नवरात्रि के दौरान क्‍यों नहीं करना चाहिए सेक्‍स? जानिए पौराणिक महत्व – Why should one not have sex during Navratri In Hindi




नवरात्रि के दौरान क्‍यों नहीं करना चाहिए सेक्‍स? जानिए पौराणिक महत्व - Navratri Ke Dauran K‍yon Nahi Karna Chahiye Sex In Hindi
Written by Daivansh

Why should one not have sex during Navratri In Hindi नवरात्री में स्त्री और पुरुष को सेक्स करने की मनाही क्यों हैं? नवरात्रि हिंदू धर्म का एक पवित्र पर्व है। इस दौरान मां दुर्गा की आराधना की जाती है। यह संस्कृत का एक शब्द है जिसका अर्थ है नौ रातें। नवरात्रि के नौ दिनों दुर्गा के अलग अलग स्वरुपों की पूजा की जाती है और अच्छे स्वास्थ्य एवं सुख समृद्धि की कामना की जाती है। इसके साथ ही नवरात्रि में उपवास रखने से भी शरीर का शुद्धिकरण हो जाता है और बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर तरीके से होता है। पूरे देश में बहुत से लोग नवरात्रि का व्रत रखते हैं और इसे फलदायी बनाते हैं। हालांकि कुछ लोग नवरात्रि को सामान्य दिनों की तरह ही मानते हैं और बाकी दिनों की तरह ही नवरात्रि में भी सेक्स करते हैं। लेकिन क्या यह उचित है।

इस आर्टिकल में हम आपको बताने जा रहे हैं कि क्‍यों नवरात्रियों के दौरान सेक्‍स नहीं करना चाहिए। नवरात्री पूजन के दौरान अधिकतर महिलायें व्रत रखती हैं और देवी की आराधना करतीं हैं। शास्त्रों के अनुसार इस दौरान उन्हें अपने पति के साथ संबंध न बनाने की सलाह दी जाती हैं। लेकिन नवरात्रि के दौरान शारीरिक संबंध न बनाने की यह बात सिर्फ धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ही नहीं कही गयी हैं, बल्कि इसके पीछे खास वजह यह हैं कि नवरात्री के इन नौ दिनों महिलाएं उपवास रखती हैं और व्रत रखने की वजह से वह शारीरिक तौर पर कमज़ोर हो जाती हैं, इसलिए ऐसे समय में उनके लिए शारीरिक संबंध बनाना सही नहीं होता हैं।

अंग्रेजी का एक प्रसिद्ध वाक्य है – “प्रिवेंशन इज बेटर देन क्योर”, (Prevention is better than cure) उसी प्रकार यह नियम इसीलिए बनाए गए है ताकि हम पूरे मन से देवी को पूज सकें। आइये जानतें हैं नवरात्रियों के दौरान शारीरिक संबंध बनाने पर मनाही क्यों हैं? और इसका पौराणिक महत्व क्या है।

  1. नवरात्र में शारीरिक संबंध बनाना चाहिये या नहीं – Navratri Mein Sambandh Banana Chahiye Ya Nahi in Hindi
  2. नवरात्रि में सेक्स करने से पूजा से भटकता है ध्यान – Navratri Me Sex Karne Se Bhatkta Hai Dhyan In Hindi
  3. नवरात्रि के दौरान सेक्स करने से बॉडी शुद्ध नहीं हो पाती – Navratri Me Sex Karne Se Body Purify Nahi Hoti In Hindi
  4. मन को पवित्र करने के लिए नवरात्रि में नहीं किया जाता है सेक्स – Mann Ko Pavitra Karne Ke Liye Navratri Mein Nhi Karte Sex In Hindi
  5. आध्यात्मिक शक्ति बढ़ाने के लिए नवरात्रि में नहीं करते सेक्स – Spiritual Power Badhane Ke Liye Navratri Mein Na Kare Sex In Hindi
  6. नवरात्रि में सेक्स करने से निगेटिव एनर्जी आती है – Navratri Me Sex Karne Se Negative Energy Aati Hai In Hindi
  7. नवरात्रि में स्त्री पुरुष को साथ नहीं सोना चाहिए और सेक्स से बचना चाहिए  – Navratri Mein Sex Se Bachne Ke Liye Ek Sath Nahi Sona Chahiye In Hindi
  8. भोग विलासिता से दूर रहने के लिए नवरात्रि में नहीं किया जाता सेक्स – Bhog Vilasita Se Dur Rehne Ke Liye Nahi Karna Chahiye Sex In Hindi
  9. देवी का आह्वान करने के लिए नवरात्रि में नहीं करना चाहिए सेक्स – Devi Ka Aahwan Karne Ke Liye Na Kare Sex In Hindi
  10. पीरियड्स के दौरान सेक्स करने और व्रत रखने पर मनाही – Periods Ke Dauran Sex Karne Aur Vrat Rakhne Par Manahi In Hindi

नवरात्र में शारीरिक संबंध बनाना चाहिये या नहीं – Navratri Mein Sambandh Banana Chahiye Ya Nahi in Hindi

नवरात्र में शारीरिक संबंध बनाना चाहिये या नहीं - Navratri Mein Sambandh Banana Chahiye Ya Nahi in Hindi

हमें नवरात्री के दौरान शारीरिक सम्बन्ध नहीं बनाना चाहिए, क्योंकि देवी इन नौ दिनों हमारे घर पधारती हैं। शास्त्रों के अनुसार स्त्री और पुरुष को इस दौरान शारीरिक सम्बन्ध नहीं बनाना चाहिए, और नाखून-बाल भी नहीं काटने चाहिए। कुछ लोग कहते हैं कि कुछ दिनों तक एक दूसरे से अलग रहना प्यार और यौन ऊर्जा को बढ़ाता है इसलिए वास्तव में नवरात्री के इन नौ दिनों शारीरिक सम्बंध में अंतराल देने से आपको इस ऊर्जा का बेहतर उपयोग करने में मदद मिलती है।

(और पढ़े – नवरात्रि क्यों मनाई जाती है और नवरात्रि के पीछे वैज्ञानिक कारण…)

नवरात्रि में सेक्स करने से पूजा से भटकता है ध्यान – Navratri Me Sex Karne Se Bhatkta Hai Dhyan In Hindi

नवरात्रि में सेक्स करने से पूजा से भटकता है ध्यान - Navratri Me Sex Karne Se Bhatkta Hai Dhyan In Hindi

शारीरिक संबंध बनाने पर महिला एवं पुरुष दोनों की बॉडी से ऐसे हार्मोन्स रिलीज होते हैं जो रोमांस और प्यार बढ़ाते हैं और कामुकता पैदा करते हैं। यही कारण है कि नवरात्रि में सेक्स करने से मना किया जाता है। सेक्स करने के बाद आपके मस्तिष्क में वह दृश्य घूमता है और आपको कभी भी उत्तेजना हो सकती है। जबकि नवरात्रि व्रत में आत्मा सिर्फ आध्यात्म और पूजा पाठ में लगनी चाहिए। इससे बचने के लिए नवरात्रि में सेक्स से परहेज करना चाहिए।

(और पढ़े – रात में पति और पत्नी के बीच प्यार और शारीरिक संबंध…)

नवरात्रि के दौरान सेक्स करने से बॉडी शुद्ध नहीं हो पाती – Navratri Me Sex Karne Se Body Purify Nahi Hoti In Hindi

नवरात्रि के दौरान सेक्स करने से बॉडी शुद्ध नहीं हो पाती - Navratri Me Sex Karne Se Body Purify Nahi Hoti In Hindi

नवरात्रि के दौरान उपवास रखकर शरीर का शुद्धिकरण किया जाता है। ऐसे में सेक्स करना उचित नहीं माना जाता है। नवरात्रि आस्था, आध्यात्म और आदिशक्ति की आराधना का पर्व है। इस दौरान मन को जितना शुद्ध और पवित्र रखा जाए उतना ही नवरात्रि का व्रत भी फलदायी होता है। हालांकि इसके लिए कोई नियम कानून नहीं है कि नवरात्रि में सेक्स करना वर्जित है लेकिन फिर भी मन, आत्मा और मस्तिष्क के शुद्धिकरण के लिए नवरात्रि में सेक्स नहीं करना चाहिए। नवरात्री के दौरान सेक्स के मामले में पुरुषों को भी कामुकता से दूर रहने की बात कही जाती हैं।

(और पढ़े – सेक्स के बारे में ये 21 बातें आपको जरूर पता होनी चाहिए…)

मन को पवित्र करने के लिए नवरात्रि में नहीं किया जाता है सेक्स – Mann Ko Pavitra Karne Ke Liye Navratri Mein Nhi Karte Sex In Hindi

मन को पवित्र करने के लिए नवरात्रि में नहीं किया जाता है सेक्स - Mann Ko Pavitra Karne Ke Liye Navratri Mein Nhi Karte Sex In Hindi

हिंदू धर्म से संबंधित शास्त्रों में देवी देवताओं की पूजा से संबंधित नियम कानून लिखा गया है। इसके अनुसार सच्चे और पवित्र मन से नवरात्रि में देवी की आराधना करनी चाहिए। ज्यादातर लोग मानते हैं कि नवरात्रि में देवी विचरण करती हैं और वह घर में भी वास करती हैं। इसलिए इस दौरान कामुक होना ठीक नहीं होता है क्योंकि नवरात्रि में शारीरिक संबंध बनाने से मन भटकता है और हम नियम के अनुसार सच्चे मन से देवी की आराधना नहीं कर पाते हैं।

(और पढ़े – शादी से पहले हर किसी को होनी चाहिए सेक्स की इन बातों की जानकारी…)

आध्यात्मिक शक्ति बढ़ाने के लिए नवरात्रि में नहीं करते सेक्स – Spiritual Power Badhane Ke Liye Navratri Mein Na Kare Sex In Hindi

आध्यात्मिक शक्ति बढ़ाने के लिए नवरात्रि में नहीं करते सेक्स - Spiritual Power Badhane Ke Liye Navratri Mein Na Kare Sex In Hindi

आदि शक्ति दुर्गा के नौ स्वरुप हैं। शास्त्रों और पुराणों के अनुसार नवरात्रि के नौ दिन देवी अलग अलग स्वरुप में हमारे घर में विराजती हैं और अपने भक्तों को आशीष देती हैं। इस दौरान सिर्फ महिला को ही नहीं बल्कि पुरुषों को भी अपने शरीर को पवित्र रखना चाहिए और हर बार वॉशरुम जाने के बाद या तो नहाना चाहिए या फिर गंगाजल छिड़क कर अपने शरीर को शुद्ध करना चाहिए। आप जितना शुद्ध और पवित्र रहेंगे, आध्यात्मिक शक्ति उतनी ही ज्यादा बढ़ेगी। इसलिए नवरात्रि में सेक्स ना करना ही बेहतर है।

(और पढ़े – यौन क्रिया व लैंगिकता की शिक्षा…)

नवरात्रि में सेक्स करने से निगेटिव एनर्जी आती है – Navratri Me Sex Karne Se Negative Energy Aati Hai In Hindi

नवरात्रि में सेक्स करने से निगेटिव एनर्जी आती है - Navratri Me Sex Karne Se Negative Energy Aati Hai In Hindi

जो स्त्री और पुरुष नवरात्रि में उपवास रखते हैं खासतौर से उन्हें नवरात्रि में सेक्स करने से परहेज करना चाहिए। माना जाता है कि व्रत रखने पर शरीर की एनर्जी घट जाती है और सेक्स करने के लिए पर्याप्त स्टैमिना की जरूरत होती है। इसके अलावा सेक्स करने से मन भटकता है या फिर मन कामुकता में लिप्त हो जाता है। इसलिए कम से कम नौ दिनों तक सेक्स से परहेज करना बेहतर है। अगर आप नवरात्रि का व्रत हैं और नौ दिनों तक सेक्स से परहेज करते हैं तो आपका नवरात्रि व्रत फलदायी हो सकता है।

(और पढ़े – हर महिला को पता होनी चाहिए हेल्दी सेक्स से जुड़ी ये बातें…)

नवरात्रि में स्त्री पुरुष को साथ नहीं सोना चाहिए और सेक्स से बचना चाहिए  – Navratri Mein Sex Se Bachne Ke Liye Ek Sath Nahi Sona Chahiye In Hindi

नवरात्रि में स्त्री पुरुष को साथ नहीं सोना चाहिए और सेक्स से बचना चाहिए  - Navratri Mein Sex Se Bachne Ke Liye Ek Sath Nahi Sona Chahiye In Hindi

नवरात्रि को आस्था का एक पवित्र पर्व माना जाता है। शास्त्रों के नियम के अनुसार इस दौरान स्त्री पुरुष को अलग अलग सोना चाहिए और कामुकता की बातें नहीं करनी चाहिए। इससे मन विचलित होता है और सच्चे मन से पूरी आस्था के साथ देवी का आराधना नहीं हो पाती है। नवरात्रि में पूरे सद्भाव के साथ देवी की पूजा करना ही फलदायी होता है। अगर आपका सेक्स करने का मन करे तो नवरात्रि के नौ दिनों तक रुक जाना चाहिए और अपने पार्टनर से अलग सोना चाहिए। एक दूसरे के साथ शारीरिक रुप से नजदीक आने से निगेटिव एनर्जी ट्रांसफर होती है जो आदि शक्ति की आराधना के लिए अच्छी नहीं मानी जाती है। इसलिए नवरात्रि में सेक्स करने से परहेज करना चाहिए।

(और पढ़े – सोएं उसके साथ, जि‍ससे सचमुच करते हैं प्‍यार, होंगे ये फायदे…)

भोग विलासिता से दूर रहने के लिए नवरात्रि में नहीं किया जाता सेक्स – Bhog Vilasita Se Dur Rehne Ke Liye Nahi Karna Chahiye Sex In Hindi

भोग विलासिता से दूर रहने के लिए नवरात्रि में नहीं किया जाता सेक्स - Bhog Vilasita Se Dur Rehne Ke Liye Nahi Karna Chahiye Sex In Hindi

नवरात्रि में देवी की पूजा के कुछ नियम हैं। इस दौरान बिल्कुल शांत और अकेले रहना चाहिए और विलासिता की वस्तुओं को त्याग देना चाहिए। स्त्री और पुरुष को बिस्तर के ऊपर नहीं बल्कि जमीन पर चटाई बिछाकर अलग अलग सोना चाहिए। ज्यादातर लोग बिस्तर पर शारीरिक संबंध बनाते हैं लेकिन नवरात्रि में जमीन पर सोना चाहिए और नौ दिनों तक सेक्स से परहेज करना चाहिए। कहा जाता है कि बिस्तर पर सोने से शरीर का शुद्धि करण नहीं हो पाता है और व्यक्ति का मन स्वच्छ नहीं हो पाता है। नवरात्रि के व्रत को फलदायी बनाने के लिए सेक्स करने से बचना चाहिए।

(और पढ़े – जानिए सेक्स करने के फायदे और ना करने के नुकसान…)

देवी का आह्वान करने के लिए नवरात्रि में नहीं करना चाहिए सेक्स – Devi Ka Aahwan Karne Ke Liye Na Kare Sex In Hindi

देवी का आह्वान करने के लिए नवरात्रि में नहीं करना चाहिए सेक्स - Devi Ka Aahwan Karne Ke Liye Na Kare Sex In Hindi

नवरात्रि में लोग आदि शक्ति दुर्गा को अपने घर आने का आह्वान करते हैं और घर में प्रतिमा स्थापित कर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं। इस दौरान सेक्स से तो परहेज करना ही चाहिए, साथ में किसी के साथ छल कपट, धोखा नहीं करना चाहिए और कन्याओं एवं ब्राह्मणों को भोजन कराने के साथ ही पवित्रता एवं शुद्धता पर ध्यान देना चाहिए। माना जाता है कि अगर पूरा परिवार अपने शरीर का शुद्धिकरण करके सच्चे मन से और पूरी श्रद्धा से देवी का आह्वान करे तो मां दुर्गा घर में जरुर विराजती हैं। इसलिए नवरात्रि में सेक्स नहीं करना चाहिए।

(और पढ़े – क्या सेक्‍स ना करने के नुकसान जानते हैं आप…)

पीरियड्स के दौरान सेक्स करने और व्रत रखने पर मनाही – Periods Ke Dauran Sex Karne Aur Vrat Rakhne Par Manahi In Hindi

पीरियड्स के दौरान सेक्स करने और व्रत रखने पर मनाही - Periods Ke Dauran Sex Karne Aur Vrat Rakhne Par Manahi In Hindi

मासिक धर्म के दौरान महिलाएं कमजोर हो जाती हैं। इस दौरान उन्हें न सिर्फ कमजोरी बल्कि चिड़चिड़ाहट भी महसूस होती है। कमजोरी के कारन उन्हें कमर, पैर, पेट तथा पूरे शरीर में दर्द भी होता है। वास्तव में पीरियड्स की यह स्थिति महिलाओं के लिए काफी कष्टदायक होती है। इसीलिए इस खास वक्त में उनके व्रत रहने और सेक्स करने पर मनाही होती है।

अब तो आप समझ ही गए होंगें की नवरात्रि के दौरान शारीरिक संबंध न बनाने की सलाह क्यों दी जाती है, हम कम से कम इन नौ दिन में अपने आप को इस कार्य को करने से रोक सकते हैं ताकि इन नों दिनों में स्वयं माँ हमारे घर पधारें और हम उनका आह्वान करें।

(और पढ़े – पीरियड्स की जानकारी और अनियमित पीरियड्स के लिए योग और घरेलू उपचार…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

आपको ये भी जानना चाहिये –

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration