सिर दर्द के 10 प्रकार – Types of headaches in Hindi – Healthunbox
बीमारी

सिर दर्द के 10 प्रकार – Types of headaches in Hindi

सिर दर्द के 10 प्रकार - Types of headaches in Hindi

सिर दर्द एक सामान्य समस्या है सभी व्यक्ति अपने जीवन में कभी ना कभी सिर दर्द की समस्या का जरूर सामना करते हैं। जब आप अपने सिर में अधिक दर्द महसूस करते हैं तो आपके लिए यह सुनिश्चित करना मुश्किल हो जाता है कि यह एक सामान्य सिर दर्द है या सिर दर्द का कोई और प्रकार हैं। सिरदर्द 10 प्रकार का होता है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको सिर दर्द सभी प्रकारों के बारे में बताने जा रहें हैं। आइये इसे विस्तार से जानते हैं।

सिर दर्द के प्रकार – Types of headaches in Hindi

सिर दर्द के प्रकार - Types of headaches in Hindi

लक्षणों के आधार पर सिरदर्द के 10 प्रकार होते हैं, जिनके नाम निम्न हैं।

  1. तनाव सिरदर्द (Tension headaches)
  2. क्लस्टर का सिर दर्द (Cluster headaches)
  3. माइग्रने सिरदर्द (Migraine headaches)
  4. एलर्जी या साइनस सिरदर्द (Allergy or sinus headaches)
  5. हार्मोन का सिरदर्द (Hormone headaches)
  6. कैफीन सिरदर्द (Caffeine headaches)
  7. थकावट सिर दर्द (Exertion headaches)
  8. उच्च रक्तचाप सिरदर्द (Hypertension headaches)
  9. पलटाव सिर दर्द (Rebound headaches)
  10. अभिघातजन्य सिरदर्द (Post-traumatic headaches)

विश्व स्वास्थ्य संगठन बताते हैं कि लगभग सभी को एक बार सिरदर्द का अनुभव होता है। सिरदर्द, सिर के किसी भी क्षेत्र में हो उसको परिभाषित किया जा सकता है। सिरदर्द के प्रकार से उसके दर्द का कारण, समय और तीव्रता का पता लगाया जा सकता है।

सिरदर्द के कुछ मामलों में तत्काल चिकित्सा की आवश्यकता हो सकती है। यदि आप अपने सिर दर्द के साथ निम्न में से किसी एक का अनुभव कर रहे हैं, तो तुरंत ही डॉक्टर के पास जायें।

(और पढ़ें – सिर दर्द दूर करने के घरेलू उपाय)

सिरदर्द के प्रकार और उनका इलाज

सिरदर्द के प्रकार और उनका इलाज

आइये सिरदर्द के सभी प्रकारों के लक्षण और उनका इलाज को विस्तार से जानते हैं।

(और पढ़ें – सिरदर्द दूर करने के घरेलू उपाय)

तनाव सिरदर्द  – Tension headache in Hindi

किसी को भी तनाव सिरदर्द हो सकता है, यह अक्सर तनाव से शुरू होता हैं। यदि आपको तनाव वाला सिरदर्द है तो आप सुस्त महसूस कर सकते हैं, पूरे सिर में सनसनी हो सकती है। आपकी गर्दन, माथे, स्कैल्प (Scalp), या कंधे की मांसपेशियों के आसपास संवेदनशीलता भी हो सकती है। इसके लिए आप मेडिकल स्टोर (ओवर-द-काउंटर) से सिर दर्द की दबा दे सकते हैं।

  • एस्पिरिन (aspirin)
  • इबुप्रोफेन (ibuprofen)
  • नेप्रोक्सन (naproxen)
  • एसिटामिनोफेन और कैफीन (acetaminophen and caffeine)

यदि यह दवा असर न करे तो आप डॉक्टर से भी टेबलेट लिखा सकते हैं।

क्लस्टर का सिर दर्द – Cluster headaches in Hindi

क्लस्टर सिर दर्द की विशेषता गंभीर जलन और चुभने वाला दर्द है। यह दर्द आंख के आसपास या एक तरफ या पीछे होता हैं। कभी-कभी जिस तरफ सिर दर्द होता है वहां पर सूजन, लालिमा और पसीना हो सकता है जो सिरदर्द से प्रभावित होता है। नाक में जमाव और आंखों का फटना भी अक्सर सिरदर्द के कारण ही होता है।

यह सिरदर्द एक श्रृंखला में होता हैं और 15 मिनट से तीन घंटे तक रह सकता है। अधिकांश लोग एक दिन में एक से चार बार सिरदर्द का अनुभव करते हैं। आमतौर पर क्लस्टर सिर दर्द, प्रत्येक दिन एक ही समय के आसपास होता है। क्लस्टर सिरदर्द की एक श्रृंखला एक महीने में बार या दैनिक भी हो सकती है। वसंत और पतझड़ में क्लस्टर सिरदर्द सबसे आम हैं।

डॉक्टरों को भी अभी पक्का पता नहीं है कि यह सिर दर्द किस कारण होता हैं, लेकिन वे इसके लक्षणों के इलाज के लिए कुछ प्रभावी तरीके जानते हैं। आपका डॉक्टर इसके दर्द से राहत प्रदान करने के लिए ऑक्सीजन थेरेपी, सुमैट्रिप्टन (इमिट्रेक्स) या स्थानीय संवेदनाहारी (लिडोकाइन) की सिफारिश कर सकता है।

माइग्रेन – Migraine in Hindi

माइग्रेन - Migraine in Hindi

माइग्रेन का दर्द आपके सिर के अन्दर एक तीव्र स्पंदन (pulsing) है। यह दर्द कई दिनों तक रह सकता है। माइग्रेन सिरदर्द आपकी दैनिक दिनचर्या के कामो को पूरा करने की आपकी क्षमता को कम करता है। इसमें सिर दर्द आमतौर पर एक तरफा होता है। माइग्रेन के सिरदर्द वाले लोग अक्सर प्रकाश और ध्वनि के प्रति संवेदनशील होते हैं। इसके रोगों को मतली और उल्टी भी होती है।

लगभग हर पांच में से एक व्यक्ति को माइग्रेन शुरू होने से पहले निम्न लक्षणों का सामना करना पड़ता हैं-

  • चमकती रोशनी
  • झिलमिलाती रोशनी
  • टेढ़ी मेढ़ी लाइन
  • सितारे (stars)
  • अंधा धब्बे (blind spots)

माइग्रेन में एक स्ट्रोक के समान सभी लक्षण होते है। झोंका (Auras) में आपके चेहरे के एक तरफ या एक हाथ में झुनझुनी और बोलने में परेशानी शामिल हो सकती है। पुरुषों की तुलना में महिलाओं में माइग्रेन विकसित होने की संभावना तीन गुना अधिक होती है। पोस्ट-ट्रॉमैटिक (Post traumatic) स्ट्रेस डिसऑर्डर वाले लोगों में भी माइग्रेन का खतरा बढ़ जाता है।

कुछ पर्यावरणीय कारक, जैसे कि नींद में व्यवधान, डिहाइड्रेशन, समय पर भोजन न करना, कुछ खाद्य पदार्थ का सेवन, हार्मोन में उतार-चढ़ाव, और रसायनों के संपर्क में आना आम माइग्रेन की समस्या को बढ़ाते हैं।

(और पढ़ें – माइग्रेन और सिर दर्द में अंतर क्या होता है)

एलर्जी या साइनस सिरदर्द – Allergy or sinus headaches in Hindi

एलर्जी की प्रतिक्रिया के कारण भी कभी-कभी सिरदर्द होता है। इन सिरदर्द से होने वाला दर्द अक्सर आपके साइनस क्षेत्र और सिर के सामने होता है। साइनस सिरदर्द का माइग्रेन सिरदर्द के रूप में इलाज गलत माना जाता है, हालाँकि साइनस सिरदर्द के 90 प्रतिशत तक लक्षण वास्तव में माइग्रेन के हैं। जिन लोगों को पुरानी मौसमी एलर्जी या साइनसाइटिस (sinusitis) होता है, वे इस प्रकार के सिरदर्द के लिए अतिसंवेदनशील होते हैं।

साइनस सिरदर्द बलगम के पलते होने पर साइनस के दबाव के कारण होता है। साइनस सिरदर्द भी एक साइनस संक्रमण का लक्षण हो सकता है। इन मामलों में, आपका डॉक्टर संक्रमण को दूर करने और आपके सिरदर्द के लक्षणों को दूर करने के लिए एंटीबायोटिक्स लिख सकता है।

(और पढ़ें – साइनस क्या होता है कैसे करें घर पर ही इस बीमारी का ईलाज)

हार्मोन का सिरदर्द – Hormone headaches in Hindi

हार्मोन का सिरदर्द - Hormone headaches in Hindi

हार्मोन सिरदर्द का अनुभव आमतौर पर वह महिलाएं करती हैं जो हार्मोनल उतार-चढ़ाव से जुड़ी होती हैं। मासिक धर्म, गर्भनिरोधक गोलियां और गर्भावस्था सभी आपके एस्ट्रोजन के स्तर को प्रभावित करते हैं, जो हार्मोन सिरदर्द का कारण बन सकता है। मासिक धर्म चक्र के साथ विशेष रूप से जुड़े इस सिरदर्द को मासिक धर्म माइग्रेन के रूप में भी जाना जाता है। यह हार्मोन सिरदर्द मासिक धर्म के ठीक पहले, उस दौरान, या ओव्यूलेशन के समय हो सकता हैं। आराम करना, योग करना, एक्यूपंक्चर, और अपने आहार में परिवर्तन करने से हार्मोन सिरदर्द को रोकने में मदद मिल सकती है।

(और पढ़ें – महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए हार्मोन का महत्व)

कैफीन सिरदर्द – Caffeine headaches in Hindi

कैफीन आपके मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह को प्रभावित करता है। कैफीन की मात्रा बहुत अधिक होने से आपको सिरदर्द हो सकता है। जिन लोगों को अक्सर माइग्रेन होता है, उनके लिए कैफीन के उपयोग करना सिरदर्द के लिए अधिक हानिकारक होता है। यदि आप कैफीन का उपयोग नियमित रूप से करते हैं तो इसको एक दम से छोड़ना भी आपके लिए सिर दर्द कर कारण बन सकता हैं। ऐसा इसलिए हो सकता है क्योंकि कैफीन आपके मस्तिष्क के रसायन विज्ञान को बदल देता है। अपने कैफीन का सेवन स्थिर रखना, उचित स्तर पर कैफीन का सेवन करना या पूरी तरह से छोड़ना कैफीन सिरदर्द को होने से रोक सकता है।

परिश्रम का सिरदर्द – Exertion headaches in Hindi

तीव्र शारीरिक गतिविधि करने के बाद परिश्रम सिरदर्द (Exertion headaches) होता है। वजन उठाना, दौड़ना, और संभोग करना आदि सभी एक Exertion सिरदर्द के लिए सामान्य कारण हो सकते हैं। यह माना जाता है कि इन परिश्रम वाली गतिविधियों के कारण आपकी स्कैल्प (scalp) में रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है, जिससे आपके सिर के दोनों तरफ एक तेज़ सिरदर्द हो सकता है। एक परिश्रम सिरदर्द लंबे समय तक नहीं रहता। इस प्रकार का सिरदर्द आमतौर पर कुछ मिनटों या घंटों के भीतर ठीक हो जाता है। यदि आप Exertion सिरदर्द से अत्यधिक परेशान हैं, तो अपने डॉक्टर को देखना सुनिश्चित करें।

उच्च रक्तचाप सिरदर्द – Hypertension headache in Hindi

उच्च रक्तचाप सिरदर्द - Hypertension headache in Hindi

उच्च रक्तचाप के कारण भी आपको सिरदर्द हो सकता है, और इस तरह का सिरदर्द इमरजेंसी का संकेत देता है। य तब होता है जब आपका रक्तचाप खतरनाक रूप से उच्च हो जाता है। उच्च रक्तचाप का सिरदर्द आमतौर पर आपके सिर के दोनों तरफ होता है और किसी भी गतिविधि के दौरान बढ़ सकता है। इसमें अक्सर एक धड़कन दर्द (pulsating pain) होता है। उच्च रक्तचाप के सिरदर्द में आप अकड़ना या झुनझुनी, नकसीर, सीने में दर्द, या सांस की तकलीफ में परिवर्तन का अनुभव कर सकते हैं। यदि आपको लगता है कि आप उच्च रक्तचाप के सिरदर्द का अनुभव कर रहे हैं , तो आपको तत्काल चिकित्सक के पास जाना चाहिए।

(और पढ़ें – जानिए उच्च रक्तचाप के बारे में सब कुछ)

उल्टा सिरदर्द – Rebound headaches in Hindi

उल्टा सिरदर्द को दवा के अति प्रयोग के रूप में भी जाना जाता है। उल्टा सिरदर्द इसलिए कहा जाता है क्योंकि इस दर्द में यदि आप दवा का इस्तेमाल करते है तो इससे आपका सिर दर्द और अधिक बढ़ता है। इस सिरदर्द में व्यक्ति एक सुस्त, तनाव-प्रकार के सिरदर्द या माइग्रेन की तरह अधिक तीव्रता से दर्दनाक महसूस कर सकता हैं। यदि आप ओवर द काउंटर दर्द निवारक दवा का सेवन करते हैं, तो यह उल्टा सिरदर्द के लिए अतिसंवेदनशील हो सकता हैं। इन दवाओं के अधिक उपयोग से सिरदर्द कम होने की बजाय अधिक होता है। उल्टा सिर दर्द के लिए एकमात्र उपचार दवा से खुद को दूर करना है।

पोस्ट-ट्रॉमाटिक सिरदर्द – Post-traumatic headaches in Hindi

किसी भी प्रकार की सिर में चोट लगने के बाद पोस्ट-ट्रॉमाटिक सिरदर्द विकसित हो सकता है। ये सिरदर्द माइग्रेन या तनाव-प्रकार के सिरदर्द की तरह महसूस होता हैं, और यह आमतौर पर आपकी चोट लगने के 6 से 12 महीने बाद तक होता हैं।

(और पढ़ें – सिर दर्द से छुटकारा पाने लिए 17 घरेलू उपाय)

डॉक्टर को कब दिखाएं

डॉक्टर को कब दिखाएं

ज्यादातर मामलों में 48 घंटों के अन्दर सिरदर्द ठीक हो जाएंगे। यदि आपको सिरदर्द दो दिनों से अधिक समय तक रहता है या जो तीव्रता में बढ़ता है, तो ऐसे में आपको अपने डॉक्टर को देखना चाहिए।

(और पढ़ें – सिर दर्द के लिए योग)

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Reference

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration