भद्रासन योग करने का तरीका और फायदे – Bhadrasana Steps And Benefits In Hindi

भद्रासन योग करने का तरीका और फायदे – Bhadrasana steps and benefits in Hindi
Written by Hemant

Bhadrasana in Hindi भद्रासन योग को एक हठ योग माना जाता हैं, जिसका उल्लेख हठ योग प्रदीपिका में किया गया है। भद्रासन शुरुआती लोगों के लिए उपयुक्त एक बेसिक योग मुद्रा है। यह ध्यान के लिए एक अनुकूल आसन है क्योंकि यह आरामदायक है और इसे अधिक अवधि तक किया जा सकता है। भद्रासन योग को अंग्रेजी में ‘ग्रेसिऑस पोज’ भी कहा जाता हैं। भद्रासन योग का अभ्यास मन को शांत करता है और और इससे शरीर निरोगी और सुंदर बनता है। यह मूलाधार (मूल) चक्र को भी सक्रिय करता है। यह योग हमारे फेफड़ों और पाचन तंत्र के लिए बहुत ही लाभदायक होता हैं। आइये भद्रासन योग करने की विधि और उसके लाभों को विस्तार से जानते हैं।

  1. भद्रासन क्या है –  What is Bhadrasan in Hindi
  2. भद्रासन योग करने से पहले यह आसन करें – Bhadrasan yoga se pahle ye aasan kare in Hindi
  3. भद्रासन योग करने का तरीका – Steps to do Bhadrasan yoga in Hindi
  4. भद्रासन योग के फायदे – Bhadrasan yoga Benefits in Hindi
  5. भद्रासन योग करने से पहले यह सावधानी रखें – Precautions to do Bhadrasana yoga in Hindi

भद्रासन क्या है –  What is Bhadrasan in Hindi

भद्रासन, हठ योग प्रदीपिका के लेखक योगी आत्माराम के ध्यान के चार मुख्य आसनों में से एक है। भद्रासन को लंबे समय तक बैठने के लिए उपयुक्त होने के कारण हठ योग प्रदीपिका में चौथे आसन के रूप में उल्लेख किया गया है। योगी इस आसन में बैठकर थकान से छुटकारा पा सकते हैं। भद्रासन शब्द को संस्कृत भाषा से लिए गया है जो कि दो शब्दों से मिलकर बना है। भद्रासन का पहला शब्द ‘भद्र’ है जिसका अर्थ है ‘शुभ’ और दूसरा ‘आसन’ जिसका अर्थ ‘मुद्रा’ होता है। इस योग को अंग्रेजी में “ग्रेसिऑस पोज” (Gracious pose) कहा जाता है। इस मुद्रा को शास्त्रीय हठ योग प्रदीपिका द्वारा ‘सभी रोगों के नाशक’ के रूप में जाना जाता है। आइये भद्रासन योग को करने की विधि को विस्तार से जानते हैं।

(और पढ़े – योग क्‍या है योग के प्रकार और फायदे हिंदी में…)

भद्रासन योग करने से पहले यह आसन करें – Bhadrasan yoga se pahle ye aasan kare in Hindi

भद्रासन योग करने से पहले आप नीचे दिए गए कुछ आसन का अभ्यास करें, जिससे आपको इस आसन करने में आसानी होगी-

(और पढ़े – योग की शुरुआत करने के लिए कुछ सरल आसन…)

भद्रासन योग करने का तरीका – Steps to do Bhadrasan yoga in Hindi

भद्रासन योग एक सरल योगासन है इसे करना बहुत ही आसान हैं। इसे किसी भी उम्र का व्यक्ति आसानी से इस योग को कर सकता हैं। नीचे भद्रासन को करने की कुछ स्टेप दी गई है जिसकी मदद से आप इसे आसानी से कर सकते हैं।

  • भद्रासन करने के लिए आप सबसे पहले फर्श पर एक योगा मैट को बिछाकर उस पर दोनों घुटनों को मोड़कर बैठ जाएं।
  • आप इस योग आसन को करने के लिए सीधे वज्रासन में भी बैठ सकते हैं।
  • पैरों की उंगलियों को फर्श से संपर्क करके बैठे और अपने दोनों हाथों को सीधा करके दोनों घुटनों पर रखें।
  • अब आप अपने दोनों घुटनों को सामने से जितना अधिक हो सके उतना फैलायें। ध्यान रखें की आपके पैर फर्श के संपर्क में ही रहें।
  • अपने कूल्हों को दोनों पैरों के बीच जमीन पर रखने के लिए पैरों को चौड़ा करें।
  • अपनी रीढ़ को सीधा रखे और नाक की नोक के केंद्र पर ध्यान केंद्रित करें।
  • अगर आपको आंखों में खिंचाव या भारीपन महसूस होता है तो उन्हें थोड़ी देर के लिए बंद कर दें।
  • फिर आप धीमी और गहरी सांस लें और पूरे शरीर को आराम दें।
  • आप भद्रासन योग में अपनी क्षमता के अनुसार रह सकते हैं।

(और पढ़े – योग मुद्रा क्या है प्रकार और फायदे…)

भद्रासन योग के फायदे – Bhadrasan yoga Benefits in Hindi

भद्रासन योग आसन हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं। यह हमारे शरीर में होने वाली कई प्रकार की समस्या से हमें दूर रखता हैं। आइये इसके लाभों को विस्तार से जाते हैं।

भद्रासन योग के फायदे पाचन तंत्र में – Bhadrasana yoga for Enhancing Digestive in Hindi

भद्रासन योग के फायदे पाचन तंत्र में - Bhadrasana yoga for Enhancing Digestive in Hindi

भद्रासन एसिडिटी, कब्ज और पेट की कई समस्याओं के इलाज के लिए एक प्राकृतिक और सुरक्षित तरीका है। इस योग आसन को करते समय आपके पेट और आंतों में दबाव पड़ता है जो पाचन प्रक्रिया को भी बढ़ाता है। भद्रासन योग से आंतरिक पेट के अंगों की एक हल्की मालिश होती जो कि पेट की मांसपेशियों को टोन करता है।

(और पढ़े – पाचन शक्ति बढ़ाने के योग…)

भद्रासन योग के लाभ आत्मविश्वास बढायें – Bhadrasana yoga for Confident in Hindi

आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए भद्रासन योग बहुत ही फायदेमंद होता है। यह योग रीढ़ के आधार पर स्थित मूलाधार चक्र को सक्रिय करके सुरक्षा, आंतरिक स्थिरता और आत्मविश्वास की भावनाओं को बढ़ावा देता है। मूलाधार चक्र हमारे आध्यात्मिक विकास का आधार बनता है। मूलाधार चक्र के माध्यम से, हम पोषण प्राप्त करते हैं और आत्मानुभूति (self-realization) की स्थिति की ओर बढ़ने में सक्षम होते हैं।

(और पढ़े – फिट रहने के लिए सबसे अच्छे योग…)

थकान कम करे भद्रासन योग – Thakan kam kare Bhadrasana yoga in Hindi

भद्रासन योग थकान को कम करने में बहुत ही लाभदायक होता हैं। जो लोग दिन भर की थकान से परेशान रहते है उनके लिए इस योग को अच्छा माना जाता जाता हैं। भद्रासन योग रक्त प्रवाह को बढ़ाने के लिए पूरी तरह से सांस-आधारित अभ्यास है। इस प्रकार यह योग हमारे अंदर सुप्त ऊर्जा के भंडार को अनलॉक करता है।

(और पढ़े – थकान दूर करने के उपाय…)

भद्रासन योग पीठ को मजबूत करे – Bhadrasana yoga for Strong Back in Hindi

भद्रासन योग पीठ को मजबूत करे - Bhadrasana yoga for Strong Back in Hindi

अपनी पीठ को मजबूत करने के लिए आपको भद्रासन योग करना चाहिए इसे आपको लाभ होगा। यह योग एक स्वस्थ और मजबूत स्पाइनल कॉलम (spinal column) को बढ़ावा देती है। आसन के प्रदर्शन के दौरान, रीढ़ को फैलाया जाता है जो इसके प्राकृतिक वक्र को मजबूत करने में मदद करता है और पीठ के दर्द को कम करने में सहायता करता है। जो लोग डेस्क पर बैठ कर नौकरी करते है उनकी पीठ दर्द को ठीक करने के लिए भद्रासन योग लाभदायक होता हैं।

(और पढ़े – पीठ दर्द के लिए योगासन…)

पैर में वैरिकाज़ नसों को राहत देने के लिए भद्रासन योग – Bhadrasana yoga for Relieving Varicose Veins In The Legs in Hindi

भद्रासन योग करने से पैरो में होने वाली वैरिकाज़ नसों को राहत मिलती है। वैरिकाज़ नसें हृदय में अनियमित रक्त की आपूर्ति का संकेत देती हैं और जिससे लंबे समय तक स्वास्थ्य सम्बंधित समस्या बनी रहती हैं। ऊँची एड़ी के जूते में लंबे समय तक बैठने या अत्यधिक चलने के बाद ये वैरिकाज – वेंस आमतौर पर निचले अंगों में दिखाई देते हैं। भद्रासन योग वैरिकाज़ नसों के लिए सुखदायक होता है।

(और पढ़े – पैरों की देखभाल के लिए अपनाएं कुछ आसान टिप्स…)

भद्रासन योग के लाभ स्मूथ डिलीवरी में – Bhadrasana yoga ke laabh Smooth Delivery me in Hindi

भद्रासन योग के लाभ स्मूथ डिलीवरी में - Bhadrasana yoga ke laabh Smooth Delivery me in Hindi

स्मूथ डिलीवरी के लिए भद्रासन एक अच्छा प्रसव पूर्व योग आसन है। पैल्विक फ्लोर को बढ़ाने और मजबूत करने के लिए भद्रासन योग बहुत ही लाभदायक है। जब इस योग को करने के लिए घुटनों को दूर-दूर किया जाता हैं तो इससे पेल्विक तल का विस्तार होता है और महिलाओं की मांसपेशियों को एक स्मूथ डिलीवरी के लिए तैयार करता है।

(और पढ़े – नॉर्मल डिलीवरी के लिए योग…)

भद्रासन योग पेट की समस्याओं का इलाज करता है – Bhadrasana Yoga Treats Stomach Problems in hindi

एसिडिटी, कब्ज और पेट की कई समस्याओं के इलाज के लिए भद्रासन एक प्राकृतिक और सुरक्षित तरीका है। यह माना जाता है कि यह आसन पाचन प्रक्रिया को बढ़ाता है। अच्छा पाचन भद्रासन योग के प्रसिद्ध स्वास्थ्य लाभों में से एक है।

भद्रासन योग के आध्यात्मिक लाभ – Bhadrasana yoga Spiritual Benefits in Hindi

योगियों ने आध्यात्मिक लाभ प्राप्त करने के लिए भद्रासन योग का अभ्यास किया है। भद्रासन एक ध्यान मुद्रा है, इसका अभ्यास मस्तिष्क के लिए शांत है। यह योग हाइपर मानसिक गतिविधि को कम करता है और आराम करने में मदद करता है।

(और पढ़े – मन की शांति के उपाय हिंदी में…)

भद्रासन अन्य के लाभ – Bhadrasan Yoga Other Benefits in Hindi

भद्रासन अन्य के लाभ - Bhadrasan Yoga Other Benefits in Hindi

  • यह ध्यान में बैठने के लिए एक उपयोगी योग आसन हैं।
  • भद्रासन योग करने से एकाग्रता बढ़ती हैं और दिमाग तेज होता हैं।
  • मन की चंचलता कम होती हैं और एक जगह मन लगाने में मदद मिलती है।
  • भद्रासन योग प्रजनन शक्ति बढ़ाता हैं।
  • भद्रासन योग करने से पाचन शक्ति ठीक रहती हैं।
  • इस योग से पैर के स्नायु मजबूत होते हैं।
  • सिरदर्द, कमरदर्द, आँखों की कमजोरी, अनिद्रा और हिचकी जैसे समस्या में राहत मिलती हैं।

(और पढ़े – कमर दर्द के लिए योगासन…)

भद्रासन योग करने से पहले यह सावधानी रखें – Precautions to do Bhadrasana yoga in Hindi

भद्रासन योग करने से पहले यह सावधानी रखें - Precautions to do Bhadrasana yoga in Hindi

भद्रासन योग वैसे तो एक सरल आसन है पर फिर भी इस आसन को करने से पहले आप निम्न बातों का ध्यान रखें-

  • यदि आप घुटनों के दर्द से परेशान है तो आपको भद्रासन योग करने से बचना चाहिए।
  • जोड़ों के दर्द या पैरों में कमजोरी वाले लोगों को इस मुद्रा का अभ्यास नहीं करना चाहिए।
  • यदि आपको भद्रासन योग के दौरान किसी भी प्रकार का दर्द या खिंचाव का अनुभव हो तो आपको यह आसन नहीं करना चाहिए।
  • अगर बिगिनर को इस योग को करने में असुविधा होती है तो वह अपने कूल्हों के नीचे के कंबल को मोड़ कर रख सकते हैं।
  • यदि आप किसी गंभीर समस्या जैसे जोड़ों का दर्द, रीढ़ की हड्डी संबंधी विकार, कमर दर्द, गर्दन में दर्द, पेट की बीमारी, पैरों में दर्द या पैरों में कमजोरी हो आप उस दौरान भद्रासन योग को करने से बचें।
  • योग करने पर कोई परेशानी होने पर डॉक्टर या योग विशेषज्ञ की सलाह लेना चाहिए।
  • हमेशा योग अभ्यास का समय धीरे-धीरे बढ़ाये।

(और पढ़े – घुटनों में दर्द के लक्षण, कारण, जाँच, इलाज और घरेलू उपचार…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration