पावर योग क्या है कैसे करते है और फायदे – Power yoga in Hindi

पावर योग क्या है कैसे करते है और फायदे - Power yoga in Hindi
Written by Shivam

Power yoga in Hindi शक्ति योग या पावर योग एक प्रकार का तीव्र योग है। पावर योग और सामान्य योग में बीच का अंतर कुछ भी नहीं है। पावर योगा एक सामान्य योग है जिसका प्रयोग विनयसा शैली (vinyasa-style) (अनुक्रम में किए गए पोज की श्रृंखला) के योग के लिए एक जोरदार फिटनेस या यूं कहें की वजन कम करने के लिए किया जाता है। इसके अलावा इसे ‘जिम योग’ (gym yoga) के नाम से भी जाना जाता है, ‘पावर योग’ तेज गति वाली नई पीढ़ी के लिए प्राचीन योग का नया संस्करण है। पावर योगा आपको पसीने से तर-बतर करता है। यह उत्तेजक (stimulating), पंपिंग (pumping) और एक ही समय में आराम करने वाला आसन है। इसमें योग का सबसे अच्छा और आधुनिक दिन की कसरत का प्रभाव है। आइये इस पावर योग करने के तरीकों को विस्तार से जानते हैं।

1. पावर योग क्या है – What Is Power Yoga in Hindi
2. पावर योग के फायदे – Benefits Of Power Yoga In Hindi
3. पावर योग वर्कआउट – Power Yoga Workouts in Hindi

4. पावर योग करते समय सावधानियां – Precautions while doing Power yoga in Hindi

पावर योग क्या है – What Is Power Yoga in Hindi

पावर योग एक ऐसा शब्द है जो 1990 के दशक में आया था। यह एक पश्चिमी अवधारणा है जो अष्टांग योग पर निर्भर करता है। यह तेजी से किया जाने वाला योग अभ्यास है और आपके हृदय गति को तेज करता है। यह आपकी सहनशक्ति, सहनशीलता, शक्ति और स्थिरता को बढ़ाता है। पावर योगा में पोज़ एक-एक करके बिना किसी अंतराल के एक गति से किया जाता है जो आपकी ताकत को चुनौती देता है। पावर योगा आपको शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रखता है। साथ ही यह आपको अपने आध्यात्मिक पक्ष से अवगत कराता है। आइये इस योगासन को करने की विधि को विस्तार से जानते हैं।

(और पढ़े – अष्टांग योग क्या है, अंग और फायदे…)

पावर योग के फायदे – Benefits Of Power Yoga In Hindi

पावर योग करने वाले कहते हैं कि यह सहनशक्ति, लचीलापन, मुद्रा और मानसिक ध्यान को बढ़ाता है। सभी शारीरिक गतिविधियों की तरह, यह भी तनाव से राहत देता है और पसीने के माध्यम से विषाक्त पदार्थों को बाहर करता है। क्योंकि यह तेजी से किया जाता है, यह योग के अधिकांश पारंपरिक रूपों की तुलना में अधिक कैलोरी जलाता है इसलिए पावर योग वजन घटाने में मदद कर सकता है।

पावर योग वर्कआउट – Power Yoga Workouts in Hindi

  1. पावर योग नौकासन – Power Yoga Navasana (Boat Pose) in Hindi
  2. पावर योग अधोमुख श्वान आसन – Power Yoga Adho Mukha Svanasana in Hindi
  3. पावर योग उष्ट्रासन – Power Yoga Ustrasana (Camel Pose) in Hindi
  4. पावर योग उत्कटासन – Power Yoga Utkatasana (Chair Pose) in Hindi
  5. पावर योग शलभासन – Power Yoga Salabhasana (Locust Pose) in Hindi
  6. पावर योग चतुरंग दंडासन – Power Yoga Chaturanga Dandasana (Plank Pose) in Hindi
  7. पावर योग अर्ध चंद्रासन – Power Yoga Ardha Chandrasana (Half Moon Pose) in Hindi

नीचे पावर योग करने के लिए कुछ योग को करने की विधि दी जा रही हैं जिसके आप आसानी से पावर योग आसन को कर सकते हैं।

पावर योग नौकासन – Power Yoga Navasana (Boat Pose) in Hindi

पावर योग नौकासन - Power Yoga Navasana (Boat Pose) in Hindi

नौकासन आपके पेट को मजबूत करता है और आपके पाचन में सुधार करता है। यह आपके थायरॉयड और आंतों को उत्तेजित करता है। यह आसन आपके आत्मविश्वास में सुधार करता है और तनाव से राहत देता है।

नौकासन करने के लिए आप एक योगा मैट को बिछा के दोनों पैरों को अपने सामने सीधा करके बैठ जाएं, अब दोनों पैरों को सीधा रखें हुए ऊपर की ओर उठायें। अब आप थोड़ा सा पीछे की ओर झुक के संतुलन बनाए और हाथों को अपने आगे की ओर सीधा रखें। इस मुद्रा में आपके पैरों और शरीर के ऊपरी हिस्से के मध्य कमर पर 45 डिग्री का कोण बनना चाहिए। इस आसन में आप अपनी क्षमता के अनुसार कुछ सेकंड (10 से 60 सेकंड) करने का प्रयास करें।

(और पढ़े – नावासन (नौकासन) करने का तरीका और फायदे…)

पावर योग अधोमुख श्वान आसन – Power Yoga Adho Mukha Svanasana in Hindi

पावर योग अधोमुख श्वान आसन - Power Yoga Adho Mukha Svanasana in Hindi

अधोमुख श्वान आसन आपको ऊर्जावान और तरोताजा करता है। यह आपके फेफड़ों की क्षमता को बढ़ाता है और हल्के अवसाद से छुटकारा दिलाता है। यह मुद्रा ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने के लिए आपकी हड्डियों को मजबूत करती है। इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले एक योगा मैट को बिछा के उस पर सीधे खड़े हो जाएं। अपने दोनों पैरों के बीच में थोड़ा सा अंतर रखें। अब आगे की ओर झुकते जाएं अपने दोनों हाथों को जमीन पर रखे। दोनों पैरों को हाथों से दूर करें जिससे आपके हाथ और रीढ़ की हड्डी एक सीधी रेखा में आ जाएं। इसमें आपके पैर और सीने के बीच 90 डिग्री का कोण बनेगा। अधोमुख श्वान आसन को दो-तीन मिनिट के लिए करें।

(और पढ़े – अधोमुख श्वानासन के फायदे और करने का तरीका…)

पावर योग उष्ट्रासन – Power Yoga Ustrasana (Camel Pose) in Hindi

उष्ट्रासन आपकी पीठ और कंधों को मजबूत करता है। यह आसन आपकी श्वसन प्रणाली में सुधार करता है। यह पीठ के निचले हिस्से में राहत देता है और आपकी जांघों को मजबूत करता है। यह आसन आपके समग्र कल्याण के लिए अच्छा काम करता है। इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले एक योगा मैट को बिछा के उस पर घुटनों के बल खड़े हो जाएं। अब अपनी कमर के यहाँ से पीछे की ओर झुके और अपने दोनों हाथों को पीछे ले जाएं। आपने सिर को पीछे झुका लें और दोनों हाथों को पैर की एड़ियों पर रखें। उष्ट्रासन की स्थिति में आप 30 से 60 सेकंड तक रुकने का प्रयास करें।

पावर योग उत्कटासन – Power Yoga Utkatasana (Chair Pose) in Hindi

उत्कटासन आपके दृढ़ संकल्प को बढ़ाता है और आपके घुटने की मांसपेशियों को टोन करता है। यह आपकी एड़ियों, पिंडलियों और कूल्हे के फ्लेक्सर्स (flexors) को मजबूत करता है। यह मुद्रा आपकी छाती को खींचती है और आपके हृदय को उत्तेजित करती है। इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले किसी योगा मैट को फर्श पर बिछा के उस पर सीधे खड़े हो जाएं। अपने दोनों हाथों को सिर के ऊपर लेकर जोड़ लें। अब धीरे-धीरे अपने घुटनों को मोड़े और कूल्हों को नीचे लाएं। इस स्थिति में आप एक कुर्सी के समान दिखाई देगें। इस आसन को आप 30 से 60 सेकंड के लिए करें।

पावर योग शलभासन – Power Yoga Salabhasana (Locust Pose) in Hindi

पावर योग शलभासन - Power Yoga Salabhasana (Locust Pose) in Hindi

शलभासन आपकी ऊपरी और निचली पीठ की मांसपेशियों को मजबूत करता है। यह मुद्रा चिंता से छुटकारा दिलाती है और आपके मस्तिष्क को शांत करती है। यह आसन आपकी बाहों को मजबूत करता है और आपके शरीर के धीरज को बढ़ाता है। इस आसन को करने के लिए आप एक स्थान पर योगा मैट को बिछा के उस पर पेट के बल लेट जाएं। दोनों हाथों और पैर को सीधा फर्श पर रखें। अब अपने धड़ और दोनों पैरो को ऊपर की ओर उठायें। साथ में दोनों हाथों को भी ऊपर उठायें। आप इस मुद्रा में कम से कम 20 सेकंड तक रहने की कोशिश करें।

(और पढ़े – शलभासन करने की विधि और फायदे…)

पावर योग चतुरंग दंडासन – Power Yoga Chaturanga Dandasana (Plank Pose) in Hindi

पावर योग चतुरंग दंडासन - Power Yoga Chaturanga Dandasana (Plank Pose) in Hindi

चतुरंगा दंडासन आपकी कोर (core) स्थिरता को बढ़ाता है। यह आपके दिमाग और शरीर को प्रभावित करता है। यह मुद्रा आपकी बाहों, पैरों और कलाई को मजबूत करके आपकी सहनशक्ति को बढ़ाती है। चतुरंग दंडासन करने के लिए आप योगा मैट को जमीन पर बिछा के उस पर पेट के बल लेट जाएं। अपने दोनों हाथों को जमीन पर अपने कंधों से आगे रखें जिसमे आपकी उंगलियां सामने की ओर रहें। पैरों की उँगलियों पर जोर डालते हुए धीरे-धीरे अपने दोनों घुटनों को ऊपर करें। साँस को अंदर लेते हुयें अपने दोनों हाथों पर शरीर के वजन को उठायें। हाथ की कोहनी पर 90 डिग्री का कोण बनाएं। इस आसन को आप 10 से 30 सेकंड के लिए करें।

(और पढ़े – चतुरंग दंडासन करने का तरीका और फायदे…)

पावर योग अर्ध चंद्रासन – Power Yoga Ardha Chandrasana (Half Moon Pose) in Hindi

अर्ध चंद्रसन आपके पैरों, नितंबों और रीढ़ को मजबूत करता है। यह आपके हैमस्ट्रिंग को फैलाता है और आपके कूल्हों को खोलता है। आर्द्रा चंद्रसन समन्वय और संतुलन बनाता है। इस आसन को करने के लिए आप एक योगा मैट को फर्श पर बिछा के उस पर सीधे खड़े हो जाएं। दाएं पैर को आगे की ओर रखें और उसे पर शरीर का भर डालते हुए बाएं पैर को ऊपर उठायें। अब दाएं हाथ को फर्श पर रखें और बाएं हाथ को सामने की ओर सीधा कर लें। इस स्थिति में आपका शरीर फर्श के समान्तर रहेगा। इस आसन को आप 15 से 30 सेकंड के लिए करें।

(और पढ़े – चंद्र नमस्कार के फायदे और करने का तरीका…)

पावर योग करते समय सावधानियां – Precautions while doing Power yoga in Hindi

पावर योग करते समय सावधानियां - Precautions while doing Power yoga in Hindi

इससे पहले कि आप पावर योग करें, ध्यान रखें कि पावर योगा कड़ी मेहनत है और सभी के लिए नहीं है। सामान्य तौर पर, आपको इससे बचना चाहिए यदि:

  • आप अच्छे आकार में नहीं हैं। पावर योग करने के लिए, कम से कम आपको मध्यम रूप से फिट रहने की आवश्यकता है – अन्यथा, शारीरिक रूप से गहन आसन आपको फायदे से अधिक नुकसान कर सकते हैं।
  • यदि आप गर्भवती हैं। कुछ आसन संभावित रूप से गर्भावस्था के दौरान जटिलताओं का कारण बन सकते हैं। (इसके बजाय, जन्मपूर्व योग कक्षाओं में जानें का प्रयास करें, जो सरल हैं और गर्भवती महिलाओं के लिए चलाई जा रही हैं।)
  • आप मधुमेह या गठिया जैसी पुरानी शारीरिक बीमारी से पीड़ित हैं।
  • यदि आपको कोई चिंता है, तो शक्ति योग या ज़ोरदार शारीरिक व्यायाम के किसी भी रूप का अभ्यास करने से पहले अपने डॉक्टर के साथ परामर्श करना सबसे अच्छा है।

(और पढ़े – गठिया (आर्थराइटिस) के लिए योग…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration