मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल गोली द्वारा गर्भपात कैसे किया जाता है तरीका और सावधानियां – How To Use Mifepristone And Misoprostol Kit In Hindi

मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल गोली द्वारा गर्भपात कैसे किया जाता है तरीका और सावधानियां – How To Use Mifepristone And Misoprostol In Hindi
Written by Pratistha

मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रिस्टोल गर्भपात की गोली द्वारा गर्भपात किया जाता है यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके द्वारा 10 हफ्तों से कम के अनचाहे गर्भ को बाहर निकालने के लिए इस्तेमाल की जाती है। मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टल गोली से  एबॉर्शन शल्यचिकित्सा से गर्भपात के वैकल्पिक रूप में महिलाओं द्वारा व्यापक रूप मे उपयोग किये जाने वाले तरीके के रुप में उभरा है। जब कोई महिला अनचाही प्रेगनेंसी के कारण बच्चा नहीं रखना चाहतीं हैं तो ऐसी महिलाये मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रिस्टोल गोलियों द्वारा गर्भपात के जरिये गर्भाशय से भ्रूण को बाहर निकाल देती है यह प्रक्रिया प्रेगनेंसी के 10 हफ्तों के अन्दर की जाती है।

मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल का संयोजन 95% तक प्रभावी है। याद रखें यह जानकारी गर्भधारण में गोलियों के साथ गर्भपात के लिए उपयोगी है जो आपके मासिक धर्म के पहले दिन से 10 सप्ताह या उससे कम समय का होना चाहिए। यदि आप 10 सप्ताह से अधिक की गर्भवती हैं तो आपको गर्भपात के लिए अन्य माध्यम को चुनना चाहिए ।

इस लेख के माध्यम से आप जानेगीं कि मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रिस्टोल द्वारा गर्भपात कैसे किया जाता है? इनके उपयोग, तरीका, सावधानियां और नुकसान के बारे में।

1. गोली द्वारा गर्भपात क्या है – What Is Medical Abortion In Hindi
2. मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल द्वारा गर्भपात कराने का तरीका – How To Use Mifepristone And Misoprostol Kit In Hindi
3. एबॉर्शन पिल्स मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल का उपयोग कैसे करे – How To Use Mifepristone And Misoprostol In Hindi
4. मिफेप्रिस्टोन के उपयोग की विधि – How To Use Mifepristone In Hindi
5. गर्भपात करने के लिए मिसोप्रोस्टोल लेने का तरीका – How To Use Misoprostol In Hindi
6. मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल गोली का उपयोग करने के बाद – After uses of abortion pills mifepristone and misoprostol in Hindi
7. मिफेप्रिस्टोन और मिसोंप्रोस्टोल गोली के नुकसान – Mifepristone And Misoprostol Side Effect In Hindi

8. मिफेप्रिस्टोन और मिसोंप्रोस्टोल गोली खाने के बाद सावधानियां – Precautions after use mifepristone and misoprostol in Hindi
9. मिफेप्रिस्टोन और मिसोंप्रोस्टोल गोली से चेतावनी के संकेत – Warning sign of use mifepristone and misoprostol in Hindi

गोली द्वारा गर्भपात क्या है – What Is Medical Abortion In Hindi

गोली द्वारा गर्भपात क्या है - What Is Medical Abortion In Hindi

गर्भपात का शाब्दिक अर्थ है गर्भ का समाप्त हो जाना या नष्ट हो जाना। गर्भपात एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे महिलाये अनचाहे गर्भ से छुटकारा पाने की तलाश में महिलाएं सुरक्षित तरीको का सहारा लेती है मेडिकल एबॉर्शन पिल्स मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल का उपयोग अनचाहे गर्भ से छुटकारा पाने के लिए किया जाता है गोली द्वारा महिलाओ के गर्भाशय से भ्रूण स्वतः निष्कासित हो जाता है या कर दिया जाता है इसके परिणामस्वरुप गर्भावस्था की समाप्ति हो जाती है किसी कारण भ्रूण के स्वतः समाप्त हो जाने की प्रक्रिया को गर्भपात कहा जाता है।

(और पढ़े – गोली द्वारा गर्भपात (मेडिकल एबॉर्शन) कैसे किया जाता है, तरीका, नुकसान और कानून…)

मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल द्वारा गर्भपात कराने का तरीका – How To Use Mifepristone And Misoprostol Kit In Hindi

गोली मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल द्वारा गर्भपात कई चरणों में पूरा होता है आप चाहे तो घर पर ही गोली द्वारा गर्भपात आसानी से कर सकती है अगर गर्भपात को लेकर आपके मन में किसी बात का डर या शंका है तो आप डॉक्टर के पास जाकर अपना गर्भपात करवा सकती है गोली द्वारा गर्भपात करने के लिए आमतौर पर मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल नामक दो गोलियों का सेवन करना पड़ता है।

मिफेप्रिस्टोन की 1पिल्स (गोली) और मिसोप्रोस्टोल की 4 गोली होनी चहिए। आपको दोनों गोलियों की बराबर मात्रा में आवश्यकता होगी। मिफेप्रिस्टोन गोली 200 मिलीग्राम (या 200 मिलीग्राम के बराबर) और प्रत्येक मिसोप्रोस्टोल गोली 200 मिलीग्राम होनी चाहिए। यदि संभव हो तो,  8 मिसोप्रोस्टोल की गोलियां (4 अतिरिक्त) खरीद लें, ताकि जरुरत पर उनका उपयोग कर सकें।

यदि आपके द्वारा ली जा रही गोलियों में mg और mcg की अलग-अलग खुराके है, तो आपको पुनर्गणना करने की आवश्यकता होगी। ताकि आप सही मात्रा में दवा प्राप्त कर सके।

एबॉर्शन पिल्स मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल का उपयोग कैसे करे – How To Use Mifepristone And Misoprostol In Hindi

एबॉर्शन पिल्स मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल का उपयोग कैसे करे - How To Use Mifepristone And Misoprostol In Hindi

हम आपको बताएँगे की मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल (एबॉर्शन पिल्स) का उपयोग कैसे किया जाता है-

  • यहाँ आपके लिए दो विकल्प दिए गए है ये दोनों ही तरीके बहुत प्रभावी है जिसमे गोलियों को अपनी योनि में रखना या अपने मुंह में गालों और निचले जबड़े के बीच रखकर चुसना शामिल है।
  • मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल की गोलियां लेने से पहले बहुत सारा पानी पी सकती है ताकि बाद में आपको पानी की कमी महसूस न हो।

(और पढ़े – सर्जिकल गर्भपात की प्रकिया, देखभाल और कमजोरी होने पर क्या खाएं…)

मिफेप्रिस्टोन के उपयोग की विधि – How To Use Mifepristone In Hindi

चरण 1 – गर्भपात करने के लिए मिफेप्रिस्टोन (Mifepristone 200mg) की एक गोली पानी के साथ निगल ले। इसके बाद आपको 24 से 48 घंटे के बाद मिसोप्रोस्टॉल (Misoprostol) की 4 गोलियां लेनी हैं।

गर्भपात करने के लिए मिसोप्रोस्टोल लेने का तरीका – How To Use Misoprostol In Hindi

गर्भपात करने के लिए मिसोप्रोस्टोल लेने का तरीका - How To Use Misoprostol In Hindi

मिसोप्रोस्टोल लेने के दो तरीके है-

  • गोली को अपनी योनि के अंदर रखना।
  • या अपने मुहँ में गालो और निचले जबड़ो के बीच में गोली को रखना।
  • आप मिसोप्रोस्टोल का उपयोग मौखिक रूप से ही करे। क्योकि यह मुह में तेजी से घुल जाती है और इसमें संक्रमण का जोखिम भी नहीं होता है।

चरण 2- मिसोप्रोस्टोल की 4 गोलियों का इस्तेमाल करने से पहले आपको 24 घंटे इंतज़ार करना होगा लेकिन किसी भी हालत में 48 घंटो के पहले इनका इस्तेमाल कर ले। इंतज़ार करने कि अवधि के समय आप अपने रोजमर्रा के काम सामान्य तरीके से कर सकतीं है।

चरण 3- अब 4  मिसोप्रोस्टोल गोली लेने से पहले थोड़ा सा पानी पीकर मुहँ को गीला कर ले। मिसोप्रोस्टोल की 4 गोलियां (प्रत्येक200 mcg) की दोनों तरफ 2 गोलियां अपने गाल और दांतों के बीच रखें।

चरण 4- मिसोप्रोस्टोल की 4 गोलियां अपने गालो में 30 मिनट के लिए रहने दे गोलियों के घुलने पर आपका मुहँ सूख सकता है या बेस्वाद भी हो सकता है इन 30 मिनट के दौरान किसी भी चीज का सेवन न करे।

चरण 5- मिसोप्रोस्टोल की 4 गोलियां लेने के आधे घंटे बाद आप पानी पी सकती है गोलियों का जो कुछ भी हिस्सा मुहँ में रह गया हो वह पानी के साथ अन्दर चला जाये।

मिसोप्रोस्टोल गोली का उपयोग योनि में इस तरह करें

  • सबसे पहले पेशाब कर लें और योनि को अच्छे से साफ कर लें ।
  • अपने हांथों को भी अच्छे से धो कर साफ कर लें।
  • अब दोनों पैर फैलाकर किसी आराम दायक जगह पर पीठ के बाल लेट जायें।
  • फिर धीरे- धीरे मिसोप्रोस्टोल की 4 गोलियों को अपनी योनि में अन्दर डालें।
  • गोलियों को जितना अंदर कर सकतीं है उतना अन्दर करने की कोशिश करें क्योकि आपकी टोनी में इनके लिए कोई विशेष जगह नहीं है बस आपको इन्हें 30 मिनिट तक अपनी योनि में रखना है और उससे बहार नहीं आने देना है।
  • मिसोप्रोस्टोल की 4 गोलियों को लेने के बाद आपको तेज दर्द हो सकता है इसके लिए अपने पास दर्द निबारक गोली रखें।
  • आमतौर पर मिसोप्रोस्टोल की गोलियाँ लेने के 5 घंटे के भीतर या उससे पहले गर्भपात हो जाता है।

(और पढ़े – गर्भनिरोधक के सभी उपाय और तरीके…)

मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल गोली का उपयोग करने के बाद – After uses of abortion pills mifepristone and misoprostol in Hindi

मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल गोली का उपयोग करने के बाद - After uses of abortion pills mifepristone and misoprostol in Hindi

यदि मिफेप्रिस्टोने और मिसोप्रोस्टोल की गोलियां लेने से आपके पेट या आंतो (Intestine) में मरोड़ आती है तो इबुप्रोफेन एक अच्छा दर्दनिवारक है आप 6 घंटे में 4 200 mg की इबुप्रोफेन गोलियां ले सकती है मिसोप्रोस्टोल का उपयोग करने से पहले भी आप इबुप्रोफेन की गोलियां ले सकती है इससे आपके आंतो (पेट) में मरोड़ कम हो सकती है।

यदि आपने गर्भनिरोधक गोलियां मिफेप्रिस्टोने और मिसोप्रोस्टोल ली है, तो आपको इसके बाद के चेकअप के लिए एक स्वास्थ्य सेवा प्रदाता (health care provider) के पास जाने की जरुरत नहीं है आप यह सुनिश्चित करे कि आपको गर्भावस्था के लक्षण नहीं है आप अच्छा महसूस कर रही है और आपको भारी मात्रा में रक्तस्त्राव (खून) नहीं हो रहा है ये दवाइयां इतनी प्रभावी है कि इन्हें लेने के बाद आपको केवल निम्नलिखित परिस्थितयो में ही स्वास्थ्य सेवा प्रदाता (health care provider) के पास जाना चाहिए-

  • यदि गर्भनिरोधक गोलियां लेने के बाद आप बीमार महसूस कर रही है, या तो दो या तीन दिनों में आपका दर्द कम नहीं हो रहा है, यदि ऐसा होता है तो तुरंत चिकित्सीय परामर्श ले।
  • गर्भनिरोधक गोलियां लेने के 2 सप्ताह बाद भी आप गर्भावस्था के लक्षण महसूस कर रही है।
  • रक्तस्त्राव बहुत अधिक है और 2 सप्ताह बाद भी कम नहीं हो रहा है।
  • मिसोप्रोस्टोल खाने के बाद गर्भाशय सिकुड़ जाता है और भ्रूण और गर्भाशय के टुकड़ो को ब्लीडिंग के द्वारा बाहर निकाल देता है इस दौरान शरीर में तेज ऐठन और ब्लीडिंग (खून)आने लगता है और गर्भाशय से सब कुछ निकल कर बाहर आ जाता है। और यह सामान्य पीरियड से ज्यादा भारी होता है और तेज दर्द होता है।
  • आमतौर पर महिलाओ को ब्लीडिंग एक या दो दिन तक लगातार निकलता रहती है इसका साफ़ अर्थ यह है कि आपका गर्भपात सफल रहा। हालाकि शरीर में ऐठन दर्द, और बुखार कई घंटो तक बना रहता है

(और पढ़े – गर्भनिरोधक दवाओं और उनके शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में जानें…)

मिफेप्रिस्टोन और मिसोंप्रोस्टोल गोली के नुकसान – Mifepristone And Misoprostol Side Effect In Hindi

मिफेप्रिस्टोन और मिसोंप्रोस्टोल गोली के नुकसान - Mifepristone And Misoprostol Side Effect In Hindi

गर्भपात में मिसोप्रोस्टोल गोली का उपयोग करने के बाद, महिलाये कुछ साइड इफ़ेक्ट (प्रभाव) का अनुभव करती है जो कुछ घंटो या कुछ दिनों तक रह सकते है इन दुष्प्रभावो में शामिल है-

  • बुखार
  • दस्त
  • मतली उल्टी
  • सरदर्द
  • ठंड लगना
  • अधिक ब्लीडिंग (खून) का जाना।

(और पढ़े – गर्भपात के बाद होने वाली समस्‍याएं…)

गर्भपात (एबॉर्शन पिल्स) लेने के बाद लम्बे समय तक ब्लीडिंग होना – Prolonged bleeding due to abortion pills in Hindi

गर्भपात (एबॉर्शन पिल्स) लेने के बाद लम्बे समय तक ब्लीडिंग होना - Prolonged bleeding due to abortion pills in Hindi

गर्भपात के बाद एबॉर्शन पिल्स मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल लेने के बाद महिलाओ में एजेस्ट्रोंन और प्रोजेस्ट्रोन हॉर्मोन का स्त्राव पूरी तरह से बंद हो जाता है और भ्रूण गर्भाशय से बाहर आ जाता है जिसके कारण महिलाओ में खून की कमी होने लगती है।

(और पढ़े – गर्भपात के बाद ब्लीडिंग रोकने के उपाय…)

गर्भपात की गोलियां खाने से तेज बुखार हो सकता है –Fever due to abortion pills in Hindi

गर्भपात की गोलियां खाने से तेज बुखार हो सकता है –Fever due to abortion pills in Hindi

गर्भपात की गोलिया मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल खाने से तेज बुखार हो सकता है जिससे तेज सर दर्द की समस्या हो सकती है कभी-कभी इन दवाओ का सेवन करने से इन गोलियों का प्रभाव अत्यधिक बढ़ जाता जाता है और शरीर में विपरीत प्रभाव पड़ता है।

(और पढ़े – बुखार कम करने के घरेलू उपाय…)

गर्भपात की गोलियां खाने से डायरिया हो सकता है – Diarrhoea due to abortion pills in Hindi

गर्भपात की गोलियां खाने से डायरिया हो सकता है - Diarrhoea due to abortion pills in Hindi

गर्भपात की गोलियां मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल खाने से डायरिया की समस्या हो सकती है जिससे पेट में ऐठन शुरू होने लगती है। इन गोलियों से हमारी आंतो (intestine) में बुरा असर पड़ता है जिससे आंतो पर इन्फेक्शन होने का डर बना रहता है।

(और पढ़े – गर्भावस्था के दौरान दस्त के कारण और उपचार…)

गर्भपात की गोलियां(मिफेप्रिस्टोन मिसोप्रोस्टोल) खाने से उल्टी हो सकती है – Vomiting due to abortion pills in Hindi

गर्भपात की गोलियां(मिफेप्रिस्टोन मिसोप्रोस्टोल) खाने से उल्टी हो सकती है - Vomiting due to abortion pills in Hindi

गर्भपात की गोलियां मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल खाने से आपको बार-बार उल्टी या जी मिचलाना जैसी समस्या हो सकती है अगर गोली खाने के कुछ घंटो बाद आपको लगातार उल्टी हो रही है तो इसका अर्थ है यह उल्टी आपको कई दिनों तक हो सकती है।

(और पढ़े – गर्भावस्था के दौरान उल्टी रोकने के घरेलू उपाय…)

गर्भपात की गोली खाने से हो सकता है सरदर्द या ठंड लगना – Headache, chills due to abortion pills in Hindi

गर्भपात की गोली खाने से हो सकता है सरदर्द या ठंड लगना - Headache, chills due to abortion pills in Hindi

गर्भपात (एबॉर्शन पिल्स) मिफेप्रिस्टोन और मिसोंप्रोस्टोल की गोलियां खाने से महिलाओ को तेज सरदर्द की समस्या हो सकती है जिससे महिलाओ को बुखार ठंड लगना और ,सरदर्द होने के साथ-साथ चलने फिरने,उठने बैठने में परेशानी होने लगती है और यह परेशानी कई दिनों तक बनी रहती है।

(और पढ़े – सिरदर्द दूर करने के घरेलू उपाय…)

मिफेप्रिस्टोन और मिसोंप्रोस्टोल गोली खाने के बाद सावधानियां – Precautions after use mifepristone and misoprostol in Hindi

मिफेप्रिस्टोन और मिसोंप्रोस्टोल गोली खाने के बाद सावधानियां - Precautions after use mifepristone and misoprostol in Hindi

मिफेप्रिस्टोन और मिसोंप्रोस्टोल गोली द्वारा गर्भपात करने के बाद रक्तस्त्राव और संक्रमण से बचने के लिए, यह महत्वपूर्ण है कि आप निम्नलिखित सावधानियाँ बरते जब तक कि आपका रक्तस्त्राव पूरी तरह से बंद न हो जाये।

  • अपनी योनि में टेम्पोंन और मासिक धर्म कप सहित वस्तुओ का उपयोग करने से बचे। गर्भपात के बाद गर्भाशय ग्रीवा की गर्दन आंशिक रूप से खुली रह सकती है जिससे मूत्र मार्ग में संक्रमण बढ़ सकता है।
  • गहन शारीरिक गतिविधियों से बचे (भारी वस्तुओ का प्रयोग करना, ले जाना, धकेलना, या खीचना सामान्य से अधिक चलना या सीढियों पर चढ़ने से बचें)।
  • कभी-कभी सभी महिलाओ के साथ यह समस्या नहीं होतीं है लेकिन कुछ मात्रा में खून बहना सामान्य है कई बार गर्भपात के केस में तीन चार हफ्तों बाद ब्लीडिंग होती रहती है लेकिन यह जानना बहुत जरुरी है कि यदि आपको कई दिनों से सेनेटरी पैड की जरुरत पड़ रही है तो इसे सामान्य नहीं समझा जा सकता है।
  • इसके अलावा यदि आपको सर दर्द या चक्कर आ रहे हो और खून के बड़े थक्के बन रहे हो आदि स्थितियां किसी चोट का संकेत हो सकते है ऐसे में आपको डॉक्टर की जरुरत पड़ सकती है।

(और पढ़े – मासिक धर्म कप (मेंस्ट्रुअल कप) क्या है कैसे इस्तेमाल किया जाता है फायदे और नुकसान…)

मिफेप्रिस्टोन और मिसोंप्रोस्टोल गोली से चेतावनी के संकेत – Warning sign of use mifepristone and misoprostol in Hindi

मिफेप्रिस्टोन और मिसोंप्रोस्टोल गोली से चेतावनी के संकेत - Warning sign of use mifepristone and misoprostol in Hindi

  • यदि आपके पास निम्नलिखित लक्षणों में से एक है तो यह एक चेतावनी का संकेत माना जाता है कि आपको  एक जटिलता का अनुभव हो सकता है और आपको तुरंत चिकित्सा ध्यान देना चाहिये।
  • यदि आप 1 घंटे में या उससे कम समय में दो पैड या अधिक (पूरी तरह से आगे पीछे से बगल की तरफ) भरते है और यह 2 घंटे या उससे अधिक समय तक रहता है। तो यह आपके लिए खतरे वाली बात है ।
  • 38 डिग्री सेल्सियस (100.4 डिग्री फैरेन्हाइट) जो मिसोप्रोस्टोल लेने के बाद भी कम नहीं होता है (यदि आपको लगता है कि आपको बुखार है तो आप थर्मामीटर से इसकी पुष्टि कर सकते है।
  • दर्द जो इबुप्रोफेन लेने के बाद भी कम या बेहतर नहीं होता है।
  • आपके रक्त (खून) का रंग या गंध आपकी नियमित अवधि से बहुत अलग होता है या उसमे से बदबू आती है।
  • यदि आपके पास लालिमा, खुजली, या हाथ, गर्दन और चेहरे पर सुजन है तो सम्भावना है कि आपको दवाओ से एलर्जी हो सकती है।
  • आप एक एंटीहिस्टमिनिक (एक ऐसी दवाई जो एलर्जी) को कम करती है का उपयोग कर सकती है, लेकिन अगर आपको साँस लेने में मुश्किल होती है तो एलर्जी की प्रतिक्रिया बहुत गंभीर है तो आपको तुरंत चिकित्सा देखभाल की आवश्यकता है।

(और पढ़े – बिना गोली और कंडोम के प्रेगनेंसी रोकने और गर्भधारण से बचने के उपाय…)

Leave a Comment

2 Comments

Subscribe for daily wellness inspiration