शहतूत खाने के फायदे और नुकसान – Mulberries (Shahtoot) Health Benefits and side effects in Hindi

शहतूत खाने के फायदे और नुकसान - Mulberries (Shahtoot) Health Benefits and side effects in Hindi
Written by Anamika

Shahtoot in Hindi इस लेख में आप जानेगे शहतूत के गुण ,शहतूत के फायदे और नुकसान के बारें में (Shahtoot Ke Fayde Aur Nuksan in hindi) शहतूत एक छोटा फल है जो आमतौर पर लाल रंग अलावा सफेद, काला और बैंगनी रंग का भी होता है। यह स्वाद में अंगूर की तरह मीठा होता है और इसे सुखाकर भी खाया जा सकता है। शहतूत को अंग्रेजी में मूलबेरी (Mulberi) और आम बोलचाल की भाषा में शहतूत (Shahtoot) कहा जाता है। मई के महीने में शहतूत पूरी तरह से पक जाता है और पोषक तत्वों से भरपूर होने के साथ ही यह बहुत स्वादिष्ट होता है।

सामान्यतौर पर शहतूत का उपयोग जैम, जेली, सॉस, वाइन (wine) और मीठे खाद्य पदार्थ बनाने में किया जाता है। लेकिन कई पोषक तत्वों से युक्त होने के कारण शहतूत का सेवन शरीर के विकारों को दूर करने के लिए भी किया जाता है।

शहतूत के फायदे – Shahtoot Ke Fayde in Hindi

शहतूत के फायदे - Benefits Of Mulberries (Shahtoot) in Hindi

कुछ फल ऐसे होते हैं जो शरीर के कई विकारों को दूर करने में बहुत उपयोगी होते हैं। शहतूत भी एक ऐसा ही फल है। इसमें कई पोषक एवं खनिज तत्व पाये जाते हैं, जिसके कारण यह स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसमें फाइबर अधिक पाया जाता है जो पेट के लिए फायदेमंद होता है। आइये जानें शहतूत खाने के फायदे क्या हैं।

स्वस्थ मस्तिष्क के लिए शहतूत के फायदे – Shahtoot for healthy brain in Hindi

रिसर्च में पाया गया है कि शहतूत बढ़ती उम्र के साथ मस्तिष्क कमजोर होने की समस्या को दूर करने में बहुत उपयोगी होता है। शहतूत में कैल्शियम पाया जाता है जो मस्तिष्क को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक होता है। इसलिए शहतूत खाने से दिमाग स्वस्थ रहता है और यह अल्जाइमर (Alzheimer) की बीमारी को दूर करने में बहुत फायदेमंद होता है।

(और पढ़े – अल्जाइमर डिजीज क्या है? )

शहतूत के फायदे इम्यूनिटी बढ़ाने में – Shahtoot Improve Immunity in Hindi

इसमें एल्केलॉयड पाया जाता है जो मैक्रोफेजेज को सक्रिय करता है और इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने में मदद करता है। इसके अलावा शहतूत में विटामिन सी भी पाया जाता है जो प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत रखने वाला तत्व है।

शुष्क त्वचा के लिए शहतूत फायदेमंद – Mulberries (Shahtoot) for Dry Skin in Hindi

विटामिन ए और विटामिन ई की कमी के कारण त्वचा शुष्क पड़ जाती है। शहतूत में ये सभी विटामिन भरपूर मात्रा में पाये जाते हैं जो शुष्क और नाजुक त्वचा इलाज में बहुत फायदेमंद होते हैं। शहतूत त्वचा को भीतर से नमी (hydrate) प्रदान करता है। शहतूत के जड़ों को पीसकर लगाने से त्वचा की जलन दूर हो जाती है।

शहतूत के फायदे अच्छे पाचन में – Shahtoot for good digestion in Hindi

अधिक फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ खाने से पाचन ठीक रहता है। शहतूत में पर्याप्त मात्रा में फाइबर होता है जिससे पेट का पाचन सुचारू रूप से कार्य करता है और शरीर स्वस्थ रहता है। पाचन ठीक रखने के साथ ही शहतूत खाने से कब्ज की भी समस्या नहीं होती है।

शहतूत के गुण एनीमिया से बचाने में – Shahtoot for Overcoming anemia in Hindi

आयरन की कमी के कारण शरीर में खून की कमी हो जाती है। लेकिन शहतूत का सेवन करने से इस समस्या से बचा जा सकता है क्योंकि शहतूत में पर्याप्त मात्रा में आयरन पाया जाता है जो एनीमिया के मरीज के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसका सेवन करने से शरीर में हीमोग्लोबिन की संख्या बढ़ जाती है।

(और पढ़े – क्या है एनीमिया? कारण, लक्षण और आहार)

शहतूत के लाभ स्ट्रोक से बचाने में – Mulberries (Shahtoot) Prevent stroke in Hindi

इस फल में पाये जाने वाले पोषक तत्व बहुत फायदेमंद होते हैं और स्ट्रोक से बचाने में सहायता करते हैं। शहतूत खाने से शरीर स्वस्थ रहता है और स्ट्रोक के लक्षण दूर हो जाते हैं। इसलिए स्ट्रोक की समस्या से पीड़ित लोगों को नियमित शहतूत खाना चाहिए।

(और पढ़े – कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक में अंतर)

शहतूत के सेवन से ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है – Shahtoot Improve blood circulation in Hindi

फल के अलावा शहतूत की पत्तियां भी बहुत फायदेमंद होती हैं और यह ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में मदद करती हैं। शहतूत की पत्तियों और फलों में रिज्वेराट्रोल(resveratrol) की मात्रा पायी जाती है जो रक्त के प्रवाह को स्टीमूलेट करता है और ब्लड सर्कुलेशन को तेज करता है। ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होने से त्वचा की स्थिति में सुधार होता है और शरीर के विभिन्न अंगों की क्रियाएं भी बेहतर होती हैं।

शहतूत के फायदे स्वस्थ किडनी के लिए – Mulberries (Shahtoot) for Healthy kidney in Hindi

खतरनाक बीमारियों से किडनी को सुरक्षा प्रदान करने में शहतूत बहुत फायदेमंद होता है। शहतूत में पाये जाने वाले तत्व किडनी में प्रवेश कर किडनी के स्टोन के लक्षणों को दूर करते हैं और बीमारियों से बचाते हैं। इसके अलावा शरीर के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालकर लिवर को भी मजबूत बनाने का कार्य करता है।

शहतूत के लाभ हड्डियों के लिए – Shahtoot Build Bone Tissue in Hindi

विभिन्न खनिज तत्वों जैसे विटामिन के, कैल्शियम और आयरन का बढ़िया सम्मिश्रण होने के कारण शहतूत हड्डियों एवं हड्डियों की कोशिकाओं को मजबूती प्रदान करता है। शहतूत में पाये जाने वाले ये खनिज तत्व हड्डियों को क्षतिग्रस्त होने से बचाते हैं और हड्डियों से जुड़े विकारों जैसे ऑस्टियोपोरोसिस और अर्थराइटिस से सुरक्षा प्रदान करते हैं।

शहतूत के फायदे आंखों की रोशनी के लिए – Mulberries (Shahtoot) for eyes in Hindi

लंबे समय तक लगातार कंप्यूटर पर काम करने से आंखों में तरह-तरह के विकार उत्पन्न हो जाते हैं। इस स्थिति में शहतूत का जूस पीने से आंखों की दृष्टि भी बेहतर होती है और आंखों के अन्य विकार (eye disease) भी दूर हो जाते हैं। शहतूत में विटामिन ए पाया जाता है जो आंखों में तनाव को कम करता है और आंखों की रोशनी को सुधारता है।

ब्लड ग्लूकोज के स्तर को कम करता है शहतूत – Shahtoot Lower Blood Glucose Levels in Hindi

एक रिसर्च में पाया गया है कि शहतूत की पत्तियों में गैलिक एसिड (gallic acid) पाया जाता है जो ब्लड ग्लूकोज लेवल को कम करने में मदद करता है। ब्लड ग्लूकोज का स्तर कम होने से डायबिटीज के रोग से यह सुरक्षा प्रदान करता है। इसलिए डायबिटीज के मरीजों को शहतूत के फल एवं पत्तियों का सेवन करना चाहिए।

शहतूत के गुण कोलेस्ट्रॉल घटाने के लिए – Shahtoot Lowering cholesterol in Hindi

शरीर में संतृप्त वसा(Saturated Fat ) और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक हो जाने के कारण हृदय संबंधी बीमारियां उत्पन्न होने लगती हैं। शहतूत के फल को प्रतिदिन खाने से कोलेस्ट्रॉल घटता है और हृयद रोग होने की संभावना भी घटती है।

शहतूत खाने के फायदे भूख बढ़ाने के लिए – Mulberries (Shahtoot) Increase appetite in Hindi

जिन लोगों को अच्छी तरह से भूख नहीं लगती है उन्हें प्रतिदिन शहतूत खाना चाहिए। इसमें फैट की मात्रा बहुत कम होती है और यह भूख बढ़ाने में मदद करता है।

शहतूत खाने के नुकसान – Shahtoot (Mulberries) Ke Nuksan in hindi

शहतूत खाने के नुकसान - Shahtoot (Mulberries) Ke Nuksan in hindi

  • जो व्यक्ति किडनी की गंभीर समस्याओं से पीड़ित हों उन्हें शहतूत नहीं खाना चाहिए क्योंकि शहतूत में अधिक मात्रा में पोटैशियम पाया जाता है जो किडनी की समस्या को बढ़ा सकता है।
  • शहतूत के पेड़ के पराग एलर्जिक रिएक्शन पैदा कर सकते हैं इसलिए अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है तो शहतूत से परहेज करें अन्यथा आपकी त्वचा पर रैशेज आ सकते हैं या सूजन औऱ खुजली हो सकती है।
  • हालांकि शहतूत त्वचा के लिए फायदेमंद होता है, लेकिन एक रिसर्च में पाया गया है कि शहतूत में एर्बुटिन (arbutin) की मात्रा पायी जाती है, इस कारण शहतूत से बने उत्पादों का इस्तेमाल करने से स्किन कैंसर हो सकता है।
  • अगर पहले से ही आपके ब्लड शुगर का स्तर कम है तो शहतूत का सेवन न करें क्योंकि यह ब्लड शुगर लेवल का काफी नीचे कर सकता है जिसकी वजह से आपको हाइपोग्लाइसेमिया हो सकता है।
  • प्रेगनेंट और बच्चे को स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को डॉक्टर से सलाह लेकर ही शहतूत का सेवन करना चाहिए।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration