गर्भावस्था के दौरान सोते हुए इन 7 बातों का रखें ध्यान – Keep In Mind These 7 Things While Sleeping During Pregnancy In Hindi

गर्भावस्था के दौरान सोते हुए इन 7 बातों का रखें ध्यान - Keep In Mind These 7 Things While Sleeping During Pregnancy In Hindi
Written by Pratistha

Sleeping During Pregnancy In Hindi गर्भावस्था के दौरान सोते समय कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना बहुत जरुरी होता है प्रेगनेंसी के नाजुक दौर में एक स्त्री हर छोटी से छोटी बात का ध्यान रखती है, फिर चाहे बात उसके खान-पान से जुड़ी हो या फिर एक्सरसाइज से संबंधित हो या गर्भावस्था में सोने के तरीके की हो। प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला के शरीर में बहुत से परिवर्तन आते है जिससे कई तरह की परेशानियों का सामना भी उन्हें करना पड़ता है। जिसमे गर्भावस्था के दौरान सोने में होने वाली समस्या भी शामिल है इससे प्रेगनेंसी में सोने की पोजीशन तक चेंज करनी पड़ती है लेकिन बहुत सी प्रैग्नेंट महिलाएं ऐसी है, जिन्हें प्रेगनेंसी में सोने की सही पोजीशन का पता नहीं होता।

गर्भावस्था में आपके लिए बहुत सारी रोजमर्रा की चीजें करना मुश्किल हो सकता है, जिसमें आपकी मीठी नींद में कमी भी शामिल है।

अगर आप भी उन्हीं में से एक है और गर्भावस्था के दौरान सोते समय गलतियां कर रही है तो आज से ही उनमें सुधार करें क्योंकि इससे आपके बच्चे के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। गर्भावस्था में महिला द्वारा किए जाने वाले छोटे से छोटे क्रियाकलाप का असर उसके गर्भस्थ शिशु पर पड़ता है। बहुत सी महिलाएं तो इस बात से अनभिज्ञ ही होती हैं कि उनके सोने की पोजीशन भी उसके गर्भ में पल रही एक नन्हीं सी जान के विकास को प्रभावित कर सकती हैं। गर्भावस्था में गलत तरीके से सोने के कारण एक ओर जहां बच्चे का विकास बाधित होता है, वहीं दूसरी ओर प्रेगनेंसी में साते समय गलत तरीके अपनाने के कारण महिला को भी सोने में काफी परेशानी होती है।

  1. प्रेगनेंसी में पेट और पीठ के बल न सोएं – Do not sleep on your stomach and back during pregnancy in Hindi
  2. गर्भावस्था में सोते समय अपने घुटनों के बीच एक या दो तकिए रखें – Put one or two pillows between your bent knees in Hindi
  3. प्रेगनेंसी के दौरान सोने में मदद करते हैं विशेष तकिए – Pregnancy pillows In Hindi
  4. गर्भावस्था के समय सोने से पहले मसालेदार भोजन करने से बचें – Avoid eating any heartburn triggers before bed in Hindi
  5. प्रेगनेंसी में सोने से पहले एक कप गर्म दूध पिये – Drink a cup of warm milk before sleeping in pregnancy in Hindi
  6. गर्भावस्था में सोने से पहले पैदल चलना होता है लाभदायक – Walking before bedtime is beneficial in pregnancy in Hindi
  7. प्रेगनेंसी में सोने से पहले तरल पदार्थ का सेवन कम करें – Reduce fluid intake before sleeping in pregnancy in Hindi

गर्भावस्था में सोने के तरीके – Sleeping Position in Pregnancy in Hindi

गर्भावस्था में सोने के तरीके - Sleeping Position in Pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के दौरान बायीं तरफ सोना सर्वोत्तम माना जाता है क्योंकि इससे रक्त परिसंचरण में सुधार होता है। इससे महिला को किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं होती। वैसे किसी भी महिला को उस तरफ सोना चाहिए, जो उसके पेट को सपोर्ट करे और सोते समय पेट में किसी भी तरह के दर्द या असहजता का अनुभव न हो।

वहीं गर्भावस्था में सोते समय करवट लेते समय या एक पॉजिशन से दूसरी पॉजिशन में जाते समय कभी भी एकदम से झटका नहीं देना चाहिए। यह परेशानी खड़ी कर सकता है।

प्रेगनेंसी के दौरान सोते समय अपनी बाईं ओर सोने का अभ्यास करें क्योंकि गर्भावस्था में सोने की यह  स्थिति बच्चे और गर्भाशय में रक्त और पोषक तत्वों के प्रवाह में मदद करती है। यह आपके शरीर से अपशिष्ट और अतिरिक्त तरल पदार्थों को खत्म करने में भी मदद करती है। गर्भावस्था में अपने बाईं ओर सोने के लिए खुद को प्रशिक्षित करने से आपको बेहतर नींद में मदद मिलेगी जब 4-5 महीने की गर्भावस्था के बाद जब आपका पेट बड़ा हो जाएगा।

(और पढ़े – गर्भावस्था में सोते समय इन बातों का रखें विशेष ध्यान…)

प्रेगनेंसी में पेट और पीठ के बल न सोएं – Do not sleep on your stomach and back during pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी में पेट और पीठ के बल न सोएं - Do not sleep on your stomach and back during pregnancy in Hindi

जितना आगे आप अपनी गर्भावस्था में बढती जाती हैं, उतनी ही असहजता आपको अपने पेट के बल सोने से हो सकती है, प्रेगनेंसी के दौरान पेट और पीठ के बल कभी नहीं सोना चाहिए क्योंकि इससे बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है। गर्भवती होने पर आपकी पीठ के बल सोने से पीठ दर्द, बवासीर, सांस लेने में तकलीफ और यहां तक कि निम्न रक्तचाप भी हो सकता है।

(और पढ़े – गर्भावस्था के दौरान बवासीर और इससे बचने के घरेलू उपाय…)

गर्भावस्था में सोते समय अपने घुटनों के बीच एक या दो तकिए रखें – Put one or two pillows between your bent knees in Hindi

गर्भावस्था में सोते समय अपने घुटनों के बीच एक या दो तकिए रखें - Put one or two pillows between your bent knees in Hindi

प्रेगनेंसी के दौरान सोते समय “अपने घुटनों को मोड़ना आपको आरामदायक स्थति में सोने में मदद कर सकता है”, इस तरह, आपको असहज महसूस करने या अपनी पीठ के बल सोने की संभावना को कम करता है। घुटनों के बीच एक या दो तकिए लगाकर सोना पीठ दर्द को रोकने में भी सहायक होता है, जो कुछ कारणों से गर्भवती होने पर एक प्रमुख मुद्दा हो सकता है।

(और पढ़े – गर्भावस्था (प्रेगनेंसी) में होने वाली समस्याएं और उनके उपाय…)

प्रेगनेंसी के दौरान सोने में मदद करते हैं विशेष तकिए – Pregnancy pillows In Hindi

प्रेगनेंसी के दौरान सोने में मदद करते हैं विशेष तकिए – Pregnancy pillows In Hindi

हर व्यक्ति अपनी सुविधानुसार रात को सोते समय छोटे-बडे़ तकिए का इस्तेमाल करता है या फिर बहुत से लोग तकिए का इस्तेमाल करना पसंद नहीं करते। लेकिन अगर किसी गर्भवती स्त्री को रात्रि को सोने में परेशानी हो तो तकिए का इस्तेमाल करना अच्छा विचार हो सकता है। दरअसल, गर्भावस्था के लिए बाजार में अलग से तकिए उपलब्ध हैं। डाॅक्टर की सलाह पर उसका इस्तेमाल करके रात्रि में होने वाली परेशानी को न्यूनतम किया जा सकता है। इतना ही नहीं, तकिए की स्थिति भी स्त्री की शारीरिक समस्या पर निर्भर करती है।

जिस महिला को गर्भावस्था में सीने में जलन या एसिडिटी की समस्या हो, उन्हें शरीर के उपरी हिस्से में तकिए का इस्तेमाल करना चाहिए। इससे एसिड उपर नहीं आता और महिला को अपनी स्थिति से काफी राहत मिलती है। हालांकि इस तरीके का प्रयोग तभी करें, जब आपको सोते समय कंफर्टेबल महसूस हो।

तकिए के प्रयोग के पीछे का मुख्य उद्देश्य गर्भवती स्त्री को नींद के दौरान होने वाली परेशानियों को न्यूनतम करना है। इसलिए किसी भी तकिए का प्रयोग करने के पहले उसे एक बार इस्तेमाल अवश्य करके देखें। जब आप खुद को आरामदायक स्थिति में पाएं, तभी प्रेगनेंसी के समय उसका रेग्युलर इस्तेमाल करें।

(और पढ़े – सोने के तरीके बताते हैं महिलाओं का स्वभाव…)

गर्भावस्था के समय सोने से पहले मसालेदार भोजन करने से बचें – Avoid eating any heartburn triggers before bed in Hindi

गर्भावस्था के समय सोने से पहले मसालेदार भोजन करने से बचें - Avoid eating any heartburn triggers before bed in Hindi

गर्भावस्था के दौरान बहुत सी महिलाओं को सोते समय सीने में जलन या एसिडिटी की समस्या का सामना करना पड़ता है। अगर किसी स्त्री को यह समस्या हो तो डिनर में स्पाइसी या मसालेदार भोजन करने से बचें। कुछ चीजें आपकी सीने में जलन या एसिडिटी को बढ़ाती हैं, जैसे कि मसालेदार भोजन, खट्टे फल, चॉकलेट और वसायुक्त या तले हुए खाद्य पदार्थ। इसके अतिरिक्त भोजन करने के तुरंत बाद सोने से बचें। इससे समस्या हो सकती है। भोजन व सोने के बीच दो घंटे का गैप अवश्य रखें।

(और पढ़े – मसालेदार खाना खाने के फायदे और नुकसान…)

प्रेगनेंसी में सोने से पहले एक कप गर्म दूध पिये – Drink a cup of warm milk before sleeping in pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी में सोने से पहले एक कप गर्म दूध पिये - Drink a cup of warm milk before sleeping in pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के दौरान रात में बेहतर नींद पाने के लिए सोने से पहले खुद को रिलैक्स करना बेहद आवश्यक है। मसलन, रात को सोने से पहले एक कप गर्म दूध पीना अच्छा आईडिया हो सकता है इससे बच्चे को एनर्जी मिलेगी। फिर अपनी पसंदीदा कोई अच्छी किताब पढ़ें या फिर अपने पार्टनर से होने वाले बच्चे को लेकर कुछ अच्छी बातें करें। इस तरह की चीजें मूड को अच्छा बनाकर आपको रिलैक्स करती हैं, जिससे रात को बेहद अच्छी नींद आती है।

(और पढ़े – दूध के फायदे, गुण, लाभ और नुकसान…)

गर्भावस्था में सोने से पहले पैदल चलना होता है लाभदायक – Walking before bedtime is beneficial in pregnancy in Hindi

गर्भावस्था में सोने से पहले पैदल चलना होता है लाभदायक - Walking before bedtime is beneficial in pregnancy in Hindi

इसके अतिरिक्त हर दिन नियमित रूप से व्यायाम किया जाना चाहिए। गर्भवती महिला हमेशा ही इस बात को लेकर दुविधाग्रस्त रहती है कि उसके लिए किस तरह ही एक्सरसाइज सुरक्षित रहेगी। ऐसे में आप हर दिन वॉक करने का नियम बनाएं। यह एक बेहद सुरक्षित व्यायाम है और इससे शरीर में रक्त संचार बेहतर होगा। अगर हो सके तो डिनर के बाद 15 से 20 मिनट धीरे-धीरे टहलें।

(और पढ़े – पैदल चलने के फायदे हिंदी में…)

प्रेगनेंसी में सोने से पहले तरल पदार्थ का सेवन कम करें – Reduce fluid intake before sleeping in pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी में सोने से पहले तरल पदार्थ का सेवन कम करें - Reduce fluid intake before sleeping in pregnancy in Hindi

गर्भावस्था में स सबसे पहले तो पानी का सेवन बढ़ाने पर जोर दिया जाना चाहिए। दिन की शुरूआत में ही गर्भवती स्त्री को पानी या फलों का रस आदि का सेवन करना चाहिए। इसके बाद दिनभर में नियमित अंतराल में लिक्विड इनटेक किया जाना चाहिए। वहीं रात के समय में तरल पदार्थों का सेवन कम करें। दरअसल, सोने से पहले अगर तरल पदार्थों का सेवन किया जाता है तो इससे रात में बार-बार पेशाब आता है और नींद टूटती है।

(और पढ़े – अच्छी नींद के लिए सोने से पहले खाए जाने वाले खाद्य पदार्थ…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

आपको ये भी जानना चाहिये –

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration