धनुरासन करने के फायदे और करने का तरीका – Dhanurasana Steps And Benefits in Hindi

धनुरासन करने के फायदे और करने का तरीका – Dhanurasana steps and benefits in hindi
Written by Anamika

Dhanurasana in hindi धनुरासन दो शब्दों धनु और आसन से मिलकर बना है, जहां धनु का मतलब धनुष (bow) और आसन का मतलब योग मुद्रा (Yoga pose) से है। इसलिए दोनों शब्दों को मिलाकर इसे धनुरासन (Bow pose) कहा जाता है। इस आसन को करते समय शरीर धनुष के आकृति का बन जाता है। इस मुद्रा में पेट और जांघ धनुष के हिस्से के रूप में होता है और पैरों का निचला हिस्सा एवं भुजाएं धनुष के तने हुए हिस्से का काम करता है। यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण आसन है जिसे करने पर कई तरह के फायदे होते हैं। आज इस आर्टिकल में हम धनुरासन करने का तरीका Steps of Dhanurasana in Hindi, धनुरासन करने के फायदे dhanurasana benefits (Bow pose) in Hindi और धनुरासन करते समय सावधानियां Dhanurasana precautions in Hindi के बारे में बताएंगे।

Bow pose धनुरासन करने से वजन तो घटता ही है साथ में यह पीठ के निचले हिस्से (lower back) को मजबूत करता है, अस्थमा से बचाता है और रीढ़ (spine)को अधिक लचीला बनाने के साथ ही शरीर के कई हिस्सों को स्वस्थ रखता है।

धनुरासन करने का तरीका – Steps of Dhanurasana (Bow pose) in Hindi

इस आसन को कैसे करें, इसके बारे में हम नीचे बता रहे हैं। लेकिन इसे बताए गए तरीके के अनुसार ही करें। सही तरीके से करने पर यह आसन ज्यादा सफल माना जाता है।

  • धनुरासन करने के लिए सबसे पहले पेट के बल जमीन पर लेट जाएं।
  • इसके बाद दोनों घुटनों को मोड़कर पैरों को पीछे की ओर उठाते हुए हल्का सा झुकाएं और धनुषाकार बनाते हुए अपनी एड़ियों को हाथों से पकड़ें।
  • अब पैरों को थोड़ा और ऊपर उठाएं और और सांस लेते हुए हाथ से अपनी एड़ियों को खींचने की कोशिश करें।
  • .एड़ियों को खींचते समय पेट के वजन का संतुलन बनाए रखें और सिर को बिल्कुल सीधे रखें।
  • इस धनुषाकार पोज को करते समय सांस लेने और छोड़ने पर अधिक ध्यान दें।
  • सांस लेने के एक से बीस सेकेंड बाद इसे हल्के से छोड़ें और फिर आराम की मुद्रा में फर्श पर लेटे रहें। इस प्रक्रिया को कई बार दोहराएं।

धनुरासन करने के फायदे – Health benefits of Dhanurasana (Bow pose) in Hindi

जानकारों के अनुसार धनुरासन एक ऐसी योग मुद्रा है जो दो विभिन्न आसन भुजंगासन और शलभासन इन दोनों आसन का लाभ प्रदान करता है। यहां हम आपको धनुरासन के अन्य फायदे भी बता रहे हैं।

धनुरासन करने के फायदे मोटापा घटाने में – Dhanurasana Benefits For Obesity in Hindi

प्रतिदिन धनुरासन करने से पेट और इसके आसपास के क्षेत्रों में सबसे अधिक खिंचाव होता है। नियमित अभ्यास करने से यह आसन वजन घटाने और फैट को कम करने में बहुत मदद करता है।

(और पढ़े – वजन घटाने के लिए सबसे असरदार 6 योगासन)

धनुरासन करने के फायदे लीवर का मसाज करने में – Dhanurasana For Liver in Hindi

Bow pose धनुरासन पेट की सभी क्रियाओं को बेहतर करने में मदद करता है। यह स्‍वस्‍थ लीवर की मसाज करने का काम करता है और पाचन को बेहतर बनाता है।

(और पढ़े – लीवर को साफ करने के लिए खाएं ये चीजें)

डायबिटीज में धनुरासन करने के फायदे – Dhanurasana Benefits For Diabetes in Hindi

धनुसारन करने से अग्न्याशय (pancreas) टोन होता है और यह उचित मात्रा में ग्लूकागोन और इंसुलिन बनाने में मदद करता है और रक्त में शुगर को संतुलित रखता है। यह डायबिटीज टाइप-1 और डायबिटीज टाइप-2 दोनों के लिए फायदेमंद होता है।

(और पढ़ें – शुगर ,मधुमेह लक्षण, कारण, निदान और बचाव के उपाय)

धनुरासन के फायदे खून को साफ करने में – Dhanurasana Benefits For Blood in Hindi

यह आसन करने से खून का प्रवाह शरीर के हर हिस्सों में बराबर रूप से होता है और यह खून को साफ करने का भी काम करता है।

(और पढ़ें – खून साफ करने के घरेलू उपाय)

गुर्दा का स्वस्थ रखने में धनुरासन करने के फायदे – Dhanurasana Benefits For Kidney in Hindi

धनुरासन करने से किडनी बहुत ही बेहतर तरीके से काम करती है जो कि शरीर में तरल पदार्थों को भी संतुलित रखने में मदद करती है।

(और पढ़ें – किडनी को स्वस्थ रखने के लिए योग)

धनुरासन के फायदे हृदय के लिए बेहतर – Dhanurasana Benefits For Heart in Hindi

यह आसन हृदय को स्वस्थ रखने में मदद करता है। पेट पर पड़ने वाले अतिरिक्त दबाव को यह हृदय की ओर लाता है और इससे हृदय मजबूत रहता है।

(और पढ़ें – दिल को मजबूत बनाने के लिए योगासन)

अस्थमा में धनुरासन करने के फायदे – Dhanurasana Benefits For Asthma in Hindi

धनुरासन करने से श्वसन की क्रिया ठीक रहती है। इसके अलावा नाक से हवा का प्रवाह सही तरीके से होने पर यह सांसों के संक्रमण और अस्थमा से दूर रखने में मदद करता है।

धनुरासन करने के फायदे कमर दर्द में – Dhanurasana Benefits For Back Pain in Hindi

यह आसन करने से मांसपेशियों, पीठ और रीढ़ में तनाव उत्पन्न होता है। इसके परिणामस्वरूप यह कमर के दर्द से निजात दिलाने में फायदेमंद होता है।

(और पढ़े – पतली कमर और फ्लैट बेली पाने के लिए करें ये आसान वर्कआउट)

धनुरासन करते समय सावधानियां – Dhanurasana (Bow Pose) Precautions in Hindi

धनुरासन करने के कई फायदे होते हैं लेकिन इसे करते समय कुछ सावधानियां भी बरतनी पड़ती हैं। शरीर में कुछ विकार और समस्या ऐसी होती है जो धनुरासन करने पर बढ़ जाती है। तो ऐसी स्थिति में इस आसन को करने से परहेज किया जाता है। यहां जानिए कि इस आसन को करते समय क्या सावधानियां बरतनी चाहिए।

  • हृदय रोगों के मरीजों को यह आसन करने से बचना चाहिए। हृदय पर तनाव पड़ने के कारण आपको परेशानी हो सकती है।
  • उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं तो इस आसन को करने से परहेज करें। (और पढ़ें – निम्न रक्तचाप के लिए योग)
  • अगर आप हर्निया, अल्सर, कोलाइटिस एवं पेट की किसी भी बीमारी से पीड़ित हैं तो इस आसन को न करें। क्योंकि इस आसन में पेट पर सबसे ज्यादा दबाव पड़ता है।
  • भोजन करने के कम से कम तीन घंटे तक इस आसन को न करें।
  • यह आसन अधिवृक्क ग्रंथि और तंत्रिका केंद्र को स्टीमूलेट करने का काम करता है इसलिए रात को सोने से पहले धनुरासन नहीं करना चाहिए।
  • गर्भवती महिलाओं को धनुरासन किसी भी स्थिति में नहीं करना चाहिए।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration