वजन कम होने के कारण, लक्षण, इलाज और बचाव – Underweight Symptoms Causes And Treatment In Hindi

वजन कम होने के कारण, लक्षण, इलाज और बचाव - Underweight Symptoms Causes And Treatment In Hindi
Written by Akansha

Underweight in Hindi दुबला होना स्वस्थ व्यक्ति की निशानी होती है, परन्तु जरुरत से ज्यादा वजन कम होना यह चिंता का विषय हो सकता है। वो भी उस समय जब आप गर्भवती है या आपको दूसरी कोई स्वास्थ्य समस्या है, क्योकि अगर इस स्थिति में आपका वजन कम होता है तो यह हानिकारक हो सकता है, ऐसा होने पर आपको तुरन्त अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। जिस तरह अधिक वजन होना चिंता का विषय है उसी तरह बहुत ज्यादा कम वजन होना भी सही नहीं है। यदि किसी व्यक्ति का वजन कम है, तो इसका मतलब यह है की उसके शरीर को स्वस्थ हड्डियों, त्वचा और बालों के निर्माण के लिए आवश्यक पोषक तत्व नहीं मिल पा रहे हैं। जो आगे चलकर खतरनाक भी साबित हो सकता है।

इसलिए आज इस लेख में हम जानेंगे की वजन कम होने के लक्षण और कारण क्या है और इसका इलाज क्या है और वजन कम होने से कैसे बचाव किया जा सकता है।

1. वजन कम होना क्या होता है – Vajan kam hona kya hota hai in hindi
2. वजन कम होने के लक्षण – Vajan kam hone ke lakshan in hindi
3. वजन कम होने के कारण – Vajan kam hone ke karan in hindi

4. वजन कम होने का इलाज – Vajan kam hone ka ilaj in hindi
5. वजन कम होने से बचाव कैसे करें – Vajan kam hone se bachav Kaise kare in Hindi

वजन कम होना क्या होता है – Vajan kam hona kya hota hai in hindi

वजन कम होना क्या होता है - Vajan kam hona kya hota hai in hindi

कम वजन वाला व्यक्ति वह होता है जिसके शरीर का वजन स्वस्थ व्यक्ति के वजन से भी कम होता है। कम वजन वाले लोगों का बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) 18.5 से भी कम होता है या 15% से 20% कम होता है जो उनकी उम्र और ऊंचाई के हिसाब से सामान्य नहीं होता है।

(और पढ़े  – जानिए क्या होता है हाईट एंड वेट चार्ट…)

वजन कम होने के लक्षण – Vajan kam hone ke lakshan in hindi

वजन कम होने के लक्षण - Vajan kam hone ke lakshan in hindi

बहुत से लोगों का यही सवाल होता है की उन्हें कैसे पता चलेगा की वो ओवर वेट है, अंडर वेट है या फिर मोटापे से बहुत ज्यादा पीड़ित है। तो इसके लिए हम आपको बता दें की आप अपने बीएमआई (body mass index) (BMI) के द्वारा यह पता लगा सकते है की आपका वजन कहीं बहुत ज्यादा कम तो नहीं है। रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (The Centers for Disease Control and Prevention) (CDC) भी लोगों को स्वस्थ वजन, या अधिक वजन की गणना करने के लिए बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) का उपयोग करने की सलाह देते हैं। बीएमआई का उपयोग करना किसी व्यक्ति के वजन को नापने का एक अच्छा उपाय माना जाता है, क्योंकि यह वजन की तुलना ऊंचाई नापकर करता है।

जैसे, यदि किसी व्यक्ति का वजन 170 किलो है और वह लम्बा भी है तो उसे अधिक वजन वाला व्यक्ति नहीं कहा जायेगा परन्तु अगर उस व्यक्ति की लम्बाई कम है तो इतना वजन उसके लिए खतरनाक हो सकता है। कोई भी व्यक्ति बीएमआई कैलकुलेटर के माध्यम से अपना बीएमआई चेक कर सकता है। बीएमआई कैलकुलेटर की रेंज में शामिल हैं- कम वजन- 18.5 से कमसामान्य / स्वस्थ वजन- 18.5 से 24.9अधिक वजन- 25.0 से 29.9मोटापा- 30 या उससे अधिक  

(और पढ़े  – बॉडी मास इंडैक्स (BMI) से कैसे जाने अपना मोटापा…)

वजन कम होने के कारण – Vajan kam hone ke karan in hindi

  1. कम वजन होने का कारण है परिवार का इतिहास – Underweight causes Family history in Hindi
  2. वजन कम होने का कारण हो सकता है हाई मेटाबोलिज्म – Underweight causes high metabolism in Hindi
  3. वजन कम होने का कारण बार-बार शारीरिक गतिविधि करना – Underweight causes Frequent physical activity in Hindi
  4. कम वजन का कारण है शारीरिक या क्रोनिक बीमारी – Underweight causes Physical illness or chronic disease in Hindi
  5. वजन कम होने का कारण हो सकती है मानसिक बीमारी – Underweight causes Mental illness in Hindi

ऐसे कई कारण होते हैं जिनकी वजह से व्यक्ति का कम वजन हो सकता है। कभी-कभी, कई अंतर्निहित (underlying) कारण भी वजन कम होने का कारण हो सकते है । कम वजन के कारणों में शामिल हैं, जैसे-

कम वजन होने का कारण है परिवार का इतिहास – vajan kam hone ka karan Family history in Hindi

कम वजन होने का कारण है परिवार का इतिहास - Underweight causes Family history in Hindi

कुछ लोग में शुरुआत से ही शारीरिक विशेषताओं के कारण ही स्वाभाविक रूप से कम बीएमआई होता हैं जो उनके परिवार के इतिहास के समय से चलता हैं।

(और पढ़े  – मानव शरीर के बारे में रोचक तथ्य…)

वजन कम होने का कारण हो सकता है हाई मेटाबोलिज्म – Underweight causes high metabolism in Hindi

वजन कम होने का कारण हो सकता है हाई मेटाबोलिज्म - Underweight causes high metabolism in Hindi

यदि किसी व्यक्ति का हाई मेटाबोलिज्म (high metabolism) होता है, तो उच्च ऊर्जा वाले खाद्य पदार्थ खाने पर भी उनका वजन नहीं बढ़ सकता है जिससे उनको वजन कम होने की समस्या रहती है।

(और पढ़े  – चयापचय (मेटाबॉलिज्म) को बढ़ाने के तरीके…)

वजन कम होने का कारण बार-बार शारीरिक गतिविधि करना – Vajan kam hone ka karan Frequent physical activity in Hindi

वजन कम होने का कारण बार-बार शारीरिक गतिविधि करना - Underweight causes Frequent physical activity in Hindi

एथलीट या वे लोग जो उच्च स्तर की शारीरिक गतिविधि में भाग लेते हैं, जैसे धावक आदि, बहुत ही कम मात्रा में कैलोरी जलाते है जिससे उनके शरीर का वजन कम होता है।

(और पढ़े  – एक दिन में कितनी कैलोरी बर्न करनी चाहिए…)

कम वजन का कारण है शारीरिक या क्रोनिक बीमारी – Underweight causes Physical illness or chronic disease in Hindi

कम वजन का कारण है शारीरिक या क्रोनिक बीमारी - Underweight causes Physical illness or chronic disease in Hindi

कुछ विभिन्न प्रकार के रोग बार बार मतली, उल्टी और दस्त का कारण बन सकते हैं, जिससे वजन बढ़ना मुश्किल हो जाता है। कुछ अन्य स्थितियों की वजह से भी व्यक्ति की भूख कम हो जाती है, इसलिए लोगों को खाने का मन नहीं करता है। जैसे कैंसर, डायबिटीज, थायरॉइड विकार और कुछ पाचन संबंधी स्थितियां, जैसे क्रॉन की बीमारी (Crohn’s disease) या अल्सरेटिव कोलाइटिस (ulcerative colitis)।

(और पढ़े  – क्रोहन (क्रोन) रोग क्या है, कारण, लक्षण, जांच, उपचार, रोकथाम और आहार…)

वजन कम होने का कारण हो सकती है मानसिक बीमारी – Vajan kam hone ka karan Mental illness in Hindi

वजन कम होने का कारण हो सकती है मानसिक बीमारी - Underweight causes Mental illness in Hindi

खराब मानसिक स्वास्थ्य भी व्यक्ति के खाने की क्षमता को प्रभावित करता है, जिसमें अवसाद, चिंता, जुनूनी-बाध्यकारी विकार (obsessive-compulsive disorder) (OCD) और खाने के विकार, जैसे कि एनोरेक्सिया (anorexia )और बुलिमिया (bulimia) जैसे रोग शामिल हैं। यह प्रत्येक स्थिति व्यक्ति के शरीर की छवि और भूख को प्रभावित करती है।

(और पढ़े  – अवसाद दूर करने के प्राकृतिक उपाय…)

वजन कम होने का इलाज और उपचार – Vajan kam hone ka ilaj aur upchar in hindi

वजन कम होने का इलाज - Vajan kam hone ka ilaj in hindi

यदि कोई व्यक्ति बहुत ही कम वजन का है, तो कई स्वास्थ्यपूर्ण तरीके हैं जिससे वजन को बढ़ाने की कोशिश की जा सकती है। यदि व्यक्ति एक स्वस्थ आहार का पालन करता है तो वजन बढ़ाने के लिए अपने आहार में पौष्टिक कैलोरी से भरे ​​खाद्य पदार्थ शामिल कर सकता हैं। आप चाहें तो आहार विशेषज्ञ (dietitian) के पास भी जा सकते है, वह आपके वजन को बढ़ाने के लिए काम करने वाले आहार योजना को विकसित करने में मदद कर सकता है।

  • वजन बढ़ाने के लिए आहार के कुछ प्रमुख घटकों में शामिल हो सकते हैं-
  • बार बार और छोटे भोजन करने की कोशिश करें। अपनी दिनचर्या में अधिक से अधिक स्नैक्स भी शामिल करें।
  • पूरे अनाज, फल, सब्जियां, डेयरी उत्पाद, नट्स और बीज, और लीन प्रोटीन जैसे पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों को अपने आहार में जोड़े।
  • आप कब और क्या पी रहे हैं, इस पर ज्यादा ध्यान दें। डाइट सोडा, कॉफ़ी और अन्य पेय पदार्थों पीने की तुलना में स्मूदी एक बेहतर विकल्प हो सकता है। आप उन्हें फलों, सब्जियों और डेयरी उत्पादों से मिलाकर भी बना सकते हैं।
  • यदि आपको लगता है की किसी तरह का पेय पदार्थ आपकी भूख को कम कर सकता हैं, तो खाना खाने के 30 मिनट पहले तक ऐसा कोई भी पेय पदार्थ लेने से बचें।
  • आप अपने भोजन में पनीर, नट्स, और बीज जैसी चीजों को मुख्य व्यंजनों में टॉपिंग के रूप में शामिल करके अधिक कैलोरी प्राप्त कर सकते है।
  • व्यायाम करना शुरू करें। आप शक्ति प्रशिक्षण (strength training) करके अपने शरीर में मांसपेशियों का निर्माण कर सकते है और अपने वजन को बढ़ा सकते हैं। वर्कआउट करने से आपको अपनी भूख को उत्तेजित करने में भी मदद मिल सकती है।

(और पढ़े  – जल्दी वजन बढ़ाने के घरेलू उपाय और मोटा होने के तरीके…)

वजन कम होने से बचाव कैसे करें – Vajan kam hone se bachav Kaise kare in Hindi

वजन कम होने से बचाव कैसे करें - Vajan kam hone se bachav Kaise kare in Hindiवजन कम होने से बचाव कैसे करें - Vajan kam hone se bachav Kaise kare in Hindi

वजन कम होने पर क्या बचाव करना चाहिए ये भी जानना बहुत जरुरी है क्योकि वह  व्यक्ति जिसका कम वजन होता है उसे हड्डी टूटने, दांत जल्दी गिरने, और प्रजनन समस्याओं (fertility problems) सहित कई विकासशील जटिलताओं के जोखिम का सामना करना पड़ सकता  है।

हर व्यक्ति को एक स्वस्थ बीएमआई बनाए रखने का लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए। इसके लिए आपको अपने डॉक्टर से मदद लेनी चाहिए क्योकि आपका डॉक्टर ही आपका स्वस्थ वजन बनाये रखने में मदद कर सकता हैं।

(और पढ़े  – वजन बढ़ाने के लिए सप्लीमेंट्स…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration