बहुत अधिक पानी पीना भी हो सकता है खतरनाक – Side effects of Overhydration in hindi

ज्यादा पानी पीने के नुकसान - Side effects of Overhydration in hindi
Written by Akansha

Jyada pani peene ke nuksan in Hindi ओवरहाइड्रेशन मतलब ज्यादा पानी पीना, इसके बहुत से नुकसान होते है। अब गर्मियों का मौसम आ गया है तो सब यही कहते है की गर्मियों में खूब पानी पीना चाहिए इससे शरीर में पानी की कमी नहीं होती है और उर्जा भी बनी रहती है, लेकिन क्या आप जानते है की डिहाइड्रेशन से भी ज्यादा खतरनाक और घातक होता है ओवरहाइड्रेशन यानि ज्यादा पानी पीना क्योकि जरुरत से ज्यादा पानी पीने से भी हमारे शरीर को कई तरह के नुकसान और बीमारियाँ होती है। ज्यादा पानी पीने (ओवरहाइड्रेशन) से पानी का नशा (water intoxication) हो सकता है। यह स्थिति तब होती है जब आपके शरीर में नमक और अन्य इलेक्ट्रोलाइट्स की मात्रा बहुत कम हो जाती है जिसकी वजह से कई गंभीर बीमारियाँ हो सकती है और शरीर के अंगो पर असर पड़ता है।

हाइपोनेट्रिमिया (Hyponatremia) एक ऐसी स्थिति है जिसमें शरीर से सोडियम (नमक) का स्तर खतरनाक रूप से कम हो जाता है। यह ओवरहाइड्रेशन या ज्यादा पानी पीने की सबसे घातक स्थिति है। आज इस लेख में हम जानेंगे की ज्यादा पानी पीने के नुकसान क्या होते है और ओवरहाइड्रेशन के लक्षण कैसे पहचाने और ज्यादा पानी पीने से कैसे बचें।

1. ओवरहाइड्रेशन क्या है?- What is overhydration in Hindi
2. कैसे पहचाने की आप ज्यादा पानी पी रहे है – Overhydration symptoms in Hindi
3. ज्यादा पानी पीने के नुकसान – Jyada Pani Pine ke Nuksan in Hindi

4. कितना पानी पीना बहुत ज्यादा होगा – How much water is too much in hindi
5. कितने लीटर पानी प्रतिदिन पीना चाहिए?- How much water do you need in Hindi?
6. ज्यादा पानी पीने से कैसे बच सकते है – Overhydration treatment in Hindi

ओवरहाइड्रेशन क्या है?- What is overhydration in Hindi

ओवरहाइड्रेशन क्या है?- What is overhydration in Hindi

आपके शरीर के सभी प्रमुख अंग ठीक से काम करने के लिए पानी पर निर्भर हैं। पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से आपके शरीर को निम्न कार्य करने मदद मिलती है:

  • तापमान को नियंत्रित करने में।
  • कब्ज को रोकने में।
  • अपशिष्ट उत्पादों को बाहर निकालने में।
  • सभी प्रमुख शारीरिक कार्य करने में।

ज्यादातर लोग, खासकर जो गर्म मौसम में व्यायाम करते हैं, वे पर्याप्त पानी नहीं पीने के बारे में अधिक चिंतित होते हैं। हालाँकि, बहुत अधिक पानी पीना भी खतरनाक हो सकता है।

ओवरहाइड्रेशन से पानी का नशा हो सकता है। यह तब होता है जब आपके शरीर में नमक और अन्य इलेक्ट्रोलाइट्स की मात्रा बहुत कम हो जाती है। हाइपोनेट्रिमिया (Hyponatremia) एक ऐसी स्थिति है जिसमें सोडियम (नमक) का स्तर खतरनाक रूप से कम हो जाता है। यह ओवरहाइड्रेशन की मुख्य स्थिति होती है।

यदि आपके शरीर से इलेक्ट्रोलाइट्स बहुत जल्दी कम हो जाते हैं, तो यह घातक हो सकता है। ओवरहाइड्रेशन से दुर्लभ मामलों में मृत्यु भी हो सकती है, लेकिन ऐसा होने की संभावना बहुत ही कम होती है।

(और पढ़े – पानी की कमी (निर्जलीकरण) क्या है, लक्षण, कारण और इलाज…)

कैसे पहचाने की आप ज्यादा पानी पी रहे है – Overhydration symptoms in Hindi

कैसे पहचाने की आप ज्यादा पानी पी रहे है - Overhydration symptoms in Hindi

जैसा की हमने आपको बताया की ज्यादा पानी पीने से भी शरीर को बहुत नुकसान होता है, पर हम यह कैसे पहचाने की हम जरुरत से ज्यादा पानी पी रहे है, क्योकि बहुत से लोग यह नहीं जानते की सामान्य तौर पर एक व्यक्ति को कितना पानी पीना चाहिए। हम आपको बताते है की आपको कितना पानी पीना चाहिए। वैसे तो जब हमारे शरीर के सारे अंग बराबर काम करते है और हम बिलकुल स्वस्थ है तो दिनभर में 2-4 लीटर पानी हमारे शरीर के लिए काफी होता है, परन्तु वह लोग जो एक्सरसाइज करते है जिम जाते है उनके शरीर से पसीना ज्यादा निकलता है तो वह 5-6 लीटर पानी दिन भर में पी सकते है।

पर अगर आपको किसी प्रकार की किडनी, लीवर या हार्ट की बीमारी है तो भूल कर भी इतना ज्यादा पानी ना पीयें क्योकि इतना ज्यादा पानी पीना आपके शरीर के लिए बहुत ही नुकसानदायक हो सकता है क्योकि किडनी एक साथ इतना सारा पानी फ़िल्टर नहीं कर पाती है और ज्यादा पानी पीने से हमारे शरीर से सोडियम यानि नमक का स्तर एकदम कम हो जाता है जो सेहत के लिए बहुत ही हानिकारक है।

अब सवाल यह उठता है की ये कैसे पहचाने की आप ज्यादा पानी पी रहे है तो इसका एक सबसे अच्छा तरीका है आपके यूरिन का कलर। पानी की मात्रा बताने के लिएएक स्वस्थ व्यक्ति में, यूरिन का कलर ही सबसे अच्छा संकेतक होता है। यदि आपके पेशाब का रंग पीले रंग का है जो नींबू पानी की तरह दिखता है, तो यह एक अच्छा और सही मात्रा का संकेत है। और गहरे पीले रंग की पेशाब का मतलब होता है कि आपको अधिक पानी पीने की आवश्यकता है। और यदि आपकी पेशाब रंगहीन है तो इसका मतलब है कि आप जरुरत से ज्यादा पानी पी रहे है मतलब ओवरहाइड्रेटेड हो रहे हैं।

इसके आलावा वैसे तो लोग शुरूआती चरणों में ओवरहाइड्रेशन के लक्षण नहीं पहचान पाते है जब तक उन्हें किसी गंभीर स्थिति का अंदाजा ना होने लगे।

ज्यादा पानी पीने के कुछ शुरूआती लक्षण में शामिल है-

परन्तु अगर आपने समय रहते इन लक्षणों पर ध्यान नहीं दिया तो यह गंभीर और घातक  स्थिति में परिवर्तित हो सकते है, जैसे-

(और पढ़े – यूरिन का कलर कैसा होना चाहिए और जाने पेशाब का रंग बदलने का कारण…)

ज्यादा पानी पीने के नुकसान – Jyada Pani Pine ke Nuksan in Hindi

  1. ज्यादा पानी पीने के नुकसान से हो सकती है किडनी की बीमारी –  zyada pani peene ke nuksan kidney disease in Hindi
  2. जादा पानी पीने के नुकसान से होते है मनोरोगी – Jyada Pani Pine ke Nuksan psychiatric disorder in Hindi
  3. ज्यादा पानी पीने से नुकसान मस्तिष्क में सूजन – Overhydration causes cerebral edema in Hindi

ज्यादा पानी पीने से शरीर को कई तरह के नुकसान होते है और ओवरहाइड्रेशन की वजह से कई तरह की बीमारियाँ भी उत्पन्न हो सकती है। ज्यादा पानी पीने से जो सबसे ज्यादा जो स्थिति उत्पन्न होती है वह है हाइपोनेट्रिमिया (Hyponatremia), इस स्थिति में ज्यादा पानी पीने से शरीर में सोडियम (नमक) का स्तर बहुत ही कम हो जाता है जिसकी वजह से किडनी लीवर और हार्ट अच्छे से काम नहीं कर पाते है। आइये जानते हैं ज्यादा पानी पीने से क्या नुकसान (jyada pani peene ke kya nuksan hai) होते है।

(और पढ़े – पानी पीने का सही समय जानें और पानी पीने के लिए खुद को प्रेरित कैसे करें…)

ज्यादा पानी पीने के नुकसान से हो सकती है किडनी की बीमारी –  zyada pani peene ke nuksan kidney disease in Hindi

ज्यादा पानी पीने के नुकसान से हो सकती है किडनी की बीमारी -  zyada pani peene ke nuksan kidney disease in Hindi

ज्यादा पानी पीने से सबसे ज्यादा नुकसान किडनी को पहुँचता है, क्योकि किडनी हमारे शरीर में पानी को फिल्टर करने का काम करती है और यदि हम जरुरत से ज्यादा पानी पीते है तो किडनी पर बोझ पड़ता है और वह ठीक तरह से इतनी ज्यादा मात्रा में पानी को फिल्टर नहीं कर पाती है, जिससे किडनी फेलियर जैसे गंभीर बीमारी की स्थिति उत्पन्न हो सकती है।

(और पढ़े – किडनी रोग क्या है कारण, लक्षण, जांच, इलाज और रोकथाम…)

जादा पानी पीने के नुकसान से होते है मनोरोगी – Jyada Pani Pine ke Nuksan psychiatric disorder in Hindi

जादा पानी पीने के नुकसान से होते है मनोरोगी - Jyada Pani Pine ke Nuksan psychiatric disorder in Hindi

ज्यादा पानी पीने वाले लोगों में साइकोजेनिक पॉलीडिप्सिया (psychogenic polydipsia) नामक मनोरोग विकार (schizophrenics) उत्पन्न हो जाता है जिसमे ज्यादा पानी पीने से शरीर में सिर्फ बहुत सारा पानी इकठ्ठा हो जाता है और सोडियम की मात्रा एकदम कम हो जाती है।

(और पढ़े – मानसिक रोग के लक्षण, कारण, उपचार, इलाज, और बचाव…)

ज्यादा पानी पीने से नुकसान मस्तिष्क में सूजन – Overhydration causes cerebral edema in Hindi

ज्यादा पानी पीने से नुकसान मस्तिष्क में सूजन - Overhydration causes cerebral edema in Hindi

एक शोध में यह पाया गया है की ज्यादा पानी पीने से शरीर में पानी की मात्रा बहुत अधिक बढ़ जाती है और सोडियम का स्तर कम हो जाता है जिससे मस्तिष्क में सूजन (cerebral edema) आ सकती है जो बहुत ही खतरनाक साबित हो सकती है।

मस्तिष्क में अतिरिक्त द्रव संचय को मस्तिष्क शोध कहा जाता है, जो मस्तिष्क के स्टेम को प्रभावित कर सकता है और केंद्रीय तंत्रिका तंत्र की शिथिलता का कारण बन सकता है।

गंभीर मामलों में, पानी का नशा दौरे, मस्तिष्क क्षति, कोमा और यहां तक कि मृत्यु का कारण भी बन सकता है।

कुछ अन्य स्थितियों और दवाईयों की वजह से भी आपको ज्यादा पानी पीने की इच्छा हो सकती है जिसमे शामिल है-

  • एक प्रकार का पागलपन (schizophrenia)
  • एंटीसाइकोटिक दवाएं (antipsychotic drugs)

इन सभी स्थितियों और दवाईयों की वजह से ज्यादा पानी पीने की तलब लगती है जिससे ओवरहाइड्रेशन हो सकता है जो बहुत ही नुकसानदायक होता है।

(और पढ़े – एन्सेफलाइटिस (मस्तिष्क में सूजन) क्या है लक्षण कारण जांच इलाज और बचाव…)

कितना पानी पीना बहुत ज्यादा होगा – How much water is too much in Hindi

कितना पानी पीना बहुत ज्यादा होगा - How much water is too much in hindi

  • ओवर-हाइड्रेशन और पानी का नशा तब होता है जब आप अपने गुर्दे की क्षमता से अधिक पानी पीते हैं, जिसे आप मूत्र के माध्यम से बहार नहीं निकाल पाते हैं।
  • लेकिन पानी की मात्रा ज्यादा पानी पीने का एकमात्र कारक नहीं है। पानी पीने में आपको कितना समय लगता है यह भी मायने रखता है।
  • यदि आप बहुत कम समय में बहुत सारा पानी पीते हैं तो आपको पानी का नशा या ओवर-हाइड्रेशन विकसित होने का अधिक खतरा होता है।
  • हाइपोनेट्रेमिया के लक्षण कम से कम 3-4 लीटर पानी को कम से कम समय में पीने से हो सकते हैं।
  • आपकी किडनी एक दिन में लगभग 5.3-7.4 गैलन (20-28 लीटर) पानी को फ़िल्टर कर बाहर सकती है, लेकिन वे प्रति घंटे 27-33 औंस (0.8-1.0 लीटर) से अधिक पानी नहीं निकाल सकती हैं।
  • इसलिए, हाइपोनेट्रेमिया के लक्षणों से बचने के लिए, आपको औसतन प्रति घंटे 27-33 औंसतन (0.8-1.0 लीटर) से अधिक पानी नहीं पीना चाहिए।
  • कम समय में बड़ी मात्रा में पानी पीने से ओवर-हाइड्रेशन के कई परिणाम सामने आए।
  • उदाहरण के लिए, एक रिपोर्ट में उन सैनिकों का वर्णन किया गया है, जिन्होंने प्रति घंटे पानी के 1.8 लीटर या अधिक का उपभोग करने के बाद लक्षण विकसित किए हैं।
  • एक अन्य रिपोर्ट में कुछ ही घंटों में 10-20 लीटर के पानी के सेवन के साथ हाइपोनेट्रेमिया के विकास को दिखाया गया है।
  • एक स्वस्थ, 22 साल के पुरुष कैदी में ओवर-हाइड्रेशन, पानी के नशे और लंबे समय तक हाइपोनेट्रेमिया में रहने का मामला भी सामने आया, जब उसने 3 घंटे में 6 लीटर पानी पिया।
  • अंत में, एक 9 साल की लड़की जिसने 1-2 घंटे में लगभग 3.6 लीटर पानी पिया, उसमें पानी का नशा हाइपोनेट्रेमिया विकसित हो गया।

कितने लीटर पानी प्रतिदिन पीना चाहिए?- How much water do you need in Hindi?

कितने लीटर पानी प्रतिदिन पीना चाहिए?- How much water do you need in Hindi?

  • वास्तव में आपको एक दिन में कितना पानी पीने की आवश्यकता है, इसके लिए कोई विशिष्ट संख्या नहीं है। यह प्रत्येक व्यक्ति के लिए अलग- अलग हो सकती है।
  • यह निर्धारित करने के लिए कि आपको प्रति दिन कितना पानी पीने की जरूरत है, अपने शरीर के वजन, शारीरिक गतिविधि स्तर और जलवायु पर नजर रखें।
  • इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिसिन (IOM) का सुझाव है कि पुरुषों के लिए प्रति दिन पानी की पर्याप्त मात्रा 3.7 लीटर है, जबकि महिलाओं के लिए यह 2.7 लीटर है।
  • हालांकि, इन सिफारिशों में पेय पदार्थ और खाद्य पदार्थ से ली गई पानी की मात्रा भी शामिल है।
  • कुछ लोग अभी भी 8 x 8 नियम का पालन करते हैं, जो रोज आठ गिलास पानी पीने की सलाह देते हैं। हालांकि, यह नियम ज्यादातर लोगों द्वारा बनाया गया है और अनुसंधान पर आधारित नहीं है।
  • एक अच्छा नियम यह है की आपके शरीर को अपनी प्यास को सुनना और प्यास लगने पर पानी पीना है। यह शरीर में अच्छे जल के स्तर को बनाए रखने के लिए पर्याप्त होता है।
  • हालाँकि, पानी पीने के लिए केवल प्यास पर निर्भर रहना सभी के लिए काम नहीं कर सकता है। एथलीट, वृद्ध वयस्क और गर्भवती महिलाओं को प्रत्येक दिन कुछ अतिरिक्त पानी पीने की आवश्यकता हो सकती है।
  • एक सक्रिय व स्वस्थ व्यक्ति जिसका वजन 70 किलो के आसपास हो, उसे रोज औसतन 3-4 लीटर पानी पीना चाहिए।

(और पढ़े – क्या आप जानतें है आपको रोज कितना पानी पीना चाहिए…)

ज्यादा पानी पीने से कैसे बच सकते है – Overhydration treatment in Hindi

ज्यादा पानी पीने से कैसे बच सकते है - Overhydration treatment in Hindi

अगर आपको ज्यादा पानी पीने की वजह से बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है तो आपका डॉक्टर आपको उसके इलाज बतायेगा की आप इस स्थिति से कैसे बच सकते है, और यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपके लक्षण कितने गंभीर हैं और किस वजह से हुए हैं। ओवरहाइड्रेशन से बचने के कुछ उपाय में शामिल है- आप फ्लूइड इन्टेक (पानी पीने की मात्रा) को कम कर दें ।  पेशाब की मात्रा को बढ़ाने के लिए मूत्रवर्धक (diuretics) लें ।  ओवरहाइड्रेशन का कारण बनने वाली स्थिति का आंकलन करके इलाज करना । पहले से ली जा रही किसी भी तरह की दवाइयों को रोकने से ओवरहाइड्रेशन की समस्या बढ़ सकती है।

(और पढ़े – पानी पीने का सही तरीका…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration