वीर्य वेग रोकने के नुकसान - Virya Veg Rokne Ke Nuksan - Healthunbox
सेक्स एजुकेशन

वीर्य वेग रोकने के नुकसान – Virya Veg Rokne Ke Nuksan

वीर्य वेग रोकने के नुकसान - Virya Veg Rokne Ke Nuksan

Virya Veg Rokne Ke Nuksan: वीर्य वेग क्या है और वीर्य वेग रोकना हमारे स्वास्थ्य के लिए किस प्रकार से नुकसानदायक होता है, आज के इस आर्टिकल में हम आपको वीर्य वेग रोकने के नुकसान के बारे में जानकारी देंगे।

वीर्य वेग को रोकने से किडनी में सूजन, लिंग में दर्द, मूत्राशय में दर्द और शुक्राणुओं पर बुरा प्रभाव पड़ता है। आइये वीर्य वेग रोकने के नुकसान के बार में विस्तार से जानते है।

वीर्य वेग क्या है – Virya Veg kya hai

वीर्य वेग क्या है - Virya Veg kya hai

स्पर्म एक प्रकार का रस है जो हमारे शरीर में 24 घंटे बनता रहता है। जिस प्रकार से शरीर में पेशाब को बनने से नहीं रोका जा सकता है उसी प्रकार वीर्य को बनने से नहीं रोका जा सकता है। जब स्पर्म आपके शरीर में निरंतर बनते रहते है तो उसका निकलना भी जरूरी होता है।

यदि आप संभोग या हस्तमैथुन नहीं करते है तो यह स्वप्नदोष या निदा मैथुन से बाहर निकल जाता है। इस प्रकार से वीर्य निकलने की गति को वीर्य वेग कहा जाता है। और इसे रोकने से कई प्रकार के नुकसान होते है।

(और पढ़ें – स्पर्म लीकेज (वीर्य रिसाव) क्या है, कारण, लक्षण और ट्रीटमेंट)

वीर्य वेग रोकने के नुकसान – Virya Veg Rokne Ke Nuksan

वीर्य वेग रोकने के नुकसान - Virya Veg Rokne Ke Nuksan

स्पर्म या वीर्य वेग को रोकना हमारे लिए निम्न प्रकार से नुकसानदायक होता है।

(और पढ़े – शीघ्रपतन कारण,उपचार और शीघ्रपतन रोकने के घरेलु उपाय…)

वीर्य वेग रोकने के नुकसान मूत्राशय में दर्द होना

वीर्य वेग रोकने के नुकसान मूत्राशय में दर्द होना

जब आप स्पर्म को निकलने से रोकते है तो इससे मूत्राशय पर जोर पड़ता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि मूत्राशय आपके स्पर्म निर्माण वाली जगह के पास होता है। पेशाब और वीर्य की नली एक ही होती है। जब आपके शरीर में अधिक वीर्य हो जाता है और निकलने से रोकते है तो इससे मूत्र निकलने वाली नली प्रभावित होती है। जिसकी वजह से मूत्राशय में दर्द होने लगता है और यह कई प्रकार की समस्याओं का कारण बनता है।

(और पढ़े – हस्तमैथुन करना सही या गलत जानें पूरा सच…)

किडनी में सूजन आना है वीर्य वेग रोकने के नुकसान

किडनी में सूजन आना है वीर्य वेग रोकने के नुकसान

हमारे शरीर में किडनी, स्पर्म प्रोडक्शन एरिया के बिलकुल ऊपर होती है। जब आप वीर्य को रोकते है तो आपकी किडनी पर दबाव पड़ता है। इस दबाव की वजह से किडनी में सूजन आ जाती है जो एक गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है। इसलिए आपको कभी भी वीर्य वेग को नहीं रोकना चाहिए।

(और पढ़े – सीमेन रिटेंशन (वीर्य प्रतिधारण) क्या है और इसके फायदे…)

वीर्य वेग रोकने के नुकसान शुक्राणुओं में कमी होना

वीर्य वेग रोकने के नुकसान शुक्राणुओं में कमी होना

पुरुषों की प्रजनन क्षमता स्वस्थ शुक्राणुओं पर निर्भर करती है। शुक्राणु पुरुषों के वीर्य में पाए जाते है, जिससे महिला गर्भवती होती है। स्पर्म स्खलन में जब वीर्य आपके शरीर के बाहर आता तो इसके साथ सभी शुक्राणु बाहर आ जाते है और आपके शरीर में फिर से नए शुक्राणु  बनने लगते है। लेकिन जब वीर्य आपके लिंग से बाहर निकल रहा होता है और आप उनको रोकने का प्रयास करते है तो इससे शुक्राणु की गुणवत्ता प्रभावित होती है।

(और पढ़े – वीर्य को जल्दी निकलने से रोकने के घरेलू उपाय…)

वीर्य वेग रोकने के नुकसान लिंग में दर्द होना

वीर्य वेग रोकने के नुकसान लिंग में दर्द होना

संभोग के दौरान आपके लिंग में उत्तेजना के कारण तनाव आ जाता है, जिसकी वजह से ही आप सेक्स कर पाते है। लिंग का यह तनाव वीर्य स्खलन के बाद ख़त्म हो जाता है। जब आप सेक्स के दौरान वीर्य को निकलने से रोकते है तो इससे आपके लिंग में दर्द होता है। हालांकि यह दर्द आपको संभोग के दौरान उत्तेजना और आनंद के कारण पता नहीं चलता है लेकिन बाद में इस दर्द को महसूस किया जा सकता है। लिंग का यह दर्द बाद में किसी बड़ी परेशानी का कारण बन सकता है। इसलिए वीर्य वेग को रोकने का प्रयास न करें।

(और पढ़े – हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान जो आपको जानना है जरूरी…)

वीर्य वेग रोकने के अन्य नुकसान

वीर्य वेग रोकने के अन्य नुकसान

अपने शरीर में वीर्य वेग को रोकने से लंबे समय के बाद आपको अन्य निम्न प्रकार के नुकसान हो सकते है।

(और पढ़े – पुरुषों की सेक्स समस्यायों के बारे में जानकारी…)

वीर्य वेग रोकने के नुकसान (Virya Veg Rokne Ke Nuksan) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration