गर्भावस्था में शकरकंद खाने के फायदे - Pregnancy Me Shakarkandi Khane Ke Fayde - Healthunbox
गर्भावस्था

गर्भावस्था में शकरकंद खाने के फायदे – Pregnancy Me Shakarkandi Khane Ke Fayde

गर्भावस्था में शकरकंद खाने के फायदे के बारे में - Pregnancy me Shakarkandi Khane ke fayde

Pregnancy Me Shakarkandi Khane Ke Fayde: महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान खानपान का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता होती है। इसलिए महिलाएं जानना चाहती है कि प्रेगनेंसी में शकरकंद खाना चाहिए या नहीं? और गर्भावस्था में शकरकंद खाने के फायदे क्या होते है। तो आज हम आपको गर्भावस्था के दौरान शकरकंद के स्वास्थ्य लाभ और इसके अधिक सेवन से होने वाले नुकसान के बारे में बताएंगे।

शकरकंद को अंग्रेजी में स्वीट पोटैटो (sweet potato) कहा जाता है। यह कई प्रकार के पोषक तत्वों से भरा हुआ है जो महिलाओं के लिए गर्भावस्था के दौरान जरूरी होते है। स्वीट पोटैटो में विटामिन बी कॉन्पलेक्स, आयरन, विटामिन सी और फास्‍फोरस होता है जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में मदद करता है।

आइये गर्भावस्था में शकरकंद खाने के फायदे के बारे में विस्तार से जानते है।

विषय सूची

क्या गर्भावस्था के दौरान शकरकंद खाना सुरक्षित है? – Sweet Potato Pregnancy Me kha sakte hai?

क्या गर्भावस्था के दौरान शकरकंद खाना सुरक्षित है? - Sweet Potato Pregnancy Me kha sakte hai?

यदि आपके मन में यह प्रश्न है कि क्या प्रेगनेंसी में शकरकंद खाना चाहिए या नहीं? तो जी हां आप गर्भावस्था के दौरान शकरकंद का सेवन कर सकती है और पूरी तरह से सुरक्षित है। स्वीट पोटैटो से विटामिन-ए, सी, फोलेट, आयरन, कैल्शियम, फैट और एनर्जी आदि पोषक तत्व प्राप्त होते है जो गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के लिए आवश्यक होते है।

शकरकंद से प्राप्त होने वाले पोषक तत्व भ्रूण के विकास में अहम भूमिका निभाते हैं, इसलिए सभी महिलाओं को प्रेगनेंसी में शकरकंद का सेवन करना चाहिए। यह रेटिनॉल-बाइंडिंग प्रोटीन (Retinol-binding protein) में भी सुधार कर सकता है, जो विटामिन-ए को लिवर से अन्य टिश्यू तक पहुंचाने का काम करता है। इन सभी लाभों के अलावा इसका अधिक सेवन नुकसानदायक भो हो सकता है। आइये प्रेगनेंसी में शकरकंद खाने फायदे और नुकसान विस्तार से जानते है।

शकरकंद के पोषक तत्व – Sweet potato Nutrient Value in Hindi

शकरकंद के पोषक तत्व - Sweet potato Nutrient Value in Hindi

स्वीट पोटैटो की प्रति 100 ग्राम मात्रा में निम्न पोषक तत्व पाए जाते है।

प्रेगनेंसी में शकरकंद खाने फायदे – Pregnancy me Shakarkandi Khane ke fayde

प्रेगनेंसी में शकरकंद खाने फायदे - Pregnancy me Shakarkandi Khane ke fayde

गर्भावस्था में शकरकंद खाने से निम्न लाभ होते है-

प्रेगनेंसी में शकरकंद खाने के फायदे भ्रूण के विकास मेंPregnancy me Shakarkandi Khane ke fayde bhrun ke vikas me

शकरकंद में विटामिन ए की अच्छी मात्रा होती है, गर्भवती महिलाओं को डॉक्टर विटामिन ए से भरपूर खाद्य पदार्थ का सेवन करने की सलाह देते हैं। प्रेगनेंसी में रोज कम से कम 800 mg विटामिन ए की आवश्यकता होती है, क्योंकि यह बच्चे का हृदय, फेफड़े, लिवर, रक्त और गुर्दे जैसे अंगों के विकास में मदद करता है। महिलाओं को नियमित रूप से आधे कप बेक किए हुए शकरकंद का सेवन करना चाहिए।

गर्भावस्था के दौरान शकरकंद खाने के फायदे मेटाबॉलिज्म में – Pregnancy me Shakarkandi Khane ke fayde Metabolism me

गर्भावस्था के दौरान शकरकंद खाने के फायदे मेटाबॉलिज्म में - Pregnancy me Shakarkandi Khane ke fayde Metabolism me

गर्भावस्था में अधिकांश महिलाओं को कब्ज की समस्या का सामना करना पड़ता है। शकरकंद, फाइबर का एक अच्छा स्रोत है इसके अलावा इसमें विटामिन ए पर्याप्त मात्रा में होता है जो मेटाबॉलिज्म के लिए जरूरी होता है। प्रेगनेंसी में महिलाओं को अपने पाचन क्रिया को स्वस्थ रखने के लिए प्रतिदिन लगभग 30 ग्राम फाइबर लेने की आवश्कता होती है। इसके लिए आप एक कप से शकरकंद रोज करें।

भ्रूण के मस्तिष्क के विकास के लिए खाएं स्वीट पोटैटो – Eat sweet potato for fetal brain development in Hindi

भ्रूण के मस्तिष्क के विकास के लिए खाएं स्वीट पोटैटो - Eat sweet potato for fetal brain development in Hindi

गर्भावस्था में महिलाएं जो भी खाती है उसका असर आपके बच्चे पर भी होता है। स्वीट पोटैटो में विटामिन बी6 होता है जिसे पायरीडॉक्सीन (Pyridoxine) के नाम से भी जाना जाता है। यह भ्रूण के मस्तिष्क के विकास और तंत्रिका तंत्र के गठन के लिए बहुत ही आवश्यक होता है। इसके अलावा यह महिलाओं में मॉर्निंग सिकनेस को कम करने भी बहुत प्रभावी होता है।

गर्भावस्था के दौरान शकरकंद खाने के लाभ भ्रूण की अस्थि विकास में  – Eat sweet potato for fetal bone development in Hindi

गर्भ में पल रहे बच्चे की हड्डियों के विकास के लिए महिलाओं का शकरकंद लाभदायक हो सकता है। इसमें विटामिन सी, आयरन और मैंगनीज  आदि पोषक तत्व पाए जाते है। विटमिन सी एंजाइम गतिविधि, हड्डी और पेशी का विकास, त्वचा का विकास में मदद करता है। मैंगनीज खनिज है भ्रूण की हड्डियों के विकास में भी मदद करता है। गर्भावस्था के दौरान भ्रूण के अस्थि विकास के लिए प्रतिदिन लगभग 90 मिलीग्राम विटामिन सी लेना जरूरी होता है।

शकरकंद को अपने आहार में कैसे शामिल कर सकते हैं?- How can you include sweet potato in your diet In Hindi

शकरकंद को अपने आहार में कैसे शामिल कर सकते हैं?- How can you include sweet potato in your diet In Hindi

प्रेगनेंसी में शकरकंद को खाने के सुरक्षित तरीके निम्न हैं।

  • शकरकंद को उबालकर खाएं।
  • शकरकंद के छोटे छोटे टुकड़ों में नमक लगाकर खाएं।
  • उबले हुए शकरकंद को अन्य सलाद के साथ खाएं।
  • आप शकरकंद के बिस्कुट तैयार करके भी खा सकती हैं।

शकरकंद को खाने के लिए सावधानियां – Precautions to eat sweet potato In Hindi

यदि आप गर्भावस्था के दौरान शकरकंद का सेवन करना चाहती है जो निम्न बातों को ध्यान में जरूर रखें।

  • शकरकंद का सेवन करने से पहले उसे धोकर उबाल लें।
  • शकरकंद जांच करे कि वह कहीं सड़ी हुई न हो।
  • स्वीट पोटैटो को उबालते या काटकर बेक करते समय देखें की शकरकंद से बदबू तो नहीं आ रही है, यह उसके खराब होने की निशानी होती है।
  • इसे आराम से खाएं, क्योंकि यह गले में भी अटक सकता है।

गर्भावस्था के दौरान शकरकंद का सेवन करने के नुकसान – Pregnancy me shakarkandi khane ke nuksan

गर्भावस्था के दौरान शकरकंद का सेवन करने के नुकसान - Pregnancy me shakarkandi khane ke nuksan

अधिक मात्रा में प्रेगनेंसी  के दौरान स्वीट पोटैटो का सेवन हानिकारक हो सकत है इसलिए आपको इसे सीमित मात्रा में खाना चाहिए। गर्भावस्था में शकरकंद खाने से निम्न नुकसान होते है।

  • अधिक शकरकंद खाने से हाइपरविटामिनोसिस ए हो सकता है जिसकी वजह से भ्रूण में शारीरिक दोष, लिवर कमजोर होना, गर्भपात, समयपूर्व प्रसव और मृत बच्चे का जन्म आदि हो सकता है।
  • शकरकंद में एक खास तरह की चीनी मौजूद होती है जिसे मैनिटॉल (Mannitol) कहा जाता है। इसकी वजह से पेट दर्द, गैस और दस्त हो सकते है।
  • स्वीट पोटैटो में ऑक्सालेट्स होता है जो गुर्दे की पथरी और पित्ताशय की थैली के दर्द का कारण बनता है।
  • जिन महिलाओं को डायबिटीज है या वजन अधिक है, उनको इसका सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि शकरकंद में भरपूर मात्रा में स्टार्च होता है, जो इस समस्या को बढ़ा सकता है।

गर्भावस्था में शकरकंद खाने के फायदे के बारे में (Pregnancy me Shakarkandi Khane ke fayde) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Reference

1. Maternal Diet and Nutrient Requirements in Pregnancy and Breastfeeding. An Italian Consensus Document By NCBI
2. Nutrition Recommendations in Pregnancy and Lactation By NCBI
3. Sweet potato, cooked, baked in skin, flesh, without salt By USDA
4. Eating for a Healthy Pregnancy By CDHD
5. Tips for a Healthy Pregnancy By DOH Washington
6. Promotion of Orange-Fleshed Sweet Potato Increased Vitamin A Intakes and Reduced the Odds of Low Retinol-Binding Protein among Postpartum Kenyan Women1,2,3 By NCBI
7. Vitamin A By NIH
8. The Importance of Beta-Carotene as a Source of Vitamin A With Special Regard to Pregnant and Breastfeeding Women By PubMed
9. Healthy Eating During Pregnancy and Breastfeeding By FHS
10. Vegetable Nutrition Facts By FDA
11. Sweet potato, canned, mashed By USDA
12. Folic Acid: the Vitamin That Helps Prevent Birth Defects By DOH Newyork State
13. Nutritional Management of Kidney Stones (Nephrolithiasis) By NCBI
14. Sweet Potato as a Super Food By IJRAP
15. Vitamin A Toxicity By NCBI
16. A Guide to Evidence-based Integrative and Complementary Medicine By Google Books

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration