तय करना पड़ सकता है। क्योंकि इस उम्र में गर्भवती होने पर खान-पान से लेकर व्यायाम और अपनी आदतों में सुधार करना पड़ता है। 35 मां बनने की कटऑफ उम्र है। इसके बाद प्रेग्नेंट होने में आपको कई पापड़ बेलने पड़ सकते हैं।

31-35 की उम्र में गर्भधारण करने के फायदे

31 की उम्र में प्रेग्नेंट होने के अपने फायदे हैं। इस उम्र में आप पूरी तरह से प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ में सेटल हो चुकी होती हैं। नीचे जानते हैं 31 वर्ष में मां बनने के अन्य फायदों के बारे में।

  • 31-35 वर्ष में प्रेग्नेंसी के कारण कुछ समय के लिए नौकरी से ब्रेक लेना सही होता है। क्योंकि इसके बाद आप एक अच्छी नौकरी पर अच्छी इनकम के साथ जा सकती हैं।
  • 31 के बाद महिलाओं का शरीर काफी मजबूत और लचीला होता है। ये दोनों ही चीजें महिलाओं को मां बनने के बाद बच्चे संभालने के बड़े काम आती हैं।
  • इस उम्र में बिना किसी प्रजनन उपचार के जुड़वा बच्चे हो सकते हैं। यह सब हार्मोन के कारण होता है। दरअसल, उम्र के साथ आपके पीरियड्स के दौरान रिलीज होने वाले फॉलिकल स्टिमुलेटिंग हार्मोन का भी स्तर बढ़ जाता है, इससे एक से ज्यादा शिशु को जन्म देने की संभावना बढ़ जाती है।

31-35 की उम्र में गर्भवती होने के नुकसान

वैसे तो 30 की उम्र के बाद भी ज्यादातर मामलों में मां बनने की अधिक संभावना रहती है। लेकिन दुर्भाग्य से सफल गर्भधारण करने की संभावना कम होती है। क्योंकि 30 की उम्र के बाद आपके डिंब की गुणवत्ता कम होने लगती है। नीचे जानते हैं 30 के बाद गर्भधारण करने के अन्य नुकसानों के बारे में।

  • 31 की उम्र में भले ही आप गर्भवती हो जाएं, लेकिन गर्भपात होने का खतरा भी लगातार बढ़ता जाता है। इसलिए इस दौरान बेहद सावधानी बरतने की जरूरत होती है।
  • अगर आप 31-35 की उम्र के बीच गर्भवती होती हैं, तो जटिलताएं बहुत बढ़ जाती हैं। जैसे प्री-मैच्योर बेबी का जन्म, कम वजन वाले शिशु का जन्म आदि।
  • 35 साल की उम्र में डाउन सिंड्रोम के साथ अन्य विपरीत स्थितियां पैदा होने की आशंका ज्यादा रहती है। इस दौरान महिलाओं को स्क्रीन टेस्ट कराने के लिए कहा जाता है।
  • 31-35 की उम्र में प्रेग्नेंट होने पर सिजेरियन ऑपरेशन होने की दर 40 फीसदी होती है। जबकि 20 की उम्र में यह केवल 14 प्रतिशत ही होती है।

(और पढ़े – 30 के बाद गर्भधारण करने के फायदे और नुकसान…)

क्या 36 -40 की उम्र में गर्भधारण हो सकता है? – Kya 36-40 Ki Umar Me Pregnant Ho Sakte Hain In Hindi

क्या 36 -40 की उम्र में गर्भधारण हो सकता है? - Kya 36-40 Ki Umar Me Pregnant Ho Sakte Hain In Hindi

35 के बाद यानि 36-40 के बीच गर्भधारण करने की क्षमता बहुत कम होने लगती है। लेकिन ये ऐसा वक्त होता है, जब आप अच्छी कोशिश के बाद मां बन सकती हैं। बस एक स्वस्थ बच्चा पैदा करने के लिए आपको कुछ स्मार्ट कदम उठाने की जरूरत होती है। हालांकि, अगर कई कोशिशों के बाद भी छह महीने तक आप गर्भवती न हों, तो डॉक्टर से संपर्क जरूर करना चाहिए।

36-40 की उम्र में गर्भधारण करने के फायदे-

अगर आप 35 के बाद मां बनने की योजना बना रही हैं, तो यह आपके लिए थोड़ा मुश्किल, लेकिन मैच्योर कदम हो सकता है। नीचे जानते हैं 36 -40 वर्ष में गर्भवती होने के क्या फायदे होते हैं।

  • इस उम्र में आप पूरी तरह से सेटल और वैल एस्टाब्लिशड हो गई होती हैं, इसलिए आर्थिक रूप से कोई परेशानी नहीं होती।
  • इस उम्र में प्रारंभिक और प्रसव पूर्व देखभाल एक सुरक्षित गर्भावस्था और स्वस्थ बच्चा होने की संभावना को बढ़ा सकती है।
  • ये ऐसा समय होता है जब आपने काफी काम कर लिया है, इसलिए इस उम्र में बच्चा पैदा करने के बाद आप आसानी से जॉब से ब्रेक ले सकती हैं।

36-40 वर्ष में मां बनने के नुकसान

  • इस उम्र में प्रेग्नेंट होने से पहले भी महिलाओं को अपने खान-पान और व्यायाम करने पर फोकस करना पड़ता है।
  • प्रेग्नेंसी के शुरूआती 8 हफ्ते बहुत महत्वपूर्ण, लेकिन बहुत रिस्की भी होते हैं। ऐसे में भी इस उम्र में पूरी प्रेग्ग्रेंसी अपनी देखभाल करने की बहुत जरूरत होती है।
  • इस उम्र में प्रेग्नेंसी आपके मधुमेह, प्रीक्लेम्पसिया के जोखिम को बढ़ा सकती है। प्रीक्लेम्पसिया एक ऐसी स्थिति है, जो मूत्र में प्रोटीन के साथ उच्च रक्तचाप का कारण बनती है।
  • गर्भावस्था के पहले तीन महीनों के दौरान हर दिन पर्याप्त मात्रा में यानि 400 माइक्रोग्राम फॉलिक एसिड लेना चाहिए। इससे शिशु के मास्तिष्क और रीढ़ की हड्डी से जुड़े दोष खत्म होंगे।
  • इस उम्र में अगर आप धुम्रपान या शराब पीती हैं, तो यह आपके बच्चे के लिए खतरा हो सकता है। शराब पीने और धुम्रपान करने से बच्चे को कई तरह के मानसिक और शारीरिक दोष हो सकते हैं। कम धुम्रपान करने से अधिक उम्र में भी मां बनने की संभावना बढ़ जाती है।

(और पढ़े – प्रेग्नेंट होने के लिए क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए…)

क्या 41-45 वर्ष गर्भवती होने का सही समय है? – Pregnant after 41-45 In Hindi

क्या 41-45 वर्ष गर्भवती होने का सही समय है? - Pregnant after 41-45 In Hindi

41 की उम्र के बाद गर्भवती होने की संभावना बहुत कम हो जाती है। क्योंकि इस उम्र में महिलाओं के अंडे की आपूर्ति लगातार कम होती जाती है। हालांकि समसामयिक रूप से गर्भपात का खतरा इस उम्र के साथ बढ़ जाता है। 37 की उम्र तक आते-आते अच्छी गुणवत्ता वाले अंडे लगभग खत्म हो गए होते हैं। डॉक्टर्स कहते हैं कि 41 की उम्र के बाद गर्भवती होना मुश्किल है, लेकिन असंभव नहीं है। इस उम्र में स्वस्थ शुक्राणु के साथ व्यवहार्य अंडे का निषेचन होता है। हालांकि महिलाओं की उम्र के हिसाब से उनके शरीर में अंडे की आपूर्ति कम हो जाती है। जिसके परिणामस्वरूप 41 के बाद  महिला के प्रजनन तंत्र में गिरावट आती है। लेकिन एक सफल गर्भावस्था की संभावनाओं के लिए डोनर अंडे या निषेचन उपचार का उपयोग किया जाने लगा है।

41-45 में प्रेग्नेंट होने के फायदे

40 की उम्र के बाद प्रेग्नेंट होने के कई फायदे हैं। इस समय तक महिलाएं अपनी प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ में सेटल और आर्थिक रूप से भी मजबूत होती हैं। साथ ही वे अपने बच्चे के लिए सही फैसले लेने के लिए पूरी तरह से सक्षम भी हो जाती हैं। ऐसे और भी कई फायदे हैं, जिनके बारे में हम आपको नीचे बता रहे हैं।

  • इस उम्र में महिलाएं कठिन फैसले लेने में सक्षम हो जाती हैं। क्योंकि इस उम्र तक आपको जीवन का बहुत अनुभव हो जाता है।
  • 41 की उम्र के बाद प्रेग्रेंट होने का मतलब है कि आप आर्थिक रूप से स्थिर है और आप अपने बच्चे की सभी जरूरतों को पूरा करने में सक्षम हैं।

41-45 की उम्र में गर्भवती होने के नुकसान

41 वर्ष की आयु में महिलाओं को दीर्घकालिक और अल्पकालिक नुकसानों से गुजरना पड़ता है। अल्पकालिक में महिलाएं शारीरिक मुद्दों से, तो दीर्घकालिक में उन्हें सामाजिक मुद्दों का सामना करना पड़ेगा। नीचे जानते हैं, इस उम्र में गर्भवती होने के नुकसान के बारे में।

  • 41 की उम्र में गर्भधारण करने से आपको हाईपरटेंशन की समस्या हो सकती है। इससे आपका बच्चा मानसिक विकारों के साथ जन्म ले सकता है।
  • अधिक उम्र या 41 वर्ष के बाद गर्भवती होने में डायबिटीज, ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों के होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • इस उम्र में मां बनने का नुकसान यह है कि आपके बच्चे के हाईस्कूल तक आते-आते आप दादी की उम्र की हो जाएंगी। सामाजिक तौर पर देखा जाए, तो आपको बहुत अजीब महसूस होगा। यह केवल आपको ही नहीं बल्कि आपके बच्चे को उसके दोस्तों के सामने अजीब महसूस कराएगा।
  • बड़ी उम्र की मां होने के दीर्घकालिक नुकसान भी होते हैं। अपनी उम्र को देखते हुए आपको अपने बच्चे को हर चीज में जल्दी तैयार करना होगा, क्योंकि आपकी मृत्यु का जोखिम भी आपकी उम्र के साथ बढ़ता जाएगा।
  • जो महिलाएं 40 की उम्र के बाद मां बनती हैं, वे अपने नवजात के साथ वक्त बिताने में इतनी सक्षम नहीं होती। इस उम्र तक आते-आते कई बीमारी जैसे घुटनों की समस्या, शरीर में दर्द आदि आपको घेर लेंगी। ऐसे में कई चीजें सहन करने की ऊर्जा और शक्ति कम हो जाती है।

(और पढ़े – गर्भवती होने के लिए पूरा गाइड…)

41 वर्ष में गर्भधारण कैसे करें – How to get pregnant after 40 fast in Hindi

41 वर्ष में गर्भधारण कैसे करें - How to get pregnant after 40 fast in Hindi

अगर आपकी उम्र 41 वर्ष या इससे ज्यादा है और आप पिछले छह महीने से गर्भवती होने की कोशिश कर रही हैं, तो डॉक्टर से संपर्क करें। वह टेस्ट करेंगे कि ऐसे कौन से कारक हैं, जो गर्भवती होने की आपकी क्षमता को प्रभावित कर रहे हैं। इसमें आपके गर्भाशय और अंडाशय को देखने के लिए अल्ट्रासाउंड भी कराया जा सकता है। नीचे हम आपको 40 की उम्र में गर्भधारण करने के तरीके बता रहे हैं।

फर्टिलिटी ड्रग्स- फर्टिलिटी ड्रग्स यानि प्रजनन दवा उन हार्मोन्स को बढ़ावा देने में आपकी मदद करेंगे, जो आपका ओव्यूलेशन करेगा।

एसिस्टड रिप्रोडक्टिव टेक्नोलॉजी(ART) यह अंडे को हटाने और गर्भाशय में डालने से पहले लैब में इसे फर्टिलाइज किया जाता है। यह तकनीक सेरोगेट्स के लिए भी काम करती है। एआरटी के सबसे सामान्य प्रकारों में आईवीएफ (IVF) है।

अंर्तगर्भाशयी गर्भाधान(AI) इसे आर्टिफिशियल इंसेमिनेशन भी कहा जाता है। यह प्रक्रिया गर्भाशय में शुक्राणु को इंजेक्ट करके काम करती है।

(और पढ़े – सेरोगेसी की प्रक्रिया के बारे में जानकारी…)

क्या 46 की उम्र के बाद बच्चा हो सकता है – Kya 46 ki age me bachha ho sakta hai in hindi

क्या 46 की उम्र के बाद बच्चा हो सकता है - Kya 46 ki age me bachha ho sakta hai in hindi

बेशक नहीं। इस उम्र में मां बनने की संभावना लगभग न के बराबर रह जाती है। क्योंकि इस उम्र में महिलाओं में मीनोपॉज आ जाता है और उनका मासिक धर्म बंद हो जाता है। ऐसे में आईवीएफ जैसी तकनीक से भी कोई खास फायदा नहीं होता। 46-50 वर्ष की आयु में गर्भधारण करने के फायदे नहीं बल्कि नुकसान ज्यादा हैं। जानते हैं इस उम्र में बच्चा पैदा करने के साइड इफैक्ट्स के बारे में ।

  • इस उम्र तक आते-आते महिलाओं में पीरियड्स बंद हो जाते हैं, जिससे अंडे बनना बंद हो जाते हैं। ऐसे में गर्भवती होने के लिए महिलाओं को दूसरी महिलाओं के अंडों की मदद लेनी पड़ती है।
  • 46-50 वर्ष की आयु में अगर गर्भवती हो भी गईं, तो गर्भपात के चांसेस डबल हो जाते हैं।
  • इस उम्र में नन्हीं जान की देखभल करना और उसे पालना बहुत चुनौतीभरा होता है। क्योंकि इस उम्र में आपके शरीर में भी पहले जैसी ऊर्जा और ताकत नहीं रहती।
  • 46 के बाद गर्भवती होने पर आपको शुगर, डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, हाइपरटेंशन जैसी समस्या से गुजरना पड़ सकता है।
  • इस उम्र में बच्चा पैदा करने पर अनुवांशिक बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है, जिससे मृत बच्चे को जन्म देने का खतरा भी बढ़ता है।

(और पढ़े – रजोनिवृत्ति के कारण, लक्षण और दूर करने के उपाय…)

20, 30 या 40 क्या है बच्चे पैदा करने की सही उम्र? – Which is the right age to get pregnant 20 30 or 40 in Hindi

20, 30 या 40 क्या है बच्चे पैदा करने की सही उम्र? - Which is the right age to get pregnant 20 30 or 40 in Hindi

डॉक्टर्स कहते हैं, कि किसी भी महिला की मां बनने की उम्र वह होती है, जब वह से शारीरिक, मानसिक और सामाजिक तौर पर बच्चे की जिम्मेदारी उठाने के लायक हो जाए। इसलिए हर महिला के लिए मां बनने की उम्र अलग-अलग हो सकती है। लेकिन फिर भी अगर गर्भवती होने की सही उम्र की बात करें, तो यह 20-24 वर्ष होती है। वहीं, कई रिसर्च में मां बनने की एकदम सही उम्र 20 से 30 वर्ष के बीच बताई गई है। इस उम्र में अंडाशय में उच्च गुणवत्ता वाले अंडे बनते हैं, जिससे प्रेग्नेंट होने की संभावना दोगुनी हो जाती है। वहीं आप आर्थिक और सामाजिक तौर पर बच्चे की जिम्मेदारी संभालने के भी काबिल हो जाते हैं।

(और पढ़े – 30 के बाद गर्भावस्था के लिए तैयारी करने के लिए टिप्स…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration