गर्मी में खाई जाने वाली सब्जियां - Best Summer Vegetables in Hindi - Healthunbox
हेल्दी रेसपी

गर्मी में खाई जाने वाली सब्जियां – Best Summer Vegetables in Hindi

गर्मी में खाई जाने वाली सब्जियां - Best Summer Vegetables in Hindi

Summer Vegetables in Hindi गर्मियों में, सूरज का तापमान इतना तेज होता है कि यह शरीर को अंदर तक झुलसा देता है। इसलिए, गर्मियों के लिए केवल कोल्ड ड्रिंक या आइसक्रीम पर निर्भर न रहें। गर्मियों में इन हेल्दी सब्जियों को जरूर खाएं।

इसके लिए यह आवश्यक है कि आप अपने आहार में बहुत सारी पानी वाली सब्जियों को शामिल करें, ताकि आपके शरीर में पानी की कमी कभी न हो। गर्मियों में, कई बीमारियां शरीर को घेर लेती हैं, इसलिए ऐसी सब्जियां खाएं जिनमें बहुत अधिक पोषण और पानी हो।

गर्मियों में जरुर खाएं ये 10 सेहतमंद सब्‍जियां – Best vegetables to eat in summer in Hindi

गर्मी में खाई जाने वाली 10 सब्जियां

कद्दू

कद्दू

गर्मी के दिनों में कद्दू बहुत बिकता है। इसे खाने से पेट बिल्कुल साफ रहता है। यह पेट के कीड़ों को मारता है। इसमें पोटैशियम और फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह रक्तचाप को भी नियंत्रित करता है। यह कई त्वचा रोगों को भी ठीक करता है। इसके अलावा यह ब्लड शुगर लेवल और आंतों को भी ठीक रखता है। इसीलिए मधुमेह रोगियों को कद्दू खाने के लिए कहा जाता है।

करेला

करेला

गर्मियों में करेला खाना फायदेमंद माना जाता है। यह त्वचा को फोड़े, फुंसी, चकत्ते, फंगल संक्रमण और दाग से बचाता है। इसके कारण हाई बीपी और डायबिटीज भी नियंत्रण में रहता है।

लौकी

लौकी

ज्यादातर लोग लौकी को पसंद करते हैं। इसमें बहुत सारा पानी होता है और यह खाने में मीठी होती है। इसे खाने से गर्मी दूर होती है और यह पेट की सभी बीमारियों जैसे एसिडिटी और अपच को ठीक करती है। लौकी में सोडियम भी होता है।

तुरई

तुरई

यह सब्जी रक्त को साफ करती है, रक्त शर्करा को नियंत्रित करती है और पेट के लिए बहुत लाभदायक मानी जाती है।

तुरई की पहली विशेषता यह है कि इसमें बहुत अच्छी मात्रा में फाइबर होता है। इसलिए, यह हमारे पाचन तंत्र को सही बनाए रखने में मदद करती है। तुरई का सेवन करने से कब्ज की समस्या दूर होती है।

विटामिन – एक विटामिन, सी, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, और पोटेशियम तुरई में अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। ये सभी गुण हमारी त्वचा से लेकर हमारी हड्डियों तक को पोषण प्रदान करते हैं। जिसके कारण तेज गर्मी भी हमारे शरीर को नुकसान नहीं पहुंचा पाती है।

पेठा

पेठा

यह गर्मियों में शरीर को ठंडा और स्वस्थ रखता है। इसमें 96% पानी होता है, जो हीट स्ट्रोक से बचाता है। इसमें बहुत सारे पौष्टिक तत्व होते हैं। इसके अलावा, इसमें विटामिन बी 1 और विटामिन बी 3 भी पाया जाता है। यह ब्लड प्रेशर को सही करता है। यह अस्थमा, रक्त संबंधी बीमारी और गुर्दे की पथरी को भी ठीक करता है।

खीरा

खीरा

खीरे में 96% तक पानी पाया जाता है, जिससे शरीर हमेशा नम रहता है और उसका तापमान नियंत्रित रहता है। खीरे में पोटेशियम, मैग्नीशियम और फाइबर भी पाया जाता है, जिससे रक्तचाप नियंत्रित रहता है।

पालक

पालक

पालक में विभिन्न खनिज लवण जैसे कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन और विटामिन ए, बी, सी आदि प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। इसके अलावा, यह रेशेदार और जिंक युक्त होता है। इन गुणों के कारण, इसे जीवन रक्षक भोजन भी कहा जाता है।

शिमला मिर्च

शिमला मिर्च

शिमला मिर्च में बड़ी मात्रा में विटामिन सी, विटामिन ए और बीटा कैरोटीन होता है। इसमें बिल्कुल भी कैलोरी नहीं होती है, इसलिए यह खराब कोलेस्ट्रॉल को नहीं बढ़ाती है। यह शरीर को हार्ट अटैक, ऑस्टियोपोरोसिस, अस्थमा और मोतियाबिंद से लड़ने में भी मदद करता है।

हरी बींस

हरी बींस

हरी बीन्स कैलोरी में कम होती हैं, विटामिन में समृद्ध होती हैं, और विभिन्न स्वास्थ्य मुद्दों के जोखिम को कम करने में मदद कर सकती हैं। हरी बीन्स में ओमेगा -3 फैटी एसिड होता है। साथ ही, इसमें बहुत अधिक फाइबर होता है जो हृदय रोग होने से बचाता है। हरी बीन्स में विटामिन फोलेट होता है, जो अवसाद को रोकने में मदद कर सकता है। जब शरीर को पर्याप्त फोलेट मिलता है, तो यह आपके शरीर के होमोसिस्टीन के स्तर को नियंत्रित करता है, एक एमिनो एसिड जो हार्मोन के उत्पादन को बाधित कर सकता है जो हमें अच्छा महसूस कराता है। अपने आहार में हरी बीन्स को शामिल करने से आप इस अमीनो एसिड को संतुलित रख सकते हैं।

(और पढ़ें – हरी सब्जियां खाने के फायदे)

बैंगन

बैंगन

अनगिनत स्वास्थ्य लाभों के लिए जाना जाता है, बैंगन विटामिन और खनिजों से भरा होता है जो कई शारीरिक कार्यों को सही से चलाने में सहायता करता है। बैंगन फाइबर से भरा होता है जो पाचन में मदद करता है और इसमें लोहा और कैल्शियम भी होता है, जो ऑस्टियोपोरोसिस की संभावना को कम करने में मदद कर सकता है। बैंगन नासुनिन (nasunin) में उच्च है। इस एंटीऑक्सिडेंट में ट्यूमर के विकास को रोककर कैंसर को रोकने की क्षमता हो सकती है। लेकिन इन लाभों को प्राप्त करने के लिए, बैंगन की त्वचा को खाना महत्वपूर्ण है, जहां एंटीऑक्सिडेंट रहता है।

भिंडी

भिंडी

यह -आम सब्जी नहीं है क्या आपको अपने रक्त शर्करा का प्रबंधन करने की आवश्यकता है। रक्त शर्करा के स्तर में सुधार के लिए सब्जी कितनी फायदेमंद है, यह जांचने के लिए किए गए अध्ययन बताते हैं, जो मधुमेह वाले लोगों के लिए महत्वपूर्ण है। फाइबर सामग्री इंसुलिन संवेदनशीलता के साथ मदद करती है और ओकरा यानी भिंडी में एक एंटीऑक्सिडेंट भी होता है जो तनाव के स्तर को प्रबंधित करने में मदद करता है।

टिंडा

टिंडा

टिंडे में 90 प्रतिशत से अधिक पानी होता है और बाकी फाइबर होता हैं। यानी अगर हफ्ते में दो से तीन बार टिंडा खाया जाए तो यह शरीर को हाइड्रेट रखने में बहुत मदद कर सकता है।

पानी और फाइबर की उपस्थिति के कारण, टिंडा पाचन को स्वस्थ्य बनाए रखता है, जससे गैस और अपच जैसी समस्याएं नहीं होती हैं। इसमें पानी की अधिकता मूत्र संक्रमण से बचाने में भी मदद करती है।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration