जल जाने पर प्राथमिक उपचार क्या करें और क्या ना करें – Jalne par prathmik upchar in Hindi

जल जाने पर प्राथमिक उपचार क्या करें और क्या ना करें - Jalne par prathmik upchar in Hindi
Written by Rajendra Patel

आग से जलने के कारण त्वचा पर प्रभावित जगह लाल हो जाती है, और ज्यादा जलने पर फफोले आ जाते हैं। भाप (वाष्प) से जलने के कारण भी ऐसा होता है। जलने के कारण प्रभावित हिस्से में असहनीय जलन होती है। यदि जलन गंभीर है तो मरीज को तुरंत अस्पताल ले जाना चाहिए। यदि लक्षण गंभीर नहीं है तो जलने का घर पर ही प्राथमिक उपचार किया जा सकता है, और बाद में आवश्यकता पड़ने पर चिकित्सक के पास ले जा सकते हैं। आज के इस लेख के माध्यम से आप जलने के प्राथमिक उपचार के बारे में जानेंगे।

1. जलने पर क्या करें – Jalne par kya Karen in Hindi

2. जलने पर क्या नहीं करना चाहिए – Jalne par kya Nahi Karna Chahiye in Hindi

जलने पर क्या करें – Jalne par kya Karen in Hindi

जल जाने पर क्या करना चाहिए इस बात को बहुत से लोग नहीं जानते हैं तो आइये जानते हैं की जलने पर क्या करना चाहये।

सादा पानी जलने का घरेलू उपचार है – Jalne Ka Gharelu Upchar Normal water in Hindi

सादा पानी जलने का घरेलू उपचार है - Jalne Ka Gharelu Upchar Normal water in Hindi

यदि आप गंभीर रूप से नहीं जले हो तो आप जले हुए भाग पर सादे पानी की धार डालते रहते हैं जिससे जलन में तुरंत आराम मिलता है।

(और पढ़े – क्या आप जानतें है आपको रोज कितना पानी पीना चाहिए…)

जलने का प्राथमिक उपचार आलू से – jalne Ka prathmik upchar Potato in hindi

जलने का प्राथमिक उपचार आलू से - jalne Ka prathmik upchar Potato in hindi

जले हुए भाग पर आलू को बारीक़ पीसकर मोटी परत में लगाने से जलन में आराम मिलता है, और यदि तुरंत ऐसा उपचार कर लिया जाये तो फफोले भी नहीं आते हैं।

(और पढ़े – आलू के फायदे और नुकसान…)

जलने से हुए छाले का इलाज एलोवेरा से – Alovera for Fire Burning in Hindi

जलने से हुए छाले का इलाज एलोवेरा से - Alovera for Fire Burning in Hindi

ग्वारपाठा में भी जलन कम करने के गुण होते हैं जले हुए भाग पर तुरंत ग्वारपाठा (एलोवेरा) का गूदा लगाने से आराम मिलता है, और लगातार लगाते रहने से जलने के निशान नहीं पड़ते हैं और जल्दी आराम मिलता है। अगर ग्वारपाठा नहो तो बाजार में Alovera gel उपलब्ध हैं।

(और पढ़े – एलोवेरा के फायदे और नुकसान…)

गर्म पानी से जलने का उपचार शक्कर से – Sugar Home Remedy for Burns in Hindi

गर्म पानी से जलने का उपचार शक्कर से - Sugar Home Remedy for Burns in Hindi

शक्कर को पानी में घोलकर जले हुए भाग पर डालने से जलन कम हो जाती है क्योंकि यह घोल ठंडा होता है

जलने का उपचार शहद से – Jalne Ka Upchar Honey in Hindi

जलने का उपचार शहद से - Jalne Ka Upchar Honey in Hindi

शहद में प्राकृतिक एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल गुण पाया जाता है और  ठंडाई भी देता है और बैक्टीरियल/ फंगल इन्फेक्शन से रोकता है इसलिए जले हुए भाग पर शहद लगाना चाहिए।

(और पढ़े – शहद के फायदे उपयोग स्वास्थ्य लाभ और नुकसान…)

जलने पर करें दूध का उपयोग – Use of Milk for Burns in Hindi

जलने पर करें दूध का उपयोग - Use of Milk for Burns in Hindi

दूध में जलन कम करने का गुण पाया जाता है। अतः जले हुए भाग पर सर्वप्रथम दूध का उपयोग किया जाना चाहिए।

(और पढ़े – दूध के साथ गुड़ खाने के फायदे…)

दूध से जलने पर उपचार दही से – Use of curd for Burns in Hindi

दूध से जलने पर उपचार दही से - Use of curd for Burns in Hindi

दही में घाव को जल्दी से भरने का गुण पाया जाता है, जिससे जलने पर दही का उपयोग करना चाहिए। दही की प्रकृति ठंडी होती है, जिससे यह जलन को कम करता है।

(और पढ़े – दही खाने से सेहत को होते हैं ये बड़े फायदे…)

जलने पर क्या नहीं करना चाहिए – Jalne par kya Nahi Karna Chahiye in Hindi

जलने पर क्या नहीं करना चाहिए - Jalne par kya Nahi Karna Chahiye in Hindi

जलने पर क्या नहीं करना चाहिए इसका भी आपको पता होना चाहिए, जिससे जलने पर आप कुछ ऐसा न करें जिससे बाद में आपको और समस्याओं का सामना करना पड़े।

सूरज की तेज रोशनी से बचाना चाहिए – Jalne par Sunlight se bache in Hindi

सूरज की तेज रोशनी से बचाना चाहिए - Jalne par Sunlight se bache in Hindi

शरीर का जो भाग जला है उसको डायरेक्ट सूरज की तेज रोशनी (sunlight) से बचाया जाना चाहिए, क्योंकि सूर्य प्रकाश से जलन में वृद्धि हो सकती है।

(और पढ़े – गर्मी से बचने के आसान उपाय…)

जल जाने पर ना करें तेल का उपयोग – Jalne par Tel ka upyog Na Karen in Hindi

जल जाने पर ना करें तेल का उपयोग - Jalne par Tel ka upyog Na Karen in Hindi

जले हुए भाग पर कभी भी किसी भी प्रकार का तेल नहीं लगाना चाहिए,  क्योंकि तेल लगाने से कोई लाभ नहीं होता है, बल्कि तेल लगाने से धुल चिपकने लगती है।

जलने पर मक्खन का उपयोग नहीं करना चाहिए – Don’t Use Butter for Burns in Hindi

जलने पर मक्खन का उपयोग नहीं करना चाहिए – Don’t Use Butter for Burns in Hindi

जिस भाग पर जले हुए हो वहां मक्खन का उपयोग नहीं करना चाहिए। क्योंकि मक्खन गर्मी को बढ़ता है।

(और पढ़े – छाछ के फायदे और नुकसान…)

टूथपेस्ट का उपयोग जलने पर नहीं करना चाहिए – Jalne par Toothpaste ka upyog Na Kren in Hindi

टूथपेस्ट का उपयोग जलने पर नहीं करना चाहिए - Jalne par Toothpaste ka upyog Na Kren in Hindi

कुछ लोग मानते हैं कि जले हुए भाग पर टूथपेस्ट लगाने से जलन कम होती है, किन्तु ऐसा बिलकुल भी नहीं है। टूथपेस्ट लगाने से दर्द और बढ़ जाता है। 

(और पढ़े – दांतों का पीलापन दूर करने के लिए एक्टिव चारकोल टूथपेस्ट का उपयोग…)

जलने पर तुरंत नहीं लगाना चाहिए बर्फ – Don’t Use Ice or chilled water in Hindi

जलने पर तुरंत नहीं लगाना चाहिए बर्फ - Don’t Use Ice or chilled water in Hindi

जले हुए भाग पर बर्फ या ठन्डे पानी का उपयोग नहीं करना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से जले हुए भाग में और अधिक जलन हो सकती है, और चमड़ी भी निकल सकती है इसलिए जले हुए भाग में बर्फ या ठन्डे पानी का उपयोग नहीं करना चाहिए।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration