लिंग कैसे खड़ा होता है: इरेक्शन और स्खलन कैसे होता है - How Erection and Ejaculation Works in Penis in Hindi - Healthunbox
सेक्स एजुकेशन

लिंग कैसे खड़ा होता है: इरेक्शन और स्खलन कैसे होता है – How Erection and Ejaculation Works in Penis in Hindi

लिंग कैसे खड़ा होता है: इरेक्शन और स्खलन कैसे होता है - How Erection and Ejaculation Works in Penis in Hindi

लिंग (पेनिस) कैसे खड़ा होता है? जब एक पुरुष यौन उत्तेजित होता है, तो लिंग (Penis) में मोजूद रक्त वाहिकाएं शिथिल हो जाती हैं और खुल जाती हैं, जिससे पेनिस में ब्लड भर जाता है। उच्च दबाव में फंसा हुआ रक्त पेनिस में इरेक्शन उत्पन्न करता है। स्खलन केंद्रीय तंत्रिका तंत्र द्वारा नियंत्रित एक रिफ्लेक्स क्रिया है।

इस आर्टिकल में हम विस्तार से जनागें, मनुष्य का लिंग कैसे खड़ा (ling khada kaise hota hai) और टाइट होता है और लिंग खड़ा क्यों होता है (ling khada kyo hota hai) लिंग खड़ा करों नही होता है (ling khada kyo nahi hota hai) और पेनिस के इरेक्शन के बाद स्खलन कैसे होता है साथ ही लिंग की शारीरिक रचना क्या है? के बारे में भी हम जानेगें तो इस लेख को पूरा पढ़ें, चलिए सबसे पहले हम लिंग की शारीरिक रचना क्या है?( What is the anatomy of the penis in Hindi?) जान लेते हैं।

लिंग की शारीरिक रचना क्या है? – What is the anatomy of the penis in Hindi?

लिंग का शारीरिक रचना क्या है? - What is the anatomy of the penis in Hindi?

लिंग (पेनिस) पुरुष का यौन अंग (male sexual organ) है।

शाफ्ट इसका सबसे लंबा हिस्सा होती है। सिर या ग्लांस (head or glans) शाफ्ट के अंत में होती हैं। सिर की नोक पर छेद (opening) होता है, जहां से मूत्र और वीर्य (urine and semen) निकलता है, को सिर (meatus) कहा जाता है।

पेनिस के अंदर, दो सिलेंडर के आकार के चैंबर होते हैं जिन्हें कॉर्पोरा कैवर्नोसा (corpora cavernosa) कहा जाता है, जो लिंग की लंबाई (length of the penis) को बढ़ाते हैं। उनके पास रक्त वाहिकाओं (blood vessels), ऊतक और खुले पॉकेट (स्पंज की तरह) का जाल होता है ।

मूत्रमार्ग (urethra), ट्यूब स्पंजी ऊतक कॉरपस स्पॉन्जिओसम (corpus spongiosum) जहाँ से मूत्र और वीर्य बाहर आता है, वह कॉर्पोरा कैवर्नोसा के साथ नीचे से चलती है।

स्तंभन ऊतक, दो मुख्य धमनियां (कॉर्पोरा केवर्नोसा में से प्रत्येक में से एक) और कई नसें रक्त को अंदर और बाहर ले जाती हैं। नर्व आपके शरीर के अन्य हिस्सों से संदेश को प्रसारित करता है।

आपने आदमी के लिंग की शारीरिक संरचना जान ली चलिए अब बात करते हैं मनुष्य का लिंग खड़ा कैसे होता है यानी इरेक्शन कैसे होता है? (How does an erection occur in Hindi?) और कैसे इंसान का लिंग देर तक खड़ा रहता है।

इरेक्शन कैसे होता है? – How does an erection occur in Hindi?

इरेक्शन कैसे होता है? - How does an erection occur in Hindi

लिंग के खड़े होने की शुरुआत संवेदी और मानसिक उत्तेजना से शुरू होती है। आपके दिमाग से पेनिस में इरेक्शन (Erection in Penis) होना शुरू होता है। यौन उत्तेजना के दौरान, तंत्रिका संदेश लिंग को उत्तेजित करना शुरू करते हैं। आपने ऐसा कुछ देखा, महसूस किया, सूंघा, सुना, या सोचा जो उत्तेजना से जुड़ा हो तब आपकी नसें आपके लिंग में रक्त वाहिकाओं को रासायनिक संदेश भेजती हैं। जिससे धमनियां रिलेक्स होती हैं और अधिक रक्त प्रवाह को अंदर आने के लिए उन्हें ओपन करती है, जिससे रक्त को अंदर आने और खुले स्थानों को भरने की अनुमति मिलती है और उसी समय, नसें बंद हो जाती हैं। एक बार जब ब्लड पेनिस में होता है, तो दबाव उसे कॉर्पोरा कैवर्नोसा के भीतर फंसा देता है। जिससे आदमी का लिंग खड़ा हो जाता है (ling khada hota hai) और कुछ देर तक खड़ा रहता है।

ट्यूनिका अल्बुगिनेया (कॉर्पोरा कैवर्नोसा के आस-पास की झिल्ली), पेनिस में इरेक्शन को बनाए रखते हुए रक्त को कॉर्पोरा कैवर्नोसा में फंसाने में मदद करती हैं।

जब लिंग में मांसपेशियों में संकुचन होता है, तो रक्त का प्रवाह बंद हो जाता है और नसें खुलती हैं, तो मर्द का लिंग नरम हो जाता है।

मनुष्य का लिंग खड़ा कैसे होता है(ling khada kaise hota hai) ये तो आपने जान लिया अब बात करते हैं स्खलन कैसे होता है? (How does ejaculation occur in Hindi?) और इसकी प्रक्रिया क्या है।

स्खलन कैसे होता है? – How does ejaculation occur in Hindi?

स्खलन कैसे होता है? - How does ejaculation occur in Hindi?

यौन उत्तेजना (Sexual stimulation) और घर्षण उन आवेगों (impulses) को प्रदान करते हैं जो रीढ़ की हड्डी (spinal cord) और मस्तिष्क को भेजे जाते जाते हैं। स्खलन (Ejaculation i) केंद्रीय तंत्रिका तंत्र (central nervous system) द्वारा नियंत्रित एक रिफ्लेक्स क्रिया है। यह तब शुरू होती है जब यौन क्रिया उत्तेजना (excitement) के चरम स्तर तक पहुंच जाती है। इसके दो चरण हैं।

पहले चरण में, जब आप उत्तेजित होते हैं, तो नलिकाएं जिसे वास डेफेरेंस कहा जाता है (वृषण से शुक्राणु को स्टोर और ट्रांसपोर्ट करने वाले ट्यूब), मूत्रमार्ग के पीछे के वृषण से शुक्राणु निचोड़ (squeeze) लेती है। प्रोस्टेट ग्रंथि और सेमिनल वेसिकल्स (prostate gland and seminal vesicles) वीर्य में तरल पदार्थ छोड़ती हैं। इस स्तर पर, स्खलन (ejaculation) को नहीं रोका जा सकता है।

दूसरे चरण में, मूत्रमार्ग शुक्राणु और द्रव मिश्रण को अपने पास में लाता है। फिर, यौन उत्तेजना की ऊंचाई पर, यह आपकी रीढ़ की हड्डी को संकेत भेजता है, जो बदले में आपके लिंग के आधार पर मांसपेशियों को संकेत भेजता है। जिससे लिंग के आधार पर मांसपेशियां हर 0.8 सेकंड में सिकुड़ती हैं और वीर्य को तेज आवेग के साथ लिंग से बाहर निकलने के लिए मजबूर करती हैं। यह फ़ोर्स लिंग से वीर्य को चरमोत्कर्ष (climax) के रूप में बाहर निकलने के लिए मजबूर करता है।

निष्कर्ष

लिंग के खड़े होने से स्खलन तक कई चीजें एक साथ चलतीं हैं जिसमे शारीरिक और मानसिक उत्तेजना भी शामिल होती है आशा है आपको इस लेख में पेनिस में इरेक्शन से सम्बन्धित जरूरी जानकारी मिल गयी होगी।

लिंग कैसे खड़ा होता है: इरेक्शन और स्खलन कैसे होता है (How Erection and Ejaculation Works in Penis in Hindi) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

References

Leave a Comment

1 Comment

Subscribe for daily wellness inspiration