कैनोला ऑयल के फायदे और नुकसान – Canola Oil Benefits and side effects in Hindi

कैनोला ऑयल के फायदे और नुकसान – Canola Oil Benefits and side effects in Hindi
Written by Jaideep

Canola Oil Benefits in Hindi स्‍वस्‍थ्‍य शरीर के लिए आहार में वसा बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। वसा और पोषक तत्वों की सही मात्रा न मिलने से हमारा शरीर सही तरीके से काम नहीं कर सकता है।कैनोला तेल का उपयोग खना पकाने में किया जाता है, हालांकि विभिन्न वसा और तेलों (fat and oil) के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के बारे में बहुत ही भ्रम है। आइये जानते है कैनोला तेल के फायदे और नुकसान के बारे में।

कैनोला तेल का उपयोग भी स्‍वस्‍थ्‍य वसा के रूप में बहुत अधिक उपयोग किया जाता है। इसमें संतृप्‍त वसा (saturated fat) बहुत ही कम मात्रा में होता है और असंतृप्‍त वसा में यह उच्च होता है, जिसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड (omega-3 fatty acids) की अच्‍छी मात्रा होती है। इस तेल के उत्‍पादक इसे दुनिया का सबसे अच्‍छा खाना पकाने वाला तेल बताते हैं। हालांकि कुछ विशेषज्ञ इस बात को नहीं मानते हैं। इस लेख के माध्‍यम से आप कैनोला ऑयल के बारे में व्‍यापक जानकारी पाएगें कि यह किस प्रकार आपके स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित करता है।

1. कैनोला तेल क्‍या है – What is Canola Oil in Hindi
2. कैनोला तेल का विकास – Development of canola oil in Hindi
3. कैनोला बीज के गुण – Properties of Canola seeds in Hindi
4. कैनोला तेल के फायदे – Canola oil Benefits in Hindi

5. कैनोला तेल के नुकसान –Canola Tel ke Nuksan in Hindi

कैनोला तेल क्‍या है – What is Canola Oil in Hindi

कोनोला पौधे ब्रासिका परिवार का हिस्‍सा होते हैं जिनके बीजों से कैनोला तेल प्राप्‍त किया जाता है। गोभी, फूल गोभी और ब्रोकली जैसी सब्जियों के पौधे भी इन्‍ही परिवार का हिस्‍सा हैं। कैनोला पौधे (canola plants) के फूल सुगंधित, सुंदरऔर चमकीले पीले होते हैं। इसका पौधा तीन से छह फिट तक लंबे होते हैं। कैनोला पौधे के अच्‍छी तरह से पके हुए बीजों को कुचलकर तेल निकाला जाता है और इसे परिष्‍कृत करके बोतलों में पैक करके उपयोग करने के लिए बाजार मे उपलब्‍ध कराया जाता है।

कैनोला तेल का विकास – Development of canola oil in Hindi

कैनोला तेल का विकास – Development of canola oil in Hindi

पुराने समय में रैपसीड नामक एक तेल का इस्‍तेमाल अक्‍सर औद्योगिक उद्देश्‍यों के लिए किया जाता था। यह उत्‍पादन करने के लिए सस्‍ता था, लेकिन लोग इस तेल नहीं खा सकते थे क्‍योंकि इसमें कुछ हानिकारक तत्‍व (harmful substance) मौजूद थे :

इस तेल में इरुसिक एसिड(Erucic acid)40 प्रतिशत होता था जो एक प्रकार का फैटी एसिड होता है जिसके कारण चूहों के अध्‍ययन में पाया गया कि यह उनके हृदय स्‍वास्‍थ्‍य को हानि पहुंचाता है। इसमे उपस्थित ग्‍लूकोसिनोलेट्स (Glucosinolates) कड़वा यौगिक होता है जो तेल के स्‍वाद को खराब करता है।

कनाडाई वैज्ञानिकों का एक समूह रैपसीड तेल का एक खाद्य तेल मे बदलना चाहते थे, इसलिए उन्‍होनें इन हानिकारक कड़वे पदार्थों को दूर करने के लिए उत्‍तम किस्‍म के पौधों को तैयार किया।

इस तरह कैनोला का जन्‍म हुआ। कैनोला वास्‍तव मे कोई विशेष पौधा नहीं है यह रैपिसेड्स (rapeseed) का ही नाम है लेंकिन इसमें आवांछित यौगिक कम मात्रा में पाए जाते हैं।

(और पढ़ें –सरसों के तेल के फायदे स्वास्थ्यवर्धक लाभ और नुकसान)

कैनोला बीज के गुण – Properties of Canola seeds in Hindi

कैनोला बीज के गुण – Properties of Canola seeds in Hindi

Canola Oil/ कैनोला तेल में बहुत से पोषक तत्‍व पाए जाते हैं जैसे कि पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड, मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड (Monounsaturated fatty acids), संतृप्‍त वसा, एंटीआक्‍सीडेंट गुण, एंटी-इंफ्लामैट्री गुणआदि होते है जो हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही अच्‍छे होते हैं। साथ कैनोला तेल में लिनोलिक एसिड 21%, अल्‍फा-निलो‍लेनिक एसिड 11%,(ओमेगा-6 और ओमेगा-3, 2:1 के अनुपात में)%, प्‍लांट स्‍टेरोल (0.53-0.97)%, टोकोफेरोल (700-1200 PPM),पाल्‍मेटिक एसिड 4%, स्टियरिक एसिड 2%, ट्रांस फैट 0.4% पाया जाता है।

कैनोला तेल के फायदे – Canola oil Benefits in Hindi

कैनोला तेल के फायदे – Canola oil Benefits in Hindi

Canola Oil / कैनोला पौधे से प्राप्‍त तेल स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहद फायदेमंद होता है क्‍योंकि इसमें संतृप्‍त वसा की मात्रा बहुत ही कम होती है और इसमें ट्रांस-वसा या कोलेस्‍ट्रोल (trans-fat or cholesterol) नहीं होता है। जिसके कारण यह खाद्य तेल के रूप में उपयोग करने के लिए उपयुक्‍त होता है। यह कोरोनरी बीमारी के खतरों को कम करने और ओमेगा-6 फैटी एसिड की उपस्थिति के कारण लोगों के मस्तिष्‍क विकास के लिए आवश्‍यक है। ओमेगा-3 फैटी एसिड की अच्‍छी मात्रा शरीर को स्‍ट्रोक और दिल के दौरे से बचाते हैं। कैनोला तेल पर किये गए कुछ अध्‍ययन बताते हैं कि अन्‍य खाना पकाने के तेलों के बजाय कैनोला तेल का उपभोग शरीर के लिए अच्‍छा होता है और यह चयापचय (metabolism) में वृद्धि करता है। आइए जाने कैनोला तेल के अन्य फायदे क्‍या हैं।

कैनोला तेल के फायदे कोलेस्‍ट्रोल को कम करे – Canola Tel Ke Fayde for lowers Cholesterol in Hindi

प्‍लांट स्‍टैरोल (Plant sterol) शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल के अवशोषण को रोकता है, इस प्रकार यह कोलेस्‍ट्रोल के स्‍तर को 10-15 % तक कम करता है। इसमे मोनो-असंतृप्‍त वसा की अच्‍छी मात्रा होती है केनोला तेल एलडीएल (खराब कोलेस्‍ट्रोल) को कम करता है और अच्‍छे कोलेस्‍ट्रॉल (HDL cholesterol) को बढ़ाने में मदद करता है।

(और पढ़ेें – जानें कि क्या होता है अच्छा (HDL) एवं बुरा (LDL) कोलेस्ट्रॉल )

कनोला तेल के लाभ दिल के लिये – Canola oil Benefits for heart in Hindi

कैनोला तेल में प्‍लांट स्‍टेरोल का अच्‍छी मात्रा होती है बीटा स्‍टेरोल और कैंपेस्‍टेरॉल (beta sterol and campesterol) मुख्‍य रूप से। अध्‍ययनों से पता चलता है कि स्‍टेरोल की उच्‍च सांद्रता वाले भोजन का सेवन करने से कई प्रकार के हृदय रोगों (heart diseases) का खतरा कम हो जाता है।

(और पढ़ें –हार्ट अटेक कारण और बचाव)

केनोलाआयल के फायदे त्वचा के लिए – Canola oil Benefits for Skin in Hindi

विटामिन ई की अच्छी मात्रा कैनोला तेल में पाई जाती है जो त्वचा की समस्याओं को दूर करने में मदद करते हैं जैसे कि झुर्रियां, मुंहासे, महीन रेखाएं (fine lines) जैसी समस्याएं। कैनोला तेल का उपयोग कई त्वचा क्रीम और लोशन के निर्माण में किया जाता है क्योंकि यह त्वचा को सुंदर और चमकदार बनाता है।

कैनोला तेल के गुण सूजन को कम करे – Canola Tel Ke Gun Sujan Kam Kare

संयुक्त कोमलता और कठोरता को कैनोला तेल से कम किया जा सकता है। गठिया रोग से पीडित लोगों की सूजन को भी इस तेल के उपयोग से कम किया जा सकता है। अस्‍थमा और आंत्र विकारों (bowel disorders) के कारण आने वाली सूजन के लिए कैनोला तेल बहुत ही लाभकारी होता है।

कैनोला तेल के फायदे ऊर्जा बढ़ाने के लिए – Canola Tel Ke Fayde for energy in Hindi

कोलेस्ट्रॉल की कम मात्रा और कैनोला तेल में मौजूद महत्‍वपूर्ण एंटीआक्‍सीडेंट की उच्‍च मात्रा शरीर के चयापचय को सामान्‍य दर पर संचालित कर सकती है। कैनोला तेल का सेवन कर आप अपने शरीर को सुस्‍त होने से बचा सकते हैं जिससे धीमे परिसंचरण या हृदय गतिविधियों पर ज्‍यादा तनाव नहीं होता है जो कि हमारी ऊर्जा की खपत का मुख्य कारण होता है।

कैनोला तेल का उपयोग करे कैंसर को दूर – Canola Oil for Lowers Cancer risk in Hindi

विटामिन ई की तरह ही कैनोला तेल मे उपस्थित एंटीऑक्‍सीडेंट (Antioxidants) कैंसर को रोकने में हमारी मदद करते हैं। हानिकारक मुक्‍त कणों से स्‍वस्‍थ कोशिकाएं कैंसर कोशिकाओं में बदल जाती हैं। कैनोला तेल में मौजूद विटामिन ई कैंसर की संभावनाओं को कम करता है। यदि कोई पहले से कैंसर से ग्रसित है तो कैनोला तेल कैंसर के प्रभाव को कम करने में मदद करता है और कैंसर के उपचार में मदद करता है।

कैनोला तेल का प्रयोग मस्तिष्क स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Canola Oil improve Brain Function in Hindi

मुक्‍त कण जो मस्तिष्‍क को नुकसान पहुंचाते है उनका मुकाबला करने वाले एंटीऑक्‍सीडेंट कैनोला तेल में मौजूद होते हैं। यह अल्‍जाइमर और डिमेंशिया रोग (Alzheimer’s and dementia disease) के खतरे को कम करने में मदद करता है।

कैनोला तेल के उपाय बालों के लिए – Canola Oil for Hair in Hindi

बालों के पोषण के लिए कैनोला बीजों से निकाला गया तेल बहुत ही फायदेमंद होता है। इस तेल को गर्म करके बालों में लगाने से यह बालों का रूखापन, बालों का टूटना आदि समस्‍याओं को दूर करने में मदद करता है। कैनोला तेल क्षतिग्रस्‍त बालों (damaged hair) के उपचार का सबसे अच्‍छा और सस्‍ता उपाय है। तेल कमजोर बालों के लिए प्राकृतिक घरेलू उपचार के रूप मे कार्य करता है, क्‍योंकि यह प्रदूषण, गंदगी और सूर्य से होने वाले नुकसान के खिलाफबालों के लिए एक सुरक्षा आवरण तैयार करता है और साथ ही क्षतिग्रस्‍त बालों को मॉइस्‍चराईज और मरम्‍मत (moisturize and repair) करता है।

(और पढ़ें – बाल झड़ने से रोकने का आयुर्वेदिक उपाय )

कैनोला तेल के नुकसान – Canola Tel ke Nuksan in Hindi

कैनोला तेल के नुकसान – Canola Tel ke Nuksan in Hindi

ऊपर आपने जाना की कैनोला तेल के फायदे क्या है लेकिन आपको बता दें की इसके कुछ नुकसान भी होते हैं आइये जानते हैं कैनोला तेल के हानिकारक प्रभाव क्या हैं :

  • कैनोला का तेल अनुवांशिक रूप से संशोधित (genetically modified) हैं।
  • इसमें विटामिन ई के गामा-टोकोफेरोल (gamma-tocopherol) रूप होते हैं जो फेफड़ों की क्षमता को कम करने के लिए जाने जाते हैं।
  • इस तेल मे हेक्‍सेन और ट्रांस वसा (Hexane and trans-fat) शामिल है। जो लीवर और ह्रदय रोगों को बढ़ा सकता है।
  • कैनोला का तेल रैपिसेड तेल (rapeseed oil) का कम एसिड संस्‍करण है जिसका उपयोग औद्योगिक उद्देश्‍य के लिए किया गया था। कैनोला तेल में रैपिडेस जो की एक विषाक्‍त तत्‍व है मौजूद रहता है।
  • कैनोला आयल में इरुसिक एसिडऔर ग्‍लूकोसिनोलेट (erucic acid and glucosinolates) होते हैं। जो नार्मल ग्रोथ को प्रभावित करते हैं।

Subscribe for daily wellness inspiration