समयपूर्व स्खलन या प्रीमैच्योर इजैकुलेशन से निपटने का सबसे बेहतर उपाय है स्क्वीज टेक्नीक, जानें कैसे करें अभ्यास

समयपूर्व स्खलन या प्रीमैच्योर इजैकुलेशन से निपटने का सबसे बेहतर उपाय है स्क्वीज टेक्नीक, जानें कैसे करें अभ्यास - squeeze technique for premature ejaculation in Hindi
Written by Daivansh

प्रीमैच्योर इजैकुलेशन या शीघ्रपतन से निपटने में स्क्वीज टेक्नीक बहुत ही प्रभावी होती है। सेक्स या हस्तमैथुन करते वक्त जल्दी स्खलन हो जाने को समयपूर्व स्खलन या प्रीमैच्योर इजैकुलेशन यानी शीघ्रपतन कहा जाता है। जाने  के लिए निचोड़ तकनीक का उपयोग कैसे करें। प्रीमैच्योर इजैकुलेशन आज युवाओं की एक गंभीर समस्या हैं जिससे अधिकांश अधिक लोग इससे परेशान है। ज्यादातर लोग अपनी सेक्स टाइमिंग से संतुष्ट नहीं हैं और वह लंबे समय तक सेक्स करने के तरीके खोजते हैं। अपने यौन साथी को संतुष्ट न करना आपके लिए शर्मनाक हो सकता है। शारीरिक संबंध बनाते समय शीघ्रपतन की भावना आपके मन में तनाव को उत्पन्न कर सकती है। प्रीमैच्योर इजैकुलेशन से निपटने का सबसे बेहतर उपाय स्क्वीज टेक्नीक है। स्क्वीज टेक्नीक एक प्रकार की एक्सरसाइज है जो कि आपको लंबे समय तक सेक्स करने में मदद कर सकती है।

आपके सेक्स जीवन के लिए शीघ्रपतन से बुरा कुछ भी नहीं हो सकता है। यह कुछ ऐसा है जो प्रत्येक व्यक्ति को प्रभावित करता है और असुरक्षा और अनुभव की कमी के कारण युवा पुरुषों में अधिक आम है। हालाँकि, यह एक ऐसी स्थिति नहीं है जिससे मुकाबला नहीं किया जा सकता है। प्रीमैच्योर इजैकुलेशन या शीघ्रपतन (पीई) से लड़ने की सबसे लोकप्रिय तकनीकों में से एक है स्क्वीज़ तकनीक जिसे विलियम एच मास्टर्स और वर्जीनिया ई जॉनसन इजात किया गया था।

आइये जानते है प्रीमैच्योर इजैकुलेशन से निपटने और लम्बे समय तक सेक्स करने के लिए स्क्वीज टेक्नीक को कैसे किया जाता हैं।

  1. स्क्वीज टेक्नीक क्या है – What is the Squeeze Technique in Hindi
  2. स्क्वीज टेक्नीक करने का तरीका – Steps to do Squeeze Technique in Hindi
  3. स्खलन नियंत्रण के लिए स्क्वीज टेक्नीक का उपयोग करना – Using the squeeze method for ejaculatory control in Hindi
  4. स्क्वीज टेक्नीक के फायदे – Benefits Of The Squeeze Technique in Hindi
  5. लंबे समय तक सेक्स करने के लिए टिप्स – Tips for Long-Term Sex in Hindi
  6. स्क्वीज टेक्नीक के नुकसान – Disadvantage of Squeeze Technique in Hindi
  7. स्क्वीज टेक्नीक के लिए सावधानी – Precautions to do Squeeze Technique in Hindi

स्क्वीज टेक्नीक क्या है – What is the Squeeze Technique in Hindi

स्क्वीज टेक्नीक क्या है - What is the Squeeze Technique in Hindi

स्क्वीज टेक्नीक या स्क्वीज़ मेथड एक प्रकार की एक्सरसाइज है जो कि आपकी प्रीमैच्योर इजैकुलेशन की समस्या को दूर करने में मदद करती है। स्क्वीज तकनीक अनेक तरीकों में से एक है जिससे आप अपने कामोन्माद (orgasm) में देरी कर सकते हैं और अपने साथी के सेक्स को लम्बा खींच सकते हैं। इस मेथड को सेक्स के दौरान किया जाता है। इसे स्खलन से ठीक पहले, शिश्न के शाफ्ट को अंगूठे और तर्जनी के बीच मजबूती से स्क्वीज (दवाया) किया जाता है। आइये स्क्वीज टेक्नीक को करने के तरीके को विस्तार से जानते है।

निचोड़ तकनीक स्खलन नियंत्रण का एक रूप है। यह आपको चरमोत्कर्ष के पास जाने की अनुमति देता है और फिर इसमें तब तक लिंग की नोक को पकड़कर दवाया जाता है जब तक कि संवेदना कम नहीं हो जाती।

आप निचोड़ तकनीक को कई बार दोहरा सकते हैं, या आप इसे एक बार कर सकते हैं।

ध्यान रखें कि अपने स्वयं के संभोग में देरी करने से आपके साथी के लिए संतुष्टि में देरी या कमी हो सकती है। आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आपके और आपका साथी शुरू होने से पहले एक ही उत्तेजना पर हों।

निचोड़ तकनीक इस प्रकार है:

1) इस तकनीक को काम करने का सही समय वह है जब आपको अपरिहार्यता के दृष्टिकोण के बारे में महसूस होता है (यानी वह बिंदु जिसके आगे आप स्खलन को नियंत्रित नहीं कर सकते हैं)

2) इस समय, स्तंभन लिंग को पकड़ें, और आपकी तर्जनी और अंगूठे की मदद से लिंग के उस बिंदु को निचोड़ें जहाँ त्वचा लिंग के सिर (फ्रेनुलम) से मिलती है।

3) लगभग 10-15 सेकंड तक मजबूत पकड़ बनाए रखें। हालांकि ध्यान रखें कि पकड़ मजबूत होनी चाहिए और बहुत दर्दनाक नहीं।

4) यह विधि प्रभावी है क्योंकि यह लिंग में रक्त के प्रवाह को कम कर देता है और अस्थायी रूप से यौन आनंद को कम कर देता है, ताकि मन स्खलन प्रतिक्रिया को रीसेट कर सके।

(और पढ़े – शीघ्रपतन कारण,उपचार और शीघ्रपतन रोकने के घरेलु उपाय…)

स्क्वीज टेक्नीक करने का तरीका – Steps to do Squeeze Technique in Hindi

स्क्वीज टेक्नीक करने का तरीका - Steps to do Squeeze Technique in Hindi

प्रीमैच्योर इजैकुलेशन या शीघ्रपतन से निपटने के लिए आप स्क्वीज टेक्नीक को निम्न स्टेप्स में करें-

  • स्क्वीज टेक्नीक को करने के लिए आप पहले अपने लिंग को पूरी तरह से खड़ा करें। ऐसा करने के लिए आप अपने साथी की मदद ले सकते हैं।
  • सामान्य लिंग उत्तेजना के साथ यौन गतिविधि शुरू करें।
  • जब आप इस बिंदु पर पहुंच जाते हैं कि आपको विश्वास है कि आप चरमोत्कर्ष के लिए तैयार हैं, तो सभी झटके या रगड़ को रोक दें।
  • इसके बाद, अपने या अपने साथी के अंगूठे को फ्रेनुलम (frenulum) पर रखें। फ्रेनुलम त्वचा की स्ट्रिंग-जैसी पट्टी है जो लिंग के सिर को स्किन के अग्रभाग से जोड़ती है।
  • इसके बाद अपने पॉइंटर और बीच की उंगली को लिंग के पीछे की तरफ रखें, जहाँ पर आपका अंगूठा आपके विपरीत होता है।
  • सुनिश्चित करें कि पॉइंटर और मध्य उंगली कोरोनल रिज (ridge) के दोनों किनारों पर हैं। यह लिंग के सिरे के साथ एक छोटा सा रिज है जो ऊपर से कुछ सेंटीमीटर की दूरी पर होता है।
  • उंगलियों को रिज के दोनों ओर एक दूसरे के करीब रखें।
  • अब अपने लिंग को लगभग चार सेकंड के लिए स्क्वीज करते हुए दोनों उंगलियों और अंगूठे से निचोड़ें।
  • ऐसा करने के बाद 15-30 सेकंड प्रतीक्षा करें, और फिर लिंग को फिर से उत्तेजित करना शुरू करें।
  • आप इस स्क्वीज टेक्नीक को लगभग 4 या 5 बार दोहरा सकते हैं, यह आपको स्खलन नियंत्रण मदद कर सकती हैं।

(और पढ़े – शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए अपनाएं यह इलाज और उपचार…)

स्खलन नियंत्रण के लिए स्क्वीज टेक्नीक का उपयोग करना – Using the squeeze method for ejaculatory control in Hindi

स्खलन नियंत्रण के लिए स्क्वीज टेक्नीक का उपयोग करना - Using the squeeze method for ejaculatory control in Hindi

उपरोक्त चरणों में अपने जाना कि स्क्वीज टेक्नीक करने का तरीका क्या होता है। आइये अब स्खलन नियंत्रण के लिए स्क्वीज टेक्नीक के उपयोग को जानते है। सबसे पहले यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि आप कब स्क्वीज टेक्नीक का प्रयोग कर रहें है।

  • आप तब तक सेक्स या हस्तमैथुन करें जब तक आप एक स्खलन करने के लिए लगभग तैयार न हों।
  • इसके बाद ऊपर दी गई स्क्वीज टेक्नीक का प्रयोग करके फिर से सेक्स को प्रारंभ करें।
  • जब आपका स्खलन होने वाला हो तब आप थोड़ी देर के लिए लिंग को दबाकर रुकें और फिर से दोबारा सेक्स करना प्रारंभ कर दें।
  • यदि दोबारा सेक्स करने पर आपको लगता है कि तुरंत ही स्खलन हो जायेंगा तो आप पर्याप्त समय के लिए नहीं रुके है।
  • सही समय तक रुकने के लिए आपको कुछ समय तक अभ्यास करने की आवश्यकता होती है।
  • आप इस स्क्वीज़ मेथड को 5 बार तक दोहरा सकते है या लगभग 15-20 मिनट के लिए कर सकते है।
  • अगले 3-4 दिनों के लिए आप ओरल सेक्स के साथ इस तकनीक का प्रयोग कर सकते हैं।
  • एक बार जब आप इस स्क्वीज टेक्नीक में माहिर हो जाते है तो फिर आप लंबे समय तक सेक्स कर सकते हैं।
  • स्क्वीज टेक्नीक का उपयोग का उपयोग आप हस्तमैथुन और पार्टनर के साथ सेक्स दोनों के लिए कर सकते है।

(और पढ़े – लम्बे समय तक सेक्स करने के टिप्स…)

स्क्वीज टेक्नीक के फायदे – Benefits Of The Squeeze Technique in Hindi

स्क्वीज टेक्नीक के फायदे - Benefits Of The Squeeze Technique in Hindi

स्क्वीज टेक्नीक हमारे कई प्रकार से लाभदायक हो सकती है, आइये इस तकनीक को करने से होने वाले लाभों को विस्तार से जानते हैं।

  • स्क्वीज़ मेथड शीघ्रपतन की समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद करती है।
  • इस स्क्वीज टेक्नीक का प्रयोग करके आप लंबे समय तक सेक्स का आनंद ले सकते हैं।
  • यह तकनीक आपके लिंग को अधिक उत्तेजित करने में मदद कर सकती हैं।
  • अधिक समय तक सेक्स के लिए स्क्वीज़ मेथड को करने में आपका पार्टनर भी आपकी मदद कर सकता है।
  • यह तकनीक बहुत ही प्रभावी है जिसको करने के लिए किसी भी प्रकार के उपकरणों की आवश्यकता नहीं होती हैं।

(और पढ़े – शीघ्रपतन से छुटकारा पाने के लिए करें ये एक्सरसाइज…)

लंबे समय तक सेक्स करने के लिए टिप्स – Tips for Long-Term Sex in Hindi

लंबे समय तक सेक्स करने के लिए टिप्स - Tips for Long-Term Sex in Hindi

लंबे समय तक सेक्स करने के लिए फोरप्ले का प्रयोग करने यह आपको अधिक समय तक सेक्स करने में मदद करता है और आपके साथी को उत्तेजित करता है। सेक्स का भरपूर आनंद लेने के लिए आप सेक्स के दौरान क्लाइमेक्स-कंट्रोल कंडोम पहनें। इसके अलावा आप अपने लिंग पर एक सामयिक संवेदनाहारी (anesthetic) लागू करें। यदि आप चाहें तो संभोग से पहले हस्तमैथुन कर सकते है, इससे सेक्स के समय स्खलन में देरी होती है।

(और पढ़े – अपने साथी के साथ सेक्स में लंबा समय बिताने के लिए टिप्‍स…)

स्क्वीज टेक्नीक के नुकसान – Disadvantage of Squeeze Technique in Hindi

स्क्वीज टेक्नीक के नुकसान - Disadvantage of Squeeze Technique in Hindi

हालांकि स्क्वीज टेक्नीक आपके लिए बहुत ही लाभदायक है लेकिन अधिक करने से इसके नुकसान हो सकते हैं। आप स्क्वीज टेक्नीक का प्रयोग करते समय दर्द का अनुभव भी कर सकते है। इससे बचने के लिए आप अपने लिंग की मांसपेशियों पर आवश्यकता से अधिक दबाव ना डालें।

(और पढ़े – दर्दनाक स्खलन क्या है, लक्षण, कारण, इलाज और बचाव…)

स्क्वीज टेक्नीक के लिए सावधानी – Precautions to do Squeeze Technique in Hindi

स्क्वीज टेक्नीक के लिए सावधानी - Precautions to do Squeeze Technique in Hindi

शीघ्रपतन से छुटकारा पाने और स्क्वीज़ मेथड का प्रयोग करते समय आप निम्न बातों का ध्यान रखें।

  • स्क्वीज टेक्नीक का प्रयोग करने के लिए आप केवल हस्तमैथुन का प्रयोग करें, यह आपको अभ्यास में अधिक सहायता करता है।
  • स्क्वीज़ मेथड को बिना कंडोम के किया जाता है, इसलिए इसे करते समय कंडोम को ना पहनें।
  • आप सेक्स के दौरान स्क्वीज के बाद कम से कम 15-30 सेकंड प्रतीक्षा करें।
  • शीघ्रपतन एक ऐसी स्थिति है जो मन और शरीर द्वारा सामूहिक रूप से लड़ी जा सकती है। एक समर्पित नियमित अभ्यास आपकी कल्पना से परे आपके यौन जीवन में सुधार करेगा।

(और पढ़े – कंडोम के बिना सेक्स करने के फायदे और नुकसान…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration