मुर्गे के पंजे (चिकन फीट) खाने के फायदे और नुकसान - Chicken Feet Benefits And Side Effects In Hindi - Healthunbox
हेल्दी रेसपी

मुर्गे के पंजे (चिकन फीट) खाने के फायदे और नुकसान – Chicken Feet Benefits And Side Effects In Hindi

मुर्गे के पंजे (चिकन फीट) खाने के फायदे और नुकसान - Chicken Feet Benefits And Side Effects In Hindi

Chicken Feet Benefits And Side Effects In Hindi: दुनिया में नॉन वेजेटेरियन लोगों की संख्या बहुत ज्यादा है और उनको चिकन खाना बहुत पसंद होता है। आज हम आपको मुर्गे के पंजे खाने के फायदे और नुकसान के इस आर्टिकल में बताने वाले हैं कि जो लोग मुर्गी के पंजों (चिकन फीट) का सेवन करते हैं, उनको क्या-क्या फायदे होते हैं।

हालांकि, हम मुर्गे के पंजे को बेकार अंग मान कर फेंक देते हैं और इसे नहीं खाते हैं। लेकिन कुछ क्षेत्रों जैसे मेक्सिको, दक्षिण अफ्रीका, जमैका आदि में, चिकन के पैरों को एक लोकप्रिय स्ट्रीट फूड और खाद्य पदार्थ माना जाता है।

चिकन के पैरों की प्रशंसा उनके स्वास्थ्य लाभ के लिए की जाती है, जो ज्यादातर उनके उच्च कोलेजन सामग्री के लिए जिम्मेदार होते हैं। उनके कई स्वास्थ्य लाभ हैं। मुर्गे के पंजे (चिकन फीट) को भी तला जाता है और सॉस के साथ परोसे जाते हैं। इसमें कई पोषक तत्व होते हैं।

लगभग 60 ग्राम चिकन पैरों में 140 कैलोरी, प्रोटीन 16 ग्राम, वसा 8-10 ग्राम, 0.16 ग्राम कार्ब्स, कैल्शियम की दैनिक आवश्यकता का 4 से 6%, फॉस्फोरस दैनिक जरूरत का चार से 6%, विटामिन ए दैनिक जरूरत का 2 से 3% और फोलेट (विटामिन बी 9) दैनिक आवश्यकता का 14 से 17% होता है।

मुर्गे के पंजे कोलेजन में उच्च होते है, जो प्रोटीन, विटामिन, खनिज और वसा का एक समृद्ध स्रोत है। इस लेख में जानते हैं चिकन फीट को खाने से होने वाले अन्य स्वास्थ्य लाभों के बारे में।

मुर्गे के पंजे खाने के फायदे – Chicken Feet Benefits In Hindi

मुर्गे के पंजे खाने के फायदे - Chicken Feet Benefits In Hindi

यह लेख आपको मुर्गे के पंजे (चिकन फीट) खाने के फायदे और नुकसान की सभी जररूरी जानकारी देगा। आइए जानते हैं मुर्गी के पंजे को खाने से होने वाले फायदों के बारे में –

मुर्गे के पंजे खाने के फायदे त्वचा की सेहत में

मुर्गे के पंजे खाने के फायदे त्वचा की सेहत में

चिकन फीट में कोलेजन होता है, जो आपकी त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है। यह आपकी त्वचा को हाइड्रेट रखता है और कोमलता बढ़ाता है।

सबूत बताते हैं कि कोलेजन का सेवन आपकी त्वचा की जलन, खुरदरापन, लोच और घनत्व में सुधार कर सकता है

इसके उपयोग से त्वचा का निखार और चमक बढ़ती है। यह हयालूरोनिक एसिड भी बढ़ाता है, जो आपकी त्वचा के लिए एक अच्छा और उपयोगी एसिड है।

कोलेजन हाइलूरोनिक एसिड के स्तर में वृद्धि करके काम कर सकता है, यह एक पानी को बनाए रखने वाला अणु है जो त्वचा की उम्र बढ़ने को रोकने में मदद करने के लिए जाना जाता है।

जोड़ों के दर्द को कम करने में मदद मिल सकती है

जोड़ों के दर्द को कम करने में मदद मिल सकती है

मुर्गे के पंजे में पाया जाने वाला कोलेजन आपके जोड़ों के दर्द में भी राहत देता है। यदि आपको गठिया है या जोड़ों का दर्द है, तो आपको मुर्गे के पंजे खाने चाहिए।

कोलेजन के साथ, आपके ऊतक फिर से बनने लगते हैं। जिसके कारण शरीर में गठिया के लक्षण कम हो जाते हैं।

हड्डियों के नुकसान को रोकने में मदद मिल सकती है

हड्डियों के नुकसान को रोकने में मदद मिल सकती है

कोलेजन का सेवन पोस्टमेनोपॉज़ल महिलाओं में हड्डियों के निर्माण और घनत्व में सुधार कर सकता है।

शोधकर्ताओं का मानना है कि कोलेजन हड्डियों के निर्माण और घनत्व में सुधार कर सकता है क्योंकि यह हड्डी द्रव्यमान का एक प्रमुख घटक है।

चिकन फीट खाने के फायदे ब्लड शुगर नियंत्रित करता है

चिकन फीट खाने के फायदे ब्लड शुगर नियंत्रित करता है

क्या आप जानते हैं कि चिकन फीट का उपयोग आपके रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में भी उपयोगी है। यह आपके शरीर में एक हार्मोन को सक्रिय करता है जो इंसुलिन उत्पादन को बढ़ाता है।

इसलिए अगर आपको डायबिटीज है या शुगर बढ़ गई है, तो आपको अपने आहार में मुर्गे के पंजे को शामिल करना चाहिए।

चिकन के पैर हृदय के लिए सेहतमंद

चिकन के पैर हृदय के लिए सेहतमंद

मुर्गे के पंजे खाने से आपका दिल भी सही रहता है। क्योंकि कोलेजन आपके दिल की धमनियों और नसों के लिए फायदेमंद है। इसलिए, यदि आप चिकन फीट खाते हैं, तो आपको हृदय रोग होने की संभावना कम हो जाती है।

जन्म संबंधी असामान्यता को रोकने में मदद करता है

चिकन पैर भी फोलेट (विटामिन बी 9) का एक अच्छा स्रोत है, जो डीएनए संश्लेषण को सहायता करता है और जन्म संबंधी असामान्यता को रोकने में मदद करता है।

चिकन पैर कोलेजन के रूप में, साथ ही वसा और कुछ विटामिन और खनिजों के रूप में उचित मात्रा में प्रोटीन प्रदान करते हैं।

चिकन फीट के नुक़सान – Chicken Feet Side Effects In Hindi

चिकन फीट के नुक़सान - Chicken Feet Side Effects In Hindi

मुर्गे के पंजे खाने के फायदे (chicken feet khane ke fayde) तो आपने जान लिए अब चिकन फीट के नुक़सान भी जान लीजिये।

ट्रांस फैट: मुर्गे के पंजे में ट्रांस फैट भी होता है, जो आपके शरीर के लिए एक खराब प्रकार का वसा माना जाता है। जब मुर्गे के पंजे को डीप फ्राई किया जाता है, तो इसमें ट्रांस फैट आता है, जो आपके दिल की सेहत के लिए खराब है।

इसके अलावा, ट्रांस फैटी एसिड (टीएफए) प्रोस्टेट और स्तन कैंसर के बढ़ते जोखिम से जुड़ा हुआ है।

हाइजीन से जुड़े रिस्क: चिकन के पैर खरीदते समय आपको स्वच्छता का पूरा ध्यान रखना होगा। यदि मुर्गे के पंजे गंदे दिख रहें है और उसके आसपास कोई स्वच्छता नहीं है, तो आपको इसे खरीदने से बचना चाहिए। अन्यथा आपको गले या पेट की समस्या हो सकती है।

यदि आपके द्वारा खरीदे गए मुर्गे के पंजे अशुद्ध दिखते हैं, तो गंदगी को हटाने के लिए उन्हें अच्छी तरह से धोएं।

अंत में, चिकन के पैरों में कई छोटी हड्डियां होती हैं, जो बच्चों और वयस्कों दोनों के लिए एक गले में फसने का खतरा पैदा करती हैं।

चिकन के पैर अक्सर गहरे तले हुए होते हैं, जिससे कुछ कैंसर का खतरा बढ़ सकता है। खरीदते और खाते समय उनकी स्वच्छता और छोटी हड्डियों का ध्यान रखें।

निष्कर्ष

मुर्गे के पंजे में मोजूद कोलेजन जोड़ों के दर्द से राहत, त्वचा के स्वास्थ्य में सहायता, और हड्डी के नुकसान को रोकने में मदद कर सकती है।

हालांकि चिकन पैर अक्सर गहरे तले हुए होते हैं, उन्हें हड्डी शोरबा के लिए उपयोग करना एक स्वस्थ विधि है। उनकी छोटी हड्डियों के प्रति सावधान रहें, जो एक खतरनाक खतरा पैदा कर सकते हैं।

मुर्गे के पंजे (चिकन मीट) खाने के फायदे और नुकसान ( Chicken Feet Benefits And Side Effects In Hindi) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration