रजोनिवृत्ति के लक्षण और संकेत - Signs and Symptoms of Menopause in Hindi - Healthunbox
महिला स्वास्थ्य की जानकारी

रजोनिवृत्ति के लक्षण और संकेत – Signs and Symptoms of Menopause in Hindi

रजोनिवृत्ति के लक्षण और संकेत - Signs and Symptoms of Menopause in Hindi

Menopause ke lakshan in hindi मासिक धर्म का स्थायी रुप से बंद हो जाने को रजोनिवृत्ति कहा जाता है। मतलब मेनोपॉज के लक्षण आने पर महिला के पीरियड्स पूरी तरह बंद हो जाते हैं। रजोनिवृत्ति के समय, एक महिला के शरीर में शारीरिक और मानसिक दोनों तरह के परिवर्तन होते हैं। अक्सर ये परिवर्तन इतने धीमे और छोटे होते हैं कि महिला को कोई असुविधा नहीं होती है, लेकिन कुछ महिलाएं विशेष रूप रजोनिवृत्ति के लक्षण से पीड़ित होती हैं। रजोनिवृत्ति को अंग्रेजी में मेनोपॉज़ कहा जाता है, जिसका अर्थ है ‘जीवन में बदलाव’। यह वास्तव में एक महिला के जीवन का जरुरी मोड़ होता है। रजोनिवृत्ति कई मायनों में खुद के होने का अनुभव कराती है। इसका सबसे बड़ा लक्षण मासिक धर्म की क्रमिक कमी है। हालांकि, इसकी शुरुआत से पहले, कुछ ऐसे लक्षण दिखाई देते हैं, जो इंगित करते हैं कि रजोनिवृत्ति आने वाली है।

यहाँ रजोनिवृत्ति के शीर्ष 15 लक्षण और संकेत दिए गए हैं

रजोनिवृत्ति के शीर्ष 15 लक्षण और संकेत

गर्म चमक (हॉट फ्लशेस)

रजोनिवृत्ति के शुरुआती लक्षणों में यह बहुत आम है। एक गर्म चमक का मतलब है चेहरे या छाती की ओर तेजी से रक्त का प्रवाह। छूने पर आपको गर्माहट महसूस होगी, लाल दिखाई देगा और शायद वहां पसीना भी आ जाए।

रात को पसीना आना

रजोनिवृत्ति के शुरुआती लक्षणों में रात को पसीना आना भी शामिल है, रात को पसीना आमतौर पर गर्म चमक के साथ आता है, लेकिन यह आवश्यक नहीं है। आपको आधी रात में अचानक ठंड लग सकती है, लेकिन साथ ही आपको पसीना भी आ सकता है। आप चिपचिपा महसूस कर सकतीं हैं। यह बहुत असुविधाजनक है लेकिन यह रजोनिवृत्ति का एक निश्चित लक्षण है।

मनोदशा में परिवर्तन

हालांकि पीएमएस में भी मूड में बदलाव आते हैं, वे भी रजोनिवृत्ति से जुड़े होते हैं। आप रो सकतीं हैं, चिड़चिड़ी हो सकतीं हैं, अति प्रसन्न या दुखी महसूस कर सकतीं हैं। आपका मूड कैसा भी हो, रजोनिवृत्ति के दौरान आपका मूड अचानक स्पेक्ट्रम के एक छोर से दूसरे छोर तक बदल सकता है। यह भी मेनोपॉज़ का लक्षण माना जाता है।

थकान

हालांकि थकान भी कई अन्य स्थितियों का एक लक्षण है, अगर थकान उपरोक्त लक्षणों के साथ है, तो यह रजोनिवृत्ति को दर्शाती है। थकान जो सामान्य काम करने के बाद भी हो, पूरी नींद लेने के बावजूद थकान होना और रोजमर्रा के कार्यों में थकान महसूस करना ये सरे लक्षण मेनोपॉज़ के रूप में परिभाषित किये जा सकते हैं।

चिंता

मूड में परिवर्तन के साथ चिंता भी रजोनिवृत्ति का एक लक्षण है। आप उन चीजों को करने के बारे में भी चिंता कर सकते हैं जो आपने पहले आसानी से किए थे, या आपकी पहले की चिंताएं बढ़ भी सकती हैं। अगर आपकी चिंता बढ़ रही है तो आपको अपना इलाज किसी पेशेवर डॉक्टर से करवाना चाहिए।

संबंध बनाने में दिलचस्पी नहीं लेना

शरीर में हार्मोन का स्तर घटने पर लिबिडो कम हो जाता है। बिना किसी खास वजह के साथी के साथ संबंध बनाने का विचार कम हो सकता है। यह भी रजोनिवृत्ति का एक लक्षण है।

स्तन मुलायम होना

स्तन पीएमएस के दौरान कोमल होते हैं, लेकिन रजोनिवृत्ति से भी इनकी कोमलता का संबंध होता हैं। आपके शरीर में फिजिकल परिवर्तन और हार्मोन के स्तर में परिवर्तन के कारण स्तनों पर इसका सबसे अधिक प्रभाव पड़ता है। वे नरम हो जाते हैं और उनमे दर्द होता है। यह भी रजोनिवृत्ति का एक लक्षण है।

सिरदर्द

हार्मोन के स्तर में परिवर्तन के कारण सिरदर्द होता है, इसलिए यह आश्चर्यजनक नहीं है कि रजोनिवृत्ति के दौरान भी आपको सिरदर्द हो सकता है। यदि आप जीवन भर सिरदर्द से पीड़ित रहीं हैं, तो यह समस्या रजोनिवृत्ति के दौरान और बढ़ सकती है या बदल भी सकती है।

योनि में सूखापन (सूखी योनि)

योनि की दीवारों पर होने वाली प्राकृतिक चिकनाई जो यौन उत्तेजना के दौरान बढ़ जाती है, रजोनिवृत्ति इसकी मात्रा को कम कर सकती है। शरीर में हार्मोन का स्तर बदल जाता है और एस्ट्रोजन की मात्रा कम हो जाती है, जिसके कारण योनि शुष्क हो जाती है और बहुत असहज महसूस करती है। इसलिए संबंध बनाते समय आपको दर्द भी हो सकता है। यह भी रजोनिवृत्ति का एक लक्षण है।

वजन बढ़ रहा है

शरीर में हार्मोन के उतार-चढ़ाव वजन बढ़ाने सहित सभी प्रकार के लक्षण पैदा करते हैं। आपका वजन बढ़ना रजोनिवृत्ति का एक लक्षण हो सकता है क्योंकि यह इंगित करता है कि शरीर में चयापचय दर कम हो गई है – हार्मोन में बदलाव रजोनिवृत्ति का एक प्रमुख लक्षण।

बाल पतले होना या बाल झड़ना

बालों के बढ़ने के लिए एस्ट्रोजन की आवश्यकता होती है। रजोनिवृत्ति में एस्ट्रोजन की कमी हो जाती है जिससे कभी-कभी बाल भी झड़ने लगते हैं।

नींद न आना या अनिद्रा

रात को पसीना आना, और हार्मोन के स्तर में बदलाव, के कारण आपका रात में सोना मुश्किल हो सकता है। यह भी रजोनिवृत्ति का एक लक्षण है।

जोड़ों का दर्द

शरीर में हार्मोन के स्तर में बदलाव के कारण जोड़ो में दर्द हो सकता है।

दिल की धड़कन का तेज़ होना

यह आमतौर पर पेरिमेनोपॉज के दौरान होता है। पेरिमेनोपॉज वह अवस्था है जब रजोनिवृत्ति की शुरुआत होती है।

भटकाव और भूल जाना

ऐसा नींद की कमी और एस्ट्रोजन की कमी के कारण हो सकता है। आप अक्सर किसी काम को करना भूल सकतीं हैं।

मासिक धर्म के स्थायी रूप से बंद हो जाने को रजोनिवृत्ति का मुख्य लक्षण माना जाता है। इस अवस्था को रजोनिवृति या मेनोपॉज (menopause) कहते हैं रजोनिवृत्ति होने पर महिला के शरीर में शारीरिक और मानसिक दोनों तरह के परिवर्तन देखे जाते हैं। ऐसे में बेहतर यही है कि आप अपनी रजोनिवृत्ति से पूर्व ही उसकी तैयारी कर लें।

आपको ये भी जानना चाहिए – 

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration