क्लिटोरिस क्या है और चरम सुख में इसकी क्या भूमिका है – Women Clitoris And Its Role In Sexual Pleasure In Hindi




क्लिटोरिस क्या है और चरम सुख में इसकी क्या भूमिका है - Women Clitoris And Its Role In Sexual Pleasure In Hindi
Written by Daivansh

Clitoris in hindi जानिए क्लिटोरिस (भगशेफ) क्या है और वैजाइना में क्लिटोरिस कहां होती है, किस कम आता है और महीला उत्तेजना में इसकी भूमिका क्या है, ज्यादातर महिलाएं अपनी योनि और अंदरूनी अंगों के बारे में तो जानती हैं लेकिन आमतौर पर इन्हें इनके नाम से नहीं जानती हैं। इनमें से एक नाम है क्लिटोरिस (भगशेफ)। वास्तव में यह हर महिला को मालूम है कि उसकी योनि में मौजूद मांस के छोटे से टुकड़े को छूने पर उन्हें उत्तेजना होती है लेकिन वे इसके नाम से परिचित नहीं होती हैं। वास्तव में महिलाएं जिस प्वाइंट को छूने से सबसे ज्यादा उत्तेजित होती हैं उसे क्लिटोरिस कहते हैं। इस आर्टिकल में हम क्लिटोरिस के बारे में आपको पूरी जानकारी देने जा रहे हैं।

1. क्लिटोरिस क्या है? – What is clitoris in Hindi
2. महिलाओं की योनि में क्लिटोरिस कहां स्थित होती है?- Clitoris and Its Place within the Vulva in Hindi
3. यौन क्रिया में क्लिटोरिस की भूमिका – Role of the Clitoris in Sexual Pleasure in Hindi

क्लिटोरिस क्या है? – What is clitoris in Hindi

क्लिटोरिस क्या है? - What is clitoris in Hindi

क्लिटोरिस  मटर या बटन के आकार की एक संरचना है जो महिलाओं की योनि द्वार के शीर्ष पर स्थिति होती है। वास्तव में यह देखने में छोटी और गुलाबी रंग की होती है और सेक्स के दौरान उत्तेजना पैदा करने में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। क्लिटोरिस में आठ हजार से अधिक तंत्रिकाएं (nerves) पायी जाती हैं और ये सभी तंत्रिकाएं उत्तेजना बढ़ाने में मदद करती हैं। आमतौर पर क्लिटोरिस की लंबाई लगभग तीन इंच तक होती है लेकिन योनि के ऊपर इसका एक छोटा हिस्सा ही बाहर की ओर दिखायी देता है। सेक्स करते समय पुरुष महिलाओं की इसी क्लिटोरिस को छूकर उत्तेजना पैदा करते हैं।

महिलाओं की क्लिटोरिस के बारे में यह कहा जाता है कि इसके बारे में जितना सोचा जा सकता है उससे कई गुना ज्यादा यह महिलाओं में उत्तेजना पैदा करने के लिए महत्वपूर्ण होती है। यह माना जाता है कि अविवाहित महिलाएं क्लिटोरिस को सहलाकर ही हस्तमैथुन कर सकती हैं और स्खलित हो सकती हैं।

(और पढ़े – योनि के बारे में सम्पूर्ण जानकारी…)

महिलाओं की योनि में क्लिटोरिस कहां स्थित होती है?- Clitoris and Its Place within the Vulva in Hindi

महिलाओं की योनि में क्लिटोरिस कहां स्थित होती है?- Clitoris and Its Place within the Vulva in Hindi

योनि सिर्फ एक शब्द है लेकिन इसके अंदर महिलाओं के जननांगों के सभी अंग उपस्थित होते हैं। योनि के अंदर लेबिया मेजोरा (labia majora), लेबिया माइनोरा (labia minora) और क्लिटोरिस (Clitoris) होता है। लेबिया, जिसे बोलचाल की भाषा में लिप्स भी कहा जाता है, अंडाकार होता है और योनि के चारों ओर लगा होता है। लेबिया मेजोरा बड़ा होता है और जब लड़कियां जवान होती हैं तो इसके ऊपरी हिस्से पर बाल (pubic hair) आ जाता है। वह बिंदु जहां लेबिया मेजोरा प्यूबिक बोन (pubic bone) से मिलता है वह क्लिटोरिस होती है। यह लेबिया मेजोरा और लेबिया माइनोरा के अंदर होती है। महिलाओं के क्लिटोरिस की तुलना पुरुषों के लिंग से की जाती है।

महिलाओं की क्लिटोरिस आमतौर पर बेहद संवेदनशील होती है और इसे छूने मात्र से ही महिला बहुत ज्यादा उत्तेजित हो जाती है और खुद को नियंत्रित नहीं कर पाती है। क्लिटोरिस चरम सुख और बेहद तेज उत्तेजना के लिए भी जिम्मेदार होती है। सेक्स के दौरान महिलाओं की क्लिटोरिस कुछ बड़ी हो जाती है और इसके संवेदनशील ऊत्तक अधिक सक्रिय हो जाते हैं। सेक्स करने से पहले जिस तरह से पुरुष अपने लिंग को उत्तेजित करते हैं ठीक वैसे ही महिलाएं अपनी क्लिटोरिस को उत्तेजित करती हैं।

(और पढ़े – महिलाओं की सेक्‍सुअलिटी से जुड़े कुछ रोचक तथ्य…)

यौन क्रिया में क्लिटोरिस की भूमिका – Role of the Clitoris in Sexual Pleasure in Hindi

यौन क्रिया में क्लिटोरिस की भूमिका - Role of the Clitoris in Sexual Pleasure in Hindi

क्लिटोरिस महिलाओं की योनि का एक ऐसा भाग है जिसकी सेक्स के आनंद में एक महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसलिए हर महिला को अपनी क्लिटोरिस के बारे में अच्छी तरह जानकारी होनी चाहिए। आइये जानते हैं कि सेक्स के आनंद में क्लिटोरिस की अन्य क्या भूमिका होती है।

उत्तेजना पैदा करने में क्लिटोरिस की भूमिका – Role of the Clitoris for stimulation in Hindi

उत्तेजना पैदा करने में क्लिटोरिस की भूमिका - Role of the Clitoris for stimulation in Hindi

जैसा कि हमने ऊपर ही बताया कि महिलाओं की क्लिटोरिस की तुलना पुरुषों के लिंग से की जाती है इसका अर्थ यह है कि यदि सेक्स करते समय कोई पुरुष या महिला खुद क्लिटोरिस को छूकर उसे उत्तेजित नहीं करेगी तो उसके शरीर में भी बहुत कम उत्तेजना होगी और वह सेक्स के लिए तैयार नहीं हो पाएगी। इसलिए यह माना जाता है कि सेक्स के लिए उत्तेजित करने में क्लिटोरिस की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

(और पढ़े – वैजाइना को इन तरीकों से करें टच लड़की को जल्दी उत्तेजित करने के लिए…)

हस्तमैथुन में क्लिटोरिस की भूमिका – Role of the Clitoris for musterbation in Hindi

हस्तमैथुन में क्लिटोरिस की भूमिका - Role of the Clitoris for musterbation in Hindi

यदि कोई महिला अकेली या अपने पति से दूर है तब भी वह हस्तमैथुन के जरिए सेक्स का आनंद ले सकती है। यहां भी क्लिटोरिस की सबसे ज्यादा भूमिका होती है क्योंकि वह अपनी क्लिटोरिस छूकर या सहलाकर ही अपने पूरे शरीर को उत्तेजित करती है और फिर हस्तमैथुन करके स्खलित होती है और सेक्स का आनंद प्राप्त करती है।

(और पढ़े – महिलाएं कैसे करती है हस्तमैथुन जाने सोलो प्ले के लिए टिप्स और ट्रिक्स…)

ओरल सेक्स में क्लिटोरिस की भूमिका – Role of the Clitoris for oral sex in Hindi

ओरल सेक्स में क्लिटोरिस की भूमिका - Role of the Clitoris for oral sex in Hindi

जिन महिलाओं को उत्तेजना नहीं होती है या उन्हें कोई बीमारी रहती है, डॉक्टर पुरुषों को ऐसी महिलाओं की योनि की क्लिटोरिस को अलग तरीके से उत्तेजित करने की सलाह देते हैं। इसलिए जो महिलाएं उत्तेजित नहीं हो पाती हैं और परेशान रहती हैं उनमें भी क्लिटोरिस उत्तेजना पैदा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। ऐसी महिलाओं को उत्तेजित करने के लिए उनके पार्टनर को ओरल सेक्स करने की सलाह दी जाती है और योनि में स्थित क्लिटोरिस को जीभ से छूकर सहलाने की सलाह दी जाती है। इससे महिला काफी तेज उत्तेजित होती है।

(और पढ़े – ओरल सेक्स के दौरान योनि का पानी पीना सुरक्षित होता है या नहीं…)

लंबे समय तक सेक्स करने में क्लिटोरिस की भूमिका – Role of the Clitoris for last long sex in Hindi

लंबे समय तक सेक्स करने में क्लिटोरिस की भूमिका - Role of the Clitoris for last long sex in Hindi

यौन क्रिया में क्लिटोरिस की एक महत्वपूर्ण भूमिका यह भी है कि पुरुष इसे जितना सहला-सहला कर सेक्स करेगा, महिला उतनी देर तक अपने पार्टनर का साथ देगी और अंत तक उत्तेजित रहेगी। इससे दोनों को सेक्स में आनंद आएगा और उनकी सेक्सुअल लाइफ अच्छी होगी।

(और पढ़े – सेक्स टाइम बढ़ाने के प्राकृतिक तरीके…)

योनि को गीला करने में क्लिटोरिस की भूमिका – Role of the Clitoris for veginal wet in Hindi

योनि को गीला करने में क्लिटोरिस की भूमिका - Role of the Clitoris for veginal wet in Hindi

सेक्सुअल एक्टविटी में क्लिटोरिस की महत्वपूर्ण भूमिका यह भी होती है कि यह योनि में गीलापन बनाए रखने में मदद करती है। क्लिटोरिस को छूने पर जब महिला को उत्तेजना होती है तब उसके योनि से एक चिपचिपे द्रव का स्राव होता है और इससे यह इस बात का संकेत होता है कि महिला सेक्स करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। क्लिटोरिस को सहलाने के बाद जब योनि गीली हो जाती है तो इसके बाद लिंग को योनि में बहुत आसानी से प्रवेश कराया जा सकता है और कोई चिकनाई युक्त पदार्थ लगाने की जरूरत भी नहीं होती है और सेक्स के दौरान दर्द भी नहीं होता है।

(और पढ़े – महिलाओं में कामेच्छा बढ़ाने के घरेलू नुस्खे और उपाय…)

क्लिटोरिस का चरम सुख से संबंध – Relation between clitoris and orgasm in hindi

क्लिटोरिस का चरम सुख से संबंध - Relation between clitoris and orgasm in hindi

एक स्टडी में पाया गया है कि लगभग 47 प्रतिशत महिलाओं को सेक्स के दौरान चरम सुख की प्राप्ति नहीं होती है और वे सेक्स तो करती हैं लेकिन इसका पूरा आनंद नहीं ले पाती हैं। आइये जानते हैं कि चरम सुख का क्लिटोरिस से क्या संबंध होता है।

चरम सुख प्राप्त करने के लिए सेक्स की शुरूआत योनि में सीधे लिंग प्रवेश कराने की बजाय ओरल सेक्स और फोर प्ले से करना चाहिए। फोरप्ले में क्लिटोरिस की महत्वपूर्ण भूमिका होती है और यह हाथ से छूने की बजाय जीभ से छूने पर इतनी ज्यादा उत्तेजित हो जाती है कि महिला को चरम सुख प्राप्त करने में बहुत मदद करती है।

क्लिटोरिस को फोरप्ले और ओरल सेक्स का एक महत्वपूर्ण हिस्सा माना जाता है और चरम सुख प्राप्त करने के लिए आमतौर पर पुरुषों को यह सलाह दी जाती है कि वे क्लिटोरिस को महिला को उत्तेजित करने के लिए सहलाएं या छूएं लेकिन इसके अलावा वे सेक्स करते समय भी क्लिटोरिस को लगातार सहलाते रहें। इससे महिला लंबे समय तक उत्तेजित रहेगी और अंत में उसे चरम सुख की प्राप्ति होगी। वास्तव में सामान्य से अधिक उत्तेजना पैदा करने, योनि को अधिक देर तक गीली रखने और सेक्स के दौरान दर्द कम होने में क्लिटोरिस की ही भूमिका होती है जो महिला को अंततः चरम सुख तक पहुंचाती है।

(और पढ़े – चरम सुख (ऑर्गेज्म) क्या होता है, पाने के तरीके और फायदे…)

Leave a Comment

1 Comment

Subscribe for daily wellness inspiration