कच्चा अंडा खाना सही है या नहीं? जानें कच्चा अंडा खाने के नुकसान - Healthunbox
हेल्थ टिप्स

कच्चा अंडा खाना सही है या नहीं? जानें कच्चा अंडा खाने के नुकसान

कच्चा अंडा खाना सही है या नहीं? जानें कच्चा अंडा खाने के नुकसान

Kachcha Anda Khana Chahiye Ya Nahi: अधिकांश लोगों को अंडा खाना पसंद होता है। अपने पोषक तत्वों की उच्‍च मात्रा के कारण अंडे को पौष्टिक आहार की श्रेणी में रखा जाता है। यह एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जो बहुत ही कम कीमत में हमें बहुत से जरूरी पोषक तत्‍वों को उपलब्‍ध कराता है। मसल्स गेन करना हो या फिर वेट लॉस करना हो सभी के लिए अंडा खाना लाभदायक होता है। अंडे में प्रोटीन, कोलेस्‍ट्रॉल, वसा घुलनशील विटामिन और आवश्‍यक फैटी एसिड की अच्‍छी मात्रा होती है। कुछ लोगों का मानना है कि जो लोग बॉडी बनाना चाहते है उनको कच्चे अंडे का सेवन करना चाहिए, लेकिन क्या ये बात सच है? क्या कच्चा खाना सही है? क्या कच्चा अंडा खाने के नुकसान होते है। यदि आप भी इस सवाल से कन्फ्यूज हैं, तो आइये आपके इस सवाल का जवाब जानते है।

अंडे में पाए जाने वाले तत्व – Nutrients Present in Eggs in Hindi

अंडे में पाए जाने वाले तत्व – Nutrients Present in Eggs in Hindi

यदि आप कच्चे अंडे का सेवन करते है तो इससे पहले आपको अंडे में पाएं जाने वाले पोषक तत्वों के बारे में जान लेना चाहिए। अंडे के सफेद भाग में आधे से अधिक प्रोटीन और विटामिन B12 होता है। इसके अलावा अंडे में सेलेनियम, विटामिन D, B6, B12, जस्‍ता, आयरन और कॉपर आदि खनिज पदार्थ उच्‍च मात्रा में होते हैं। अंडे के सफेद भाग की अपेक्षा जर्दी में कैलोरी और वसा की उच्‍च मात्रा होती है। अंडें की जर्दी में घुलनशील विटामिन A, D, E और K के साथ ही लेसिथिन (lecithin) भी होता है।

कच्चे अंडे और उबले अंडे में प्रोटीन की मात्रा – Protein in raw eggs and boiled eggs in Hindi

कच्चे अंडे और उबले अंडे में प्रोटीन की मात्रा - Protein in raw eggs and boiled eggs in Hindi

हम सभी जानते है कि अंडे में प्रोटीन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। लेकिन क्या आपको कच्चे अंडे और उबले अंडे में पाए जाने वाले प्रोटीन की मात्रा का अंतर पता है। कुछ लोग उबला अंडा खाना पसंद करते है, तो कुछ लोग कच्चा अंडा खाना पसंद करते है। दोनों को ही प्रोटीन की अलग अलग मात्रा प्राप्त होती है। जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन के स्टडी के अनुसार यदि आप उबला अंडा खाते है तो आपको अंडे के कुल प्रोटीन का 90% हिस्सा प्राप्त होता है, और जब आप कच्चा अंडा खाते है तो इससे प्रोटीन का केवल 51% हिस्सा ही प्राप्त होता है।

(यह भी पढ़ें – अंडे की जर्दी खाने के फायदे और स्वास्थ्य लाभ)

कच्चा अंडा खाएं या नहीं? – Eat raw egg or not in Hindi

 Eat raw egg or not in Hindi

यूनाइटेड स्टेट्स डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर (यूएसडीए) के अनुसार कच्चा अंडा में बैक्टीरिया होते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकते है। किसी भी अंडे में तीन भाग होते है एक छिलका, दूसरा उसका पीला भाग और तीसरा अंडे का सफ़ेद भाग। जब मुर्गी अंडा देती है तो उस पर साल्मोनेला (Salmonella) नाम का बैक्टीरिया होता है जो अंडे के छिलके पर रहता है। जब हम कच्चा अंडा खाते है तो यह हमारे पेट में चला जाता है। जो हमारे शरीर के कई प्रकार की समस्यों को उत्पन्न कर सकता है।

(यह भी पढ़ें – क्यों अंडे एक किलर वेट लॉस फूड हैं)

कच्चा अंडा खाने के नुकसान – Disadvantages of eating raw egg in Hindi

कच्चा अंडा खाने के नुकसान - Disadvantages of eating raw egg in Hindi

  • यदि आप कच्चा अंडा खाते है और इसके साथ साल्मोनेला बैक्टीरिया आपके पेट में चला जाता है तो इससे उल्टी, दस्त, बुखार और सिर दर्द जैसी गंभीर बीमारियां होने की संभावना होती हैं।
  • कच्चा अंडा खाने से अंडे में मौजूद आवश्यक प्रोटीन को अवशोषित करने की आपकी क्षमता भी कम हो सकती है, क्योंकि पकाए गए अंडे से प्रोटीन बेहतर अवशोषित होता है।
  • कच्चे अंडे का सेवन भी बायोटिन को अवशोषित करने की आपकी क्षमता को प्रभावित कर सकता है। बायोटिन एक पानी में घुलनशील बी-विटामिन है, जो शरीर में ग्लूकोज और फैटी एसिड के उत्पादन में शामिल है।
  • कच्चे अंडे की सफेदी में एविडिन नामक एक प्रोटीन होता है, जो छोटी आंत में बायोटिन को बांधता है और इसके अवशोषण को रोकता है। अंडे को पकाने पर गर्मी की वजह से एविडिन नष्ट हो जाता है।

अंडे के संक्रमण से खुद को कैसे बचाएं – How to protect yourself from egg infection in Hindi

अंडे के संक्रमण से खुद को कैसे बचाएं - How to protect yourself from egg infection in Hindi

अगर आप अंडे के साल्मोनेला संक्रमित से बचना चाहते है तो आपको कच्चे अंडे का सेवन करने से बचना चाहिए। कच्चा अंडा खाने की जगह आप उबले अंडे का सेवन कर सकते है जो पूरी तरह से सुरक्षित होता है। इसके अलावा कच्चे अंडे की अपेक्षा पके अंडे में आपको अधिक प्रोटीन प्राप्त होता है।

इसके साथ अंडा खाने से पहले निम्न सावधानियों रखना बहुत ही जरूरी होता है जो निम्न है-

  1. कच्चे अंडे को फ्रिज में 40 ° F या नीचे स्टोर करें।
  2. अगर अंडे का खोल (आवरण) फटा या गंदा है तो उस अंडे का सेवन ना करें ।
  3. कच्चे अंडे को रखने के बाद अपने हाथों, बर्तनों और किचन काउंटर को अच्छी तरह से धोएं।
  4. अंडे को खाने से पहले अंडे की सफेदी और जर्दी को अच्छी तरह से पकाएं।

(यह भी पढ़ें – कितने साल के बाद के बच्‍चों को अंडे खिलाने चाहिए)

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

1 Comment

Subscribe for daily wellness inspiration