सिजेरियन डिलीवरी के फायदे और नुकसान – Cesarean Delivery Benefits And Side Effects In Hindi

सिजेरियन डिलीवरी के फायदे और नुकसान - Cesarean Delivery Benefits And Side Effects In Hindi
Written by Akansha

Cesarean Delivery Ke Fayde Aur Nuksan सिजेरियन डिलीवरी के बहुत से फायदे और नुकसान होते है। सी सेक्शन डिलीवरी में बच्चा माँ के पेट से प्राकृतिक तरीके से नहीं सर्जरी द्वारा पैदा किया जाता है। पर क्या आप जानती है सिजेरियन डिलीवरी करवाने में भले ही दर्द नहीं सहना पड़ता हो पर सी सेक्शन डिलीवरी के बाद बच्चे और माँ पर इसके बहुत सारे नुकसान दिखाई देने लगते है। यह तकनीक उन गर्भवती महिलाओं के लिए सही है जिन्हें किसी स्वास्थ्य समस्या की वजह से योनी प्रसव करने में परेशानी हो रही हो या योनी प्रसव की वजह से उनके बच्चे की जान को खतरा हो। परन्तु आजकल कई महिलाएं शौकिया तौर पर सिजेरियन डिलीवरी करवाती है ताकि उन्हें दर्द ना झेलना पड़े पर वह महिलाएं यह नहीं जानती की आगे चलकर सिजेरियन डिलीवरी के कितना सारे नुकसान और जोखिम है।

इसलिए आज इस लेख में हम आपको सिजेरियन डिलीवरी से माँ और बच्चे को होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में बतायेंगे।

1. सिजेरियन डिलीवरी के फायदे – Cesarean Delivery Benefits In Hindi
2. सिजेरियन डिलीवरी से होने वाले नुकसान – C Section Delivery Side Effects In Hindi
3. सिजेरियन डिलीवरी से माँ को होने वाले नुकसान – Cesarean Delivery Se Ma Ko Hone Wale Nuksan In Hindi

4. सी सेक्शन डिलीवरी से बच्चे को होने वाले नुकसान – Cesarean Delivery Side Effects For Baby In Hindi

सिजेरियन डिलीवरी के फायदे – Cesarean Delivery Benefits In Hindi

सी सेक्शन डिलीवरी या सिजेरियन डिलीवरी के कुछ मामलों में फायदे भी है, क्योकि कभी कभी गर्भवती महिला और उसके होने वाले बच्चे के साथ कोई स्वास्थ्य समस्या उत्पन्न हो जाये तो सी सेक्शन से डिलीवरी करना ही उचित विकल्प होता है। तो आईये जाने की कुछ जटिल मामलों में सिजेरियन डिलीवरी के क्या फायदे है, सी सेक्शन के फायदों में शामिल है-

  • सिजेरियन डिलीवरी में पेरिनेम टियरिंग (Perineum Tearing) का कोई डर नहीं होता है। वेजाइना टियर वेजाइना डिलीवरी के दौरान पेरिनियम (वेजाइना और रेक्टम के बीच के हिस्‍से) के कट को संदर्भित करता है।
  • सामान्य प्रसव की तुलना में सी-सेक्शन डिलीवरी के बाद शुरुआत के कुछ दिनों में रक्तस्राव कम होता है।
  • सिजेरियन डिलीवरी में अचानक खांसने, हंसने या छींकने के साथ कोई मूत्र रिसाव नहीं होता है।
  • सी सेक्शन डिलीवरी करवाने से यौन समस्याएं कम होती है, क्योंकि पेरिनेम और योनि में कोई कट और टांके नहीं लगते हैं।
  • सिजेरियन डिलीवरी में पेल्विस फ्लोर को नुकसान पहुँचने की संभावना भी कम होती है।
  • शिशु को सिजेरियन डिलीवरी के दौरान किसी भी तरह के आघात या चोट का सामना नहीं करना पड़ता है, परन्तु योनि प्रसव के समय फोरसेप्स (Forceps) का इस्तेमाल किया जाता है, जिससे बच्चे को चोट लगने का डर रहता है।

(और पढ़ें – सिजेरियन डिलीवरी के कारण, लक्षण, प्रक्रिया और रिकवरी)

सिजेरियन डिलीवरी से होने वाले नुकसान – C Section Delivery Side Effects In Hindi

अक्सर यह देखा जाता है की सिजेरियन डिलीवरी के जितने फायदे नहीं होते है, उससे ज्यादा सी सेक्शन के नुकसान होते है। ऐसे बहुत सारे नुकसान है जो सिजेरियन डिलीवरी के बाद माँ और बच्चे दोनों के लिए खतरनाक हो सकते है, जिनमें शामिल है-

सिजेरियन डिलीवरी से माँ को होने वाले नुकसान – Cesarean Delivery Se Ma Ko Hone Wale Nuksan In Hindi

  1. सिजेरियन डिलीवरी के नुकसान दर्द – Pain Cesarean Delivery Side Effects In Hindi
  2. सी सेक्शन डिलीवरी साइड इफेक्ट्स रक्तस्राव होना – Bleeding Cesarean Delivery Side Effects In Hindi
  3. ऑपरेशन सर्जरी के बाद संक्रमण की संभावना – Infections After Surgery Cesarean Delivery Side Effects In Hindi
  4. सिजेरियन ऑपरेशन के नुकसान खून के थक्के जमना – Blood Clots Cesarean Delivery Side Effects In Hindi
  5. एनेस्थीसिया से सिजेरियन डिलीवरी के नुकसान – Anesthesia Cesarean Delivery Side Effects In Hindi
  6. सिजेरियन डिलीवरी के नुकसान दूसरी बार की गर्भावस्था में – Subsequent Pregnancies Cesarean Delivery Side Effects In Hindi
  7. सिजेरियन प्रसव के नुकसान में मृत्यु-दर – Mortality Cesarean Delivery Side Effects In Hindi

सिजेरियन डिलीवरी के नुकसान दर्द – Pain Cesarean Delivery Side Effects In Hindi

सी-सेक्शन से बच्चे को जन्म देने वाली माताओं को दर्द निवारक दवाओं की बहुत आवश्यकता होती है और जो महिलायें बच्चे को योनि के माध्यम से जन्म देती हैं, उन महिलाओं की तुलना में ऑपरेशन डिलीवरी करवाई हुई महिलाओं को ठीक होने में अधिक समय लगता है। सी-सेक्शन डिलीवरी के बाद महिलाओं में घाव (जहां टांके लगे होते हैं) और पेट में तकलीफ की शिकायत होना आम बात है। ऐसी महिलाओं को पेट सम्बन्धी परेशानी कभी-कभी एक महीने से अधिक समय तक रहती है।

(और पढ़ें – प्रसव (डिलीवरी) के बाद टांके और उनकी देखभाल)

सी सेक्शन डिलीवरी साइड इफेक्ट्स रक्तस्राव होना – Bleeding Cesarean Delivery Side Effects In Hindi

सी-सेक्शन सर्जरी के दौरान, सामान्य से अधिक रक्तस्राव होने पर मां को बहुत अधिक रक्त की कमी होने की संभावना हो सकती है। यदि सिजेरियन डिलीवरी के समय महिला को भारी रक्तस्राव होता है, तो रक्त आधान (Blood Transfusion) की भी आवश्यकता पड़  सकती है।

(और पढ़ें – सिजेरियन डिलीवरी के टांकों में संक्रमण)

ऑपरेशन सर्जरी के बाद संक्रमण की संभावना – Infections After Surgery Cesarean Delivery Side Effects In Hindi

सिजेरियन डिलीवरी के लिए जाने से पहले, संक्रमण की संभावना को कम करने के लिए माँ को एंटीबायोटिक्स (Antibiotics) दिया जाता है। हालांकि, महिला को संक्रमण होने का खतरा तब भी रह सकता है और यह संक्रमण होना सी-सेक्शन डिलीवरी का एक बहुत ही सामान्य दुष्प्रभाव है। महिला के घाव में से पस निकल सकता है और घाव लाल पड़ सकता  है, और साथ ही घाव में बहुत ज्यादा दर्द भी महसूस होता है। यह समस्या उन महिलाओं को  अधिक होती है जिनका वजन अधिक होता हैं या जो महिला डायबिटिक होती हैं।

एंडोमेट्रैटिस (Endometritis) गर्भाशय की लाइनिंग में होने वाला एक तरह का संक्रमण है, जिसकी वजह से महिला को भारी और अनियमित रक्तस्राव होता है या इसमें से बदबूदार डिस्चार्ज निकलता है, और कभी-कभी बच्चे को जन्म देने के बाद बुखार भी आ सकता है। सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं में कैथेटर के कारण होने वाले मूत्र संक्रमण के होने की भी संभावना हो सकती है। इस तरह के संक्रमण के लक्षण होते है, पेट के निचले हिस्से या कमर में दर्द, या ऊंचे तापमान में जाने से या ज्यादा ठंड बढ़ने पर दर्द हो सकता है।

(और पढ़ें – जानबूझकर सिजेरियन डिलीवरी कराने से पहले इन 3 बातों को जान लें)

सिजेरियन ऑपरेशन के नुकसान खून के थक्के जमना – Blood Clots Cesarean Delivery Side Effects In Hindi

सिजेरियन डिलीवरी में अक्सर रक्त के थक्के (Blood Clot) जमने का जोखिम होता है। अगर थक्का फेफड़ों में जमा है तो यह बहुत घातक भी हो सकता है। यदि आपको पिंडली की मांसपेशियों में दर्द और सूजन महसूस हो या सांस लेने में तकलीफ हो रही हो और बहुत ज्यादा खांसी आ रही हो तो आपको तत्काल चिकित्सा सहायता लेने की आवश्यकता पड़ सकती है। रक्त के थक्के जमने के जोखिम को कम करने के लिए डॉक्टर आपको घूमने और रक्त पतला करने वाली दवाईयां लेने के लिए कह सकता है।

(और पढ़ें – सिजेरियन डिलीवरी के टांकों में संक्रमण के लक्षण, कारण और इलाज)

एनेस्थीसिया से सिजेरियन डिलीवरी के नुकसान – Anesthesia Cesarean Delivery Side Effects In Hindi

सी सेक्शन डिलीवरी के समय इस्तेमाल किये जाने वाले एनेस्थीसिया से गर्भवती महिला को सिर दर्द होने की समस्या पैदा हो सकती है। परन्तु कुछ मामलों में इसके कुछ अन्य जोखिम भी देखने को मिले है जैसे अस्थायी तंत्रिका क्षति (Temporary Nerve Damage)।

सिजेरियन डिलीवरी के नुकसान दूसरी बार की गर्भावस्था में – Subsequent Pregnancies Cesarean Delivery Side Effects In Hindi

यदि आप एक बार सी-सेक्शन होने के बाद फिर से गर्भवती हैं, तो आपको एक और सी-सेक्शन डिलीवरी होने का जोखिम अधिक हो सकता है। ज्यादातर मामलों में यह पाया गया है की अगर किसी महिला की पहली डिलीवरी सिजेरियन सर्जरी से होती है, तो दूसरी प्रेगनेंसी में भी डिलीवरी सी-सेक्शन से ही होगी।

(और पढ़ें – सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए और क्या नहीं)

सिजेरियन प्रसव के नुकसान में मृत्यु-दर – Mortality Cesarean Delivery Side Effects In Hindi

सी-सेक्शन से डिलीवरी होने के मामले में डिलीवरी के बाद मां की मृत्यु होने की संभावना और मृत्यु दर अधिक होती है।

सी सेक्शन डिलीवरी से बच्चे को होने वाले नुकसान – Cesarean Delivery Side Effects For Baby In Hindi

जिस तरह सी सेक्शन डिलीवरी के बाद माँ के लिए कई तरह के जोखिम उत्पन्न हो जाते है उसी प्रकार सिजेरियन डिलीवरी के बाद बच्चे को भी कई तरह के नुकसान होते है जो उसके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकते है, इनमे शामिल है-

  1. सिजेरियन प्रसव के बाद बच्चे को नुकसान सांस लेने में तकलीफ -Breathing Problems Cesarean Delivery Side Effects For Baby In Hindi
  2. सिजेरियन प्रसव के बाद बच्चे को नुकसान चोट लगने का डर – Injury Cesarean Delivery Side Effects For Baby In Hindi
  3. सिजेरियन बेबी की देखभाल – Neonatal Care Cesarean Delivery Side Effects For Baby In Hindi
  4. सिजेरियन ऑपरेशन के बाद बच्चे को नुकसान दमा – Asthma Cesarean Delivery Side Effects For Baby In Hindi
  5. सिजेरियन डिलीवरी के बाद बच्चे को नुकसान शिशु मृत्यु दर – Stillbirth Cesarean Delivery Side Effects For Baby In Hindi

सिजेरियन प्रसव के बाद बच्चे को नुकसान सांस लेने में तकलीफ -Breathing Problems Cesarean Delivery Side Effects For Baby In Hindi

सी सेक्शन के माध्यम से जन्म लेने वाले बच्चों में अक्सर सांस की तकलीफ होने की समस्या को देखा गया है। जरुरी नहीं है की यह समस्या बच्चो को हमेशा रहे परन्तु ऐसा होने पर बच्चे को उचित देखभाल और चिकित्सा की जरुरत होती है। सांस लेने में तकलीफ होने की ज़्यादातर मामलें उन बच्चो में पाए गए है जो समय से पहले जन्म लेते है या सिजेरियन डिलीवरी के द्वारा जन्म लेते है।

(और पढ़ें – समय से पहले प्रसव (प्रीमैच्योर डिलीवरी))

सिजेरियन प्रसव के बाद बच्चे को नुकसान चोट लगने का डर – Injury Cesarean Delivery Side Effects For Baby In Hindi

सिजेरियन डिलीवरी के कुछ दुर्लभ मामलों में, बच्चे को डॉक्टर की छुरी (Scalpel) से चोट लगने की संभावना हो सकती है, हालांकि यह चोट आमतौर पर जल्दी ठीक भी हो जाती  है।

सिजेरियन बेबी की देखभाल – Neonatal Care Cesarean Delivery Side Effects For Baby In Hindi

योनि से जन्म लेने वाले शिशुओं की तुलना में सी-सेक्शन के माध्यम से जन्म लेने वाले शिशुओं को नवजात शिशु देखभाल (Neonatal Care) में रहने की अधिक आवश्यकता होती है।

सिजेरियन ऑपरेशन के बाद बच्चे को नुकसान दमा – Asthma Cesarean Delivery Side Effects For Baby In Hindi

सी-सेक्शन डिलीवरी से जन्मे शिशुओं में अस्थमा होने के जोखिम की अधिक संभावना होती है।

सिजेरियन डिलीवरी के बाद बच्चे को नुकसान शिशु मृत्यु दर – Stillbirth Cesarean Delivery Side Effects For Baby In Hindi

सिजेरियन डिलीवरी के माध्यम से पैदा होने वाले शिशुओं में स्टिलबर्थ या शिशु मृत्यु दर का जोखिम अधिक पाया जाता है।

नोट-सिजेरियन डिलीवरी में माँ और बच्चे के लिए कई तरह के फायदे है तो उससे ज्यादा नुकसान भी है इसलिए अगर आपके साथ कोई स्वास्थ्य समस्या नहीं है या आपके होने वाले बच्चे को भी किसी तरह के जोखिम का खतरा नहीं है तो हमेशा अपने और अपने बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य और भविष्य के लिए योनी प्रसव (Normal Delivery) का विकल्प ही चुनें।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration