क्या चिकन खाने से कोरोना वायरस होता है? - kya chicken khane se coronavirus hota hai? - Healthunbox
हेल्थ टिप्स

क्या चिकन खाने से कोरोना वायरस होता है? – kya chicken khane se coronavirus hota hai?

क्या चिकन खाने से कोरोना वायरस होता है? - kya chicken khane se coronavirus hota hai?

क्या चिकन खाने से कोरोना वायरस होता है? कोरोना वायरस से कैसे बचा जाए, इस वायरस से हर दिन मौतों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है, ऐसे कितने सवाल लोगों के मन में उठ रहे हैं। वहीं, चिकन खाने को लेकर कई दावे किए जा रहे थे, चिकन खाने वाले लोगों में भी इस बात की चिंता है कि क्या कोरोना वायरस चिकन खाने (kya chicken khane se coronavirus hota hai?) से भी फैल सकता है, लेकिन अब सरकार ने एक रिपोर्ट में बताया है कि चिकन खाने से कोरोना वायरस होता है या नहीं…

कोरोना वायरस के दिन प्रतिदिन बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लोगों के मन में कई तरह के सवाल हैं। खासकर ऐसे लोगों के मन में जो मांसाहारी हैं। दरअसल, लंबे समय से डॉक्टरों द्वारा यह कहा जाता रहा है कि व्यक्ति को कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के कारण मांस खाने से बचना चाहिए। कुछ लोग सवाल करते हैं कि क्या चिकन खाने से कोरोना वायरस फैल सकता है?

इन दिनों सोशल मीडिया पर कुछ मेसेज तेजी से वायरल हो रहे हैं कि कोरोना वायरस चिकन, मटन और सीफूड खाने से फैलता है। भारत सरकार के मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय, द्वारा जारी हेल्थ एडवाइजरी में जो जानकारी दी गई है। उसके आधार पर आपको अपने प्रश्न का उत्तर मिल जायेगा, जो आपको यहाँ बताया जा रहा है।

क्या कहा गया है रिपोर्ट में चिकन के बारे में

क्या चिकन खाने से कोरोना वायरस होता है?

यह रिपोर्ट 10 फरवरी 2020 को जारी की गई थी। इसके अनुसार, यह बताया गया था कि “कार्यालय इंटरनेशनल डेस एपीज़ूटीज़ यानि ओआईई के अनुसार,” कोरोनोवायरस संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल रहा है। इसका मतलब यह है कि लोगों में संक्रमण का एकमात्र साधन दूसरे लोग ही हैं, न कि चिकन! हालांकि, यह आशंका है कि एक जानवर का मांस खाने से शायद ही कभी कोरोनोवायरस संक्रमण किसी को हो। फिलहाल इस पर कोई रिपोर्ट सामने नहीं आई है।

Coronavirus क्या है?

Coronavirus क्या है?

कोरोना वायरस को सीओवी (CoV) के रूप में भी जाना जाता है, कोरोनोवायरस, वायरस का एक बड़ा परिवार है जो सामान्य सर्दी, खांसी जैसी हल्की बीमारियों से शुरू होता है और गुर्दे की विफलता, श्वसन समस्याओं जैसे गंभीर स्वास्थ्य खतरों को भी बढ़ा सकता है। NCoV मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (MERS-CoV) और सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (SARS) पैदा करने में सक्षम है। ये वायरस मानव शरीर में पहली बार पाए गए हैं और इन पर विस्तृत रूप से शोध किया जा रहा है।

अभी तब साबित नहीं हुआ कि क्या चिकन खाने से कोरोना वायरस होता है?

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि “अगर कोरोना के समान लक्षणों वाले कुछ वायरस कुछ साल पहले देखे गए थे, तो यह वायरस पोल्ट्री फॉर्म या उससे संबंधित किसी भोजन के कारण नहीं फैला था। अभी तक विश्व स्तर पर किसी भी रिपोर्ट ने यह साबित नहीं किया है कि चिकन खाने से कोरोना वायरस फैल सकता है।

तो क्या चिकन खाने से कोरोनावायरस नहीं होगा?

वर्तमान में, सरकार द्वारा यह दावा किया गया है कि मुर्गी पालन के रूप में तैयार किए गए मुर्गी या अंडे का सेवन करना सुरक्षित हो सकता है, लेकिन इन्हें खाने से पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन और ओआईई द्वारा बताये गए स्वच्छता के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश अपनाए जाएं।

फिर भी चिकन या अंडे खाने से पहले इन बातों का विशेष ध्यान रखें

फिर भी चिकन या अंडे खाने से पहले इन बातों का विशेष ध्यान रखें

इसके अनुसार, चिकन खाना सुरक्षित हो सकता है, लेकिन आपको इससे सावधान रहने की आवश्यकता होगी। पता करें कि चिकन कहाँ से खरीदा गया है, वह संक्रमण वाले क्षेत्र में से तो नहीं खरीदा गया है या आप जहाँ चिकन लेने जा रहे हैं, वे कोरोना वायरस के प्रति संवेदनशील स्थान तो नहीं हैं। इन बातों को गंभीरता से समझने के बाद ही, चिकन खरीदने के लिए बाहर जाएं, क्योंकि थोड़ी सी लापरवाही आपको परेशानी में डाल सकती है।

कच्चा या अधपका चिकन या अंडे न खाएं

कच्चा या अधपका चिकन या अंडे न खाएं

आपको चिकन या अंडे खाने से पहले इन्हें अच्छे से पकाने की जरुँरत होगी । हमेशा किसी तरह के कच्चे मांस का सेवन करने से बचें। और हमेशा चिकन और अंडे का सेवन ठीक से पकाकर ही करें। यह वायरस उच्च तापमान में जीवित नहीं रह सकता। इसलिए यदि आप चिकन या अन्य खाद्य पदार्थ को अच्छे से उबालकर और पकाकर खायेगें तो उस खाने से इस प्रकार के संक्रमण के होने का खतरा कम हो जायेगा।

और पढ़े – 

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration