जिनकी सेक्‍स लाइफ होती है एक्टिव उन्‍हें हार्ट अटैक से मौत का खतरा रहता है कम, र‍िसर्च




जिनकी सेक्‍स लाइफ होती है एक्टिव उन्‍हें हार्ट अटैक से मौत का खतरा रहता है कम, र‍िसर्च - Active sex life tied to long-term survival after a heart attack in Hindi
Written by Daivansh

रोजाना सेक्‍स करने वाले बच सकते हैं हार्ट अटैक से जी हाँ, एक नई स्टडी में यह बात सामने आयी है क‍ि एक्टिव सेक्स लाइफ और हार्ट अटैक से मौत के बीच गहरा संबंध होता है। जी हां, इजराइल की एक स्टडी में बताया गया है कि दिल का दौरा पड़ने वाले लोग जो सक्रिय यौन जीवन जीते हैं, और सप्ताह में एक बार या उससे अधिक बार सेक्स करते हैं उन्हें पहला हार्ट अटैक आने के दस साल के अंदर मौत का खतरा उन लोगों की तुलना में कम होता है जो सिंगल या अविवाहित हैं। या जिन्होंने अपने साथी के साथ 1 साल से भी लम्बे समय से सेक्स नहीं किया है।

द अमेरिकन जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित एक नए अध्ययन के अनुसार, जिन लोगों को दिल के दौरे का सामना करना पड़ा है, वे रेगुलर सेक्स करके लंबे समय तक जीवित रह सकते हैं।

अगर आपकी सेक्‍स लाइफ एक्टिव है तो आपके लिए अच्छी खबर है क्योंकि इससे हार्ट अटैक से होने वाली मौत का खतरा कम हो जाता है। इस स्टडी में शोधकर्ताओं ने 1120 वैसे पुरुषों और महिलाओं का अध्ययन किया जिन्हें 65 साल या इससे कम की साल उम्र में पहला हार्ट अटैक आया था।

से‍क्‍स से दूर रहने वालों की मौत की सम्‍भावना बढ़ी

से‍क्‍स से दूर रहने वालों की मौत की सम्‍भावना बढ़ी

करीब 22 सालों तक चली इस स्टडी में शामिल 1120 लोगों में से 524 लोगों की मौत हो गई।

उन लोगों की तुलना में जिन्होंने अपने दिल का दौरा पड़ने से पहले साल भर सेक्स नहीं करने की बात बताई थी, जिन लोगों ने सप्ताह में एक बार से ज्यादा बार किया था, स्टडी के दौरान उनकी मृत्यु की संभावना 27% कम थी, जबकि जो लोग सप्ताह में कम से कम एक बार सेक्स किया करते थे, उनमें हार्ट अटैक के बाद मौत की संभावना 12% कम थी और जिन लोगों ने कभी-कभार सेक्स किया था – लेकिन अक्सर नहीं – मौत की संभावना 8% कम थी।

(और पढ़े – जानें हार्ट को हेल्‍दी कैसे रखें…)

सेक्‍सुअली एक्टिव लोग ज्‍यादा जीते है

सेक्‍सुअली एक्टिव लोग ज्‍यादा जीते है

दिल का दौरा पड़ने के बाद सक्रिय सेक्स और ज्‍यादा जीने की संभावना के बीच कनेक्शन उन लोगों के लिए और भी मजबूत दिखाई दिया जिनकी सेक्स लाइफ हार्ट अटैक के बाद भी बेहद एक्टिव थी। और जो सप्ताह में एक बार सेक्स करते हैं। यूके में यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन में व्यवहार विज्ञान और स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख एंड्रयू स्टीप्टो ने कहा, इसमें आश्चर्य की बात नहीं है कि वैसे लोग जो सेक्शुअली ऐक्टिव थे वे रिलेशनशिप में थे, युवा थे, और आम तौर पर स्वस्थ भी थे।

दिल का दौरा पड़ने से पहले के वर्ष में, जिन लोगों ने सेक्स नहीं किया था, उनमें से 67% ने व्यायाम भी नहीं किया था, जिनकी तुलना में 45% लोग ऐसे थे, जो साप्ताहिक से अधिक सेक्स करते थे।

(और पढ़े – जानिए महीने में कितनी बार करना चाहिए सेक्स…)

सेक्शुअली इनऐक्टिव होने से हाई बीपी, कलेस्ट्रॉल और डायबीटीज का खतरा

सेक्शुअली इनऐक्टिव होने से हाई बीपी, कलेस्ट्रॉल और डायबीटीज का खतरा

यौन रूप से निष्क्रिय लोगों (Sexually inactive people) को यानी जिन्होंने सेक्स करना पूरी तरह से बंद कर दिया था उन्हें हार्ट अटैक आने के 1 साल पहले उच्च रक्तचाप, उच्च कोलेस्ट्रॉल, मधुमेह, और कई स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ा यह उन लोगों की तुलना में था जिन्होंने सप्ताह में कम से कम एक बार सेक्स किया।

(और पढ़े – क्या सेक्‍स ना करने के नुकसान जानते हैं आप…)

सेक्स के आलावा और भी चीजों का पड़ता है असर

सेक्स के आलावा और भी चीजों का पड़ता है असर

जब शोधकर्ताओं ने उम्र, जीवन शैली, अन्य स्वास्थ्य स्थितियों और सामाजिक आर्थिक कारकों के लिए इसे समायोजित किया, तो यौन सक्रिय होने और जीवित रहने के बीच की कड़ी कमजोर हो गई।

गेरबर की टीम लिखती है, यह संभव बार-बार सेक्स जैविक परिवर्तन (biological changes) की ओर ले जाता है जो लोगों को लंबे समय तक जीने में मदद करता है। सेक्स क्रोमोसोम के अंत में लंबे कैप्स के साथ जुड़ा हुआ है, जिसे टेलोमेरस (telomeres) के रूप में जाना जाता है, जो उम्र के साथ तनाव के कारण सिकुड़ जाते हैं। लंबे टेलोमेरेस लंबे जीवन के साथ जुड़े हुए हैं।

नियमित सेक्स पुरुषों और महिलाओं में हार्मोन टेस्टोस्टेरोन के उच्च स्तर से भी जुड़ा हुआ है। कम टेस्टोस्टेरोन हृदय रोग और कम यौन इच्छा के बढ़ते जोखिम दोनों का कारण हो सकता है – इसलिए जो लोग अधिक सेक्स करते हैं उन्हें हृदय की समस्याओं का कम जोखिम होता है।

यह भी संभव है कि सेक्‍सुअली एक्टिव होना किसी कारण के बजाय बेहतर स्वास्थ्य का संकेत है।

“सेक्सुअल एक्टिविटी अक्सर लोगों की उम्र के रूप में एक करीबी और प्यार भरे रिलेशनशिप का हिस्सा होती है, लेकिन यह संबंध संभवतः सेक्स से कहीं अधिक महत्वपूर्ण है।” “हालांकि नियमित रूप से सेक्स करना स्वस्थ तरीके से उम्र बढ़ने का हिस्सा है, लेकिन लोगों को यह महसूस नहीं करना चाहिए कि उन्होंने लंबे समय तक जीने की कोशिश करने के लिए सेक्स किया है।

(और पढ़े – लंबा जीवन जीने के लिए सेक्‍स का महत्‍व…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

आपको ये भी जानना चाहिये –

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration