फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट के लिए योग – Yoga for Fibroid Treatment in Hindi

फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट के लिए योग - Yoga for Fibroid Treatment in Hindi
Written by Shivam

फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट के लिए योग एक अच्‍छा उपचार विकल्‍प है। फाइब्रॉइड महिलाओं में होने वाली एक गंभीर समस्या है।लगभग 70% महिलाओं को उनके जीवनकाल में गर्भाशय के भीतर फाइब्रॉएड विकसित होते हैं। गर्भाशय फाइब्रॉएड आपके जीवन को कठिन बना सकता है, जिससे दर्द, गंभीर मासिक धर्म और पेल्विक ऐंठन जैसे लक्षण पैदा हो सकते हैं। मेडलाइन प्लस (MedlinePlus) का कहना है कि पांच में से लगभग एक महिला अपने बच्चे के जन्म के वर्षों में गर्भाशय फाइब्रॉएड, एक प्रकार का गैर-कैंसर ट्यूमर विकसित करती है। फाइब्रॉएड को प्राकृतिक रूप से ठीक करने या उन्हें प्राकृतिक तरीकों से रोकने के कई तरीके हैं और इनमें से एक तरीका योग है। आइये फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट के लिए योगासन को विस्तार से जानते हैं।

1. फाइब्रॉइड के कारण – Fibroid Ke Karan in Hindi
2. फाइब्रॉइड के लक्षण – Fibroid Ke Lakshan in Hindi
3. फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट इन योग – Yoga for Fibroid Treatment in Hindi

फाइब्रॉइड के कारण – Fibroid Ke Karan in Hindi

फाइब्रॉइड के कारण - Fibroid Ke Karan in Hindi

गर्भाशय फाइब्रॉइड के मुख्य कारण आज तक पता नहीं चला हैं। फिर भी कुछ शोधों ने इसके कारण बताये हैं जैसे हार्मोनल कारण में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन का संतुलन बिगड़ना, आनुवांशिक कारण में आपके परिवार में किसी को फाइब्रॉइड है, आयु के कारण से यह 30 वर्ष की आयु के बाद सबसे आम है। आहार के कारण से लाल मांस के सेवन से फाइब्रॉइड होने का खतरा बढ़ जाता है।और अधिक वजन वाली महिलाओं में गर्भाशय फाइब्रॉइड होने की प्रवृत्ति अधिक होती है।

(और पढ़े – फाइब्रॉएड (गर्भाशय में रसौली) क्या है, लक्षण, कारण, जांच और इलाज…)

फाइब्रॉइड के लक्षण – Fibroid Ke Lakshan in Hindi

फाइब्रॉइड के लक्षण - Fibroid Ke Lakshan in Hindi

यदि फाइब्रॉइड बहुत बड़े हैं, तो वे एक बड़ी असुविधा पैदा कर सकते हैं। बिना किसी कारण के दर्द होना, पेशाब करने में कठिनाई होना, कब्ज होना या पेट फूलना, संभोग करते समय दर्द, जांघों के पिछले हिस्से में दर्द, बांझपन आदि फाइब्रॉइड के लक्षण होते हैं।

(और पढ़े – महिलाओं में इनफर्टिलिटी को दूर करते हैं ये योगासन…)

फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट इन योग – Yoga for Fibroid Treatment in Hindi

  1. यूट्रस फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट के लिए सुप्त बुद्ध कोणासन – Fibroid Treatment Ke Liye Yoga Supta Baddha Konasana in Hindi
  2. फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट इन योग सुप्त वीरासन -Fibroid Treatment Yoga Supta Virasanain Hindi
  3. फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट के लिए योग जानुशीर्षासन – Fibroid Treatment ke liye yoga janu Sirasana in Hindi
  4. गर्भाशय फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट लिए योग सर्वांगासन – Fibroid Treatmentin yoga Sarvangasana in Hindi
  5. फाइब्रॉइड ठीक करने के लिए योग भारद्वाजासन ट्विस्ट – Fibroid TreatmentMe Bharadvajasana Twist Yoga Ke Fayde in Hindi
  6. फाइब्रॉइड इलाज के लिए योग सेतुबंधासन – Fibroid Treatment ke liye yoga Setubandhasana in Hindi

फाइब्रॉइड का ट्रीटमेंट योग के द्वारा भी किया जा सकता हैं। आइये इसके लिए कुछ योगासन को विस्तार से जानते हैं-

यूट्रस फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट के लिए सुप्त बुद्ध कोणासन – Fibroid Treatment Ke Liye Yoga Supta Baddha Konasana in Hindi

यूट्रस फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट के लिए सुप्त बुद्ध कोणासन - Fibroid Treatment Ke Liye Yoga Supta Baddha Konasana in Hindi

यदि आप अपने फाइब्रॉइड के लक्षणों के रूप में अधिक मासिक धर्म और दर्द का अनुभव करती हैं तो सुप्त बुद्ध कोणासन आपकी मदद कर सकता है। यह पेट के अंगों, मूत्राशय और गुर्दे को उत्तेजित करने के लिए बहुत अच्छा है। इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले एक योगा मैट को साफ जगह में बिछा के दोनों पैरों को सीधा करके बैठ जाएं। इसके बाद दोनों पैर को अपनी ओर मोड़ लें और दोनों पैरों के पंजों से पंजे मिलाएं। अब धीरे-धीरे पीछे की ओर झुकें और आपकी पीठ को फर्श रखें दें। अपने शरीर के साथ अपने हाथों को आराम दें। आप अपने पैरों और कूल्हों में खिंचाव को गहरा करने के लिए अपनी जांघों पर भी दबा सकते हैं।

(और पढ़े – बद्ध कोणासन करने का तरीका और फायदे…)

फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट इन योग सुप्त वीरासन – Fibroid Treatment Yoga Supta Virasanain Hindi

फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट इन योग सुप्त वीरासन -Fibroid Treatment Yoga Supta Virasanain Hindi

गर्भाशय फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट में आप सुप्त वीरासन योग आसन की सहायता ले सकती हैं यह काफी लाभदायक आसन हैं। यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि यह मुद्रा एक मध्यवर्ती योग आसन है और इसका अभ्यास केवल तभी किया जाना चाहिए जब आप पहले से ही हीरो पोज़ कर सकें। इस आसन में नितंब पैरों के बीच करके फर्श पर बैठते हैं। सुप्त वीरासन के लिए आप सबसे पहले एक योगा मैट को बिछा के उस पर घुटने टेक के बैठ जाएं। दोनों हाथों को ऊपर ले जाएं और जोड़ लें। अब पीछे की ओर झुके और फर्श पर लेट जाएं। इसे अपने क्षमता के अनुसार करें और फिर आसन से बाहर आयें।

इस तरह से महिलाएं फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट में सुप्‍त वीरासन योग का उपयोग कर सकती हैं।

(और पढ़े – सुप्त वज्रासन करने के तरीका और लाभ…)

फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट के लिए योग जानुशीर्षासन – Fibroid Treatment ke liye yoga janu Sirasana in Hindi

फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट के लिए योग जानुशीर्षासन - Fibroid Treatment ke liye yoga janu Sirasana in Hindi

जानुशीर्षासन योग मन को शांत करता है। यह आसन कठोर पेट के ऊतकों को नरम करता है और फाइब्रॉइड को रोक सकता है। जानुशीर्षासन करने के लिए आप किसी साफ स्थान पर योगा मैटको बिछा के दोनों पैरों को सामने की ओर सीधा करके बैठ जाएं।अब अपने दाएं पैर को मोड़ के बाएं पैर की जांघ पर रखें। अपने दोनों हाथों को ऊपर की ओर करें सीधा खड़ा करें।अब अपने ऊपर के शरीर को बाएं पैर की ओर नीचे झुकाएं औरबाएं पैर के पंजें को पकड़ लें।अपने सिर को बाएं पैर के घुटने पर रख लें। इस मुद्रा में रहते हुयें 5 से 10 बार साँस लें।

(और पढ़े – जानुशीर्षासन करने का तरीका और फायदे…)

गर्भाशय फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट लिए योग सर्वांगासन – Fibroid Treatmentin yoga Sarvangasana in Hindi

गर्भाशय फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट लिए योग सर्वांगासन - Fibroid Treatmentin yoga Sarvangasana in Hindi

ऐसा माना जाता है कि यह सर्वांगासन योग पेट को लंबा करने और फाइब्रॉइड को कम करने में मदद करता है।इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले एक योगा मैटपर सीधे पीठ के बल लेट जाएं। अपने दोनों हाथों को सीधा रखें। अब अपने दोनों पैरों को कमर के यहाँ से मुड़े और उनकों ऊपर करें। इसके बाद अपने दोनों हाथों से पीठ को सहारा देते हुए उठायें। अपने पैरों को अधिकतम ऊंचाई तक ऊपर करें। इस स्थिति में आपकी रीड की हड्डी और आपके पैर एक सीधी रेखा में रहनी चाहियें। आपके शरीर का पूरा वजन कन्धों पर होगा और दोनों हाथ पीठ को ऊपर की ओर सीधा रखने में सहायता करेगें। इस आसन में आपको कम से कम 30 सेकंड तक रुकना हैं उसेक बाद पैरों को नीचे करते हुए अपनी प्रारंभिक अवस्था में आना हैं।

बहुत से स्‍वास्‍थ्‍य सलाहकार भी फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट के लिए योग की सहलाह देते हैं।

(और पढ़े – सर्वांगासन करने का तरीका और फायदे…)

फाइब्रॉइड ठीक करने के लिए योग भारद्वाजासन ट्विस्ट – Fibroid Treatment Me Bharadvaj asana in Hindi

भारद्वाजासन ट्विस्ट योग रीढ़ को टोन करता है और पेट के अंगों को खोलता है।इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले एक योगा मैट को बिछा के अपने दोनों पैर को अपने समाने सीधा करके बैठ जाएं। अब अपने बाएं पैर को मोड़ें और उसे बायीं जंग से बाहरी साइड रखें। फिर अपने दाएं पैर को मोड़ें और बाएं जांघ पर रखें। अपने दाएं हाथ को पीठ के पीछे से लेकर दाएं पैर के अंगूठे को पकड़ लें और बाएं हाथ को दाएं पैर के घुटने के नीचे दबा लें।कुछ देर के बाद यही क्रिया दूसरे पैर से दोहराहएं। फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट में इस योग का उपयोग लाभकारी होता है।

फाइब्रॉइड इलाज के लिए योग सेतुबंधासन – Fibroid Treatment ke liye yoga Setubandhasana in Hindi

फाइब्रॉइड इलाज के लिए योग सेतुबंधासन - Fibroid Treatment ke liye yoga Setubandhasana in Hindi

गर्भाशय फाइब्रॉइड ट्रीटमेंट लिए सेतुबंधासन योग बहुत ही अच्छा आसन हैं। यह योग थायरायड के उपचार में भी लाभदायक होता हैं। इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले एक चटाई बिछा के सीधे पीठ के बल लेट जाएं और अपने दोनों हाथों व पैरों के सीधा रखें। अब अपने पैरों को घुटनों के यहाँ से मोड़े और कूल्हों को धीरे-धीरे ऊपर करते जाएं। अपने दोनों हाथों से पैर की एड़ी को स्पर्श करें। इस आसन को आप 10 से 15 सेकंड के लिए करें और फिर से प्रारंभिक स्थिति में आयें। यह आपको 2 से 3 बार करना हैं।

(और पढ़े – सेतुबंधासन करने का तरीका, फायदे और सावधानियां…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration