रिलेशनशिप टिप्स

शादी के बाद आने वाली परेशानियां और उनका समाधान – Common Marriage Problems and Solutions in Hindi

शादी के बाद आने वाली परेशानियां और उनका समाधान - Common Marriage Problems and Solutions in Hindi

शादीशुदा जिन्दगी में समस्याएं होना आम बात है। किसी को ज्यादा तो किसी को कम, लेकिन समस्या सबके साथ होती है। ऐसा आमतौर पर पाटर्नर के सपोर्ट न करने या एकदूसरे के साथ कोऑपरेट न कर पाने की वजह से होता है। जिसके बाद मैरिड लाइफ में सेंध लगना स्वभाविक है। अगर आपकी मैरिड लाइफ में भी समस्याएं हैं, तो उनका हल ढूंढना बहुत जरूरी है। इन समस्याओं को अनदेखा करने पर बात बिगड़ सकती है और रिश्ते में दरार तक पड़ सकती है। जो आप दोनों को किसी गलत निर्णय लेने को मजबूर भी कर सकती है।

शादी लड़का और लड़की के बीच का पवित्र बंधन है। आमतौर पर शादी के बंधन में बंधने के बाद लड़का और लड़की दोनों को एक दूसरे को समझना होता है, इसके बाद ही उनका खुशहाल वैवाहिक जीवन शुरू होता है। पर कई मामलों में दोनों की सोच नहीं मिलती और मतभेद पैदा हो जाते हैं। भारत में लोगों को शादी होने के बाद कई समस्याओं का सामाना करना पड़ता है। इसमें दोनों की सोच में अंतर, स्टेटस में अंतर, पारिवारिक, वित्तीय, बच्चों की समस्याएं आदि शामिल होती हैं, जिसमें बंधे रहने से मैरिड लाइफ बुरी तरह प्रभावित होती है। आज के इस आर्टिकल में हम आपके साथ शादी के बाद आने वाली सामान्य समस्याओं और उनके समाधान की चर्चा करेंगे।

शादी के बाद आने वाली समस्याएं और समाधान – Common marriage problems and how to fix them in Hindi

शादी के बाद आने वाली समस्याएं और समाधान - Common marriage problems and how to fix them in Hindi

वैवाहिक जीवन में कई समस्याएं होती हैं, जिनसे अलग-अलग तरीकों का उपयोग करके बचा जा सकता है। यहां आप विवाहित जोड़ों द्वारा सामना की जाने वाली वैवाहिक समस्याओं पर नजर डालें और जानें कि इन समस्याओं से कैसे निपटा जा सकता है।

बेवफाई

शादी के बाद बेवफाई शादी की सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है। इसमें कपल्स का एकदूसरे को धोखा देना और भावनात्मक रूप से चोट पहुंचाना शामिल है। इसके अलावा वन नाइट स्टैंड, शारीरिक बेवफाई, इंटरनेट रिलेशनशिप आदि भी शादी के बाद बेवफाई के कारण हो सकते हैं।

समाधान

शादी के बाद अपने साथी के प्रति एकदम लॉयल रहें। कोई समस्या है, तो उसे सुलझाएं, न कि उससे दूर भागें। एकदूसरे के साथ टाइम स्पेंड करें, हंसी-मजाक करें, एकदूसरे को समझने की कोशिश करें। ऐसा करने से आप एकदूसरे के साथ बेवफाई करने से बच जाएंगे।

(और पढ़े – पति पत्नी के रिश्ते की समस्याओं के कारण और समाधान…)

बच्चों की समस्या

बच्चों की समस्या

शादी के बाद बच्चों से जुड़ी समस्या मैरिड लाइफ को पूरी तरह से उलझन में डाल देती है। मां बनने के बाद छोटे बच्चे की परवरिश करना, उसे चीजें सिखाना आदि शामिल होता है। लेकिन, जैसे-जैसे बच्चे के साथ मां का रिश्ता गहरा होता है, साथी के साथ रिश्ते में दूरी आ जाती है। जब कपल्स अकेले होते हैं, तो वे प्यार में होते हैं, खुश होते हैं, लेकिन बच्चा होने के बाद चीजें बदल जाती हैं। बच्चे के साथ लगभग 30 साल आपकी शादी को बुरी तरह से प्रभावित करते हैं।

समाधान

मां बनना भी बहुत बड़ी जिम्मेदारी है, इसलिए उसे निभाना उतना ही जरूरी है, जैसे कि पारिवारिक जिम्मेदारियां। लेकिन इन सबमें अपने साथी से दूरी न बने, इसके लिए आपको प्रयास करने चाहिए। बच्चे के साथ पिता को भी उतना ही तवज्जो दें और समय बिताएं। बच्चा जैसे-जैसे बड़ा हो, उसे अपनी जिम्मेदारी का अहसास दिलाएं, ताकि आप अपना थोड़ा सा ध्यान उस पर से हटाकर अपने साथी पर दे पाएं। इससे आप तीनों के बीच अच्छी बॉन्डिंग बनी रहेगी।

(और पढ़े – एक अच्छी पत्नी कैसे बने जाने अच्छी जीवनसाथी बनने के 34 टिप्स…)

अपनी शादी को प्राथमिकता न देना

अपनी शादी को प्राथमिकता न देना

अक्सर हर कपल के साथ होता है, कि वह अपनी शादी से ज्यादा अपने परिवार, बच्चों, घर की जिम्मेदारियों को प्राथमिकता देता है। शादी के बाद ऐसा होना बहुत आम समस्या है। कई बार यह समस्या इतनी बढ़ जाती है, कि रिश्ते टूटने तक की नौबत आने लगती है।

समाधान

इस समस्या को हल करने के लिए सबसे पहले आपको अपनी मैरिड लाइफ को प्राथमिकता देनी चाहिए। इसके लिए रोजाना शारीरिक स्पर्श बनाए रखें, जैसे गले लगना, किस करना, साथ में बैठना आदि। इसके अलावा सप्ताह में एक दिन अकेले घूमने या डेट पर जाने से भी दोनों के बीच प्यार बढ़ेगा और आप अपनी मैरिड लाइफ के अलावा घर की जिम्मेदारियों को भी अच्छे से निभा पाएंगे।

(और पढ़े – परफेक्ट रिलेशनशिप के 8 सीक्रेट…)

शारीरिक अतरंगता

शारीरिक अतरंगता

शादी के कुछ साल बीत जाने के बाद कपल्स का एकदूसरे के प्रति फिजिकल अटैचमेंट बहुत कम हो जाता है, जिस वजह से उनमें सेक्स के प्रति लगाव नहीं रहता। उन्हें यह सब बोरिंग लगता है। जिससे संबंधों में दरार आने लगती है।

समाधान

इस समस्या पर जितनी जल्दी हो सके, विचार करना शुरू करें। नियमित रूप से संभोग करने की प्लानिंग करें। कहीं बाहर घूमने जाएं, वहां एकदूसरे के साथ वक्त बिताएं, इससे आपसी संबंध गहरे होंगे और सेक्स के प्रति एकदूसरे का रूझान भी बढ़ेगा।

(और पढ़े – शादी के बाद होने वाली सेक्स समस्याएं और उनका समाधान…)

डिवोर्स पर विचार करना

डिवोर्स पर विचार करना

शादी के बाद पति-पत्नी के बीच अगर झगड़े होते हैं, तो सबसे पहले कपल्स एक ही बात कहते हैं, कि मैंने तुमसे शादी करके गलती की। ऐसे में तलाक का ख्याल भी मन में कभी न कभी आ ही जाता है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि कपल्स चुनौतियों का सामना नहीं करना चाहते। जब मुश्किल उनके सामने आती है, आपस में लड़ाई-झगड़े होने लगते हैं, तो ऐसे में तलाक ही सबसे आसान रास्ता नजर आता है।

समाधान

सभी कपल्स को शादी के बाद चुनौतियों और संघर्ष का सामना करना पड़ता है। यह कहना, कि मैंने गलती से तुम्हें चुना। इसका कोई अर्थ नहीं है। ये रिश्ता आप दोनों की मर्जी से ही बना है, कोई संयोग नहीं है। इसलिए एक दूसरे को दोष देना बंद करें और अपने झगड़े को प्यार से सुलझाने की कोशिश करें। तलाक हर चीज का हल नहीं होता।

(और पढ़े – झगड़ा दूर करने का उपाय जानें झगड़े कैसे सुलझाएँ…)

पाटर्नर में दिलचस्पी न रहना

शादी के बाद पार्टनर में दिलचस्पी न रहना भी एक वैवाहिक समस्या है। शादी के बाद पति-पत्नी एक दूसरे से कई बातें शेयर करते हैं, एक दूसरे को जानने के लिए साथ वक्त बिताते हैं। लेकिन जैसे-जैसे साल बीतते हैं, वैसे-वैसे एक दूसरे के प्रति रूचि कम होने लगती है। कई कपल्स पूछते हैं, कि इस समस्या से बचने के लिए क्या किया जाए।

समाधान

इससे बचने का एक सरल तरीका है, कि आप समय-समय पर एकदूसरे से सवाल करते रहें। एक स्पेशल दिन प्लान कर लें, जब आप एकदूसरे के रूटीन और लाइफ में हो रही बातों को लेकर चर्चा करें। जैसे दिनभर में क्या दिलचस्प रहा, क्या चुनौतीपूर्ण रहा, क्या सुखद हुआ आदि। अपने साथी को अहसास दिलाएं, कि आप ये सब जानना चाहते हैं। एक दूसरे पर फोकस बनाए रखें, यकीन मानिए आप फिर से अपने साथी में दिलचस्पी लेना शुरू कर देंगे।

थैंक्यू न कहना

थैंक्यू न कहना

कई कपल्स को शिकायत रहती है, कि शादी के बाद पति या पत्नी बदल गई है। पहले तो हर बात पर थैंक्यू कहते थे, लेकिन अब हर बात को अनदेखा करते हैं।

समाधान

दरअसल, यह समस्या इतनी छोटी है कि हर कोई इसे नजरअंदाज कर ही देता है। लेकिन रिश्तों और परिवार के लिए आपके साथी ने जो कुछ भी किया है, उसके लिए हर दिन अपने साथी का धन्यवाद जरूर करें। अपने साथी की सराहना करना बहुत महत्वपूर्ण है।

(और पढ़े – रिश्ता टूटने की वजह बन सकती है आपकी ये गलतियां…)

साथी से आपके मन की बात पढ़ने की उम्मीद करना

शादी के बाद ऐसे हालात ज्यादातर कपल्स के साथ बनते हैं। बहुत से लोगों को लगता है, कि उनकी पत्नी या पति को पता होना चाहिए, कि उन्हें क्या चाहिए। यानि की कुल मिलाकर साथी माइंड रीडर हो, यह सोचना हर कपल का रहता है। जो कई बार पति-पत्नी के बीच झगड़े की वजह भी बन जाता है।

समाधान

इस कम्यूनिकेशन गैप का समाधान केवल यह है, कि आप अपने पार्टनर से पूछ लें कि उन्हें क्या चाहिए, उन्हें किस चीज की जरूरत है। आप उनसे कहें, कि जब मैं परेशान हूं, तो वे बस आपको गले लगा लें। जितना हो सके, उतना विश्ष्टि बनें और उनसे अपने मन की बात पढ़ने की अपेक्षा तो कतई न करें।

साथी की भावनाओं को चोट पहुंचाना

साथी की भावनाओं को चोट पहुंचाना

शादी के बाद घर की जिम्मेदारियों को संभालते हुए अक्सर कपल्स एकदूसरे की भावनाओं को चोट पहुंचा देते हैं, जिससे उनके बीच दूरी बढ़ जाती है। शादी के बाद ऐसा होना आम है, लेकिन इसके परिणाम कई बार बहुत गहरे होते हैं। इसलिए इसका समाधान बहुत जरूरी है।

समाधान

सबसे अच्छा समाधान है, कि कितनी भी लड़ाई क्यों न हों, चुप न रहें। यह आपके बीच भावनात्मक दूरी पैदा कर देगा। जो मन में है, उसे कहने का प्रयास करें। इससे आप दोनों के बीच का रिश्ता और गहरा हो जाएगा।

(और पढ़े – रिलेशनशिप टिप्स यह 5 चीज करने से आपके पार्टनर आपसे नहीं जाएंगे दूर…)

पैसों की समस्या

शादी के बाद पैसों को लेकर पति-पत्नी के बीच झगड़े होते हैं। अगर पति की आर्थिक स्थिति कमजोर हो, तो पत्नी टॉर्चर किए बगैर नहीं रहती और अगर पत्नी खर्चीली या मनी मैनेजमेंट करने वाली न हो, तो पति भी उसे ताने दिए बगैर नहीं रहता। शादी के बाद ऐसे में रिश्तों में आगे चलकर दरार आने लगती है।

समाधान

शादी के बाद आपकी वित्तीय जिन्दगी एक दूसरे से जुड़ी हुई है, चाहे आप उन पर चर्चा करें या ना करें। अपने सभी व्यक्तिगत वित्त के बारे में अपने साथी से खुला संवाद करें। जैसे कि- हर महीने कितना आ रहा है, कितना खर्च हो रहा, आप कैसे पैसे बचा सकते हैं आदि। इन सभी मुद्दों पर बात करेंगे, तो पैसों को लेकर कभी आपस में झगड़े नहीं होंगे।

डेट पर न जाना

डेट पर न जाना

मैरिड लाइफ में व्यस्त होते हुए कपल्स डिनर, लंच एकसाथ करना भूल ही जाते हैं। कुल मिलाकर समय की कमी उनके जीवन की सबसे बड़ी समस्या है और कई बार ये समस्या बड़ी भी बन जाती है, अगर पार्टनर समझदार न हो तो।

समाधान

सप्ताह में एक दिन खुद के लिए निकालें। डिनर डेट पर जाएं, लंच पर जाएं या फिर मूवी देखने। यह आप दोनों को फिर से जोड़ने, एन्जॉय करने और एकदूसरे पर फोकस का समय देगा।

(और पढ़े – डेटिंग का मतलब और डेटिंग करने का तरीका…)

सीक्रट रखना

एकदूसरे से बातें छिपाना शादी के बाद आने वाली समस्याओं में से एक है। चाहे वह पैसे के बारे में हो, माता-पिता के फैसले हों आदि। लेकिन एकदूसरे से चीजें सीक्रेट रखने से मैरिड लाइफ में प्रॉब्लम कम नहीं होतीं, बल्कि बढ़ जाती हैं। इसलिए बातों को शेयर करना जरूरी है।

समाधान

कई लोग अपने साथी से बातें इसलिए छिपाते हैं, क्योंकि वह उनकी प्रतिक्रिया से डरते हैं। ऐसा करना आपको अच्छी मैरिड लाइफ के विश्वास को बनाने से रोकता है। अपने साथी के साथ हमेशा ईमानदार और खुले रहें। सीक्रेट संघर्ष से बचने के बचकाने तरीके हैं, जो आपकी मैरिड लाइफ को तोड़ने में अहम भूमिका निभाते हैं।

बुरी आदतें

बुरी आदतें

शादी के बाद साथी की कुछ गंदी आदतों के कारण लड़ाई झगड़े होना स्वभाविक है। इन आदतों में चीजों को कहीं भी फेंक देना, बिस्तर पर फोन साथ ले जाना, सुबह उठकर सबसे पहले फोन चैक करना, काम में हाथ न बटाना, सफाई न रखना आदि। विवाह के बाद जोड़ों के बीच ये एक बहुत ही आम और छोटी समस्या होती है।

समाधान

शादी के बाद एकदूसरे की बात का सम्मान करना चाहिए, साथ ही वैवाहिक जीवन को शुरू करते हुए अपनी कुछ आदतों में बदलाव लाना भी जरूरी है। आपकी जो आदतें आपके साथी को पसंद न हों, उनसे दूर रहें, वरना ये आदतें आपके शादीशुदा रिश्ते को खराब कर सकती हैं।

(और पढ़े – वाइफ कभी नहीं बदल पाती हैं अपने पतियों की ये आदतें…)

जीवन की अवस्थाएं

कई लोग रिश्ते में आने पर अपनी जीवन की अवस्थाओं पर ध्यान नहीं देते। यह उन विवाहित जोड़ों के बीच एक आम समस्या है, जिनकी उम्र के बीच में बड़ा अंतर है।

समाधान

समय के साथ व्यक्तित्व बदल जाता है। अब बढ़ती उम्र में आप एक जैसा नहीं सोच सकते। उम्र का अंतर कहीं न कहीं आपकी सोच पर हावी हो जाता है। इसलिए, एकदूसरे के फैसलों का सम्मान करें और पहले की ही तरह समय बिताने की कोशिश करें।

तनाव

तनाव

तनाव हर आम आदमी के जीवन की समस्या है, जिसका सामना हर जोड़ा कम से कम एक बार तो जरूर करता है। एक रिश्ते में तनाव के कई कारण हो सकते हैं, जैसे वित्तीय, परिवार, मानसिक और बीमारी सहित आदि। जीवनसाथी को अपनी नौकरी खोने से भी तनाव हो सकता है। ।

समाधान

शादी के बाद किसी न किसी बात पर तनाव हो जाना सामान्य बात है। ऐसे में जरूरी है, कि आप स्ट्रेस मैनेज करना सीख लें। देखें, कि कौन सी चीज से ज्यादा तनाव पैदा हो रहा है, उसे हैंडल करें। स्ट्रेस मैनेजमेंट स्ट्रेस कम करने का बहुत अच्छा सॉल्यूशन है, जो आप इंटरनेट से भी सीख सकते हैं।

(और पढ़े – मानसिक तनाव के कारण, लक्षण एवं बचने के उपाय…)

बोरियत

समय के साथ पति-पत्नी अपने रिश्ते से बोर हो जाते हैं। वे रिश्ते के भीतर होने वाली चीजों से थक जाते हैं। अगर किसी रिश्ते में सहज गतिविधियों का अभाव है, तो बोरियत वैवाहिक जीवन की सबसे बड़ी समस्या बन जाएगी।

समाधान

एक दूसरे को समय-समय पर सरप्राइज दें, खुश करें, कई नई चीजें ट्राई करें। इससे बोरियत खत्म होगी और आप फिर से एक नई मैरिड लाइफ को एन्जॉय कर पाएंगे।

ईर्ष्या

ईर्ष्या

ईर्ष्या यानि जलन एक आम वैवाहिक समस्या है, जो शादी को खट्टा बना देती है। यदि आपका साथी ईर्ष्यालु है, तो उनके साथ रहना आपके लिए चुनौती बन सकता है। ऐसे साथी के होने से मैरिड लाइफ में तनाव हो जाता है, जो आखिरकर इस रिश्ते को खत्म कर देता है।

समाधान

शादी के रिश्ते में एकूदसरे से ईर्ष्या रखना गलत है। ईर्ष्या के बजाए एक दूसरे को मोटीवेट करें और हमेशा अपने साथी का सपोर्टर बनें। इससे दोनों के बीच प्यार बढ़ेगा और मैरिड लाइफ में आप सक्सेस हो पाएंगे।

ऊपर बताई गई विवाह समस्याओं को आसानी से हल किया जा सकता है, लेकिन ये तभी संभव है, जब साथी खुद को बदलने की कोशिश करे। ऐसे में कोई भी एक बदलाव रिश्ते में सकारात्मक बदलाव ला सकता है और आपकी शादीशुदा जिन्दगी खुशहाल हो सकती है।

(और पढ़े – वैवाहिक जीवन को खुशनुमा बनाने के आसान तरीके…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

आपको ये भी जानना चाहिये –

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration