शादीशुदा ज़िंदगी में एक अच्छा सुनने वाला कैसे बनें – How To Be A Good Listener In Hindi

शादीशुदा ज़िंदगी में एक अच्छा सुनने वाला कैसे बनें - How To Be A Good Listener In Hindi
Written by Diksha

पति पत्नी के रिश्ते की समस्याओं को हल करने के लिए आप एक अच्छे श्रोता कैसे बन सकते हैं? आज शादीशुदा लोगों को कई मुश्‍किलों का सामना करना पड़ता है। जिसमे से एक है एक दुसरे को सुनने की क्षमता खो देना। अक्सर पत्नियों को ये सिकायत होती है की उनके पति उनकी बातों को ध्यान से नहीं सुनते हैं। आपकी शादी शुदा जिंदगी आपके लिए सबसे महत्‍वपूर्ण होती है पर फिर भी अपने रिश्‍ते को बचाने के लिए आप क्या कुछ नहीं करते हैं अगर शादीशुदा कपल अपनी अरेंज मैरिज को सफल और कारगर बनाना चाहतें हैं तो उन्हें एक दुसरे की बात को धयान से सुनना ही होगा ताकि वह अपने साथी की सही बात को समझ सकें और उसका गलत मतलब ना निकालें आइये जानतें हैं शादीशुदा ज़िंदगी में एक अच्छा सुननेवाला कैसे बनें और क्या करें।

“मैं क्या कह रहीं हूँ, आप सुन रहे हैं?” तुम्हारी पत्नी तुमसे यही कहती है। “हां, मैं सुन रहा था” आप अपने आप से कहते हैं। सच्चाई यह है कि आपने जो सुना और आपकी पत्नी ने जो कहा, उसके बीच काफी अंतर है। नतीजा, एक और बहस छिड़ गई।

आप इस तरह की बहस से बच सकते हैं। कैसे? सबसे पहले, आपको यह समझना होगा कि पत्नी की बात सुनते हुए भी, आप उसकी कुछ महत्वपूर्ण बातों को ध्यान से सुनने में विफल हो सकते हैं।

1. ऐसा क्यों होता है – Why does this happen in Hindi

2. पति पत्नी समस्याओं को हल करने के लिए आप एक अच्छे श्रोता कैसे बन सकते हैं – what can you do in Hindi

ऐसा क्यों होता है – Why does this happen in Hindi

  1. आपका ध्यान कहीं और है, आप थके हुए हैं या दोनों कारण हो सकते हैं – Your attention is elsewhere, you are tired or can be both in Hindi
  2. आप अटकलें लगाते हैं – You speculate in Hindi
  3. पूरी बात सुने बिना आप समाधान ढूंढने लगते हैं – Without hearing the whole thing, you start looking for solutions in Hindi

आपका ध्यान कहीं और है, आप थके हुए हैं या दोनों कारण हो सकते हैं – Your attention is elsewhere, you are tired or can be both in Hindi

आपका ध्यान कहीं और है, आप थके हुए हैं या दोनों कारण हो सकते हैं - Your attention is elsewhere, you are tired or can be both in Hindi

बच्चे शोर कर रहे हैं, टीवी बहुत तेज़ हैं और आप किसी चीज़ को लेकर परेशान हैं जो कार्यस्थल में हुई है। फिर आपकी पत्नी ने आपसे कुछ कहा, शायद शाम को आने वाले मेहमानों के बारे में। आप “हाँ” में सिर हिलाते हैं लेकिन क्या आप वास्तव में अपनी पत्नी को ध्यान से सुन रहे थे? शायद ऩही!

(और पढ़े – पति अपनी पत्नी से क्या चाहता है…)

आप अटकलें लगाते हैं – You speculate in Hindi

आप अटकलें लगाते हैं - You speculate in Hindi

आप अपनी पत्नी के पीछे छिपे कारण को जानने के लिए अटकलें लगाते हैं। ऐसा करते हुए, आप स्थिति के बारे में अधिक से अधिक सोचना शुरू करते हैं। मान लीजिए कि आपकी पत्नी आपको बताती है: “इस सप्ताह आपने थोड़ी देर ज्यादा काम किया।” लेकिन आपको लगता है कि आपको ताना मारा जा रहा है। तो आप कहते हैं: “मैं और क्या कर सकता हूं?” तुम्हारे खर्च इतने बढ़ रहे हैं। “आपकी पत्नी कहती है:” मैं आप पर आरोप नहीं लगा रही थी। “आपकी पत्नी के शब्दों का मतलब था कि सप्ताह के अंत में, कम से कम आप दोनों एक दुसरे के साथ समय बिताते हैं।

(और पढ़े – पार्टनर के शक को इन तरीकों से करें दूर…)

पूरी बात सुने बिना आप समाधान ढूंढने लगते हैं – Without hearing the whole thing, you start looking for solutions in Hindi

पूरी बात सुने बिना आप समाधान ढूंढने लगते हैं - Without hearing the whole thing, you start looking for solutions in Hindi

पत्नी कहती है, “कभी-कभी मैं बस अपने दिल की बात बताना चाहती हूं कि मैं कैसा महसूस कर रही हूं। लेकिन मेरे पति हमेशा समस्या का हल ढूंढता रहते है। लेकिन मैं हल नहीं करना चाहती, मैं सिर्फ उनसे इतना चाहतीं हु की वो मेरी बात को सुने और समझे।” मैं समझना चाहती हूं कि समस्या का मूल कारण क्या है? वे हमेशा इस उधेड़-बुन में लगे रहते हैं की समस्या को कैसे हल करें। नतीजतन, वह मेरी आधी-अधूरी बात सुनते हैं या बिल्कुल भी नहीं सुनते हैं।

(और पढ़े – पार्टनर के कंट्रोलिंग स्वभाव को कैसे हैंडल करें…)

पति पत्नी समस्याओं को हल करने के लिए आप एक अच्छे श्रोता कैसे बन सकते हैं – what can you do in Hindi

  1. ध्यान से सुनो – Listen carefully in Hindi
  2. जब आपका साथी बोलता है, तो सुनें – When your partner speaks, listen in Hindi
  3. सवाल पूछें – Ask questions in Hindi
  4. केवल शब्द ही नहीं इसके अर्थ भी – Not only words but also its meaning in Hindi
  5. अपने साथी की बात सुनें – Listen to your partner in Hindi
  6. साथी से बात करने वालों में सच्ची दिलचस्पी लें – Take a genuine interest in fellow-talkers in Hindi
  7. विशेष सलाह – Special advice in Hindi
  8. बात करने का सही समय  – The right time to talk in Hindi

ध्यान से सुनो – Listen carefully in Hindi

ध्यान से सुनो - Listen carefully in Hindi

आपकी पत्नी आपको कुछ महत्वपूर्ण बात बताना चाहती है, लेकिन क्या आप सुनने के लिए तैयार हैं? शायद ऩही। हो सकता है आप उस समय किसी चीज के बारे में सोच रहे हों या कोई काम कर रहे हों, अगर ऐसा है, तो सुनने का दिखावा न करें। हो सके तो आप जो कर रहे हैं उसे रोककर, अपनी पत्नी को ध्यान से सुनें। या आप अपनी पत्नी से कह सकते हैं, ‘क्या हम थोड़ी देर बाद बात कर सकते हैं?’

(और पढ़े – पार्टनर गर्लफ्रेंड या पत्नी के साथ आपका स्वभाव बताएगा आपका रिलेशनशिप स्टेटस्…)

जब आपका साथी बोलता है, तो सुनें – When your partner speaks, listen in Hindi

जब आपका साथी बोल रहा हो, तो बोलने या बीच में सफाई से दूर रहें। आपको अपने बारे में बात करने का मौका मिलेगा, अपने साथी की बात शांत रहते हुए सुनने की कोशिश करें।

(और पढ़े – वैवाहिक जीवन को खुशनुमा बनाने के आसान तरीके…)

सवाल पूछें – Ask questions in Hindi

सवाल पूछें - Ask questions in Hindi

सवाल पूछने से आप अपने साथी को अच्छी तरह से समझ सकते हैं। ज्यादातर पत्नियां कहती है: “जब उनके पति उनसे बातचीत के दौरान सवाल करते है, तो उन्हें अच्छा लगता है। इससे उन्हें पता है कि वे उनकी बात सुन रहे हैं और उसमे दिलचस्पी ले रहे हैं।”

(और पढ़े – रिलेशनशिप टिप्स यह 5 चीज करने से आपके पार्टनर आपसे नहीं जाएंगे दूर…)

केवल शब्द ही नहीं इसके अर्थ भी होते है – Not only words but also its meaning in Hindi

कृपया ध्यान दें कि बात करने का लहज़ा, हावभाव और आँखें क्या बताती हैं। उदाहरण के लिए, यदि साथी “ठीक है” कहता है तो इसका मतलब “अच्छी तरह से नहीं” हो सकता है। या अगर साथी कहता है, “आप मेरी कभी मदद नहीं करते”, तो इसका मतलब हो सकता है “मुझे आपसे कोई मतलब नहीं है।” इसलिए न केवल शब्दों को बोलने की कोशिश करें, बल्कि अनुत्तरित (अनकहे) शब्दों के अर्थ को भी समझें। अन्यथा, आप उक्त शब्दों के अर्थ को समझने के बजाय बहस करने बैठ जाते हैं।

(और पढ़े – जब पति आप पर ध्यान नहीं देता तो क्या करना चाहिए…)

अपने साथी की बात सुनें – Listen to your partner in Hindi

आपको पसंद नहीं आ रहा है जो आपको बताया जा रहा है, भले ही आप साथी के मामले में हस्तक्षेप न करें और वहां से उठें नहीं। उदाहरण के लिए, क्या होगा यदि आपका साथी आपको अपनी गलती बता रहा है? इस मामले में, “अपने साथी की बात सुनें”, जो आपके साथी कह रहे हैं, उसे गंभीरता से लें। ऐसा करने के लिए आपको समझ से काम लेने की आवश्यकता है। सुनिश्चित करें कि आपका प्रयास बेकार नहीं जाएगा।

(और पढ़े – परफेक्ट रिलेशनशिप के 8 सीक्रेट…)

साथी से बात करने वालों में सच्ची दिलचस्पी लें – Take a genuine interest in fellow-talkers in Hindi

साथी से बात करने वालों में सच्ची दिलचस्पी लें - Take a genuine interest in fellow-talkers in Hindi

ध्यान से सुनना केवल एक काम नहीं है, बल्कि प्यार को व्यक्त करने का एक तरीका है। यदि आप अपने साथी के मामलों में वास्तविक रुचि लेते हैं, तो आप जो कहते हैं उसे सुनना आपको बोझ नहीं लगेगा। “सिर्फ अपने भले के लिए ही नहीं, बल्कि दूसरों की भलाई के लिए भी चिंतित रहो।

हालाँकि, इस लेख में बात करते समय पति को ध्यान में रखा गया है। लेकिन यहां दिए गए सिद्धांत पति और पत्नी दोनों पर लागू होते हैं।

(और पढ़े – 7 चीजें जो पुरुष महिलाओं से चाहते है…)

विशेष सलाह – Special advice in Hindi

“सुनने के लिए जल्दबाजी करें, बोलने के लिए देरी करें, क्रोध के लिए और धीमें रहें।”

(और पढ़े – पति पत्नी के बीच प्यार बढ़ाने के उपाय…)

बात करने का सही समय  – The right time to talk in Hindi

बात करने का सही समय  - The right time to talk in Hindi

सोचिए अगर आप बात कर रहें हैं और आपका साथी दूसरे कमरे में है या किसी काम में लगा हुआ है, तो क्या वह आपकी बात सुन पाएगा? आपको बात करना उस समय बेहतर होगा जब आपका साथी आपकी कही गई बातों पर ध्यान दे इसके लिए हमेशा बात करने से पहले अच्छे समय का इंतजार करे।

(और पढ़े – पति पत्नी के रिश्ते की समस्याओं के कारण और समाधान…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration